Wednesday, 1 August 2018

बार-बार मिसकॉल करने वाले लड़के से हुआ 1 बच्चे की मां को प्यार, मंदिर में बुलाया-कर दी हदें पार


जानकारी के मुताबिक विवाहित महिला का नाम सीमा है। बीते 19 मई को वो घर से प्रेमी प्रियांशु के साथ भागी थी। देवघर पहुंचकर दोनों ने शादी रचाई और कोलुहा गांव पहुंचे। यहां परिजनों के उग्र रूप को देखकर दोनों भागकर पटना चले गए। इस बीच पुलिस ने दबिश बनाया और प्रियांशु के भाई गोल्डन मंडल एवं दोस्त सत्यपाल कुमार को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इसकी सूचना मिलने पर प्रियांशु और सीमा ने मंगलवार सुबह ही पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

प्रियांशु ने बताया कि उसका आधार कार्ड नहीं होने के कारण पुलिस हिरासत में रहे दोस्त के आधार कार्ड पर सिम खरीदा था। अंजान मिस्ड कॉल से दोनों के बीच एक साल पूर्व बातचीत शुरू हुई। जो प्यार में बदल गया। इस दौरान दो बार वह हाजीपुर जाकर प्रेमिका से मिला फिर उसने शादी करने का दवाब बनाया।

20 मई को देवघर में शादी रचाकर घर पहुंचे तो पिता ने पुलिस के हवाले करने की बात कहकर घर से भगा दिया। सीमा ने बताया कि उसकी पहली शादी तीन वर्ष पूर्व हाजीपुर के मनहार गांव निवासी धर्मेंद्र कुमार सिंह से हुई थी। जिसमें आदर्श कुमार नामक दो साल का पुत्र भी है। पर अब हम दोनों पति पत्नी बन चुके हैं। वैसे अपने पुत्र को भी साथ रखना चाहती हूं।

No comments:

Post a Comment