Sunday, 19 May 2019

बंगाल में चुनावी हिंसा चरम पर, सुरक्षाकर्मियों से भिड़ी टीएमसी सांसद


2019 लोकसभा चुनाव के दौरान पश्चिम बंगाल में जमकर हिंसा हो रही है. टीएमसी पर चुनाव में घपला करने के आरोप भी लगाए जा रहे हैं. सातवें और अंतिम चरण के मतदान के दौरान भी अभी तक कई स्थानों पर हिंसा और तोड़फोड़ की घटनाएं सामने आई हैं. जादवपुर में भाजपा उम्मीदवार अनुपम हाजरा ने टीएमसी पर गुंडागर्दी करने का आरोप लगाया है. वहीं, बारासात लोकसभा सीट से टीएमसी सांसद और प्रत्याशी काकोली घोष भी एक मतदान केंद्र पर सुरक्षाकर्मियों से उलझ गई.

पोलिंग बूथ पर सुरक्षाकर्मियों से टीएमसी प्रत्याशी ने जमकर बहस की. जानकारी के अनुसार, उन्हें ये खबर मिली कि मतदान केंद्र पर कुछ गड़बड़ी चल रही है. इस सूचना के बाद वह मतदान केंद्र पहुंची. बताया जा रहा है कि उन्होंने बूथ पर उपस्थित सुरक्षाकर्मियों से बात की तो वह भी कुछ संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके, जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों और उनके बीच बहस छिड़ गई.

भाजपा नेता और जादवपुर लोकसभा सीट से पार्टी प्रत्याशी अनुपम हाजरा ने भी टीएमसी कार्यकर्ताओं पर फर्जी मतदान करने का आरोप लगाया है. अनुपम हाजरा का आरोप है कि महिलाएं चेहरा ढककर फर्जी मतदान कर रही हैं. अनुपम हाजरा का कहना है कि टीएमसी के लोगों ने भाजपा के बूथ एजेंटों को भी पीटा और उनकी गाड़ी में तोड़-फोड़ की.


अनिल कपूर-सुनीता मना रहे अपनी 35वीं सालगिरह, शेयर किया रोमांटिक पोस्ट


बॉलीवुड स्टार अनिल कपूर और सुनीता कपूर की आज अपनी शादी की 35वीं सालगिरह मना रहे हैं. बॉलीवुड स्टार अनिल कपूर अपनी एक्टिंग और अपनी हॉटनेस के कारण भी ज्यादा जाने जाट जाते हैं. ये हमेशा ही अपनी उम्र को लेकर सुर्ख़ियों में रहते है और उनकी उम्र जानकर हर कोई हैरान रह जाता है. इसके अलावा आपको बता दें, अनिल कपूर ने अपने इंस्टाग्राम पर अपनी पत्नी के साथ अपनी बेहद ही खूबसूरत सी एक तस्वीर शेयर करते हुए उनको शादी की 35वी सालगिरह विश की है. आइये आपको बता देते हैं ये तस्वीर.

वैसे अनिल कपूर अपनी पत्नी सुनीता के साथ कम ही लाइम लाइट में आते हैं. लेकिन हाल ही में उन्होए बेहद शानदार तस्वीर शेयर की है. अनिल कपूर ने बड़ा ही रोमांटिक सा संदेश भी उनके लिए लिखा है. अनिल कपूर ने विश करते हुए लिखा कि 'सबसे अच्छी बात जो मेरे साथ हुई, वो तुम हो. जो आज मेरे साथ है. हमारा जीवन एक साथ एक बड़ा रोमांच रहा है और यह सब इसलिए क्योकि हमे एक-दूसरे से प्यार है और तुम मेरा प्यार हो और मेरी आखिरी सांस तक मेरा प्यार रहोगे.'

