Monday, 16 July 2018

ग्रीनलैंड के गांव में टूटकर पहुंचा 300 फीट का आइसबर्ग, जान बचाने के लिए 33 लोगों ने छोड़ा घर


जानकारी के मुताबिक अभी तक 33 से ज्यादा लोगों ने घर छोड़ दिया है। और कही सिर छिपाने की जगह तलाश रहे है। आर्कटिक में एक गांव के किनारे 300 फुट ऊंचा और 650 फुट चौड़ा बर्फ का पहाड़ बह कर पहुंच गया है।इस आइसबर्ग का वजन करीब 1.1 करोड़ टन है। कोलंबिया यूनिवर्सिटी के जलवायु शोधकर्ता जोर्ग शेफर का कहना है कि बड़े आइसबर्ग आसानी से पिघलकर समुद्र में नहीं समाते। ये काफी उथल-पुथल मचाते हैं।

बता दें कि ग्रीनलैंड कनाडा के पास अटलांटिक और आर्कटिक महासागर के बीच में है। लोगों का मानना है कि आइसबर्ग के बड़े-बड़े टुकड़े समुद्र में टूटकर गिरेंगे जो लहरों के साथ उनके घरों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इंस्पेक्टर क्विस्ट का कहना है कि गांव के किनारे तक आइसबर्ग आना सामान्य बात है, लेकिन इतना बड़ा आइसबर्ग हमने पहले कभी नहीं देखा। इसमें दरारें और छेद हैं। मौसम विभाग ने भी इलाके में एक-दो दिन में भारी बारिश की चेतावनी दी है। इससे इस आइसबर्ग के टूटने की आशंका बढ़ गई है। बता दे कि 2017 अनुगुआत्सियाक गांव के 17 मील उत्तर में एक 4.1 तीव्रता के भूकंप की वजह से कई आइसबर्ग टूटकर गांवों की ओर बहकर चला आया था। उस हादसे में 4 लोगों ने अपनी जान गवां दी थी।

No comments:

Post a Comment