Wednesday, 24 April 2019

आमिर खान का ये वीडियो हो रहा वायरल, देखें क्या कर रहे हैं..


बॉलीवुड स्टार आमिर खान उन सबसे बड़े सुपरस्टार्स में से एक हैं, जिन्हें हमारे देश ने कभी देखा है. लेकिन वो बेहद डाउन टू अर्थ है. इन्हें आपने देखा ही होगा कि ये कितने सिंपल रहते हैं. हाल ही में इसका एक और सबूत देखने को मिला है जिसे हम आपको हम बताने जा रहे हैं. दरअसल, हाल ही में आमिर खान ने अपने साथी यात्रियों को आश्चर्यचकित करते हुए इकोनॉमी क्लास में यात्रा की.

एक्टर आमिर की फ्लाइंग इकोनॉमी क्लास का एक वीडियो उनके इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया गया है. ये वीडियो इंटरनेट पर खूब वायरल हो रहा है और नेटिजन्स उनकी विनम्रता की जमकर तारीफ कर रहें है. एक इंस्टाग्राम यूजर ने लिखा, आमिर भाई, माशा अल्लाह! आप असली हीरो हैं, जबकि दूसरे ने कमेंट किया, ये सादगी का वास्तविक वर्ग है. इनके इस वीडियो को देखकर उनके फैंस काफी खुश हुए।

इस कंपनी ने 7 हजार से भी कम में लॉन्च किया 4 कैमरे वाला स्मार्टफोन


स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी इंफिनिक्स (Infinix) ने ट्रिपल रीयर कैमरे वाला बजटकिफायती स्मार्टफोन 'स्मार्ट3 प्लस' (Smart 3 Plus) लॉन्च किया है. कंपनी ने फोन की कीमत 6,999 रुपये तय की है. फोन को 30 अप्रैल से बिक्री के लिए फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध कराया जाएगा. इंफिनिक्स इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अनीष कपूर ने बताया कि फोन में इन कैमरों के साथ 3,500 mAh बैटरी, हेलिओ ए22 प्रोसेसर, 2 जीबी रैम और 32 GB की इंटरनल स्टोरेज दी गई है.

कंपनी ने पीछे की तरफ 2 मेगापिक्सल और 13 मेगापिक्सल के साथ कम रोशनी के लिए अलग से तीसरा कैमरा दिया है. इसमें 8 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा भी है. इस तरह फोन में कुल 4 कैमरे दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि 6.21 इंच डिस्प्ले वाले इस स्मार्टफोन में एंड्रायड 9.0 ऑपरेटिंग सिस्टम है. शुरुआती स्तर के स्मार्टफोन से इतर की योजनाओं के बारे में पूछने पर कपूर ने कहा कि फिलहाल उनका लक्ष्य 10 हजार रुपये तक की श्रेणी में बाजार में अच्छी हिस्सेदारी बनाने का है.


उन्होंने कहा कि कंपनी अगले एक महीने के भीतर वीयरेबल डिवाइस समेत एक अन्य स्मार्टफोन उतारने जा रही है. कपूर ने कहा कि उनकी कंपनी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी मेक इन इंडिया मुहिम के तहत अपने स्मार्टफोन को घरेलू स्तर पर असेम्बल करती है. फोन की मेमोरी को माइक्रो एसडी कार्ड के जरिये 256 GB तक बढ़ाया जा सकता है.


एंड्रायड 9 पाई पर बेस्ड एक्सओएस 5.0 पर चलने वाले इस स्मार्टफोन में फिंगरप्रिंट सेंसर भी दिया गया है. फोन को पावर देने के लिए 3,500 एमएएच की बैटरी है. कनेक्टिविटी के लिए ब्लूटूथ, 3.5mm ऑडियो जैक, एफएम रेडियो, माइक्रो-यूएसबी पोर्ट जैसे ऑप्शन दिए गए हैं.

15 वर्ष बाद खिल उठा दुर्लभ अशोक, नहीं रहा खुशी का ठिकाना


रावण की लंका में स्थित अशोक वाटिका का वह वृक्ष जिसकी छांव तले बैठने तथा इसके फूलों की भीनी महक से देवी सीता के शोक का हरण हुआ, इन दिनों बांसवाड़ा जिले में भी अपनी मोहक आभा बिखेरने लगा है। सीता-अशोक नामक यह दुर्लभ वृक्ष जिले के बड़ोदिया कस्बे में शिक्षाविद व काष्ठ शिल्पकार लीलाराम शर्मा के निवास पर एक गमले में ही पुष्पित हुआ है।

