रहस्यमयी ढंग से 3 हजार साल तक एक नाले में छुपी रही ये बेशकीमती चीज



अक्सर ऐसा देखा जाता है कि जिन पार्क, सड़क या रास्ते को हम रोजाना देखते हैं, उसके अंदर इतिहास का खजाना छिपा होता है और हमें पता भी नहीं चलता। जब यह हैरान कर देने वाला रहस्य बाहर आता है, तब कहीं जाकर यह अहसास होता है कि यह जगह कितनी अहमियत रखती है। कुछ ऐसा ही इजिप्ट की राजधानी काहिरा में देखा गया।

काहिरा में एक बस्ती है मटेरिया। इस बस्ती के पास एक नाला बहता है। कुछ समय पहले जर्मनी और इजिप्ट के खोजकर्ता पुरानी सभ्यता से जुड़ी चीजों को खोजते हुए यहां पहुंचे थे। अपनी खोज के दौरान उन्हें प्राचीन सभ्यता से जुड़ी कुछ चीजें मिली, तो उन्होंने अपनी खोज का दायरा बढ़ा दिया।

बस्ती के आसपास जब कुछ न मिला, तो वह निराश हो गए। लेकिन इसी बीच पता नहीं उन्हें क्या सूझा, उन्होंने वहां बहने वाले गंदे नाले में खुदाई करने की ठानी। शुरुआती खुदाई में तो उनके हाथ कुछ न लगा, लेकिन करीब सौ फुट खुदाई के बाद उन्हें एक विशाल मूर्ति का धड़ नजर आया।

जब मूर्ति को निकाला गया, तो यह मूर्ति करीब ३०००, साल पुरानी थी। यह उस समय वहां शासन करने वाले राजा राम्सेस सेंकड की मूर्ति थी। २६, फुट ऊंची इस प्रतिमा की खोजकर्ता चार साल से तलाश कर रहे थे। इस बस्ती को कई हजार साल पहले हेलियोपोलिस नाम का शहर बसता है।

Powered by Blogger.