Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts
Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts

Saturday, 20 July 2019

औरत ने दिया अपने ही सगे भाई के बच्चे को जन्म, जानिए दिलचस्प वजह


आजकल दुनिया भर में भारत में सरोगेसी मतलब किराए की कोख काफी चर्चा में है। इसका एक भिन्न ही मामला ब्रिटेन में नजर आया है। जहां एक महिला ने अपने ही भाई के बेटे को पैदा किया है।

दरअसल, इसका कारण ये था कि उसका भाई गे रिलेशनशिप में था एवं वह सरोगेसी हेतु किसी अनजान महिला पर भरोसा नहीं कर पा रहा था। इसलिए औरत ने भाई के गे पार्टनर के स्पर्म के जरिए बच्चे को पैदा किया।

बता दें कि, 27 साल की औरत चैपेल कूपर ने सरोगेट माता के रूप में बच्चे को पैदा किया है। औरत के सरोगेट मां बनने की वजह से उसका भाई स्कॉट स्टीफेंसन एवं उसका गे पार्टनर माइकल स्मिथ प्राउड पैरेंट्स बन गए हैं।

फर्टिलाइजेशन हेतु औरत के एग सेल और माइकल स्मिथ के स्पर्म का उपयोग किया गया।जानकारी के मुताबिक, औरत पूर्व से ही एक बेटी की माँ हैं।

उन्होंने जब सरोगेसी एवं एडॉप्शन में होने वाली दिक्कतों और खर्च के सम्बन्ध में जाना तो खुद ही बायोलॉजिकल माता बनने का निर्णय लिया। औरत के भाई और उनके पार्टनर ने एक फेसबुक पोस्ट में बहन की काफी प्रशंसा की है व उन्हें सुपर ह्यूमन कहा है।

अनोखा मंदिर, जहां दूध चढ़ाने पर रंग हो जाता है नीला


आज हम आपको भगवान शिव के ऐसे रहस्यमयी मंदिर के बारे में बताएंगे, जिसके बारे में जानकर आप दंग रह जाएंगे। दरअसल, हम जिस मंदिर की बात कर रहे है वह नागनाथस्वामी मंदिर है जो केरल के कीजापेरूमपल्लम गांव में मौजूद है।
जानकारी के मुताबिक, भले ही ये मंदिर केतु को समर्पित है किन्तु इसके प्रमुख शिवजी है एवं इस कारण ये नागनाथ के नाम से भी प्रसिद्ध है। इसमें राहु के ऊपर दूध चढ़ाने दूर-दूर से लोग आते हैं। सर्वाधिक चौंकाने वाली बात तो ये है कि इस मंदिर में कुछ लोगों के जरिए दूध चढ़ाने पर उस दूध का रंग बदलकर नीला हो जाता है।
इसके बारे में लोगों की ऐसी मान्यता है कि जो लोग केतु ग्रह के दोष से ग्रसित होते हैं सिर्फ उनके जरिए ही चढ़ाया गया दूध अपना रंग बदल देता है। केति स्थल से संबंधित एक पौराणिक कहानी यहां लोगों के मध्य काफी प्रसिद्ध है।
बताया जाता है कि एक बार एक ऋषि के श्राप से आजाद होने हेतु केतु ने शिव की आराधना प्रारंभ की। शिवजी उसकी तपस्या से प्रसन्न हुए और किसी एक शिवरात्रि के दिन उन्होंने केतु को ऋषि के श्राप से आजादी  दिलाई।