अनिल कपूर ने और भी लिखा, 'आपका प्यार और समर्थन ही इस बात को बताता है कि आज मैं कौन हूं और क्या हूं. सबसे अच्छे 11 साल की डेटिंग और 35 साल की शादी के लिए धन्यवाद. मैं तुम्हारे साथ अगले 46 साल और बेहतरीन बिताने के लिए इंतजार नहीं कर सकता. हैप्पी एनिवर्सरी, सुनीता कपूर. लव यू.' इन सब से पता चलता ही है कि वो अपनी पत्नी से कितना प्यार करते हैं.

अच्छी बात ये है कि इसका जवाब देते हुए सुनीता कपूर ने सेम फोटो अपने इंस्टाग्राम पर शेयर करते हुए लिखा कि 'अच्छे समय को शेयर करना, कठिन समय को सहन करना, एक-दूसरे को रास्ता दिखाने के लिए प्यार पर भरोसा करना. साथ हंसना और जीना, एक-दूसरे पर भरोसा करना और गलतियों पर माफ करना. ऐसे ही हमेशा के एक-दूसरे के लिए साथ-साथ, दिन-ब-दिन और साल बितते रहेंगे. हैप्पी 35 एनिवर्सरी.' दोनों ही एक दूसरे से काफी प्यार करते हैं जिसे आप यहां देख ही सकते हैं.


शरीर को कई तरह से फायदे पहुंचाता है घी


शरीर में फैट बढ़ाने, दिल को सेहतमंद रखने, हड्डियों की मजबूती आदि कार्यों के लिए देशी घी का इस्तेमाल किया जाता है। सुबह खाली पेट घी खाने के भी कई सारे फायदे होते हैं। जोड़ों में दर्द से लेकर बालों और त्वचा तक कई समस्याओं से निजात दिलाने में सवेरे-सवेरे खाली पेट घी का सेवन फायदेमंद हो सकता है।

 घी एक प्राकृतिक ल्यूब्रिकेंट होता है जो जोड़ों को नमी प्रदान करने का काम करता है। इससे जोड़ों के दर्द और ऐंठन से राहत मिलती है। खाली पेट घी के सेवन से आर्थराइटिस में आराम मिलता है।

घी में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड ऑस्टियोपोराइसिस की समस्या से राहत दिलाने में मददगार होता है। सुबह खाली पेट घी का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित रहता है।

 प्रातः काल खाली पेट घी का सेवन करने से बालों को भी काफी फायदा पहुंचता है। घी हेयर फॉलिकल्स को पोषण प्रदान करता है। इससे बाल जड़ से मजबूत होते हैं और बालों को रूखेपन से निजात मिलती है।

मस्तिष्क की कोशिकाओं को सही तरह से काम करने के लिए फैट की आवश्यकता होती है। घी में पर्याप्त मात्रा में फैट होता है जो सेल्स को सही तरह से काम करने में मदद करता है।



लाखों में बिकी ये छोटी सी कटोरी, जानिए इसकी खासियत


कई बार छोटी छोटी चीज़ें इतनी कीमती होती हैं जिसके चलते उनकी चर्चा बन जाती है. हाल ही में ऐसे ही एक कटोरे की कीमत लगी है जो बेहद ही ज्यादा है. इसके बारे में जानकर आप भी हैरान रह जायेंगे. आज हम ऐसे ही एक कटोरे की बात बताने जा रहे हैं जिसकी चर्चा बनी हुई है.

दरअसल, न्यूयॉर्क में बेहद दुर्लभ कटोरा नीलामी में 35 लाख रुपए में बिका. यह कटोरा 1723-35 के वक्त के राजा योंगजेंग के कार्यकाल से जुड़ा है. बता दें, इसके ऊपर योंगजेंग लिखा हुआ है. ऐसा बताया जा रहा है कि इसका निर्माण राजा के लिए किया गया था. इस कटोरे को 39 साल पहले एक ब्रिटिश व्यक्ति ने 20 पाउंड में चीन में एक एंटिक शॉप से खरीदा था. एंटीक होने के कारण ही इसकी कीमत इतनी है.

