Friday, 3 August 2018

भूसे के ढेर से निकल रहे हैं 500-2000 के नए करारे-करारे नोट, देखते ही लूटने के लिए टूट पड़े लोग


उत्तर प्रदेश के कानपुर में के पूर्वी छोर पर आबाद महाराजपुर के गंगागंज गांव में अचानक देवी लक्ष्मी की कृपा बरसने की खबर ने लोगों को चौंका दिया।

जंगल में आग की मानिंद सुबह-सुबह खबर वायरल हो गई कि गंगागंज में भूसे के ढेर और गेहूं की पोटलियों से नोट निकल रहे हैं। खबर सुनते ही तमाम लोगों ने अपने-अपने घरों के बाहर भूसे के ढेरों को खंगालना शुरू कर दिया। इसी दौरान खबर आई कि गंगागंज गांव में लक्ष्मी देवी प्रकट हुई हैं।

मेरठ के देलही गेट निवासी संजय अग्रवाल सराफा कारोबारी हैं। मेरठ सराफा बाजार में उनका चांदी का थोक कारोबार है। 26 जुलाई को संजय अपनी स्विफ्ट डिजायर कार से 46 किलो चांदी की मूर्तियां और 19 लाख रुपये लेकर दिल्ली के लिए निकले थे। कार को इंदिरापुरम प्रतापपुर, मेरठ निवासी सुनील उर्फ बिट्टू चला रहा था।

मेरठ पुलिस ने कानपुर पुलिस के साथ मिलकर गंगागंज गांव में दबिश देकर राम बिहारी पासवान के घर पर दबिश देकर सात लाख रुपये और 46 किलोग्राम चांदी के गणेश-लक्ष्मी की मूर्तियां बरामद की हैं। नोटों की पोटली में गेहूं और मूर्तियों को भूसे के ढेर के बीच में छिपाकर रखा गया था।

पुलिस ने आरोपी की पत्नी प्रीती उसके परिजनों से सवाल-जवाब किए, लेकिन वह लोग सुनील के बारे जानकारी होने से इनकार करते रहे। महाराजपुर थानाध्यक्ष उमेश कुमार सिंह के मुताबिक आरोपी अपनी ससुराल में चांदी की मूर्तियां और सात लाख रुपये छिपाकर भाग गया है।

No comments:

Post a Comment