Thursday, 17 May 2018

45 लोगों के सामने डूब गया हर्ष, किसी ने नहीं देखा


शहर में बुधवार को कापडिया हेल्थ क्लब के स्वीमिंग पूल में पास खड़े इंस्ट्रक्टर के सामने ही १३, साल का बच्चा हर्ष पोद्दार डूब गया। तीन दिन में शहर में यह दूसरी घटना है जब लापरवाही के कारण मासूम को जान गंवानी पड़ी। हर्ष कपड़ा कारोबारी पिंकेश पोद्दार का सबसे बड़ा बेटा था। वह श्री श्री रविशंकर महाराज स्कूल आहवा में कक्षा ७, में पढ़ता था। उसके पिता पिंकेश मूल रूप से राजस्थान के सीकर के रहने वाले हैं। वे सूरत में वेसू रोड पर नंदनवन-२, में रहते हैं।

कापडिया हेल्थ क्लब के स्वीमिंग पूल में बुधवार की शाम तैराकी सीखने गया १३, साल का हर्ष डूब गया। लापरवाही की इंतहा यह रही कि महज १५, दिन से तैराकी सीखने जा रहे इस बच्चे को बिना फ्लोटर पहनाए ही पूल में उतार दिया गया। मौके पर तैराकी सीख रहे ३५, से ज्यादा बच्चे, ६, इंस्ट्रक्टर सहित ४५, लोग होने के बावजूद डूबने का पता तब चला जब उसकी मां चिल्लाई कि मेरा बेटा डूब गया है। इसके बाद उनके बगल में खड़ा एक इंस्ट्रक्टर पूल में कूदा और बेसुध हर्ष को पानी से बाहर लाया। हर्ष दूसरे इंस्ट्रक्टर के पैरों के ठीक पास बेसुध पड़ा था। मौके पर इलाज की व्यवस्था नहीं थी। यहां से सिविल और फिर महावीर अस्पताल ले गए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।