Monday, 11 June 2018

62 साल के बुजुर्ग का ऑपरेशन करते हुए फूले डॉक्टरों के हाथ पांव, पेट में मिला 17 किलो का ट्यूमर


राजस्थान के बीकानेर के रहने वाला एक बुजुर्ग छह महीने से पेट दर्द की समस्या से जूझ रहा था। इस दौरान भयानक दर्द के कारण वो कुछ भी नहीं कर पा रहा था।

शुरुआत में बुजुर्ग चंपालाल  को लगा कि उन्हें एसिडिटी हो गई है। घरेलू इलाज किया, ईनो ली लेकिन पेट लगातारा फूलता रहा। कुछ समय बाद ही उनका पेट किसी गर्भवती महिला की तरह दिखने लगा।

पेट के बढ़ते आकार से परेशान होकर चंपा लाल दिल्ली पहुंचे और हाल में सर गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों ने उनके पेट से करीब 17 किलो का ट्यूमर निकाला। ट्यूमर का वजन 4 नवजात शिशुओं के बराबर था। अस्पताल के लिवर ट्रांसप्लांट ऐंड सर्जिकल गैस्ट्रोएंटरॉलजी डिपार्टमेंट में कंसल्टेंट डॉ. ऊषाष्ट धीर ने बताया, 'ऑपरेशन थिएटर की भार मशीन एक बार में महज 10 किलो वजन उठा सकती है।' उन्होंने ट्यूमर के बड़ा टुकड़ा दिखाया और कहा कि यह कैंसर कारक है और बहुत तेजी से बढ़ा होगा। उन्होंने आगे कहा, 'ट्यूमर डिफरेंशल लीकोसर्कोमा था जो फैट सेल्स से बढ़ने वाला दुर्लभ कैंसर है। अगर इसे समय रहते न निकाला गया होता तो मरीज ज्यादा समय तक जिंदा नहीं रह सकता था।'

No comments:

Post a Comment