Monday, 14 May 2018

भूलकर भी अपनी गाड़ी पर न लगाना हनुमान जी का ये स्टीकर, जानें इसके पीछे की वजह



आपने हनुमान जी के इस अवतार की तस्वीरों को कई गाड़ियों के पीछे लगा देखा होगा। इस तस्वीर ने हर किसी का ध्यान अपनी और खींचा था। यहां तक की पीएम भी इससे अछूते नहीं है। पीएम ने खुद कर्नाटक में एक रैली के दौरान इस तस्वीर के बारे में जिक्र किया था। उन्होंने तस्वीर बनाने वाले आर्टिस्ट करण आचार्य की जमकर तारीफ भी की थी।


वैसे तो सभी को लगता है कि इस तस्वीर में हनुमानजी क्रोधित मुद्रा में नजर आ रहे हैं, पर इसकी सच्चाई कुछ और है। रिपोर्टस के अनुसार, तस्वीर को डिजाइन करने वाले आचार्य ने बताया कि इस तस्वीर में उन्होंने भगवान को क्रोधित नहीं, बल्कि उनके एटिटयूड को दर्शाया है।


आचार्य ने बताया यह तस्वीर उन्होंने 2015 में डिजाइन किया था। उन्होंने कहा, 'गणेश चतुर्थी के दौरान मेरे दोस्तों ने एक ऐसी तस्वीर बनाने को कहा जो काफी यूनीक हो। गूगल में सर्च करने पर भगवान हनुमान की कई तस्वीरें आती हैं। मैंने उनसे कुछ अलग करने का सोचा। मैंने एक ही रंग से हनुमान की तस्वीर बनाने के बारे में सोचा। मैंने भगवा रंग चुना क्योंकि यह हनुमान का प्रतीक माना जाता है। इस आर्ट को बनाने में आधे घंटे का समय लगा। मुझे यकीन नहीं था कि यह तस्वीर इतनी वायरल हो जाएगी। यह मेरी जिंदगी का सबसे यादगार पल है।'


करण ने आगे कहा कि शुरू में उन्होंने बिना किसी वाटरमार्क के तस्वीर शेयर कर दी थी,  इसलिए अब वह जल्द ही इस तस्वीर पर कॉपीराइट ले सकते हैं। आपको बता दें कि अगर कोई कॉपीराइट कंटेंट को उसके मालिक की परमिशन के बिना या बिना लाइसेंस प्राप्त किए बिना कोई भी कॉपीराइट कंटेंट का इस्तेमाल करता है तो उसे कॉपीराइट की शर्तों का उल्लंघन माना जाता है।