Friday, 13 September 2019

ऐसी रहस्यमयी कहानियां, जो वैज्ञानिकों को कर रही हैं हैरान, जानिए इनके बारे में...


वैज्ञानिक वक्त-वक्त पर अनेक रहस्यों को सुलझाने का दावा करते हैं, जिनसे अनेक कई चौंकाने वाले खुलासे भी होते हैं। किन्तु अब भी कई रहस्यमयी कहानियां ऐसी हैं, जो वैज्ञानिकों को चौंका रही है।
मिस्र में स्फिंक्स के कान के ठीक नीचे एक छेद को अवरुद्ध करने वाली एक चट्टान सादे सीन में है। इसके पीछे क्या छिपा है? इसके बार में वैज्ञानिक फिलहाल भी मालूम नहीं कर सके हैं।
इसे 'फिस्टोस डिस्क' बोला जाता है एवं करीबन 3700 साल पहले ग्रीस में मिनोयन सभ्यता का ये प्रतीक है। ये 16 सेमी. व्यास की है तथा ये मिट्टी से बना हुआ है जिसमें उत्कीर्ण आंकड़ों के रूप में संग्रहीत सूचना है। वैज्ञानिकों ने सहमति जताई है कि इसे उत्साही रूप से पढ़ा जाना चाहिए, किन्तु फ़िलहाल भी वैज्ञानिक इस पर लिखी भाषा का मालुम नहीं कर सके हैं।
इन्हें 'लास बोलस' के रूप में जाना जाता है जिसका मतलब 'द बॉल्स' है एवं उनका इतिहास हमें 15वीं शताब्दी पीछे ले जाता है। जहां वैज्ञानिकों को ये मालुम है कि इन्हें किसने तैयार करवाया था, किन्तु इन्हें  तैयार करने के पीछे का उद्देश्य व वजह का अभी भी वैज्ञानिकों को नहीं मालूम चला है।
वॉयनिच पांडुलिपि 16वीं शताब्दी की एक पुस्तक है। वैज्ञानिक मानते है कि ये पुनर्जागरण के वक्त इटली में लिखी गई थी। परन्तु उनके लिए ये आज भी पहेली है कि इसके पन्नों पर क्या लिखा गया है।
Puma Punku का मतलब है 'प्यूमा का दरवाजा' इसे तिवानकु संस्कृति के लोगों के जरिए तैयार किया गया था, जो एक ऐसी सभ्यता थी जो इंकास से पूर्व थी। इसके संबंध में ये दिलचस्प है कि संरचनाएं बड़े कट पत्थरों से मिलकर तैयार हैं, परन्तु उस वक्त लोगों के पास इतनी बड़ी चट्टानों को वापस काटने की तकनीक नहीं थी। इसके सिवा, उन्होंने किसी भी पहिये का इस्तेमाल नहीं किया।





No comments:

Post a Comment