दवाओं पर क्यों लिखा जाता है Rx, इस खतरनाक संकेत की जान लें असली वजह


डॉक्टर के दवाई लिखने के बाद कई बार हम बिना कुछ कहे उन दवाइयों को खरीदते हैं और उनका सेवन करने लगते हैं। लेकिन कई बार बिना डॉक्टर की प्रेस्क्रिप्शन के ही हम दवाइयां लेने लगते हैं जबकि यह गलत होता है। ऐसे में जरूरू है कि दवाओं की ठीक से पहचान हो। लेकिन ये अनुभव तो केवल डॉक्टर के पास ही होगा न।


कई बार हम डॉक्टर की फीस बचाने के चक्कर में खुद का नुकसान कर लेते हैं। गलत-सलत दवा खाएंगे तो भुगतना तो खुद को ही होगा न। मगर कई बार ऐसी परिस्थितियां भी खड़ी हो जाती है जिसमें डॉक्टर से सलाह ले पाना मुमकिन नहीं होता। अब ऐसे में क्या करेंगे..?

ऐसी परिस्थिति में तो दवा की थोड़ी बहुत जानकारी हर शख्स को होनी चाहिए। तो चलिए आज हम आपको ऐसा ही जानकारी देंगे। कई लोग मेडिकल स्टोर से दवा खरीदते हैं, लेकिन जानकारी के अभाव के कारण ऐसी दवा की डिमांड करने लगते हैं जो डॉक्टर के पर्चे के बिना नहीं लेनी चाहिए।


जबकि बिना डॉक्टरी सलाह के इन दवाइयों को लेकर हम अपनी ही हेल्थ प्रॉब्लम बढ़ाते हैं। इसलिए दवाई खरीदते समय कुछ बातों का ध्यान रखना काफी जरूरी होता है। जैसे Rx लिखी हुई दवाएं.... इन दवाओं को बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लिया जा सकता।


और अगर दवा के पत्ते पर NRx लिखा हो तो समझिए इन दवाओं को केवल वही डॉक्टर सजेस्ट कर सकते हैं, जिन्हें नशीली दवाओं का लाइसेंस प्राप्त है। तो भैया ऐसी दवा से खासकर बचकर रहना। वहीं XRx लिखी दवा को केवल डॉक्टर के पास से ही लिया जा सकता है, इन्हें आप मेडिकल स्टोर से नहीं ले सकते।






Powered by Blogger.