पंद्रह वर्ष पूर्व रोपे गए मात्र ढाई-तीन फीट ऊंचाई के इस पौधे पर खिले शानदार फूलों को देखकर न केवल शर्मा अपितु पर्यावरण प्रेमियों की खुशी का भी ठिकाना नहीं रहा। इस पौधे पर नारंगी-लाल रंगों की फूलों की आभा देखते ही बन रही है। पर्यावरणीय विषयों के जानकारों के अनुसार यही असली अशोक वृक्ष है। जिले में ऐसे इक्के दुक्के वृक्ष ही हैं।

उल्लेखनीय है कि भारतीय धर्म, संस्कृति व साहित्य में प्रमुख स्थान प्राप्त इसी अशोक वृक्ष के तले की गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था और भगवान महावीर स्वामी को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। प्रचलित मान्यताओं अनुसार चैत्र शुक्ला अष्टमी के दिन अशोक वाटिका में इसी वृक्ष के नीचे हनुमानजी के हाथों माता सीता को भगवान राम का संदेश व अंगूूठी प्राप्त हुई थी।

बुधवार, 24 अप्रैल: जानिए आज के पेट्रोल-डीजल के भाव


आज यानि 24 अप्रैल को दिल्ली में पेट्रोल का दाम आज 72 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 66 रुपये में बिक रहा है। सभी तेल कंपनियों के पेट्रोल पंपों पर कीमतें समान हैं।

पेट्रोल।

जयपुर में एक लीटर पेट्रोल 74 रुपये प्रति लीटर।

मुंबई में एक लीटर पेट्रोल 78 रुपये प्रति लीटर।

कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल 74 रुपये प्रति लीटर।

चेन्नई में एक लीटर पेट्रोल 75 रुपये प्रति लीटर।

डीजल।

जयपुर में एक लीटर डीजल 69 रुपये प्रति लीटर।

मुंबई में एक लीटर डीजल 69 रुपये प्रति लीटर।

कोलकाता में एक लीटर डीजल 68 रुपये प्रति लीटर।

चेन्नई में एक लीटर डीजल 70 रुपये प्रति लीटर है।

मां बेटे के इस कारनामें को सोशल मीडिया पर किया जा रहा है खूब पसंद






आज तक आपने यही देखा होगा कि किसी पार्टी में मां बेटी एक जैसे कपड़े पहने है या फिर एक कलर किसी पार्टी की थीम होती है। उस पार्टी में सभी लोग एक तरह के कपड़े पहनकर आते हैं लेकिन आज हम आपकी मुलाकात कराएंगे मां बेटे की एक ऐसी जोड़ी से जो अक्सर मैंचिंग कपड़े में नजर आते हैं।

पाथ्रापोल और ली पुइंगबुनप्रा दोनों को ही फैशन से बहुत प्यार है। यह मां बेटे की जोड़ी थाइलैंड के बैकॉक में रहती है। 6 साल पहले मां बेटे ने एक साथ मैचिंग कपड़े पहनने शुरू किया था। पहली तस्वीर मां बेटे की जोड़ी ने इंस्टाग्राम पर डाली थी।



मैचिंग कपड़े पहनने से पहले इन लोगों ने कभी सोचा नहीं था कि दोनों की जोड़ी को इतना ज्यादा पसंद किया जाएगा।  इस्टाग्राम पर इन्हें 1.3 लाख यूजर्स फॉलो करते हैं। दुनिया में मां बेटे की यह सबसे स्टाइलिश जोड़ी मानी जाती है।




पाथ्रापोल और उनकी मां को देखकर आपको यह लग रहा होगा कि यह फोटो खिंचवाने के बहुत शौकिन हो तो आप ऐसा गलत सोच रहे हैं क्योंकि पाथ्रापोल की मां पिछले  तीन दशकों से कुछ  पुराने कपड़े संभाल कर रखी है जिससे वह अपना काम चला रही हैं।



पाथ्रापोल कहते हैं हम कभी भी फोटोशूट प्लान नहीं करते हैं हमारा जब भी मन करता है हम फोटो क्लिक करवा लेते हैं। उनकी मां को फैशन हमेशा से पसंद रहा है जबकी उनके परिवार की कमाई मूल रूप से पैंट और केमिकल मैनुफैक्चरिंग से हो रहा है। दोनों कहते हैं हमें फैशन पसंद है हम इसे खूब एंजॉय करते हैं।


एक महिला ने बर्बाद किये पूरे 94 गाँव, जानिए क्या है रहस्य


आज हम आपको एक औरत की सुंदरता से जुड़ी एक ऐसी घटना के बारें में बताने जा रहें जिसकी सजा 1 नहीं, 2 नहीं, 3 नहीं बल्कि पूरे 94 गांव काट रहें हैं. ऐसी ही एक जगह के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं.

