Sunday, 24 June 2018

323 किलोमीटर दूर से 94 मिनट में लाया गया दिल और फिर जो हुआ..


हुआ कुछ ऐसा कि एक चार साल की लड़की को दिल की जरूरत थी उसका हार्ट ट्रांस्पलांट होना था। लेकिन लड़की के पास समय बहुत कम था। अगर दिल समय पर नहीं पहुंचता तो शायद वो लड़की नहीं बच पाती। इसलिए आज एक जिंदा दिल को औरंगाबाद से मुंबई सिर्फ एक घंटा 34 मिनट में पहुंचाया गया। हैरानी की बात ये है कि औरंगाबाद से मुंबई की दूरी 323.5 किलोमीटर है।

अब आप खुद अंदाजा लगाइए कि ये काम किनती जल्दबाजी में किया गया होगा जो 323.5 किलोमीटर का सफर केवल एक घंटा 34 मिनट में पूरा किया गया। suburban Mulund के फॉर्टिस हॉस्पिटल से बयान आया है कि यहां एक चार साल की लड़की का हार्ट ट्रांसप्लाट हुआ। खुशी की बात है ये ऑपरेशन सफल रहा और लड़की अब खतरे से बाहर है। लड़की Jalna की रहने वाली है और अब उसे ऑप्रेशन के बाद ऑबजर्वेशन के लिए हॉस्पिटल में रखा गया है।

हॉस्पिटल से स्टेटमेंट आई है कि ये जिंदा दिल 13 साल के लड़के का है जो एक रोड एक्सिडेट में मर गया था। ये लड़का औरंगाबाद के अस्पताल में था जहां से उसका जिंदा दिल मंगवाया गया। अस्पताल से औरंगाबाद हवाई अड्डे के लिए हार्ट 1:50 बजे निकाला गया था। अस्पताल ने कहा कि हार्ट 1:54 बजे हवाई अड्डे पर पहुंच गया था। केवल चार मिनट में 4.8 किलोमीटर की दूरी कवर करते हुए इसे ग्रीन कॉरिडोर बनाकर लाया गया।

एक चार्टर्ड फ्लाइट से 3 बजकर 5 मिनट पर इसे मुंबई हवाई अड्डे लाया गया। वहां से इसे 19 मिनट में 18 किलोमीटर दूर फोर्टिस अस्पताल में एक ग्रीन कॉरिडोर के माध्यम से पहुंचाया गया। फोर्टिस के आधिकारिक बयान में कहा गया, 'हार्ट 3 बजकर 24 मिनट पर औरंगाबाद से निकलने के एक घंटे 34 मिनट बाद अस्पताल पहुंच गया। इसने कुल 323.5 किलोमीटर की दूरी तय की।' जो भी हुआ है ये एक सराहनीय काम है और हर जगह ऐसा काम होना चाहिए ताकि इसी तरह मासूम जिंदगियां बचती रहे।

No comments:

Post a Comment