Monday, 18 February 2019

इन उपायों को आजमाने के बाद शराब का नाम भी भूल जायेंगे आप


हम आपको बता दें यदि आपको शराब की बुरी लत लग चुकी है और इसके बहुत ही खराब परिणाम हो सकते हैं। इसका बहुत ज्यादा सेवन करने से आपको गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। अगर आप बहुत ज्यादा शराब पीते हैं तो इसे जल्दी छोड़ने के प्रयास में लग जाइए। वही यदि आपको शराब पूरी तरह से छोड़ सकते हैं और स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।

ऐसे पा सकते है छुटकारा

जानकारी के लिए हम आपको बता दें शराब छोड़ने के लिए यह जरूरी है कि आप खुद को व्यस्त रखें। अपने काम से फ्री होने के बाद लोगों से मेलजोल बढ़ाए। इसके अलावा अपने परिवार और दोस्तों से नियमित रूप से संपर्क में रहकर बातचीत करते रहें। इससे होगा यह कि आपका ध्यान शराब की तरफ भी नहीं जाएगा और लोगों से मेलजोल बनाए रखने में मदद मिलेगी। आपके परिवार और दोस्तों के बारे में सोचकर आप खुद को मोटिवेट कर सकते हैं जो आपकी शराब छोड़ने में मदद करेगा।

खुद को रखें व्यस्त

इसी के साथ शराब छोड़ना आसान नहीं होता और इसे छोड़ने में कई बार आपके सामने चुनौती आती है कि आप फिर से पीना न शुरु कर दें। कई बार शराब को देखते ही आपको पीने का मन करता है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए कोशिश यह करें कि शराब को अपने सामने आने ही न दें। कोशिश करें कि आप उन पार्टियों या कार्यक्रमों में न जाए जहां पर शराब की व्यवस्था हो। इसके अलावा आप व्यायाम, पढ़ने-लिखने, कला या संगीत सीखकर भी खुद को व्यस्त रख सकते हैं।


चाय बेचकर हर महीने 12 लाख रुपये कमाता है यह चायवाला


महाराष्ट्र के पुणे शहर में एक चायवाला सुर्खियों में है। इस चायवाले की मासिक तनख़्वाह जानकर आप दांतो तले उंगलियां दबा लेंगे। इस चाय की दुकान का नाम 'येवले टी हाउस' है, जो पुणे में स्थित है।

नवनाथ येवले चाय बेचकर हर महीने 12 लाख़ रुपये की कमाई करता है। पुणे में यह टी स्टॉल लोगों के बीच में काफी पॉपुलर है। नवनाथ येवले अपने कामयाबी से काफी उत्साहित हैं और आने वाले समय में अपनी चाय को अंतर्राष्ट्रीय पहचान दिलाना चाहते हैं।

पूरे पुणे शहर में येवले टी स्टॉल के तीन सेंटर हैं और हर सेंटर पर करीब 12 लोग काम करते हैं। नवनाथ अपने इस कारोबार के जरिए हर महीने करीब 12 लाख रुपये कमाते हैं।

नवनाथ का कहना है कि वह प्रतिदिन 3,000 से 4,000 कप चाय बेचते हैं। उनकी दुकान पर हर वक्त लोगों की भीड़ लगी रहती है। उनका इरादा देशभर में करीब 100 टी स्टॉल खोलने का है, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार मुहैया कराया जा सके।


लड़कों के इन अंगो के पीछे बुरी तरह पागल होती है लड़कियां


आज हम आपको एक ऐसी खबर के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे। हाल ही मे ब्रिटेन और साउथ अफ्रीका की 3 यूनिवर्सिटीज की ज्वाइंट स्टडी में भी इस बात पर रिसर्च हुई कि महिलाओं को पुरुष के कौन से बॉडी पार्ट सबसे ज्यादा अट्रैक्ट करते है। आपको बता दें कि आज की पोस्ट मे हम आप लोगो को कुछ ऐसी चीज़ो के बारे मे बताने जा रहे हैं, जो कि लड़कियों को लड़कों मे बहुत पसंद आती है। तो आईये जानते है...

