Saturday, 30 June 2018

मुस्‍ल‍िम महिला ने उर्दू में लिखी रामायण, कहा- भगवान राम की अच्‍छी बातें सभी तक पहुंचनी चाहिए


देश में आए दिन हिंदू-मुसलमान के बीच तनाव की खबरें आती रहती हैं। इसी बीच एक ऐसी खबर आई है जो दोनों धर्मों के बीच प्रेम भाव को बढा देगी।

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक मुस्लिम महिला ने भगवान राम की रामायण को उर्दू में ट्रांसलेट किया है। ये कार्य करके सांप्रदायिक सौहार्द्र और आपसी भाईचारे की अनूठी मिसाल पेश की है।

कानपुर के प्रेमनगर इलाके की निवासी डॉक्टर माही तलत सिद्दीकी ने यह मिसाल पेश की है। उर्दू रामायण की रचना करने के पीछे माही तलत सिद्दीकी का मकसद है कि हिंदू समुदाय के अलावा मुस्लिम समुदाय को भी रामायण की अच्छी बातों के बारे में पता चले।

डॉक्टर माही तलत सिद्दीकी का कहना है कि उर्दू में रामायण को बहुत ही खूबसूरत तरीके से लिखा गया है। सभी धर्मग्रन्थों के पवित्र शब्दों की तरह रामायण भी दुनिया भर के लोगों को शांति और भाईचारे का संदेश देती है।

रामायण के उर्दू संस्करण की रचना करने के पीछे माही तलत सिद्दीकी का खास मकसद है। वे कहती हैं कि हिंदू समुदाय के अलावा मुस्लिम समुदाय को भी रामायण की अच्छी बातों के बारे में पता चले।

डॉक्टर माही तलत सिद्दीकी का कहना है कि रामायण को उर्दू में लिखने के बाद उन्‍हें बहुत शांति महसूस हो रही है। उर्दू रामायण की रचना करने में डॉक्टर माही तलत सिद्दीकी को  डेढ़ साल से ज्यादा का वक्त लगा।

No comments:

Post a Comment