सफेद रंग का यह कटोरा 4 इंच का है. इस कटोरे की न्यूनतम बोली 8,000 पाउंड रखी गई थी. लेकिन वह तय कीमत से 5 गुना महंगा नीलाम हुआ. इस बारे में जानकारों का कहना है कि ऑक्शन के वक्त यह लोगों के आकर्षक का केंद्र रहा है. स्वॉर्डर्स फाइन आर्ट ऑक्सनियर्स की गैलरी में इसे देखने के लिए लोगों की लंबी लाइन देखी गई.


यह शादी के बाद टेस्ट करते हैं लड़कियों की वर्जिनिटी, पास ना होने पर होता है ऐसा हश्र...


कंजरभाट समुदाय में शादी के बाद लड़कियों के वर्जिनिटी टेस्ट की परंपरा कई वर्षों से चलती आ रही है और इसमें शादी के बाद लड़की को शादी से पहले के अपने कुंवारे होने का सबूत देना पड़ता है. साथ ही बता दें कि यदि लड़की इस वर्जिनिटी टेस्ट में फेल हो जाती है तो उसे वापस उसके घर भी भेज दिया जाता है और फिर उसकी कभी भी शादी नहीं हो पाती है.

फिलहाल हाल ही में महाराष्ट्र के ठाणे जिले में कंजरभाट समुदाय के एक परिवार ने वर्जिनिटी टेस्ट की इस प्रथा का कड़ा विरोध और सामाजिक बहिष्कार किया है तो मामला पुलिस तक पहुंच पाया है. जानकारी के मुताबिक, हाल ही में गुरुवार को ठाणे पुलिस ने पीड़ित परिवार की शिकायत के आधार पर अंबरनाथ कस्बे के 4 लोगों के खिलाफ महाराष्ट्र जन सामाजिक बहिष्कार निषिद्ध अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया.

शिकायतकर्ता विवेक तामचीकर ने पुलिस से कहा कि उनके समुदाय की जाति पंचायत ने बीते एक साल से उनके परिवार का बहिष्कार कर दिया है क्योंकि उन्होंने समाज की उस प्रथा का विरोध किया था जिसके तहत नवविवाहित महिला को यह साबित करना होता है कि वह शादी से पहले कुंवारी थी या नहीं. विवेक ने इस बारे में पुलिस को बताया है कि यह मामला उस समय सामने आया था जब तीन दिन पहले उनकी दादी का निधन हो गया और पंचायत के कथित निर्देशों के कारण अंतिम संस्कार में उनके समाज का कोई भी सदस्य शामिल नहीं रहा था. सभी ने उनसे दूरी बना ली थी.

आगे विवेक ने आरोप लगाया कि उनकी पंचायत ने समुदाय के सभी सदस्यों को निर्देश दिया है कि वे उनके परिवार के साथ किसी भी तरह का संबंध न रखें. वहीं आपको बता दें कि फरवरी 2019 में महाराष्ट्र सरकार कह चुकी है कि वह जल्द महिला को वर्जिनिटी टेस्ट कराने के लिए बाध्य करने को दंडनीय अपराध की श्रेणी में डालेंगी. वहीं पुलिस ने भी इस प्रथा को गलत करार दिया है.


करोड़ों की मालकिन इस बिल्ली की मौत से सोशल मीडिया पर छाया शोक


दुनिया में कई ऐसे पेट्स होते हैं जिन्हें आप जानते होंगे जो अपने आप में ही करोड़ों के मालिक होते हैं. ऐसे ही एक बील्ली थी ग्रुंपी जो अब इस दुनिया से जा चुकी है. ये काफी फेमस थी जिसे कई बड़े बड़े सितारे भी जानते थे. बता दें, दुनिया की सबसे अमीर करीब 700 करोड़ रुपए की मालकिन और चर्चित 7 साल की बिल्ली ग्रुंपी की मौत हो गई है. उसकी मौत पर लोग सोशल मीडिया पर शोक मना रहे हैं. उसे चाहने वाला और उससे जुड़ा इंसान उसके लिए दुखी है.

