Tuesday, 19 June 2018

शिल्पा की बहन ने स्वर्गीय पिता की फोटो पर किया ऐसा की आप भड़क जायेंगे


17, जून को फादर्स डे था। इस मौके पर कई सेलेब्स ने अपने पिता को डेडीकेट करते हुए फोटो और वीडियो शेयर किए। इन्हीं में से एक थीं शमिता शेट्टी जिन्होंने अपने स्वर्गीय पिता की प्रेयर मीट पर लिया गया एक वीडियो शेयर किया। सुरेंद्र शेट्टी का निधन 11, अक्टूबर, 2016, को हो गया था। इस वीडियो में शमिता और उनकी बहन शिल्पा शेट्टी हंसते-खिलखिलाते हुए अपने पिता की फोटो पर फूल चढ़ा रही हैं।

जैसे ही शमिता ने वीडियो शेयर किया लोगों को दोनों बहनों की ख़ुशी बर्दाश्त नहीं हुई। लोगों को ऑब्जेक्शन था कि मृत पिता को श्रद्धांजलि देते हुए कोई हंस कैसे सकता है. हालांकि,शमिता को ये ट्रोलिंग रास नहीं आई और उन्होंने इसके जवाब में लंबी पोस्ट लिखी।

इस शख्स ने रेखा की गलत जगह 3 बार फेरा हाथ, जब रेखा ने मुड़कर देखा तो होश उड़ गए


आपको जानकारी के लिए बतादें कि साल १९७५, में मायापुरी मैगजीन के एक अंक में रेखा के बारे में एक अजीबो-गरीब स्टोरी प्रकाशित हुई थी। मैगजीन के अनुसार एक बार रेखा अपनी बहन और आया के साथ फिल्म देखकर लौट रही थीं।

उस वक्त रेखा को नींद भी आ रही थी तभी भीड़ में अचानक रेखा की बहन और आया कब अलग हो गईं उन्हें पता ही नहीं चला। इस दौरान रेखा को अहसास हुआ कि एक शख्स उनकी छाती पर बार-बार हाथ रखने की कोशिश रहा है। रेखा को समझते देर नहीं लगी कि इस शख्स के इरादे कुछ ठीक नहीं हैं।
ऐसे में रेखा ने उस शख्स के मुंह पर एक जोरदार थप्पड़ रसीद कर दिया। जब तक भीड़ एकत्र हुई तब तक वो शख्स फरार हो चुका था। लेकिन कहा जा रहा था कि उस शख्स का नाम राकेश था और को जुनियर आर्टिस्ट था। आप को बतादें कि उस वक्त अभिनेत्री रेखा की उम्र महज दस साल थी। इसी मैगजीन में रेखा से जुड़े एक और वाक्ये का भी जिक्र किया गया था।

एक बार अभिनेत्री रेखा सिनेमाहाल में बैठकर मूवी देख रही थी तभी उनके सीट के पीछे बैठा एक लड़का बार उनकी सीट हिला रहा था। उसी वक्त गुस्से में तमतमाई रेखा अपनी सीट बदलवाकर उस लड़के के सीट के पीछे जा बैठीं। रेखा ने मौका देखकर अपने मुंह से च्विंगम निकालकर उस लड़के के बालों में चिपका दिया।

कोर्ट पहुंचकर जज से बोला-मेरी पत्नी नहीं साफ करती बाल, बताई ऐसी-ऐसी बातें सुनकर जज भी हिल गए


रिपोर्ट के मुताबिक गुजरात के अहमदाबाद में एक शख्स ने अदालत में तलाक के लिए अपील की और कोर्ट के सामने दावा किया कि उसकी पत्नी अपने चेहरे पर दाढ़ी उगा रही है। वो बाल साफ नहीं करती है। उसकी पत्नी पुरुषों की तरह बोलती है। उसने इसी आधार पर पर अपनी पत्नी से अलग होने के लिए तलाक की याचिका दायर की है।

