Thursday, 2 August 2018

कभी स्वर्ग की परियों जितनी खूबसूरत थी मुमताज, बीमारी की वजह से अब दिखती हैं एेसी


बॉलीवुड की पॉपुलर एक्ट्रेसेस में से एक मानी जाने वाली एक्ट्रेस मुमताज आज 71 साल की हो गई हैं। इंडस्ट्री में मुमताज को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने 60 एवं 70 के दशक में अपनी रूमानी अंदाज और भावपूर्ण अभिनय से सिने प्रेमियों को दीवाना बनाया। आज हम उनके बर्थडे के खास मौके पर मुमताज की जिन्दगी से जुड़े कुछ खास किस्सों के बारें में बताएंगे।

मुमताज का जन्म 31 जुलाई 1947 को मुंबई में हुआ। मुमताज ने 1960 में अपना करियर फिल्म 'गहरा दाग' से साइड रोल के तौर पर शुरू किया था। शुरुआत में मुमताज को हिट फिल्मों में छोटे रोल मिलते थे ।

धीरे-धीरे मुमताज काे लीड रोल भी मिलना शुरू हुए। मुमताज ने एक के बाद एक 16 एक्शन फिल्मों में काम किया। इसी के साथ मुमताज पर स्टंट फिल्म हीरोइन का तमगा लग गया। फिल्मों में मुमताज की फीस ढाई लाख रुपए थी। दारा सिंह मुमताज के दीवाने थे। दोनों एक-दूसरे को पसंद करते थे। मुमताज की बहन की शादी दारा सिंह के भाई एसएस रंधावा से हुई थी। लेकिन जैसे-जैसे मुमताज का करियर ऊंचाइयों को छूने लगा दोनों की मुलाकातें कम हो गईं। एक इंटरव्यू में दारा सिंह ने कहा था, 'बॉलीवुड ने मुमताज को मुझसे छीन लिया।'

मुमताज ने दो दशकों तक बॉलीवुड में अपना कब्जा जमाए रखा। उन्होंने राजेश खन्ना, शशि कपूर, राजेंद्र कुमार और धर्मेंद्र के साथ कई हिट फिल्में दीं। 1970 में फिल्म 'खिलौना' के लिए मुमताज को फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड भी मिला था । राजेश खन्ना के साथ मुमताज ने लगातार 10 हिट फिल्में दी थीं। 1977 में फिल्म 'आईना' के बाद मुमताज ने मयूर माधवानी से शादी कर ली थी।

मुमताज लाइमलाइट से पूरी तरह से दूर हो गईं। फिर एक दिन खबर आई कि मुमताज को कैंसर है। कैंसर के बारे में जान मुमताज डर गईं थीं, लेकिन उससे लड़ना भी जरूरी था। मुमताज को ब्रेस्ट कैंसर था जिसके बारे में उन्हें काफी देर से पता चला। लेकिन जल्द ही इलाज शुरू कर दिया गया। कीमोथेरेपी की वजह से मुमताज की हालत और भी खराब हो गई थी।

उनके सारे बाल झड़ चुके थे, यहां तक कि उनकी पलकों और भौहों के बाल तक झड़ गए। ऐसी हालत में मुमताज को घर से निकलने में भी डर लगता था। इसका जिक्र मुमताज ने 2006 में दिए एक इंटरव्यू में भी किया था। बकौल मुमताज, 'बाल झड़ने की वजह से मैं गंजी हो गई थी। मेरे पति मेरे लिए विग लेकर आते थे जिन्हें मैं पहनने के लिए मजबूर थी। लेकिन मैं उसे पहनना अवॉइड करती थी और स्कार्फ पहनती थी।'

मुमताज की हालत एकदम मरने वाली हो गई थी। अस्पताल में इलाज के दौरान हर वक्त उनके परिवार वाले उनके साथ रहते, लेकिन मुमताज ने अपनी हिम्मत नहीं टूटने दी और ना ही अपने परिवारवालों की। मुमताज ने डटकर कैंसर का सामना किया। लंबे इलाज के बाद मुमताज ने कैंसर से लड़ाई जीत तो ली लेकिन इस लड़ाई में उनका जो हाल हुआ उसका अंजाम वो आज तक भुगत रही हैं।

कैंसर में मुमताज ने जो भी दवाइयां खाईं और जो इलाज हुआ उससे उनका वजन बहुत ज्यादा बढ़ गया जिसकी वजह से उन्हें पहचानना तक मुश्किल होने लगा। एक जमाने में जो मुमताज अपने सेक्सी, स्लिम फिगर और खूबसूरत चेहरे के लिए जानी जाती थीं, बढ़े वजन के बाद उनकी ऐसी हालत हो गई कि कोई उन्हें पहचान भी नहीं पाया। आज भी मुमताज को आप देखेंगे तो हैरत में पड़ जाएंगे। मुमताज मुंबई की मायानगरी से दूर लंदन में ही रह रही हैं।


No comments:

Post a Comment