Friday, 22 June 2018

योगी सरकार का अब तक का सबसे बड़ा फैसला...उत्तर प्रदेश में शराब पर लगा बैन


यूपी की योगी सरकार ने गुरुवार को बड़ा फैसला लेते हुए मथुरा प्रधिकरण में पूर्ण शराबबंदी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।

घोषित तीर्थस्थल बरसाना, गोवर्धन, गोकुल, बलदेव, नंदगांव और राधाकुंड में बुधवार से पूर्ण शराबबंदी लागू हो जाएगी। सरकार के इस फैसले के बाद इन इलाकों में शराब की खरीद-बिक्री पर पूरी तरह रोक लग जाएगी। भगवान श्री कृष्ण की जन्मस्थली मथुरा स्थित गोवर्धन, बलदेव, गोकुल, बरसाना जैसे पवित्र स्थलों पर शराबबंदी की लंबे समय से मांग हो रही थी।

स्थानीय लोगों की इस मांग को मंगलवार को कैबिनेट मीटिंग में मंजूरी दे दी गई। इस फैसले के बाद मथुरा प्रधिकरण की शराब की 26 दुकानों पर ताले लटक जाएंगे। जिला आबकारी अधिकारी के मुताबिक, सरकार का यह आदेश तीन महीने पुराना है। इन तीर्थस्थलों की शराब, बीयर और देशी शराब की 26 दुकानों को शिफ्ट करने का आदेश पहले ही दिए जा चुके हैं। कैबिनेट की इस मंजूरी के बाद अब इन इलाकों में शराब , बीयर की बिक्री पूर्णतया प्रतिबंधित कर दी गई है।

योगी सरकार की कैबिनेट बैठक में कुल 17 प्रस्तावों को रखे गए थे। इनमें विद्युत चोरी रोकने के लिए पुलिस थाना, उत्तर प्रदेश पुलिस रेडियो अधीनस्थ सेवा में महिला एवं पुरुष की भर्तियां, संत कबीर राज्य हथकरघा पुरस्कार योजना का प्रस्ताव जैसे प्रस्तावों को मंजूरी दी गई।

इसके अलावा कैबिनेट ने फैसला लिया कि प्रस्तावित 340 किमी लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के लिए बिडिंग प्रक्रिया फिर से शुरू की जाएगी। इसके अलावा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए कैबिनेट ने नीति को मंजूरी दे दी है। कैबिनेट के अन्य फैसले में उत्तर प्रदेश पशुधन प्रजनन नीति 2002 में संशोधन का प्रस्ताव पास किया।

No comments:

Post a Comment