Monday, 10 June 2019

21 साल की लड़की ने किया ऐसा कारनामा, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होगा नाम!


दुनिया में ऐसे बहुत कम ही लोग होते हैं, जिनके अंदर कुछ नया-कुछ अलग करने का जुनून होता है। एक ऐसी ही लड़की है लेक्सी अल्फोर्ड, जिन्होंने महज 21 साल की उम्र में ऐसा कारनामा किया है कि अब उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो सकता है।
दरअसल, लेक्सी अल्फोर्ड का दावा है कि उन्होंने दुनिया के सभी 196 देश घूम लिए हैं। वह अपनी यात्रा का रिकॉर्ड गिनीज बुक को सौंप चुकी हैं। फिलहाल इसकी पुष्टि की प्रक्रिया चल रही है। अगर लेक्सी इसमें सफल होती हैं तो वह दुनिया के सभी देश घूमने वाली दुनिया की पहली युवा महिला बन जाएंगी। 
फिलहाल दुनिया के सभी देश घूमने का विश्व रिकॉर्ड ब्रिटेन के जेम्स एस्किथ के नाम है। उन्होंने 24 साल की उम्र में यह रिकॉर्ड हासिल किया था। लेक्सी ने इतनी कम उम्र में कड़ी मेहनत और दुनिया के सभी देशों की यात्रा करने की क्षमता का श्रेय अपने परिवार को दिया है, जिनकी कैलिफोर्निया में अपनी एक ट्रैवल एजेंसी है।
लेक्सी ने अपनी विश्व यात्रा का अंत एक विवादित जगह पर किया। उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया का विसैन्यीकृत क्षेत्र उनका आखिरी पड़ाव था, जिसे डीएमजेड के नाम से भी जाना जाता है, लेकिन यह क्षेत्र उनके रिकॉर्ड के लिए विवाद का कारण बन सकता है। चूंकि विश्व रिकॉर्ड के लिए हर एक देश का दौरा करने की जरूरत होती है, लेकिन कुछ लोग डीएमजेड को उत्तर कोरिया का आधिकारिक हिस्सा नहीं मानते हैं।
लेक्सी ने 31 मई को अपने आखिरी देश की यात्रा की घोषणा की थी। अपनी विश्व यात्रा के दौरान उन्होंने कई जगहों की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर शेयर की हैं। लेक्सी का कहना है कि वह सभी लोगों को यह दिखाने के लिए बेताब थीं कि दुनिया उतनी डरावनी नहीं है, जितना मीडिया इसे दिखाता है। हर जगह दया भाव है।
लेक्सी बताती हैं कि 18 साल की उम्र होते-होते वह 72 देशों की यात्रा कर चुकी थीं। हालांकि उस समय तक उनके दिमाग में विश्व भ्रमण का कोई इरादा नहीं था। उन्होंने साल 2016 में दुनिया के सभी देश घूमने के मिशन पर काम करना शुरू किया था।
अलग-अलग देशों की यात्रा के दौरान लेक्सी को कई तरह की दिक्कतों का भी सामना करना पड़ा, जैसे कि वीजा या भाषायी परेशानियां। लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने मिशन को कामयाब बनाने के लिए हरसंभव कोशिश की और आखिरकार उन्हें सफलता मिल ही गई।







No comments:

Post a Comment