Sunday, 14 April 2019

राजा से बचने के लिए यहां की महिलाएं अपने शरीर के साथ कर लेती हैं ये काम


छत्तीसगढ़ की आदिवासी महिलाएं अपने शरीर के हिस्सों पर गोदना गुदवाती है. ऐसा करना उनकी परंपरा है।

राजा से बचने के लिए गोदना छत्तीसगढ़ के बैगा जनजाति की लड़कियां जैसे ही 10 साल की उम्र पार करती है उनके शरीर पर गोदना गुदवा दिया जाता है. कहा जाता है कि उनका एक राजा हैवान था. वो रोज अलग-अलग महिलाओं को हवस का शिकार बनाता था और उनके साथ संबंध बनाने के बाद पहचान के लिए उनके शरीर पर गोदना गुदवा देता था. राजा की इस हरकत से खुद को बचाने के लिए महिलाओं ने राजा के तरीके को ही अपना हथियार बना दिया और अपनी बेटियों और बहूओं के शरीर पर गोदना गुदवना शुरू कर दिया, ताकि राजा की नजरें उनपर न पड़े.

लड़कियों के पैर, जांघ, दर्दन, पीठ, छाती और फिर चेहरे पर गोदना गोदा जाता है. उम्र के मुताबिक शरीर के हिस्सों का चयन किया जाता है. आज भी है प्रथा छत्तीसगढ़ के बैजा जनजाति की महिलाएं आज भी अप नी इस प्रथा को लेकर चल रही है.

No comments:

Post a Comment