औरत ने दिया अपने ही सगे भाई के बच्चे को जन्म, जानिए दिलचस्प वजह


आजकल दुनिया भर में भारत में सरोगेसी मतलब किराए की कोख काफी चर्चा में है। इसका एक भिन्न ही मामला ब्रिटेन में नजर आया है। जहां एक महिला ने अपने ही भाई के बेटे को पैदा किया है।
दरअसल, इसका कारण ये था कि उसका भाई गे रिलेशनशिप में था एवं वह सरोगेसी हेतु किसी अनजान महिला पर भरोसा नहीं कर पा रहा था। इसलिए औरत ने भाई के गे पार्टनर के स्पर्म के जरिए बच्चे को पैदा किया।
बता दें कि, 27 साल की औरत चैपेल कूपर ने सरोगेट माता के रूप में बच्चे को पैदा किया है। औरत के सरोगेट मां बनने की वजह से उसका भाई स्कॉट स्टीफेंसन एवं उसका गे पार्टनर माइकल स्मिथ प्राउड पैरेंट्स बन गए हैं।
फर्टिलाइजेशन हेतु औरत के एग सेल और माइकल स्मिथ के स्पर्म का उपयोग किया गया।जानकारी के मुताबिक, औरत पूर्व से ही एक बेटी की माता हैं।
उन्होंने जब सरोगेसी एवं एडॉप्शन में होने वाली दिक्कतों और खर्च के सम्बन्ध में जाना तो खुद ही बायोलॉजिकल माता बनने का निर्णय लिया। औरत के भाई और उनके पार्टनर ने एक फेसबुक पोस्ट में बहन की काफी प्रशंसा की है व उन्हें सुपर ह्यूमन कहा है।



Friday, 19 July 2019

सफारी पार्टी थीम में जब गधों को बना दिया ज़ेबरा, सोशल मीडिया पर ऐसे उड़ा मज़ाक


यह मामला एक स्पैनिश बीच टाउन का है जहां कुछ लोगों ने पार्टी थीम को बनाए रखने के लिए गधे को जेब्रा बना दिया. उसके बाद जो हुआ आप सोच भी नहीं सकते. क्योंकि जैसे गधों की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ उसके बाद लोगों ने जमकर क्लास लगानी शुरू कर दी. यूज़र ने कई तरह के कमैंट्स किये और काफी मज़ाक भी उड़ाया गया. यहां पर एक शादी का आयोजन किया गया था. शादी का थीम सफारी पर आधारित था. इस दौरान शादी के माहौल को असली दिखाने के लिए जानवरों को रखा गया था.

अब ऐसे में मामला तब बिगड़ गया जब दो गधों को जेब्रा जैसा पेंट कर लोगों के सामने पेश कर दिया गया. फिर एक शख्स की नजर इन गधों पर पड़ गई. असल में खुलासा तब हुआ जब रिसेप्शन में शामिल हुए शख्स ने दो गधों को पार्क में देखा तो उसे कुछ शक हुआ. फिर उसने उन्हें ध्यान से देखा तो पाया कि दोनों गधे हैं. इस शर्मनाक हरकत एनिमल राइट्स एक्टिविस्ट से शिकायत की. उसके बाद इस शख्स ने जेब्रा बने गधों की तस्वीर और वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर की है. लिखा है कि गधों का यह अपमान है और उनके अस्तित्व को खतरा है.

13 नौजवानों की खुदकुशी की वजह बनी थी ये राजकुमारी, जानिए इसके बारे में...