शख्स ने कोर्ट के सामने कहा कि शादी से पहले उसने अपनी पत्नी का चेहरा नहीं देखा। जब वो पहली बार उससे मिलने गया तो लड़की ने अपना चेहरा दुपट्टे से ढंक कर रखा था, जिसकी वजह से वो उसे देख नहीं पाया। उसने लड़का का चेहरा देखने की जिद की तो ससुरालवालों ने सामाजिक परंपराओं का हवाला देकर ऐसा नहीं करने दिया। शादी के दौरान लड़की ने इतना मेकअप कर रखा था कि कुछ भी पता नहीं चल सका, लेकिन शादी के बाद उकी असलियत सामने आने लगी।

युवक के मुताबिक शादी के 15 दिन बाद जब वो काम के सिलसिले में बाहर गया और वापस लौटा तो देखा कि उसकी पत्नी के चेहरे पर दाढ़ी उगी हुई है। उनकी आवाज भी मर्दों की तरह है। उसने ससुराल वालों से अपनी पत्नी की इस हालत के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि अब वो शादीशुदा हैं इसलिए दोनों को साथ ही रहना होगा। शख्स ने पुलिस के पास इसकी शिकायत की और फिर तलाक के लिए अर्जी दी, लेकिन लड़की के वकील ने पति के सारे आरोपों को नकार दिया और पति और लड़की के ससुरालवालों पर दहेज का आरोप लगाया।

Monday, 18 June 2018

सड़क पर कचरा फेंकने वाले युवक अरहान की मां अनुष्का-विराट पर भड़कीं


अनुष्का शर्मा ने हाल ही में अरहान नाम के एक शख्स को सड़क पर बोतल फेंकने पर फटकार लगाई थी। ऐसा करते हुए विराट कोहली ने अनुष्का का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में पोस्ट कर दिया था। इसके बाद से ही ये मामला तूल पकड़ता जा रहा है। पहले अरहान ने सोशल मीडिया पर अनुष्का की डांट का करारा जवाब दिया, लेकिन अब उनकी मां गीतांजलि ने भी एक पोस्ट डालकर अनुष्का-विराट पर हमला बोला है।

अनुष्का के इस वीडियो को गीतांजलि ने सस्ता पब्लिसिटी स्टंट बताते हुए लिखा- 'अनुष्का और विराट ने उस वीडियो पोस्ट के जरिए उनके बेटे को पूरी दुनिया के सामने शर्मसार किया है। सोशल मीडिया पर यह वीडियो पोस्ट करते वक्त मेरे बेटे का चेहरा भी ब्लर नहीं किया गया। इन लोगों ने अपने फैन बढ़ाने के लिए यह वीडियो पोस्ट किया।

इनकी हिम्मत कैसे हुई किसी की इमेज को इस तरह धूमिल करने की।' हालांकि गीतांजलि अपने बेटे का सपोर्ट करने पर ट्रोल भी हो रही हैं। एक यूजर ने लिखा- 'आपको अपने बेटे की गलती नहीं दिखी और अब बड़ी बेशर्मी से उसका बचाव कर रही हैं।

1 दिन के खाने पर इतना खर्च करते हैं पीएम मोदी, आपकी सोच से बिलकुल अलग है इसका जवाब


आज हम आपको पीएम मोदी के खाने के बारे में बताने जा रहे हैं। यकीन मानिये आपको इकना डाइट चार्ट का खर्चा जानकर यकीन नहीं होगा। इससे पहले हम आपको पीएम मोदी के खाने के खर्चे के बारे में बताएं, उससे पहले आपसे एक सवाल है। जी हां, जब आप कहीं बाहर जाते हैं तो होटल में 1000, या 500, रूपये कम से कम फूंकते हैं, लेकिन पीएम मोदी ऐसा नहीं करते हैं। हम सभी जानते हैं कि उन्हें सादा खाना खाना पसंद है।

