Saturday, 13 July 2019

एक मात्र ऐसा शहर, जहां पर चंद रुपयों में ही सोप दी जाती हैं लड़किया


आज देश के महानगरों में देह व्यापार अन्य धंधों से सबसे ज्यादा फायदे का साबित होता दिखाई दे रहा है। अक्सर लड़कियों को यह लालच रहता है, जो काम वह महीने भर किसी ऑफिस में घंटों सिर खपाने के बाद भी उतना वेतन नहीं पा सकती, जितना कि वे एक दिन में कुछ घंटे में कमा लेती हैं।
जानकारी के अनुसार महानगरों में कई लड़कियां अपने शरीर को हवस के भूखों को सौंपकर न केवल अपनी जरूरतों को पूरा कर रही हैं। बल्कि वे पूरा घर ही नहीं चला रही है बल्कि घर में रहने वाले बच्चों की फीस तक का इंतजाम कर रही हैं। हवस के पुजारी आते हैं और अपनी गर्मी कुछ मिनटों में खत्म करके चले जाते हैं।
खबर के अनुसार कोलकाता के सोनागाछी इलाके की जहां पर  यहाँ नाबालिक लड़कियों से जिस्म का गोरखधंधा करवाया जाता है।और इसके लिए उन्हें दो डॉलर तक दिया जाता है। लड़कियों का यह कहना है कि वे भी परिवार की जरूरतों को लेकर यह काम करने को मजबूर है।
लेकिन इस बीच एक सवाल है जो कही ना कही मन में चुभता है कि आखिर कब तक किसी महिला या लड़की को अपना जिस्म बेचकर परिवार चलाना पड़ेगा। महज 12 से 17 वर्ष कि नाजुक उम्र में ही इन लड़कियों को मर्दो के साथ हमबिस्तर होना पड़ता है।




No comments:

Post a Comment