Sunday, 10 June 2018

सामने आया कुत्तों से जुड़ा 5000 साल पुरानी मानव सभ्यता का एक रहस्य


पूरी दुनिया के लिए आकर्षण का केंद्र बनी सिनौली साइट से कुछ ऐसे भी प्रमाण मिले हैं, जो बेहद चौंकाने वाले हैं। 5000 वर्ष पहले की सभ्यता में जानवरों को भी मरने पर सम्मान से दफन किया जाता था। साइट से मिले एक कुत्ते के कंकाल ने इस बात पर मुहर लगाई है। इस पर अब पुरातत्वविद गहन अध्ययन में जुट गए हैं।

बता दें कि 15 फरवरी 2018 को सिनौली उत्खनन स्थल पर ASI की महानिदेशक ऊषा शर्मा के निर्देश पर पुरात्तवविद डॉ. संजय मंजुल व डॉ. अरविन मंजुल के निर्देशन में ट्रॉयल ट्रेंच का काम शुरू हुआ था।

संजय मंजुल और डॉ. अरविन मंजुल ने बताया कि यहां से मिला कुत्ते का कंकाल अपने आप में महत्वपूर्ण हैं। इससे पता चलता है कि 5000 साल पहले मरने के बाद जो सम्मान इंसानों को मिलता था, ठीक वैसा जानवरों को भी।

साइट से मिले दुर्लभतम पुरावशेषों को दिल्ली ले जाया जा रहा है। ९० प्रतिशत से अधिक सामान पहले ही भेजा चुका है। साइट पर उत्खनन बंद हो चुका है, इसलिए ट्रायल ट्रेंच को भी मिट्टी डालकर पूरा जा रहा है।

No comments:

Post a Comment