पीएम मोदी सुबह 7, बजे तक तैयार हो जाते हैं, जिसके बाद वो नाश्ता करते हैं। नाश्ता करने में पीएम मोदी 20, मिनट खर्च करते हैंं। बता दें कि नाश्ते में पीएम मोदी थेपला, ढोकला या फिर पोहा खाना पसंद करते हैं, जिसकी लागत सिर्फ 50, रूपये होती है। तो वहीं दूसरी तरफ दोपहर में भी मोदी हल्का ही खाना पसंद करते हैं, वो सिर्फ 50, रूपये तक। अब आपको रात के खाने के  बारे में बताएं तो रात को प्रधानमंत्री मोदी रोटी, दाल और दही खाना पसंद करते हैं, जिसकी लागत 100, से 200, के बीच होती है।

अगर इन सब को जोड़ लिया तो पीएम मोदी ज्यादा से ज्यादा एक दिन के खाने पर 400, से लेकर 500, रूपये खर्च करते हैं। अब जरा सोचिये कि प्रधानमंत्री होते हुए भी पीएम मोदी अपने खाने पर इतना ही रूपया खर्च करते हैं, ये तो अपने आप में एक बड़ी बात है। हालांकि, कुछ लोग अफवाहे भी उड़ाते हैं कि पीएम मोदी हजारों रूपये एक दिन के खाने पर खर्च करते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है, क्योंकि पीएम मोदी को खाने की नहीं बल्कि देश की चिंता है।

जब रोनाल्डो ने बॉलीवुड में मचाया था हंगामा, बिपाशा बसु को किस करते हुए फोटो हुई थी वायरल


दरअसल, साल २००७, में लिस्बन में सेवेन वंडर्स की एनाउंसमेंट सेरेमनी में गई भारतीय सिने तारिका पर रियल मैड्रिड का स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो इस कदर लट्टू हो गए कि उन्हें किस कर बैठे। उस वक्त लंदन के एक न्यूज़पेपर के फ्रंट पेज पर रोनाल्डो-बिपाशा किस का फोटोग्राफ छपने के 1 घंटे बाद ही नेट पर पहुंच गया था। नेट पर इस फोटोग्राफ को देखकर बिपाशा सफाई देने में जुट गई थीं। लेकिन दोनों के संबंधो को लेकर अटकले दुनिया भर के छायी हुई थी।

रोनाल्डो के साथ किस करने वाली तस्वीर सामने आने के बाद बिपाशा बसु ने सफाई देते हुए कहा था कि भगवान के लिए इस फोटोग्राफ को गंभीरता से न लें। मेरी समझ में नहीं आ रहा है कि न्यूज़पेपर्स इसे चुंबन क्यों बता रहे हैं। यह सब बहुत ही खौफनाक है।

शादी के मंडप पर हो रहा था सिंदूरदान, दूल्हे का चेहरे देखते ही निकल गई दुल्हन की चीख


शादी के मंडप पर बारात बैठी हो सिंदूरदान के वक्त अचानक दूल्हे का चेहरा देख दुल्हन शादी से इंकार कर दे तो सबका हैरान होना लाजमी है।

कुछ ऐसा ही हुआ है यूपी के मिर्जापुर जिले में जहां रविवार रात आई बारात में दुल्हन ने शादी से इंकार कर दिया। बस फिर क्या था काफी मान-मनौव्वल किया गया, लेकिन दुल्हन और उसके परिवार वाले नहीं मारे। थक-हारकर बारात को वापस लौटना पड़ा।

घटना चुनार कोतवाली क्षेत्र के अदलहाट गांव की है। बताया जा रहा है कि बारात आने के बाद बारातियों का स्वागत हुआ। बाराती नाश्ता आदि करने के बाद भोजन में लग गए। इसी बीच जयमाला से विवाह संपन्न हुआ, यहां तक सब कुछ सही था। रात में जब सिंदूरदान होने लगा तो दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया।