राजस्थान जिसे राजपूतों का बसेरा कहा जाता हैं. राजस्थान में जैसलमेर शहर से 25  किलोमीटर दूर बसा कुलधारा गांव एक डरावना गांव माना जाता हैं. इस गांव की हंसी, खुशी एक रात में बदल कर मातम में छा गयी और ये गांव रातों रात एक श्मशान घाट मे बदल गया. बता दें इस गांव के आस पास के सारे गांव भी वीरान और डरावने बन चुके हैं. इस गांव में इन सब के पीछे एक रहस्यमयी महिला को माना जाता हैं. इसके पीछे की भी एक खास कहानी है.

माना जाता हैं कि इस गांव में एक शख्स की नजर एक बेहद ही सुंदर महिला पर पड़ी और देखते ही देखते ये गांव एक रात में ही भानगढ़ के किले की तरह सब तहस नहस हो गया. अब ये गांव एक शापित गांव माना जाता हैं. इस गांव की कहानी भी भानगढ़ के किले से मिलती जुलती हैं. इसके अलावा इस गांव के बारें में पूरा सच कोई नहीं जानता, क्योंकि उस दिन इस घटना को बताने के लिए कोई भी जिंदा नहीं बचा।

14 साल की दो लड़कियों ने 9 लोगों के साथ किया ये भयानक कांड, ऐसे हुआ खुलासा






अमेरिका के फ्लोरिडा से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। जिसके बारे में जानकर शायद आप भी चौक जाएंगे मामला 14 साल की दो लड़कियों के साजिश रचने का है। जिस उम्र में बच्चे स्कूल में जाकर पढ़ाई करते हैं और जीवन में कुछ बनने का सपना देखते हैं उस उम्र में इन लड़कियों ने कत्ल करने की साजिश रची है। आइए जानते हैं पूरा मामला क्या है।

इन दो लड़कियों ने सफेद पन्ने पर अपना पूरा प्लान लिखा था। जिसका नाम दिया था प्लान 9/11 (प्राइवेट इनफो, टू नॉट ओपन)। इन दोनों का नाम है डीलेनी बार्न्स और सोलांज ग्रेन दोनों को फ्लोरिडा के एवॉन पार्क से गिरफ्तार किया गया है।

दोनों लड़कियों पर हत्या की साजिश रचने की शिकायत है। जांच के दौरान दोनों के खिलाफ 8 पन्नों का सबूत भी मिला हुआ है। सबूत पढ़ने के बाद पुलिस वाले के भी होश उड़ गए। 14 साल की लड़कियों ने हत्या की पूरी लिस्ट बनाकर रखी थी। प्लान में लिखा हुआ था कब कौन सा काम करना है। रिपोर्ट के मुताबिक एवॉन पार्ड मिडिल स्कूल के उन नौ मासूम बच्चों का नाम लिस्ट में था जिनका यह कत्ल करने वाली थी। उसमें लिखा था कब उनका कत्ल करना है और कैसे लाश को ठिकाने पर लगाना है।

डेली मेल की खबरों के मुताबिक  इस लिस्ट में इस बात की भी जानकारी थी कि उन्हें कब कौन सी ड्रेस पहननी है। मर्डर के समय क्या पहनना है और लाश को ठिकाने लगाने के समय क्या पहनना है। इस बात का खुलासा तब हुआ जब दोनों लड़कियों ने अपनी प्लानिंग की फाइल खो दी। यह फाइल स्कूल के किसी टीचर की हाथ लगी तब सभी बातों का खुलासा हुआ। फाइल खोने के बाद दोनों के होश उड़े हुए थे। दोनों ने पहले ही प्लानिंग भी कर लिया था अगर किसी को फाइल मिली तो हम इसे प्रैंक का नाम देंगे।

पुलिस पूरी बात को जानने के बाद बताया कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि लड़कियां प्रैंक का नाम दें। 8 पन्ने में किसी की मौत की प्लानिंग की गई है नौ लोगों के जिंदगी का सवाल है। इसे मजाक नहीं समझा जा सकता।

Tuesday, 23 April 2019

सिम बंद होने से बचने के लिए नहीं करना होगा 35 रु का रिचार्ज, ये है तरीका


इस समय जियो के आने के बाद से प्राइस वॉर के चलते कई कंपनीयो ने अपने प्लान मे भारी कमी की है. लेकिन जो यूजर अपने पूरानी कंपनी को छोड़कर जियो के साथ जुड़े है निश्चत तौर पर उन्होने जियो का उपयोग करना चालू कर दिया है. जिस वह से अन्य टेलीकॉम कंपनियों ने ₹35 का रिचार्ज अनिवार्य कर दिया था. बता दें कि इस रिचार्ज को करने के बाद उपभोक्ता अपनी सिम की वैधता को 28 दिनों तक बढ़ा सकता था. आइये इस बारे मे आगे विस्तार से समझने का प्रयास करते है.

