Saturday, 30 June 2018

अविवाहित लड़के के मर जाने पर महिला की डेडबॉडी से कराई जाती है शादी, एक साथ दफनाए जाते हैं शव


चीन के कुछ ग्रामीण इलाकों में आज भी 3000 साल पुरानी 'घोस्ट मैरिज' की परंपरा निभाई जा रही है। इस परंपरा में अगर किसी लड़के की मौत बिना शादी के हो जाती है, तो उसे अकेला नहीं दफनाया जाता। बल्कि उसकी शादी पहले किसी महिला की डेडबॉडी से कराई जाती है और फिर दोनों को साथ दफनाया जाता है। इस परंपरा के पीछे मान्यता है कि अविवाहित मरने वाले लड़के की आत्मा को शांति मिले और उसे अकेलापन महसूस न हो। हालांकि आज के समय में इस परंपरा में डेडबॉडी मिलना आसान नहीं है, ऐसे में कई लोग गैरकानूनी तौर पर महिला की डेडबॉडी मुहैया कराने का काम करते हैं।

माना जाता है कि अगर किसी परिवार में अविवाहित लड़के की मौत हो जाती है तो इसे फैमिली के लिए श्राप समझा जाता है। लड़के की आत्मा की शांति के लिए ये रस्म निभाई जाती है। इसे 'घोस्ट मैरिज' कहा जाता है।

ग्रामीण इलाकों खासकर शांक्सी प्रांत में इस परंपरा का चलन बदस्तूर जारी है। लेकिन अब इसे चोरी-छिपे निभाया जाता है। दो साल पहले एक ग्रामीण परिवार ने बेटे की आत्मा की शांति के लिए एक लड़की की डेडबॉडी 18 लाख रुपए में खरीदी थी। ये पैसे लड़की के परिवार ने लिए थे।

No comments:

Post a Comment