Saturday, 30 June 2018

भारतीय रेलवे में सफर करने वाले लोग अभी देखे ये वीडियो...


हर पांच साल में सरकार बदलती हैं और हर साल जुलाई में कुछ ऐसे कानून बदलते है जिनसॆ आप और हम सीधा प्रभावित होते हैं। ऐसे ही कुछ नियम है जिनमें भारतीय रेलवे 1 जुलाई से बदलाव करने वाला है।

तो चलिए आपको बताते है कि किन नियमों में बदलाव आ रहा है जिन्हें आपको जानना जरूरी है। रेलवे ने इतने भी नियमों में बदलाव किया है वो टिकट और ट्रेन की आवाजाही से जुड़े है।

1 जुलाई से, तत्काल टिकट रद्द करने के बाद एक को 50 प्रतिशत पैसे वापस मिलेंगे। वर्तमान में, लोगों को तत्काल टिकट रद्द करने  पर धनवापसी नहीं मिलती है।  रेलवे में तत्काल बुकिंग का समय भी बदला जाएगा। अब पहले की तरह 10 बजे से तत्काल टिकट के लिए लाइन नहीं लगानी पड़गी।  1 जुलाई से, एसी बुकिंग के लिए तत्काल खिड़की सुबह 10 बजे से 11 बजे तक खुल जाएगी। कोई भी स्लीपर कोच टिकट 11 बजे से शाम 12 बजे तक ही बुक कराया जा सकेगा। उसके बाद ये सुविधा नहीं मिल पाएंगी।  इस तारीख से, केवल मोबाइल टिकट राजधानी और सतबदी एक्सप्रेस ट्रेनों में मान्य होंगे।

रेलवे में अब लोग को अपनी क्षेत्रीय भाषाओं में भी टिकट बुक करा पाएंगे। रेलवे पर आपको हर भाषा में टिकट बुक कराने का ऑपशन रहेगा। राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन में कोचों की संख्या में वृद्धि होगी ताकि यात्री इन ट्रेनों में टिकटों की पुष्टि कर सकें। वेटिंग यात्रियों को सुविधा ट्रेनों की वैकल्पिक सुविधा मिल पायेगी। कम से कम स्टॉप वाली ट्रेनें राजधानी और शताब्दी को सुविधा ट्रेन की सूची में रखा गया है। ये ट्रेनें एक्सप्रेस की तरह होंगी। इन सुविधा ट्रेनों में लोगों को केवल पुष्टि टिकट मिलेगा। सुविधा ट्रेनों को रद्द करने पर 50 फीसदी नकदी वापसी होगी। यात्रियों को ट्रेनों में 'जागृत कॉल गंतव्य' सुविधा भी मिल जाएगी। जिसमें आपको स्टॉप आने पर जगा दिया जाएगा।

No comments:

Post a Comment