मुस्लिम महिला ने बंदर के नाम कर दी सारी प्रॉपर्टी, मरने पर बनवाया हनुमान मंदिर


पिछले साल जब उसकी मौत हुई, तो अपने घर में उसका मंदिर बनवा दिया। इसी मंगलवार को मंदिर में राम-लक्षण और सीता के साथ बंदर की मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा की गई। इस मौके पर भंडारा भी कराया गया। महिला ने अपने घर का नाम भी बंदर के नाम पर 'चुनमुन' रखा है।

रायबरेली के शक्तिनगर निवासी कवियित्री सबिस्ता बृजेश के घर में मंगलवार को उनके चहेते बंदर चुनमुन की मूर्ति स्थापित कर दी गई। सबिस्ता को यह बंदर करीब १३, साल पहले मिला था। सबिस्ता मानती हैं कि चुनमुन के आने के बाद मानों उनकी जिंदगी बदल गई थी। चुनमुन उनके लिए भाग्यशाली साबित हुआ था। सबिस्ता मुस्लिम हैं, बावजूद उन्होंने अपने घर में मंदिर बनवाया। उन्होंने १९९८, में ब्रजेश श्रीवास्तव से लव मैरिज की थी। दोनों की कोई संतान नहीं है।

Powered by Blogger.