Friday, 18 May 2018

बोनी कपूर एक बार फिर मुश्किल में जांच एजेंसी का दावा श्रीदेवी की मौत महज हादसा नहीं बल्कि..


एजेंसी ने दावा किया है कि श्रीदेवी की मृत्यु के बाद, होटल जुमारा अमीरात ने सामने के कर्मचारियों को बदल दिया है और नए कर्मचारी आ गए हैं और उनसे इस मामले में चुप रहने के लिए कहा है। कर्मचारियों को निर्देश भी है कि कमरे में जहां श्रीदेवी की हत्या हुई थी, उसे किसी को भी देने की ज़रूरत नहीं है। होटल में भी निजी वीडियोग्राफी पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके बावजूद, उन्होंने किसी भी तरह से होटल की वीडियोोग्राफी लाई है।

एजेंसी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि विश्वव्यापी जांच का वैज्ञानिक तरीका क्या है, इसका पालन नहीं किया गया है। श्रीदेवी के कॉल विवरण के बारे में कुछ भी नहीं कहा गया था, न ही बोनी कपूर के कॉल विवरण भेजने की कोई ज़रूरत थी। वह कहता है, "मैं कहता हूं कि इस मामले में यह शून्य निवेश है। न तो रक्त रिपोर्ट पर चर्चा की गई और न ही फेफड़ों की स्थिति। जब कोई पानी में डूब जाता है, तो उसका पानी फेफड़ों में जाता है। कोई भी आपको नहीं बता रहा है कि शरीर के अंदर कितना पानी चला गया श्री श्रीदेवी। "भूषण ने यह भी कहा कि श्रीदेवी की मौत गलती से नहीं की गई थी। कुछ और कारण हो सकता है। यह जांच का विषय है।