Saturday, 4 August 2018

आइंस्‍टाइन जैसे बुद्धिमान लोगों के क्‍यों होते हैं लंबे बाल


शायद आपने इससे पहले गौर नहीं किया होगा कि आइंस्‍टीन, लियोनार्दो, न्‍यूटन, गुरु रवींद्रनाथ टैगोर जैसे महान वैज्ञानिकों के बाल लंबे ही थे। यहां तक कि भारत के महान वैज्ञानिक और पूर्व राष्‍ट्रपति अब्‍दुल कलाम भी लंबे बाल ही रखते थे।

क्‍या आपने कभी सोचा है कि इन सब बुद्धिमान लोगों के बाल लंबे ही क्‍यों रहते थे। तो दोस्‍तों, आज हम आपको इस आर्टिकल के ज़रिए यही बताने जा रहे हैं कि सभी महान वैज्ञानिक और इंटेलिजेंट लोग लंबे बाल क्‍यों रखते थे।

बाल ना सिर्फ आपके सौंदर्य का प्रतीक होते हैा बल्कि ये आपके बारे में और भी बहुत कुछ कहते हैं। ये किसी ना किसी तरह आपकी प्रकृति, सोच, बुद्धि और बल को प्रभावित करते हैं। बालों की प्रक्रिया तो एक ही है लेकिन इसकी विशेषताएं भौगोलिक और पर्यावरणीय स्थितियों के अनुसार बदलती रहती हैं।

कहते हैं कि सिर के बाल जब पूरी तरह से लंबे हो जाते हैं तो वो प्राकृतिक रूप से फास्‍फोरस, कैल्शियम और विटामिन डी पाते हैं। ये अंतत: मस्तिष्‍क के शीर्ष पर दो नलिकाओं के माध्‍यम से शरीर में प्रवेश करते हैा। इस आयनिक परिवर्तन से स्‍मृति और ज्‍यादा कुशल और मजबूत बनती है। इससे व्‍यक्‍ति को शारीरिक ऊर्जा, बेहतर सहनशक्‍ति और धैर्य की प्राप्‍ति होती है।

अब तो आप समझ गए ना कि लंबे बाल क्‍यों रखे जाते हैं और सच में इनमें हमारी शक्‍तियां निहित होती हैं जो हमें बुद्धिमान बनाती हैं।

No comments:

Post a Comment