Friday, 17 May 2019

यहां मंदिर जाने से पहले करनी होती है चौकीदार की पूजा


चौकीदार शब्द सुनते जहाँ में आता है कि को घर या ऐसी ही खास चीज़ों की देखभाल करे. लेकिन क्या आप जानते हैं देश के जहां चौकीदार की पूजा होती हो? आज हम इसी के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर चौकीदार की ही पूजा की जा रही है.

आपको बता दें, माना जाता है कि देवी पंडोरी ने नाराज होकर घर छोड़ दिया था. राजा पंडादेव ने उनकी तलाश करनी शुरू की और अपना घोड़ा देव मोगरा गांव में रोका. इसी वजह से यह जगह स्थानीय लोगों के लिए पूजनीय हो गई और बाद में वहां पंडोरी माता का मंदिर बनवाया गया. इस मंदिर से कुछ दूरी पर देवदरवनिया चौकीदार के लिए भी एक प्रार्थना स्थल बनाया गया.

ये मंदिर इतना फेमस हो चुका है. क्षेत्रीय लोगों के अनुसार, मान्यता है कि देवदरवनिया चौकीदार देवी और हमारे गांव की रक्षा करते हैं. जो भक्त पंडोरी माता की पूजा करने आते हैं। चौकीदार मंदिर में भी श्रद्धालु बराबर आते हैं. यहां चौकीदार को लोग देशी शराब प्रसाद के रूप में चढ़ाते हैं.

No comments:

Post a Comment