Friday, 27 July 2018

सिक्के बंद होने की अफवाह: 160 बोरों में चिल्लर लेकर बैंक पहुंचा ट्रक, बैंक वालों की हालत खराब


सिक्के बंद होने की अफवाह के बाद अब घरों के गुल्लक और डिब्बों में रखा चिल्लर बाहर निकलने लगा है। व्यापारियों द्वारा चिल्लर के परहेज के बाद अब लोग घरों में कई सालों से जुटाकर रखे चिल्लरों को लेकर बैंक पहुंच रहे हैं।

स्थिति यह है कि हर दिन 10 हजार से ज्यादा के चिल्लर बैंकों में जमा हो रहे हैं। हाल ही में जिलेभर के बैंकों में लाखों का चिल्लर पहुंचा है। अलग- अलग बैंकों से कलेक्शन के बाद आरबीआई को चिल्लर जमा करने के लिए 160 बोरों से भरा ट्रक मध्यप्रदेश के शहडोल स्थित एसबीआई मुख्य शाखा पहुंचा। ट्रक में चिल्लरों से भरे ठसाठस बोरे लोगों के लिए हैरानी का विषय बने रहे।

जिले में चिल्लर बंद होने की अफवाह से रोजाना दुकानदार और लोगों के बीच विवाद की स्थिति बन रही है। शहर के व्यापारी चिल्लर लेने से परहेज कर रहे हैं। जिससे लोग चिल्लर का थैला लेकर सीधे बैंकों में पहुंच रहे हैं। बैंकों तक चिल्लर पहुंचने से अब मार्केट में चिल्लर खत्म होता जा रहा है। यह बात बैंक के आला अधिकारी भी स्वीकार रहे हैं। जानकारी के अनुसार एक बोरे में लगभग ढाई से तीन हजार सिक्के थे। जिन्हे गिनती के बाद आरबीआई के लिए भेज दिया जाएगा।

हर दिन चिल्लर लेकर लोग बैंक पहुंच रहे हैं। अचानक बैंकों में चिल्लर पहुंच रहे हैं। अलग अलग बैंकों से चिल्लर कलेक्शन के बाद आरबीआई को जमा करने के लिए बैंक में आया है। डेढ़ सौ से अधिक बोरो में चिल्लर भेजे गए हैं। वहीं बैंक वालों को हाथ पांव फूले हुए हैं।

No comments:

Post a Comment