Wednesday, 12 June 2019

ये है देश की पहली महिला नाई, ऐसे भर रही बच्चों का पेट


महाराष्ट्र के कोल्हापुर में रहने वाली शांता बाई इस सोच को तोड़ती हैं. वो सालों से नाई का कम करती हैं वजह बच्चों का पेट भरना है. उनके पति भी यही काम करते थे जिसके बाद उन्होंने इस काम को अपना लिया.
पति जब ये काम करते थे तो शांता उन्हें देखा करती थीं. फिर पति की मृत्यु के बाद जब घर के लिए आर्थिक मदद की जरूरत पड़ी तो उन्होंने इसी काम से पैसे बनाने की सोची. शांताबाई साल 1984 से ये काम करके चार बेटियों ला पेट पाल रही हैं. जबकि पति की मृत्यु के बाद वो बच्चों सहित मर जाना चाहती थीं. पर फिर गांव में हज्जाम नहीं था तो उन्होंने गांव-गांव जाकर नाई का काम करना शुरू कर दिया. लोग मजाक बनाते पर वो कम करती रहीं और बाद में बेटियों की शादी भी इसी कमाई से की.
शांताबाई की उम्र 70 साल की है, लेकिन अभी भी उनका ये काम बखूबी जारी है. शांता उन महिलाओं के लिए मिसाल हैं, जो मेहनत के दम पर कुछ हासिल करना चाहती हैं. यानि उस महिला के गुज़ारे के यही एक सहारा है और अपने इस अनोखे काम से उसने सभी को हैरान कर दिया है.




No comments:

Post a Comment