आंखे

जैसा की आप सभी जानते हैं, कि सबसे पहले लड़की आपकी आंखे देखती है, याद रहे लड़की आपकी आंखों से अट्रैक्ट होती है, तो अगर आप किसी लड़की से मिलने जा रहे है, तो याद रहे कि आपकी आंखे लाल न हो।

दांत और होंठ

बता दें कि आपकी आंखों को देखने के बाद लड़की आपके दांत और होंठ को देखती है, बता दें कि लड़कियों को सफेद दांत और गुलाबी होंठ वाले लड़के बहुत पसंद आते है।

बाल

बता दें कि दांत और होंठों को देखने के बाद लड़की की नज़र आपके बालों पर जाती है, बता दें कि लड़की अच्छे हेयर स्टाइल वाले लड़को को बहुत पसंद करती है।


लड़कियों के बैठने के तरीके से जाने उनके सारे राज, आप भी जानें


आज हम आपको एक ऐसे मामले के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। क्या आप जानते हैं कि लड़िकयों के बैठने की तरीके से आपको उनके बारे में बहुत कुछ पता चल सकता है। तो चलिए जानते हैं कि आखिर लड़कियों के बैठने के तरीके से क्या क्या पता चलता है?

1.दोनों गालों पर हाथ रखकर बैठना

जो लड़कियां ऐसे बैठती हैं, वो लड़कियां जिन्‍दगी में आगे बढ़ना जानती है। बता दें कि इन्हें सिर्फ लाइफ में मजा करना आता है।

2. पैरौ पर पैर रखकर बैठना

जो लड़कियां इस तरह से बैठती है, वो चंचल स्वभाव की होती है। इतना ही नहीं, यह कुछ भी बोलने से पहले सोचते नही है।

३. सीधे बैठना

जो लड़कियां एकदम सीधी बैठती हैं, वो काफी अच्छी होती है। इन्हें चुनौतियां लेने पसंद होता है।


आखिर लोग गुस्से में क्यों देते है मां..बहन..की गाली, क्या है वजह...


आज हम आपको एक ऐसे मामले के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे। जब किसी को गुस्‍सा आता है तो वो सामने वाले को गालियां देकर अपनी भड़ास निकालता है। ऐसे में गालियां औरतों के नाम पर बनी हैं लेकिन क्‍या आपने कभी ये सोचा है कि आखिरकार महिलाओं के नाम पर गालियां क्‍यों बनाई गईं हैं। आज आपको बता देते हैं ऐसा क्यों है और किस लिए करते हैं लोग ऐसा....

आपको बता दें कि इन गालियों को प्रयोग अब लोग इतना ज्‍यादा करने लगे हैं कि अब तो ये हमारी आम बोलचाल का हिस्‍सा बन गईं हैं। औरतों पर बनी गालियां हमारे समाज के काले सच को उजागर करती हैं जहां आज भी किसी को नीचा दिखाने के लिए औरतों का इस्‍तेमाल किया जाता है।

अगर आपकी किसी के साथ लड़ाई हो जाती है और आप उसे नीचा दिखाना चाहते हैं या अपने मन की भड़ास निकालना चाहते हैं तो उन्‍हें गालियां देते हैं वो भी मां..बहन..की. इससे पता चलता है कि औरतों का आज भी इस्‍तेमाल हो रहा है।


हमेशा दूसरों के खून की प्यासी रहती है ये प्रजाति, मानी जाती है खूंखार


आज आपको हम ऐसे आदिवासी के बारे में बताने जा रहे हैं जो बहुत ही खूंखार है. इतना ही नहीं ये आदिवासी कहीं और नहीं हमारे ही देश में हैं जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे. इनकी इस प्रजाति को बहुत खूंखार माना जाता है साथ ही जहां ये लोग रहते हैं उस गांव को सभी बहुत ही खतरनाक मानते हैं. आप भी नहीं जानते तो हम बता देते हैं उस गांव के बारे में जो बहुत ही खतरनाक है हर किसी के लिए.