दरअसल, दुल्हन ने दूल्हे के काले होने के कारण शादी से इनकार किया है। दुल्हन के मना करने पर उसके परिवार वाले भी भड़क गए। गांव के प्रधान को बुलाया गया। काफी देर तक बातचीत करके शादी कराने के लिए मान मनौव्वल की गई लेकिन लड़की पक्ष वाले राजी नहीं हुए। अंत में तिलक और अन्य आयोजन में खर्च के लेन-देन का हिसाब करने के बाद बारात वापस लौट गई।

बच्चों ने खेलते हुए टीले की मिट्टी हटाई, निकला 200 साल पुराना शिवमंदिर, आने लगी डमरू की आवाज


खेल के दौरान उन्होंने टीले के पास की मिटी हटाई तो उन्हें मंदिर का गुम्बद दिखाई दिया। इसके बाद उन्होंने अपने अभिभावकों को जानकारी दी। इसके बाद खुदाई की गई तो जमीन के नीचे मंदिर और शिवलिंग निकला। यह देख भक्तों की भीड़ लग गई और पूजन अर्चन शुरू हो गया।

लोगों ने बताया कि कॉलोनी के कुछ बच्चों ने खेलते-खेलते मिट्टी हटाई तो मंदिर और शिवलिंग का आभास हुआ। इस पर हर्ष राठौर सहित निलेश राठौर, नमन सकलेचा, ललित राठौर, शेखर सोलंकी, प्रज्ज्वल सकलेचा, अनुराग सोलंकी, जुबेर, लाला आदि ने मिट्टी हटाना शुरू किया। जैसे-जैसे मिट्टी हटती गई मंदिर बाहर आता गया।  इस पर बच्चों ने इसकी जानकारी दी। जब सबसे मिलकर खुदाई शुरू की तो पूरा मंदिर और शिवलिंग हमारी आंखों के सामने था।

प्राचीन समय में नाले का पानी साफ रहता था। जिसमें नगर के रहवासी स्नान के लिए आते थे। ऐसे में राठौर समाज द्वारा मंदिर के पास घाट का निर्माण कराया था। जिसे रहवासी तेली घाट के नाम से भी जानते हैं। राठौर समाज के पवन परमार ने बताया कि 1925, के रिकॉर्ड में मंदिर, घाट व बगीचा दर्ज है। भू-माफियाओं ने उक्त मंदिर के पास की जमीन खरीदी थी, जिसमें मिट्टी का भराव करते-करते मंदिर को भी दबाने का प्रयास किया गया था। उस समय समाज द्वारा विरोध करने पर काम रुक गया था, लेकिन मंदिर मिट्टी में दब गया था। अब प्रशासन से इस संबंध में रिकॉर्ड उपलब्ध कराकर मंदिर के जीर्णोद्धार की मांग की जा रही है।

इस देश में हैं दुनिया की सबसे मजबूर महिलाएं, नहाने के लिए भी लेनी पड़ती है मर्दों की इजाजत


हमारे देश में लड़कियों को बचपन से ही कई तरह की पाबंदियां लगा दी जाती हैं। तुम ये नहीं कर सकती, तुम वो नहीं कर सकती, तुम लड़की हो ऐसा नहीं करोगी वगैरह,वगैरह।

लेकिन क्या कभी सोचा है कि दुनिया के सबसे अमीर देशों की लिस्ट में शामिल एक ऐसा देश भी है, जहां लड़कियों पर 5-10 नहीं हजारों तरह की पाबंदियां हैं। उस देश में महिलाओं का जीवन कैसा होता है, शायद किसी ने भी सोचने की कोशिश न की हो।

