Thursday, 14 June 2018

महिला ने बीच सड़क पर लोगों को कपड़े खोलकर दिखाई हैवानियत..बोली-देखो मेरा क्या हाल करके छोड़ा है


एक महिला रोती रोती अपनी साड़ी खोलकर लोगों को अपने साथ हुई हैवानियत दिखा रही थी।
दरअसल, ससुरालियों द्वारा दहेज के लालच में दमोह की गर्भवती बहू को प्रताड़ित कर बंधक बनाए जाने का मामला सामने आया है।उसके मुताबिक, ससुराल पक्ष के लोग उसके हाथ-पैर बांधकर एक अंधेरे कमरे में बंधक बनाकर रखते थे, गर्भवती होने के बाद भी खाना नहीं देते थे और घर से बाहर नहीं निकलने देते थे।

महिला ने बताया, वह गर्भवती है और 9 वां महीना चल रहा है। मगर दहेज के लिए पति और परिवार के लोग प्रताड़ित कर रहे थे। न तो खाने देते हैं और न ही घर से बाहर निकलने देते। लंबे समय तक परिजनों से बात भी नहीं करने दी।

इस बीच उसने पड़ाेसी के मोबाइल से पिता भोलाराम को फोन कर आपबीती सुनाई। पिता 5 जून को मुझे लेने के लिए गुड़गांव पहुंचे तो उनको भी ससुराल वालों ने बुरी तरह पिटाई कर दी और सिर पर सरिया मार दिया। पिता के सिर पर घाव होने पर गुड़गांव पुलिस थाना गए, वहां की पुलिस ने मामला दमोह में दर्ज कराने की बात कहकर भेज दिया।

महिला ने बताया कि उसके पिता के सिर पर गंभीर घाव आया है। उसका ऑपरेशन होना है। महिला मंगलवार को दमोह पहुंची, जहां पर उसकी एक निजी सेंटर पर सोनोग्राफी कराई गई। महिला ने लोगों को साड़ी खोलकर अपने चोट के निशान दिखाए।  महिला की कमर और पेट में कई जगह चोट के निशान हैं।

No comments:

Post a Comment