Saturday, 14 July 2018

ट्रेनों की लेटलतीफी को देख रेलवे ने बनाया जबरदस्त प्लान, 90 फीसदी ट्रेनें समय पर चलने लगेगी


लोगों की सबसे बड़ी शिकायत है ट्रेनों की लेटलतीफी। आमतौर पर 90 फीसदी ट्रेनें देरी से चलती हैं। इस समस्या को देखते हुए रेलवे अब आर्टिफिशल इंटेलिजेंस की मदद लेगी। इससे पटरियों के रिपेयर और मेंटनेंस का कैलेंडर तैयार किया जाएगा।

रेलवे ने अब ट्रैक्स की देखरेख और उसकी मेंटनेंस के लिए आर्टिफिशल इंटेलिजेंस का सहारा लेने का फैसला लिया है। रेलवे के इस फैसले से ट्रेनों की आवाजाही के समय में सुधार आ सकेगा। भारत में अकसर अनियमित ट्रैक मेंटनेंस के चलते ट्रेनों की लेटलतीफी बनी रहती है।एक अधिकारी ने बताया कि आर्टिफिशियल इंश्योरेंस के चलते 90 फीसदी ट्रेनें अपने निर्धारित वक्त पर चलने लगेगी। रेलवे अफसर ने कहा कि सभी बड़े मेंटनेंस ब्लॉक पर सिर्फ रविवार को ही काम होगा ताकि ट्रेनों की लेटलतीफी को कम से कम किया जा सके।

अफसरों ने ट्रेनों की पंक्चुअलिटी का ग्राफ ऊपर करने के लिए लेट होने वाली प्रमुख ट्रेनों के टाइम टेबल में ही बदलाव कर दिया है। एनआर के अफसरों ने 93 ट्रेनों के गंतव्य पर पहुंचने के समय में 20 मिनट से लेकर घंटे भर तक का इजाफा कर दिया है। इससे अब वह ट्रेनें उक्त अवधि तक लेट होने के बावजूद राइट टाइम ही रहेंगी।

No comments:

Post a Comment