जानकारी के अनुसार, शुक्रवार को बुंडेसन के परिवार ने ग्रुंपी की मौत की घोषणा की है. उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए बताया कि ग्रुंपी की मौत यूरिनल इंफेक्शन के कारण हुई. मॉरिसटाउन के तबाथा बुंडेसन ने ग्रुंपी कैट को खरीदा था. उन्हें 2012 में एक यूट्यूब वीडियो में प्रसिद्धि के लिए गोली मार दी थी, जिसे 15.7 मिलियन लोगों ने देखा था.

7 महीने के बेटे को गिरवी रखने चला था पिता और हुआ ऐसा...


पिछले हफ्ते अपने सात महीने के बेटे को लेकर ब्रायन स्लोकम नाम का शख्स एक पॉन शॉप पहुँच गया. यहां उन्होंने ट्रॉली से बच्चे को निकालकर काउंटर पर रख दिया और दुकानदार को उसे खरीदने का ऑफर दे दिया. सुनकर हैरानी होगी ही लेकिन उन्होंने ऐसा ही किया. लेकिन ब्रायन ने दुकानदार से मजाक किया था लेकिन शॉप के मालिक ने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी, जिसके बाद पुलिस ने ब्रायन को पूछताछ के लिए पकड़ लिया.

रिचर्ड ने एक स्थानीय न्यूज चैनल को बताया कि ब्रायन अपने बेटे को गिरवी रखने को लेकर काफी गंभीर थे. उन्होंने अपने बेटे को उछालते हुए कुछ करतब दिखाए और फिर काउंटर पर रखकर बोले कि क्या मैं इसे गिरवी रख सकता हूं? इतना ही नहीं, इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसमें ब्रायन को अपने बेटे को काउंटर पर रखते देखा जा सकता है. वह दुकान के मालिक रिचर्ड जॉर्डन से कहता है, ‘‘मेरा बेटा सात महीने का है, इसका ज्यादा इस्तेमाल भी नहीं हुआ. मैं सिर्फ इसे गिरवी रखना चाहता हूं, क्योंकि मुझे इससे छुटकारा नहीं चाहिए. इसकी कितनी कीमत मिल सकती है’ .इसी बात को सुनकर दुकानदार ने पुलिस को खबर कर दी थी।

करोड़ों में बिका ये अनोखा खरगोश, जानिए क्या है खासियत


तकनीक इतनी हो गयी है कि आजकल लोग अपनी कला को दिखाने में पीछे नहीं हटते. ऐसे ही अभी आर्टिस्ट जेफ कून्स ने 1986 में तैयार किया था उड़ता खरगोश जो अब तक की जीवित कलाकार की सबसे महंगी कलाकृति बन गया है. इसकी कीमत जानकर आप हैरान रह जायेंगे. ये खरगोश करोड़ों में बिका है जिसमें क्या खासियत है इसके बारे में आपको बता देते हैं.

दरसल, क्रिस्टी में हुई नीलामी में यह 640 करोड़ रुपए में बिका. इसकी नीलामी वैसे तो 562 करोड़ रुपये में हुई, लेकिन कमीशन और अन्य मदों को जोड़ दिया जाए तो इसकी कीमत 640 करोड़ रुपए है. खरगोश की कलाकृति लगभग 41 इंच ऊंची है. वहीं सूत्रों का कहना है कि जिस व्यक्ति ने इसे खरीदा वह नीलामी के वक्त कमरे में बैठा था. इस व्यक्ति के नाम के बारे में आयोजकों ने कोई जानकारी नहीं दी है. जेफ कून्स को लीक से हटकर काम करने के मामले में महारथ हासिल है.

