Tuesday, 7 August 2018

बोल नहीं पाता ये बच्चा पर आंख के इशारे से लिख डाली किताब


द सन में छपी एक खबर के मुताबिक इंग्लैंड के रहने वाले 12 साल के जोनानाथ ब्रायन की मां जब 7 माह की गर्भवती थीं तभी उनका एक कार एक्सीडेंट हुआ आैर शिकार बने अजन्मे जोनानाथ।

जन्म से ही वे ना तो हिल डुल सकते थे ना ही उनमें बोलने की क्षमता थी। वह जन्म से सेरेब्रल पाल्सी नाम की गंभीर बीमारी से पीड़ित है। इस बीमारी ने उसके दिमाग को निर्देश देने वाली नसों को प्रभावित किया किया है। वो सारा समय व्हीलचेयर पर रहता है आैर अपने शरीर को हिला भी नहीं पाता।

उसे जन्म से सांस लेने में भी दिक्कत होती थी। 7 साल की तक तो वो कुछ भी नहीं बोल पाता था। जब उसकी मां ने उसे आंखों के इशारे से बोलना सिखाना शुरू किया।

इसके बाद उन्होंने अपने बेटे को ई-ट्रेन फ्रेम की मदद से लोगों से बात करना सिखाया। ई-ट्रेन फ्रेम कलर कोडिंग सिस्टम वाला चौकोर पारदर्शी प्लास्टिक बोर्ड होता है। इस पर बने चित्रों या शब्दों को आंखों के इशारों से बता कर जोनानाथ जैसी समस्या से ग्रस्त लोग अपनी भावनाये जाहिर करते हैं।

इस किताब को लिखने में जोनाथन की मां ने उनकी मदद की वे उसकी आंखों की तरफ देखतीं आैर वो आंखों के इशारों से जो बताता उसे लिख लेतीं। उसने इस किताब में अपने खामोश रहने के दौरान घुटन भरे दिनों से लेकर अब तक के सफर के बारे में बताया है।

No comments:

Post a Comment