दरअसल भारत की सीमा पर एक गांव बसा है जहां कोयांक आदिवासी रहते है. इन आदिवासियों का आधा गांव भारत में तो आधा गांव म्यामांर में आता है और इस गांव का नाम है लोंगवा. इस गांव के सभी लोग काफी खुंखार माने जाते है. इतना ही नहीं इस गांव के दोनो ही हिस्से एक दूसरे के खून के प्यासें है और देखते ही सिर काट देते हैं. जानकारी दे दें कि भारत के इस पूर्वोत्तर राज्य में 16 जनजातियां रहती हैं. जिनमें से कोंयाक आदिवासियों को बेहद खूंखार माना जाता हैइनकी लड़ाई का कारण है  कबीलेे की सत्ता और जमीन जिस पर ये हंगामा वर्षो से चला आ रहा है और इस पर संघर्ष चला आ रहा है.

बच्चे को गोरा करने के लिए माँ ने कर दी ऐसी हरकत कि बच्चे की हालत हो गई ख़राब


एक माँ ऐसी भी है जिसे अपने बच्चे को गोरा करना था जिसके लिए उसने ऐसा कुछ किया कि आप हैरान रह जायेंगे. आइये आपको बता देते हैं इस माँ ने ऐसा क्या किया जिसे आप भी जानकर हैरान रहने वाले हैं.

बता दें, माँ ने अपने बच्चे को गोरा करने के लिए पत्थर से इतना रगड़ा कि बच्चे के पूरे शरीर पर घाव हो गए. इस घटना का खुलासा तब हुआ, जब पुलिस और चाइल्ड लाइन को किसी ने फोन कर महिला की इस करतूत की जानकारी दी. खबर के अनुसार इस महिला का नाम सुधा तिवारी है जो एक सरकारी स्कूल में टीचर है. उन्होंने इस बच्चे को उत्तराखंड स्थित मातृछाया से गोद लिया था. जिसने इस महिला की शिकायत की उसने बताया कि आरोपी सुधा बच्चे को गोद लेकर भोपाल लाई थी. उसे शुरुआत से ही बच्चे के काले रंग से दिक्कत थी.

दरअसल, उसका काला रंग दूर करने के लिए उसने कई जगह कोशिश की, लेकिन कामयाबी हासिल नहीं हुई. इसके बाद उसे किसी ने सलाह दी कि बच्चे के बदन पर काला पत्थर रगड़ा जाए तो वह गोरा हो जाएगा. जब इसकी सूचना पुलिस और चाइल्ड लाइन को मिली तो बच्चे को मुक्त कराया गया और हॉस्पिटल ले जाया गया. नियम के मुताबिक गोद लेने के बाद मातृछाया को बच्चे की हाल-खबर लेते रहना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं किया गया. इसके कारण उन्हें पुलिस में जाना पड़ा. 

इस शख्स ने कोबरा को बनाया अपनी पत्नी, हैरान कर देगी कहानी


पुनर्जन्म की कहानियां तो आपने कई बार सुनी और पढ़ी होंगी. ऐसे कई मामले सापके सामने भी आते होंगे जिन पर यकीन कर पाना मुश्किल होता है. ऐसे ही एक और मामला सामने आया है जिस पर आप यकीन नहीं कर पाएंगे. एक किस्सा कुछ ऐसा ही है जिसमें पुनर्जन्म की कहानी है. यहां एक इंसान कोबरा को ही अपनी पत्नी समझता है और उसी के साथ रहता है. आइये जानते हैं ऐसा क्यों है और ये शख्स ऐसा क्यों कर रहा है.

ये शख्स सिंगापुर में रहता है कि जो हर पल एक कोबरा सांप के साथ ही रहता है. ये दोनों साथ में खाना खाते हैं, टीवी देखते हैं यही नहीं जहां-जहां ये लड़का रहता है वहां-वहां ये कोबरा भी साथ रहती है. दोनों में इतना प्यार है कि वह पल भर के लिए भी एक दूसरे से अलग नहीं होते. यही नहीं लड़के ने इस कोबरा से शादी भी रचा ली है. इसकी कहानी भी कुछ अजीब ही है. दरअसल इस युवक की गर्लफ्रेंड की मौत 5 साल पहले हो चुकी है. वह अपनी गर्लफ्रेंड से बेहद प्यार करने वाला ये युवक उसका इंतजार करता रहा.

