Sunday, 24 June 2018

मिलिए सबसे बूढ़ी चिंपांजी से, हर साल बड़े धूमधाम से सेलिब्रेट होता है बर्थडे


रीटा, दिल्ली के चिड़ियाघर की शान। रीटा दिल्ली के चिड़ियाघर कि वो सदस्य है जिसने दिल्ली के जू का नाम ‘लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड’ में दर्जा कराया है। इतना ही नहीं रीटा का जन्मदिन हर साल बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है।

रीटा के पिंजरे को फूलों की माला से सजाया जाता है और चिंपांजी की शक्ल का केक लाकर बच्चों से कटावाया जाता है। रीटा के साथ-साथ सफेद बाघ विजय का जन्मदिन भी मनाया जाता है। विजय वही वाघ है जिसने एक व्यक्ति की जान ले ली थी।

रीटा का जन्म 15 दिसंबर 1960 में एम्स्टर्डम में हुआ था। जहां महज 4 साल की उम्र में रीटा को दिल्ली के जू में लाया गया। तब से रीटा जू की शान बन गई है। रीटा पहली ऐसी चिंपांजी है जिसकी उम्र 57 साल है। वैज्ञानिकों के मुताबिक चिंपांजी की औसत आयु 45-50 होती है लेकिन रीटा ने इस भम्र को तोड़ दिया। सबसे ज्यादा उम्र की वजह से ही रीटा का नाम लिमका बुक ऑफ रिकॉर्ड में शामिल है।

रीटा की बढ़ती उम्र तो देखते ही दिल्ली के जू में इसका काफी ध्यान रखा जाता है। रीटा को ज्यादातर पिजंरे के अंदर ही रखा जाता है। रीटा के प्रजनन लिए मैक्स से एक चिंपांजी को भी लाया गया था। जिससे रीटा को 4 बच्चे भी पैदा हुए, लेकिन चारों में से कोई जिंदा नहीं बच पाया।

No comments:

Post a Comment