ग्राहको को बीते काफी समय से अपनी अनउपयोगी सिम पर लगातार 35 रूपये के रिचार्ज के मैसेज आते रहते है जो वर्तमान मे भी जारी है फिलहाल सभी टेलीकॉम कंपनियों ने उपभोक्ताओं की खुशी के लिए ₹23 का रिचार्ज जारी किया है. इस रिचार्ज में आपको कोई भी टॉकटाइम नहीं दिया जाएगा. बल्कि आपको केवल 28 दिनों तक की वैधता दी जाएगी. इस प्रकार आप अपने पुरान नंबर को वैधता को बरकरार रख सकते हो.

देश मे ट्राई भारतीय यूजर की सुविधा के लिए कई सख्त नियम बना रही है जिसके तहत उन्होने सभी कंपनीयो पर कई नियम सख्ती के सा​थ लागू किए है।

इंसानों से दूर होकर पेड़ों पर रहने लगी ये जनजाति, खाती है इंसानों का मांस


देश भर में कई तरह की जनजातिया और कई अलग अलग तरह की परंपराओ को मान्यता दी जाती हैं. आपने कई सारी सुनी भी होंगी लेकिन इसा रिवाज नहीं नहीं जानते होंगे आप जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं. वैसे हर किसी का समाज में रहने और अपने काम करने का एक अलग ही अंदाज या रिवाज होता हैं. बता दें इनकी अपनी संस्कृति और परंपराए होती हैं, जिनको ये मान्यता देते हैं. चलिए जानते हैं एक और ऐसी ही परंपरा के बारे में.

दरअसल, इंडोनेशिया में स्थित पापुआ प्रांत के घने जंगलों में कोरोवाई नाम की जनजाति रहती हैं. दुनिया में केवल यहीं एक जनजाति हैं, जिसे नरभक्षी कहा जाता हैं और पहली बार साल 1974 में ये जनजाति सबके सामने आई थी. इस जनजाति को देखने के लिए लोग दूर दूर से आते थे लेकिन साल 1999 में इस जनजाति ने आम लोगों के साथ अपना रिश्ता खत्म कर लिया. इसके बाद वह जंगलों में पेड़ों पर रहने लगे. इंसानों से दूर रहकर ये कुछ अनोखा ही काम करते हैं.

ये सब पहले होता था, समय के साथ अब प्रजाति भी बदल गई हैं और किसी के नुकसान नहीं पहुंचाते और खुद को सुरक्षित रखने के लिए जंगल में रहते हैं।

खुदाई में मिली 2000 साल पुरानी शिवलिंग, आती है तुलसी की खुशबु


आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में आपने भी नहीं सुना होगा. हमारी पुरानी सभ्यताओं और उनसे जुड़े किस्से-कहानियों की याद दिलाता है. छत्तीसगढ़ के सिरपुर में खुदाई से पुरातत्व विशेषज्ञों को एक शिवलिंग प्राप्त हुआ है. इस शिवलिंग के बारे में कहा जाता है कि ये करीब 2000 साल पुराना है.

ये 2000 साल पुरानी खास पत्थरों से बना हुआ है. एक सच जिसे जानकर आप यकीन ना करें इस शिवलिंग की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसमें तुलसी के पत्तों की खुशबू आती है. इसके अलावा इस शिवलिंग में जनेऊ और शिव-धारियां पहले से ही मौजूद है. इसी पर अगर मीडिया रिपोर्ट की मानें तो ये पता चला है कि कई हजार साल पहले यहां एक विशाल मंदिर हुआ करता था. इस खुदाई में शिवलिंग के साथ कुछ सिक्के, ताम्रपत्र, बर्तन, शिलालेख और प्रतिमाएं आदि भी मिले हैं.

ये शिवलिंग का निर्माण पहली शताब्दी में किया गया था. और बाढ़ से यह विशाल मंदिर पूरी तरह से धरती में ही दफन हो गया. पिछले कई सालों से यहां खुदाई हो रही थी.अब तक इस जगह से कई छोटे-बड़े शिवलिंग निकाले है।