आज हम आपको एक ऐसी राजकुमारी के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आप चौंक जाएंगे। दरअसल, आज  आज के वक्त में केवल उन्ही लड़कियों को सुंदर माना जाता है, जिनका शक्ल बहुत अच्छी हो, पतली-दुबली हों एवं चेहरे पर कोई भी दाग ना हो। किन्तु आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 19वीं सदी में सिर्फ मोटापे को ही खूबसूरती माना जाता था।
ईरान की राजकुमारी की खूबसूरती के किस्से आज भी याद किए जाते हैं। बताया जाता हैं कि राजकुमारी ताज अल कजर सुल्ताना ने खूबसूरती के सभी मानकों को तोड़ दिया था। उनके चेहरे पर घनी आईब्रो एवं मूंछें हुआ करती थी। इसके संग ही वो काफी मोटी भी थी, किन्तु उस वक्त में इसे ही सुंदरता माना जाता था।
मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो, उस वक्त बड़ी संख्या में ऐसे नौजवान थे, जो राजकुमारी की सुंदरता के दीवाने थे और उनसे विवाह भी करना चाहते थे। हालांकि राजकुमारी ने उन सभी के प्रस्तावों को ठोकर मार दी। बताया जाता हैं कि इस बात से आहत होकर लगभग 13 नौजवानों ने खुद को मर डाला था।
दरअसल, प्रस्ताव ठुकराने के पीछे का कारण ये था कि राजकुमारी का विवाह पहले ही अमीर हुसैन खान शोजा ए सल्तनेह से हो चुका था। इस शादी से उनके चार बच्चे थे। हालांकि, बाद में उनका तलाक हो गया।
हालांकि दावा किया जाता है कि राजकुमारी के अनेक अफेयर भी रहे थे, जिनमें दो लोग गुलाम अली खान अजीजी अल सुल्तान एवं ईरानी कवि आरिफ काजविनी से उनके अफेयर की बात कहीं जाती है। बताया जाता हैं कि राजकुमारी को उस दौर की सबसे आधुनिक औरत माना जाता था।




बाजार में आए जामुनी आम, मधुमेह के रोगी भी कर सकते है सेवन!


आज हम आम को लेकर बात करे तो आपको ये बता दें कि ये एक ऐसा फल है जिसे आप हर मौसम में बड़े ही चाव से सेवन करते है। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अब के रोगी भी आम का सेवन कर सकते है। जिससे आपका बल्ड शुगर भी बिल्कुल नहीं बढ़ेगा। आपको बता दें कि आज की एक ऐसी किस्म तैयार की गई है। जिसमें आम एवं जामुन का कॉम्बिनेशन है। इंटरनेट पर  जामुनी रंग का आम काफी अधिक वायरल हो रहा है। जो कि ब्लड शुगर के मरीजों हेतु बहुत लाभदायक है। अब ये आम हिंदुस्तान में भी उत्पन्न हो रहा है।
जानिए साधारण आम जैसे जामुनी आम खाने के भी बेहतरीन फायदे...
जामुनी आम में भरपूर मात्रा में पोटैशियम एवं अनेक तरह के एंटी ऑक्सीडेंट मौजूद होते है। जो कि आपके दिमाग को हेल्दी रखने में सहायता प्रदान करता है।
जामुनी आम में पोटेशियम एवं सोडियम काफी ही कम मात्रा में पाया जाता है। जो कि आपके ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल रखता है।
इस आम में काफी मात्रा में विटमिन ई पाया जाता है। जो कि आपके कोलेस्ट्रॉल को ठीक रखने में सहायता करता है।
इसमें काफी मात्रा में विटामिन सी के साथ-साथ ऐसे एंटी ऑक्सीड़ेंट मौजूद होते है। जो कि आपको बॉडी को इंफेक्शन से कई दूर रखता है।
इस आम को खाने से आपका ब्लड शुगर भी कंट्रोल रहेगा।



खूबसूरती में हीरोइन को भी मात देती है ये बकरी, देखें


सोशल मीडिया पर एक बकरी की तस्वीरें जबरदस्त तरीके से वायरल हो रही है। बकरी की फोटोज इसके मालिक ने खींचकर सोशल मीडिया पर डाल दी तत्पश्चात लोग इसकी सुंदरता देख दीवाने हो रहे हैं।
बता दें कि यह बकरी मलेशिया के 21 साल के किसान अहमद फदजीर की है। पेराक राज्य के केराई में जीवन बिताने वाले अहमद बताते हैं कि उनकी इस बकरी को कैमरे से फोटोज खिंचवाने का बहुत शौक है।
जैसे ही इसकी फोटोज वायरल हुईं कुछ टीवी चैनल्स किसान के घर पहुंच गए। तत्पश्चात उसकी एक से बढ़कर तस्वीरें लेकर खबरें छापने लगे। ये बकरी स्विस शानेन नस्ल की है एवं अपने स्वादिष्ट दूध हेतु जानी जाती है।
हालांकि किसान को पूर्व इस बात का अनुमान नहीं ​था कि उनकी इस सुंदर बकरी की फोटोस वायरल हो जाएंगी एवं मीडिया तक उनके घर पहुंच जाएगा। किसान के पास इस नस्ल की 17 बकरियां मौजूद है, किन्तु ये बकरी सर्वाधिक सुंदर है।



ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर के उड़े होश, युवक के पेट से निकले लोहे की कील और चमड़े का सामान


मध्य प्रदेश में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है. छतरपुर के एक शख्स की पेट से ऐसे-ऐसे सामान निकले हैं, जिसे देखकर न केवल डॉक्टर बल्कि हर कोई हैरान है. इस ऑपरेशन को अंजाम देने वाले डॉक्टर इसे मेडिकल साइंस में कारनामा मान रहे हैं. ऑपरेशन में मरीज के पेट से प्लास्टिक का पेन, बोरे सिलने वाले सूजे, आरी ब्लेड, लोहे का तार, लेदर के सामान सहित 33 ऐसे सामान निकले हैं.

ईशानगर के रहने वाले 30 वर्षीय योगेश को दो दिन पहले पेट दर्द की शिकायत हुई, जिसक बाद वह डॉक्टर एमपीएन खरे के पास पहुंचे. डॉक्टर ने जब योगेश के पेट का एक्सरे करवाया तभी वह हैरान हो गए. करीब दो घंटे चले ऑपरेशन के दौरान योगेश के पेट से 33 सामान निकले.

परिवार के लोगों को कहना है कि योगेश सिरफिरा किस्म का शख्स है. वह कुछ भी चीज उठाकर खा लेता था. पेट में लोहे और चमड़े का सामान भरने के चलते उसे दर्द होने लगा था.

ऑपरेशन के बाद योगेश ही हालत ठीक है. हालांकि डॉक्टरों ने उसे कुछ दिन अपनी निगरानी में रखने का फैसला लिया है।

ट्रांसजेंडर ने दिया बच्चे को जन्म, पिता बनने की चाहत में किया ये काम


ये सुनकर आपको हैरानी होगी कि हाल ही में एक ट्रांसजेंडर ने बच्चे को जन्म दिया है. वैसे  पूरी दुनिया में तीसरे लिंग को मान्यता मिल है. दरअसल, ब्रिटेन के ट्रांसजेंडर फ्रेडी मैकोनल ने एक बच्चे को जन्म दिया है. फ्रेडी जन्म से एक महिला हैं लेकिन उन्होंने अपना लिंग परिवर्तन कराया और पुरुष बन गए. लेकिन ऑपरेशन दौरान उन्होंने अपना गर्भाशय नहीं हटवाया. ये मामला भी बड़ा ही अजीब था.

फ्रेडी ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि आगे चलकर वो बच्चे को जन्म देना चाहते थे. फ्रेडी का बच्चा हुबहू उनकी तरह ही दिखता है, फ्रेडी की बचपन की तस्वीर और बच्चे में कोई फर्क ही नही कर पाता हैं. इस बात से वो काफी खुश भी हैं. उन्होंने बच्चे को तो जन्म दे दिया लेकिन वो बच्चे की मां नहीं बल्कि पिता बनना चाहते हैं. वो बच्चे के बर्थ सर्टिफिकेट में पिता के नाम की जगह अपना नाम चाहते हैं. लेकिन वो ऐसा नही कर पा रहे हैं क्योंकि वो लड़की के रूप में पैदा हुए थे. इसलिए वो कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं. ऑपरेशन के दस दिन बाद ही एक स्पर्म डोनर मिला गया, जिसके बाद वो एक प्रेग्नेंट पुरुष बन गए.

