Saturday, 28 July 2018

सावन के पहले दिन ही महादेव ने दिए साक्षात दर्शन, मंदिर में अपने आप बन गया बर्फ का 40 फीट लंबा शिवलिंग


आज तक आपने प्रसिद्ध अमरनाथ के बाबा बर्फानी शिवलिंग के दर्शन किए होंगे।

आज हम आपको हिमाचल प्रदेश के मनाली की पहाड़ियों के बीच खुले आसमान के नीचे धरती के सबसे बड़े प्राकृतिक शिवलिंग जिसकी उंचाई 30 से 40 फीट तक होती है उसके दर्शन करवाएंगे और यह शिवंलिग क्यों बनता है? क्या मान्यता है? शिवलिंग से जुड़े क्या रहस्य है इससे भी रूबरू करवाएंगे।

मनाली से महज 12 किलोमीटर दूर सोलंग वैली जहां से शुरू होता है 2 कि.मी. पहाडी रास्तों से अंजनी महादेव का सफर। इस स्थान के लिए सोलंग वैली से ही पैदल चलने योग्य रास्ता बनाया गया है और श्रद्धालु घोड़ो पर इस स्थान तक पहुंच सकते है। शिवलिंग के साथ ही पहाड़ के नीचे बाबा की कुटिया है जिसमें पिछले कई सालों से बाबा प्रकाश पुरी 12 महीने सर्दी और गर्मी में यहां रहते थे। कुछ साल पहले उनकी मृत्यु के बाद बाबा के शिष्य अब इस कुटिया में रहकर बाबा की पूजा करते है।

गौरतलब है कि अमरनाथ के शिवलिंग की ऊंचाई लगभग 22 फीट होती है और लोग कई दिनों की कठिन यात्रा कर बाबा के दर्शन प्राप्त करते हैं लेकिन इस अंजनी महादेव में बनने वाले 30 से 40 फीट तक के शिवलिंग के दर्शन आप मनाली के सोलंग वैली में पहुंच कर कुछ ही घंटों में कर सकते है।

No comments:

Post a Comment