यहां महिलाओं के पहनावे पर भी कड़ी निगरानी रखी जाती है। सऊदी में सख्ती से शरिया ड्रेस कोड महिलाओं के लिए निर्धारित हैं। ज्यादातर औरतें हिजाब और अबाया पहनती हैं। जरूरी नहीं कि चेहरा ढका हुआ हो लेकिन सज संवरकर बाहर निकलना अभी भी सऊदी में पाबंदी है। इसके साथ ही साथ महिलाएं किसी दूसरे मर्द से ज्यादा बातचीत करे तो उसे मुसीबत झेलनी पड़ती है। सार्वजनिक जगहों पर भी महिलाओं और पुरुषों के बीच भेदभाव किया जाता है। दोनों के लिए बैठने के लिए अलग-अलग जगह बनी हैं।

कुछ साल पहले वरिष्ठ पत्रकार और समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एडिटर आर्लेंड गेट्ज ने सऊदी में हुए अपने एक अनुभव को साझा किया था। उन्होंने लिखा, मैं रियाद के एक महंगे होटल में ठहरी हुई थी। वहां एक स्वीमिंग पूल था, लेकिन होटल स्टॉफ ने मुझे वहां देखने भी नहीं दिया गया। मुझे बताया गया कि वहां पुरुष स्विमसूट में हैं और आप उधर न तो देख सकती हैं और न जा सकती हैं।

2015, में सऊदी अरब ने महिलाओं के बगैर ओलंपिक खेलों की मेजबानी का प्रस्ताव रखा। लंदन 2012, में सऊदी ने पहली बार दो महिला खिलाड़ियों को भेजा जिसका कड़ा विरोध किया गया। कट्टरपंथी गुटों ने उन महिलाओं को वेश्या तक कह डाला। महिलाएं पुरुष संरक्षक के साथ गई और सिर ढककर हिस्सा लिया। हालांकि 2017, में सऊदी ने अपने राष्ट्रीय स्टेडियम में महिलाओं के आने पर लगी पाबंदी को हटा दिया।

लोगों का हक दिलाने इस कलाकार ने खुद को सड़क के नीचे बने कमरे में किया बंद, 3 दिन तक रहा भूखा


एक आर्टिस्ट ने 3, दिनों तक खुद को बीच सड़क के अंदर बंद कर लिया। इसके पीछे का कारण जानकर आपको काफी हैरानी होगी की आखिर लोगों की खातिर एक कलाकार ने खुद को 3 दिनों तक भूखा प्यासा क्यों बंद रखा।
यह मामला है ऑस्ट्रेलिया का जहां पर एक कलाकार ने टोटलटेरियन वॉयलेंस से पीड़ित लोगों के हक और विरोधियों के लिए सड़क के अंदर बंद कर लिया। माईक पार नाम के इस कलाकार ने 3, दिनों तक भूखा-प्यासा ग्लास के बॉक्स में खुद को बंद रखा। जिस सड़क के नीचे माईक था वह ऑस्ट्रेलिया की सबसे व्यस्ततम सड़क में एक है। इस दौरान माईक अपने साथ एक ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर गए थे और कंटेनर के अंदर खुद को बंद कर लिया। माईक जब बाहर निकले तो उन्होने किसी से कुछ भी नही कहा और वह चुपचाप निकल गए।

ऐसा बताया जा रहा है कि, 19वीं सदी में हुए एक वॉयलेंस के दौरान जो कुछ भी घटित हुआ वह आज भी लोगों के जहन में बना हुआ है। रिपोर्टस के मुताबिक, माईक एक परफॉरमेंस आर्टिस्ट हैं जो ऐसा काम पिछले लंबे समय से करते आ रहे हैं। तो वहीं यह भी बताया गया की माईक मंगलवार को लोगों से मुखातिब होंगे और फिर इस भूख हड़ताल के पीछे के राज से पर्दा उठाएंगे। अभी तक इस मामले को लेकर कोई खास जानकारी हाथ नही लगी है।