Sunday, 15 July 2018

9500 करोड़ रुपए से बनेगा जियो इंस्टीट्यूट, विनय ओबरॉय का है इसमें अहम रोल


जियो इंस्टीट्यूट पिछले कई दिनों से जबरदस्त चर्चा में बना हुआ है। इस इंस्टीट्यूट के बनने से पहले ही इसे देश के शीर्ष संस्थानों में दर्जा देने के बाद मोदी सरकार भी सवालों के घेरे में आ गई थी।

तो अब इस मामले में ताजा रिपोर्ट सामने आई है और इसको बनाने की कीमत को साथ जगह का खुलासा हुआ है।साथ ही जियो इंस्टीट्यूट को अहम दर्जा दिलाने और एमिनेंस यूनिवर्सिटी में शामिल करवाने में एक आईएस ऑफिसर का अहम रोल रहा था। इनका नाम है विनय ओबरॉय जो पिछली सरकार में मानव संसाधन मंत्रालय में रह चुके हैं।

तो अब जियों इंस्टीट्यूट उच्च शिक्षा को प्रदान करने में सबसे  अवल स्थान पर आने को पूरी तरह से तैयार है। हाल ही में केंद्र सरकार की तरफ से देश में एमिनेंस इंस्टीट्यूट की लिस्ट शेयर की गई थी जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज के जियो इंस्टीट्यूट को भी जगह मिली। इसके बाद अब यह संस्थान पूर्ण रूप से बनने को भी तैयार है। बताया गया कि, इस यूनिवर्सिटी को बनाने में 9500 करोड़ रुपए से अधिक का इंवेस्टमेंट होना है। इसके साथ ही इसको उच्च संस्थान का दर्जा दिलाने में जिस अधिकारी का हाथ रह है उनका नाम है "विनय ओबरॉय"।

विनय 1979 बैच के आईएस ऑफिसर हैं जो रिटायरमेंट के बाद 2018 में रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ जुड़ गए। इसके बाद से वह लगातार कंपनी को नए आयाम देते नजर आ रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, जियो इंस्टीट्यट अंबानी का ड्रीम प्रोजेक्ट है जो साल 2016 में प्लान किया गया था। इस संसथान को बड़े पैमाने पर उतारा जायेगा और इसको बनाने में जो लागत लगेगी वह करीब 9500 करोड़ रुपए है।

No comments:

Post a Comment