Friday, 3 August 2018

खटिया पर सोने के फायदे जानकर आप भी कहेगें कि हमारे पूर्वज किसी वैज्ञानिक से कम नहीं

 क्या आपने कभी सोचा है की हमारे पूर्वजों ने खटिया ही क्यों बनाई सोने के लिए वो लड़की के तख्तों से बेड या खटिया भी बना सकते थे। जैसे की तख्तो के दरवाजे सबके यहां होते थे। तो आज हम आपको बताएगें खटिया पर सोने के फायदों के बारे में।

पहले सब लोग खटिया पर सोते थे, क्योकि पहले लोग काफी मेहनत करते थे और मेहनत के बाद अच्छी नींद बहुत जरूरी होती है। जो बेड में नहीं आ सकती क्योकि आपने महसूस किया होगा की कभी कभी आप रात रात भर करवटें बदलते रहते हैं और आपको नींद नहीं आती। जिससे आपको बेचैनी, कमर दर्द, अनिद्रा की सिकायत हो जाती है। लेकिन खटिया पर सोने से ऐसा कुछ नहीं होता।

खटिया पर सोने से आपका शरीर शेप में रहता है। जिससे आपको सोने में कोई तकलीफ नहीं होती और आपको अच्छी नींद आती है।

आपने देखा होगा की खटिया पर जाली नुमा ढेर सारे छेद बने होते हैं, ऐसा आपने आरामदायक कुर्सी और पुराने पालने में भी देखा होगा। ये हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। जिससे हमारे शरीर का रक्त संचार ठीक होता है।

जब हम सोते हैं तब माथा और पांव के मुकाबले पेट को अधिक खून की जरूरत होती है। क्योंकि रात हो या दोपहर लोग अक्सर खाने के बाद ही सोते हैं। उस समय पेट को पाचनक्रिया के लिए अधिक खून की जरूरत होती है। जो हमें खटिया पर सोने से मिलता है। बेड या तखत में सोने नहीं मिलता। इसलिए खटिया पर सोने की वजह से हमारा पाचन सही रहता है और हमें पेट सम्बन्धी कोई भी परेशानी नहीं होती।



No comments:

Post a Comment