इटली के म्यूजियम में लगी 8 हजार लाशों की प्रदर्शनी


दुनिया में अलग अलग तरह के रिवाज माने जाते हैं. ये रिवाज सालों से चले आते हैं जिन्हें आप भी जानकर हैरान रह जायेंगे. इटली के स्वायत्त द्वीप सिलसिली के पालेर्मो कैपुचिन संग्रहालय में रखी 8 हजार लाशों के साथ ही 1252 से ज्यादा ममी की प्रदर्शनी लगाई गई है. इसे मृतकों का शहर कहा जाता है. जानकारी के अनुसार पहले यह जगह कब्रिस्तान थी, जिसे संग्रहालय में बदला गया और शवों को ममी के जरिए सुरक्षित रखा गया. यहां 16वीं सदी में ईसाई भिक्षुओं ने शवों को दफनाने और ममी को रखने का काम शुरू किया गया था. अब आम लोग आकर अज्ञात मृतकों की ममी को देख सकते हैं. ममी से जुड़ी कई रिसर्च सामने आई हैं जिन्हें आप भी जान गए होंगे.

दरअसल, 1920 से यहां शवों का रखने का काम बंद कर दिया गया और इसे संग्रहालय में बदल दिया गया. इस विचित्र संग्रहालय को भिक्षु ही चला रहे हैं. इसमें ममी को कब्रो और ताबूत के अंदर विभिन्न अवस्था में देखा जा सकता है. कुछ ममी पूरी तरह सुरक्षित हैं, तो कुछ छिन्न-भिन्न अवस्था में पहुंच गई हैं. ममी बनाने में 70 दिन का समय लगता था. इसे बनाने के लिए धर्मगुरुओं के साथ-साथ विशेषज्ञ की टीम बनाई जाती थी, जो इस काम को अंजाम देते थे।

बड़े काम की है कूड़े में डालने वाली यह चीज, फयदे जानकर उड़ जाएंगे होश



जब भी बाजार से आप कोई भी चीज खरीदते हैं, जैसे कि जूते, पर्स, बैग या कोई इलेक्ट्रॉनिक सामान, तो इन सामानों के पैकेट के अंदर कुछ छोटे-छोटे पैकेट भी आपको आकर नजर आते ही हैं और  आमतौर पर लोगों को यह भीलगता है कि ये बेकार में ही दिए हैं और वो उन्हें कूड़े आदि में भी फेंक देते हैं, लेकिन उन पैकेटों में जो चीज होती है उनके फायदे के बारे में पता चलने पर तो आप भी होश खो बैठेंगे.

आपको बता दें कि दरअसल, वो छोटे-छोटे पैकेट सिलिका जेल के होते हैं और आमतौर पर सिलिका जेल जानवरों को तो कोई खास नुकसान नहीं पहुंचाते हैं, हालांकि ये इंसानों के लिए बहुत ही खतरनाक होते हैं. अतः इसीलिए इन पैकेटों पर लिखा हुआ भी होता है कि सिलिका जेल को बच्चों की पहुंच से भी दूर रखना चाहिए.

साथ ही बता दें कि सिलिका जेल कई मामलों में आपको फायदे पहुंचा सकता है और यह एक बहुत ही शक्तिशाली अवशोषक रहता है जो हवा में मौजूद नमी को बहुत जल्द ही सोखने क अकाम करता है. वहीं सिलिका जेल आपके जरूरी कागजातों की हिफाजत में भी आपके काफी मदद कर सकता है. जैसे कि आपने अपनी अलमारी में पासपोर्ट, जन्म प्रमाण पत्र, मैरिज सर्टिफिकेट, गाड़ी के कागजात आदि रखा है तो वहां थोड़ा सा सिलिका जेल रख दें, तो इन्हे किसी तरह का कोई नुकसान नहीं होगा.