वहीं बच्चे के जन्म के बाद उन्होंने उसका लीगल पिता बनने की चाह रखी है लेकिन जनरल रजिस्‍टर ऑफिस ने ऐसा करने से इनकार कर दिया है।

Thursday, 18 July 2019

यहां मिला बिना पानी के जीने वाला विचित्र कछुआ, सच्चाई कर देगी हैरान


हिंदुस्तान के उत्तरपूर्वी राज्य अरूणाचल प्रदेश में बिना पानी के जीवन गुजारने वाला कछुआ मिला है। यह कछुआ बेहद ही विलुप्त प्रजाति का है। हिंदुस्तान में इसके अब तक के सिर्फ 29 कछुओं की ही पहचान की जा चुकी है।

दरअसल, ये कछुआ अरूणाचल के लोअर सुबनसिरी जिले के याजिली ग्राम में प्राप्त हुआ है। इस ग्राम में लोगों को हाल ही में ये कछुओं का जोड़ा मिला था।

इसके संबंध में लोगों ने वाइल्ड लाइफ कंजर्वेशन सोसायटी ऑफ इंडिया को जानकारी प्रदान की। तत्पश्चात एक्सपर्ट ने बताया कि ये बिना पानी के जीवन व्यापन करने वाले कछुए हैं। ये कछुए चेलोनियन प्रजाति के हैं।

इस प्रजाति के कछुओं की आबादी अब 29 तक पहुंच चुकी है। इन कछुओं को घर में पालने हेतु लोग रख लेते हैं। हालांकि बाद में इन्हें अपने मूल स्थान पर वापस छोड़ भी दिया जाता है।

Wednesday, 17 July 2019

लोगों से व्यस्त रोड को पार करता दिखा जंगल का राजा, वायरल हुआ वीडियो


शेर जंगल का राजा होता है इसलिए हर कोई इससे डरता है. शेर को सामने देख अच्छे-अच्छों की बोलती पल भर में बंद हो जाती है. लेकिन कई जगह ऐसी है जहां पर लोग शेर को आते जाते देखते रहते हैं. गुजरात के गिर जंगल के शेर दूसरे शेरों से बेहद अलग हैं. यहां जंगल का राजा इंसानों के सामने घूमता है और इंसान भी इन शेरों के सामने बेखौफ होकर घूमते हुए नजर आते हैं. इस यही एक भयानक वीडियो सामने आया है जिसमें आप शेर को देख सकते हैं.

दरअसल, इन दिनों इंटरनेट पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें शेर सड़क पार करता दिखाई दे रहा है. वहीं लोग भी आराम से वहां से गुज़र रहे हैं. इसी का वीडियो यूट्यूब पर शेयर किया गया है बता दें, ये वीडियो गुजरात के जूनागढ़ जिले के बिल्खा रोड़ की बताया जा रहा है. देखा जा सकता है व्यस्त रोड पर शेर गुज़र रहा है और लोग भी बेख़ौफ़ उसके सामने से निकल रहे हैं

पड़ोसियों के तेज म्यूजिक बजाने से परेशान था शख्स, किया ड्रोन से हमला


भारत हो या फिर इस दुनिया का कोई भी दूसरा कोना. लोग अक्सर अपने पड़ोसियों से परेशान ही रहते हैं और शिकायतें करते रहत हैं. पड़ोसियों से परेशानी होना, उनकी शिकायत दूसरों को करना एक लाजिमी सी चीज है, लेकिन इसके कारण गुस्से में एक पड़ोसी ने दूसरे पड़ोसी पर हमला कर दिया है. ये हमला किसी घर के सामान या पत्थर से नहीं बल्कि ड्रोन से किया गया है, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

सोशल मीडिया पर ही कुछ लोगों का कहना है कि यह वीडियो टेक्‍सास का है, हालांकि कुछ इसे ब्राजील का बता रहे हैं. हालांकि यह वीडियो कहां का है, इस बात की पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है. 33 सेकेंड के इस वीडियो में आप देख सकते हैं किकुछ लोग सड़क पर इधर-उधर भागते हुए नजर आ रहे हैं.

