Sunday, 14 April 2019

बिना संबंध बनाए 49 बच्चों का पिता बना ये डॉक्टर, डोनेट स्पर्म का करता था इस्तेमाल


नीदरलैंड में एक डॉक्टर के बारे में बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जब से आईवीएफ तकनीक का इजाद हुआ है नि:संतान दंपतियों को भी संतान सुख प्राप्त होने लगा है। लेकिन यहां एक डॉक्टर ने दान किए शुक्राणुओं (स्पर्म) को अपने शुक्राणुओं में बदल देता था। और तो और ये डॉक्टर आईवीएफ तकनीक से करीब 49 बच्चों का पिता बन चुका है।


दरअसल, इस पूरे मामले का खुलासा बीते शुक्रवार को कराई गई डीएनए जांच में हुआ। यह जांच डच कोर्ट के आदेश पर एक सामाजिक संगठन द्वारा निजमेगन शहर में कराई गई। यह संगठन इस क्लीनिक में पैदा हुए बच्चों और उनके माता-पिता का नेतृत्व करता है।

हालांकि, डॉक्टर जन करबात की 2017 में मौत हो गई है और मौत से पहले डॉक्टर ने माना था कि वह 60 बच्चों का पिता बन चुके हैं। उसका क्लीनिक भी अनियमितताओं और अन्य गैरकानूनी काम करने के चलते 2009 में ही बंद कर दिया गया।


यह पूरा मामला इसी साल फरवरी में डच कोर्ट द्वारा संज्ञान में लाने के बाद सामने आया। कोर्ट ने अभिभावकों को बच्चों के डीएनए से डॉक्टर करबात के डीएनए टेस्ट से मिलान करने की इजाजत दी थी।


अपनी मौत से पहले डॉक्टर करबात  ने एक विवादित बयान भी दिया था। डॉक्टर ने कहा था कि वो 60 से ज्यादा बच्चों का पिता बन चुका है। डच मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, करबात ने बाद में यह भी स्वीकार किया था कि उसने कई डोनर के स्पर्म को मिक्स कर दिया था।

डॉक्टर के परिवार पर मुकदमा किया गया था, तब जाकर उन्होंने डॉक्टर के डीएनए रिपोर्ट को शेयर किया। करबात के बच्चों में से एक एरिक लेवर ने कहा कि वह करबात की इस हरकत से नाराज नहीं था। डॉक्टर ने उसकी मां के साथ धोखा किया था, इसलिए उसने यह केस दर्ज कराया। मेरी मां एक बच्चा चाहती थी और मेरे पिता इसमें सक्षम नहीं थे।






No comments:

Post a Comment