Thursday, 28 June 2018

वैज्ञानिकों ने अतरिंक्ष में खोजी 'एन्सेलैडस' नाम की दुनिया, धरती की तरह वहां भी जी सकते जीवन


अमेरिकन अतंरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिकों ने ये कारनामा किया है।य़ इस प्राकृतिक उपग्रह पर सभी जैविक अणु मौजूद है। शोधकर्ताओ ने बताया कि हमारे खोज के परिणाम ने हमें चौंका दिया था। हमारा शोध भविष्य में जीवन की खोज पर आधारित था।

एन्सेलैडस पर रहने में सक्षम होने वाले जीवन के प्रकार छोटे हरे रंग के पुरुष नहीं होंगे - लेकिन पृथ्वी पर चरम स्थितियों में रहने वाले सूक्ष्म जीवों के समान होंगे।टेक्सास के सैन एंटोनियो में साउथवेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट के एक शोधकर्ता डॉ क्रिस्टोफर ग्लेन ने कहा, 'अगली पीढ़ी की खोज के लिए निष्कर्षों का बहुत महत्व है।

उन्होंने आगे कहा कि भविष्य में अंतरिक्ष यान एन्सेलैडस के पंख से उड़ सकता है, और उन जटिल कार्बनिक अणुओं का विश्लेषण कर सकता है जो उच्च संकल्प द्रव्यमान स्पेक्ट्रोमीटर का उपयोग करके हमें यह निर्धारित करने में मदद करते हैं कि उन्हें कैसे बनाया गया था।

शनि का एन्सेलैडस नाम का ये चंद्रमा पृथ्वी से 628 मिलियन की दूरी पर है और बेहद ठंडा है। एन्सेलैडस की सतह में बर्फ ज्वालामुखी की अधिक्ता है। वैज्ञानिकों की तरफ से लंबे समय से कहा जाता रहा है कि चंद्रमा पर जीवन की संभावनाए मौजूद है।

No comments:

Post a Comment