Sunday, 12 August 2018

मुस्लिम लड़को ने हिंदू महिला को दिया मुखाग्नि


भारत एक ऐसा देश है जहां कई धर्म के लोग एक साथ रहते हैं। वहीं कई बार हिंदू-मुस्लिम को लेकर जंग छिड़ जाती है लेकिन कई बार दोनों के भाईचारे से जुड़ी खबर भी सुनने को मिलती है।

यह ताजा मामला यूपी की राजधानी लखनऊ का है जहां एक महिला की जान चली जाने के बाद कोई उसको मुखाग्नि भी देने के लिए नहीं होता है। लेकिन कुछ लोगों ने हिंदू-मुस्लिम एकता की मिसाल कायम की है। मीडिया में छपी रिपोर्ट के अनुसार बताया जा रहा है  कि  बीते शनिवार को किराए के मकान में रह रही एक राजकुमारी नाम की महिला की जान चली गई। राजकुमारी जाने के साथ अपने पीछे दो मासूम बच्चों को भी छोड़ गई, जिनकी देखरेख करने वाला कोई नहीं था। इस स्थिति को देखते हुए पड़ोस में रहने वाले कुछ  मुस्लिम लड़के उनकी मदद के लिए आगे आए।

मुस्लिम युवकों ने मिलकर ना केवल मानवता का फर्ज पूरा किया बल्कि  धर्म-जाति की दीवार तोड़कर इंसानियत का धर्म भी निभाया। उन सभी ने मिलकर हिंदू धर्म के मुताबिक महिला को मुखाग्नि दिया। उसके अलावा सभी ने राजकुमारी के जाने के बाद उसके दो बेसहारा बच्चों के लिए मोहल्ले वालों से चंदा भी जुटाया। इस घटना के बारे में बताते हुए ठाकुरगंज के गढ़ी पीर खां वार्ड से पार्षद अल्ला प्यारे ने  कहा कि, राजकुमारी रज्जबगंज में सुनीता शर्मा के मकान में अपने दो दो बच्चों के साथ रह रही थी।

No comments:

Post a Comment