Saturday, 23 June 2018

कबाड में मिले सिक्के ने बदल दी किस्मत, बना दिया करोडपति




शहर से करीब पांच किलोमीटर दूर, जिला भटिंडा के गांव डुंगवाली निवासी गौरीशंकर सिरसा रोड पर एक छोटी सी दुकान में सील बनाने का काम करता है। घर में विवादों की वजह से काम ठीक से नहीं चल रहा तो वह आजकर घर का पुराना सामान बेचकर पेट पाल रहा है।

एक दिन वह घर का पुराना सामान निकाल रहा था तो देखा कि एक बक्से में धूल मिट्टी से ढका एक सिक्का पड़ा है। उसने सिक्के को निकालकर साफ किया तो उसमें उर्दू भाषा में कुछ लिखा नजर आया। गौरीशंकर को यह तो पता था कि यह सिक्का ऐतिहासिक है लेकिन इस पर क्या लिखा है यह उसको पता नहीं था।

सिक्के के बारे में और ज्यादा जानकारी करने के लिए वह पास की मस्जिद गया और वहां मौलिवी को दिखाया। मौलवी सिक्के को देखकर दंग रह गए। मौलवी ने बताया कि इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार सिक्का वर्ष 1450 का है और इस पर मदीना शहर लिखा है। मौलवियों ने इस सिक्के की फोटो मोबाइल से मदीना में मौजूद अपने दोस्तों के पास पहुंचाया जिससे इसकी शोहरत दुबई तक पहुंच गई।

सिक्के के बारे में जानकारी मिलते हुए बांग्लादेश से दो लोगों ने और पाकिस्तान से एक शख्स ने इस खरीदने के लिए बोली लगाई। लेकिन इसी बीच दुबई से एक शख्स का संदेश आया कि वह इसे डेढ़ करोड़ रुपए में खरीद लेगा। लेकिन गौरीशंकर अब इसे तीन करोड़ रुपए में बेचना चाहता है। ऑनलाइन शॉपिंग साइट पर बोली लगवाने पर इस सिक्के के तीन करोड़ रुपए मिल रहे हैँ। गौरीशंकर ने इस सिक्के को अब लॉकर में रखवा दिया है।

No comments:

Post a Comment