Friday, 29 June 2018

देखिए आखिर क्यों मरे हुए इंसान को दुबारा से किया जिन्दा..!


यह एक ऐसी कहानी है जहाँ लोग मरने के बाद भी दैविये शक्ति की मदद से ज़िंदा हो जाते हैं ! किसी व्यक्ति को पहले दैवीय शक्तियों से मारा जाता है फिर बाद में उन्ही दैवीय शक्तियों की मदद से जिन्दा भी कर दिया जाता है। इसे एक उत्सव कि तरह मनाया जाता है और इस उत्सव को ‘ कहिका ‘ कहते है !

मंडी जिले के पधर उपमंडल के सुरहड़ गाँव में स्थित देव हुरंग मंदिर में यह उत्सव हर 5 साल में एक बार मनाया जाता है। यहाँ के स्थानीय निवासियों ने बताया कि देव हुरंग नारायण में ये उत्सव के तौर पर हर पांच साल में एक बार मनाया जाता है ! इसे यहाँ के लोग किसी उत्सव से कम नहीं मानते हैं और इस दिन का सबको बड़ी बेसब्री से इंतज़ार रहता है ! इस चमत्कार को देखने लोग दूर-दूर से आते हैं !

वहां के लोग इस कार्यक्रम को शान्ति और समृद्धि का प्रतीक मानते हैं ! लोगों का मानना है कि अगर भूल से किसी व्यक्ति से कोई पाप हो जाता है तो उसे मुक्ति भी इसी काहिका उत्सव के दौरान ही मिलती है। इस पुरे उत्सव में कैमरा करने की इजाज़त नहीं होती है चाहे मीडिया ही क्यों ना हो , पर वीडियो रिकॉर्डिंग नहीं हो सकती है ! शाम को जब सूर्य ढलने को होता है, उस समय यहाँ कुछ मुख्य रश्में निभाई जाती हैं ! जिसके बाद वह मूर्छित पड़ा हुआ व्यक्ति फिर से जीवित हो जाता है।

No comments:

Post a Comment