Saturday, 10 August 2019

ये है चूहों वाला मंदिर, सफेद चूहा दिखाई देने पर होता है कुछ ऐसा...


राजस्थान के बीकानेर शहर से लगभग 30 किमी की दूरी पर देशनोक में मौजूद करणी माता के मंदिर को 'चूहों वाला मंदिर' भी बोला जाता है। यहां असंख्य चूहे रहते हैं। इन चूहों से न कोई दुर्गन्ध आती है और न ही कोई रोग फैलता है।
ऐसी मान्यता है कि मंदिर दर्शन के वक्त अगर आपको सफेद रंग का चूहा दिख जाए तो समझ लें कि आपकी सभी इच्छाएं पूर्ण हो जाएंगी। नवरात्र के दिनों में यहां भक्तों की काफी भीड़ दिखाई देती है। इस मंदिर को15 वीं शताब्दी में राजपूत राजाओं ने बनवाया था।
ऐसी मान्यता है कि मंदिर में देवी को चढ़ाया गया प्रसाद पूर्व चूहों को सेवन कराना पड़ता है। साथ ही चूहों का सेवन किया हुआ प्रसाद ही आपको खाना पड़ता है। यदि किसी शख्स के पैर तले आने से अगर चूहे की मृत्यु हो जाती है तो उसके बदले में सोने या फिर चांदी का चूहा मंदिर में दान करना पड़ता है।
मंदिर के बाहर चारों ओर चारण वंश के परिवार रहते हैं एवं वही मंदिर में पूजा-अर्चना करते हैं। संवत 1595 से यहां श्री करणी माताजी की सेवा पूजा होती हुई चली आ रही है। चांदी के किवाड़, सोने के छत्र एवं चूहों के प्रसाद हेतु यहां रखी चांदी की बड़ी परात भी देखने लायक है।
साल में 2 बार नवरात्रों पर चैत्र एवं आश्विन माह में इस मंदिर पर काफी बड़ा मेला भी लगता है। इसके साथ ही भक्तों के ठहरने हेतु मंदिर के पास धर्मशालाएं भी हैं।



No comments:

Post a Comment