Sunday, 10 June 2018

अब किराए के घर में क्यों रहना, मात्र 5 लाख में मिल रहे हैं 2 B.H.K. के आलीशान फ्लैट-आज ही खरीद लें


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 जून 2015 को 2022 तक हाउसिंग फॉर मिशन के तहत प्रधानमंत्री आवास योजना लांच की थी। इस स्कीम के चार कंपोनेंट हैं। पहली- स्लम बस्तियों की जगह अपार्टमेंट्स, यहां स्लम में रह रहे लोगों को फ्लैट्स दिए जाएंगे। दूसरे  क्रेडिट से जुड़ी सब्सिडी के माध्यम से सस्ते घर, इसमें ईडब्ल्यूएस और एलआईजी कैटेगिरी के फ्लैट्स बनेंगे, जिसमें खरीददार को सब्सिडी दी जाएगी।

तीसरे पीपीपी के तहत सस्ते घर, इसमें डेवलपर्स को 35 फीसदी सस्ते घर बनाने के लिए कहा जाएगा और डेवलपर्स को केंद्रीय सहायता मिलेगी। चौथे अपने घर के कंस्ट्रक्शन पर सब्सिडी। अगर सालाना आमदनी 3 लाख  रुपए हैं तो आप ईडब्ल्यूएस कैटेगिरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं। अगर सालाना आपकी आमदनी 5 लाख रुपए है तो आप एलआईजी कैटेगिरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

ईडब्ल्यूएस में आपको 30 वर्ग मीटर  का फ्लैट मिलेगा। अगर आप एलआईजी के लिए अप्लाई करते हैं तो आपको 60 वर्ग मीटर का फ्लैट मिलेगा। बजट लागू होने के बाद आपको यह फ्लैट कारपेट एरिया के हिसाब से मिलेगा। यानि कि आप 645 वर्ग फुट के कारपेट एरिया वाले फ्लैट में रहेंगे। ध्यान रहे कि वित्त मंत्री अरुण जेतली ने अफोर्डेबल हाउसिंग की गणना बिल्ट अप एरिया की बजाय कारपेट एरिया से होगी, जिससे सस्ते घर का साइज लगभग 30 फीसदी बढ़ जाएगा।

No comments:

Post a Comment