इसी बाद उस युवक को एहसास हुआ कि उसकी गर्लफ्रेंड कोबरा के रूप में उसकी जिंदगी में वापस आ गई है. जिसके बाद उसने उसी से शादी कर ली और उसी के साथ रहने भी लगा. आप यक़ीन नहीं यह रोजाना 10 फीट की कोबरा के साथ ही टीवी देखता है, पिकनिक पर जाता है और कैरम भी खेलता है. यहां तक कि दोनों साथ भी सोते हैं. ये दोनों एक दूसरे के बिन एक पल भी नहीं रहते हैं. हैरानी की बात है ये कि वो कोबरा भी इस शख्स को कुछ नहीं करता.

पिछले 5 दिनों में 60 पैसे तक महंगा हुआ पेट्रोल, जानें क्या है आज का भाव


अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में पिछले दिनों आई तेजी के कारण पेट्रोल और डीजल के दाम में वृद्धि का सिलसिलसा सोमवार को लगातार पांचवें दिन जारी रहा. इन पांच दिनों में देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 58 पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया है जबकि डीजल के दाम में 49 पैसे की वृद्धि हुई है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में हालांकि कच्चे तेल की तेजी पर विराम लग गया है, लेकिन ब्रेंट क्रूड अभी भी 66 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर बना हुआ है. पिछले सप्ताह ब्रेंट क्रूड के दाम में चार डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा का उछाल आया.

तेल विपणन कंपनियों ने सोमवार को फिर दिल्ली, कोलकाता और मुंबई पेट्रोल के दाम में 15 पैसे, जबकि चेन्नई में 16 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की. डीजल की कीमतें दिल्ली और कोलकाता में 13 पैसे जबकि मुंबई और चेन्नई में 14 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दी गई हैं.

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम क्रमश: 70.91 रुपये, 73.01 रुपये, 76.54 रुपये और 73.61 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं. चारों महानगरों में डीजल की कीमतें क्रमश: 66.11 रुपये और 67.89 रुपये प्रति लीटर, 69.23 रुपये और 69.84 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं.

पुलवामा आतंकी हमला : शहीद के परिजनों को मिलेगा 2 BHK फ्लैट


रीयल एस्टेट कंपनियों का शीर्ष संगठन रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद सीआरपीएफ जवानों के परिवारों को 2 BHK का घर देगा. संगठन ने सोमवार को इसकी जानकारी दी. क्रेडाई के अध्यक्ष जे शाह ने बयान में कहा, "शोक में डूबे परिवारों का समर्थन करने के लिए क्रेडाई ने शहीदों के अपने राज्य या शहर में दो कमरों का एक घर देने का प्रस्ताव किया है." उन्होंने कहा कि संगठन के सभी 12,500 सदस्य दुख परिवारों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं. क्रेडाई, भारत में निजी रीयल एस्टेट डेवलपरों का शीर्ष निकाय है. इसमें देशभर के 23 राज्यों और 203 शहरों के 12,000 से ज्यादा कंपनियां शामिल हैं.

पुलवामा में आतंकवादी हमले के बाद देश के विभिन्न संगठन और लोग शहीदों के परिजनों की आर्थिक मदद के लिए आगे आए हैं. इनमें मेगास्टार अमिताभ बच्चन और महाराष्ट्र स्थित प्रसिद्ध साईं बाबा मंदिर प्रबंधन ट्रस्ट शामिल हैं. अभियान के दौरान शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों के परिवार की आर्थिक सहायता के लिए धनराशि एकत्र करने को बनाए गए ऑनलाइन पोर्टल ‘भारत के वीर’ को पुलवामा आतंकी हमले के बाद से अभूतपूर्व तरीके से सात करोड़ रुपये की राशि मिल चुकी है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. गौरतलब है कि गुरुवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हुये एक आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.

केन्द्रीय गृह मंत्रालय के ऑनलाइन पोर्टल का प्रबंधन देख रहे अधिकारियों ने नागरिकों से ‘भारत के वीर’ को छोड़ कर किसी अन्य मंच के लिए शहीद जवानों के लिए धनराशि नहीं देने का अनुरोध किया है. बीएसएफ के महानिरीक्षक (आईजी) अमित लोधा ने बताया,‘पिछले 36 घंटे में ऑनलाइन पोर्टल पर हमें अभूतपूर्व सहायता राशि मिली है यह सात करोड़ रूपये से अधिक है.