ऐसा इसलिए कि उनके ऊपर एक ड्रोन उड़ रहा है, जिसमें पटाखे लगे हुए हैं. ये पटाखे सड़क पर खड़े लोगों को टारगेट बनाकर चलाए जा रहे हैं. खास बात ये है कि यह ड्रोन एक पड़ोसी द्वारा दूसरे पडोसी पर चलाया गया है, ऐसा इसलिए है, क्योंकि वह उसके घर से आने वाले तेज म्यूजिक की आवाज से परेशान हो गया था।

Tuesday, 16 July 2019

सूखी झील की खुदाई में मिली प्राचीन भगवान शिव के वाहन नंदी की प्रतिमा, उमड़ा हुजूम


कर्नाटक में मैसूर जिले के पास एक सूखी हुई झील से सैकड़ों वर्ष पुरानी भगवान शिव की सवारी नंदी बैल की दो मूर्तियां खुदाई के दौरान सामने आई हैं. यह खबर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, मैसूर से लगभग 20 किमी दूर बसे अरासिनाकेरे की एक सूख चुकी झील में नंदी बैल की सदियों पुरानी मूर्तियों की यह जोड़ी खुदाई के दौरान मिली है.
बताया जा रहा है कि खुदाई करके प्रतिमाओं को बाहर निकालने का कार्य यहां के स्थानीय निवासियों ने ही किया है. सोशल मीडिया के मुताबिक, अरासिनाकेरे के बुजुर्ग इस झील में नंदी की मूर्तियां होने की बात कहा करते थे. जब कभी झील में पानी का स्तर कम होता था, तो कहा जाता था कि मूर्तियों का सिर नजर आता है. बताया जा रहा है कि इस साल नदी के पूरे तौर पर सूख जाने बाद यहां के स्थानीय निवासियों ने इस जगह पर खुदाई कर सच को जानने की कोशिश की.
खबरों की मानें तो, स्थानीय लोगों ने तीन से चार दिनों तक झील की खुदाई की. इस दौरान उन्होंने खुदाई का कार्य अच्छे तरीके से करने के लिए जेसीबी मशीन भी मंगवाई. वहीं, लगभग चार दिनों तक चली खुदाई के बाद झील की जमीन के भीतर दबी नंदी बैल की प्रतिमाओं को बाहर निकाल लिया गया है. 


काफी सुंदर है नदी पर तैरता ये अनोखा होटल, देखें


आज हम आपको एक ऐसे होटल के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आप दंग रह जाएंगे। दरअसल, हम जिस होटल की बात कर रहे है उसका निर्माण स्वीडन की ल्यूल नदी पर किया जा रहा है।
बता दें, इस होटल की विशेष बात तो ये है कि गर्मियों में ये होटल ल्यूल नदी में तैरता दिखाई देगा जबकि सर्दियों में ये नदी में जम जाएगा तो एक ही जगह पर तैयार हुआ नजर आएगा।
दरअसल ल्यूल नदी सर्दी के मौसम में जम जाती है ऐसे में नदी में तैरता होटल भी जम जाएगा। इस होटल में उपस्थित स्पा सेंटर, वेलनेस थीम पर आधारित है। यहां पर ग्राहकों के न्यूट्रिशन, कसरत एवं मन की शांति हेतु खास थैरेपी प्रदान की जाएगी।
जानकारी के मुताबिक, इस होटल में निवास करने हेतु लोग अभी से बेचैन नजर आ रहे हैं। लोगों में इसमें रुकने को लेकर इस कदर क्रेज है कि वर्ष 2020 एवं 21 हेतु अभी से बुकिंग प्रारम्भ हो गई है।
होटल व स्पा द आर्कटिक बाथ में रहने हेतु एक दिन का किराया लगभग 815 पाउंड होगा। भारतीय रुपए में एक दिन के किराए का दाम 75 हजार होगा।



ENGLAND की जीत पर दादी हुई हैरान, जमकर मनाया जश्न


इंग्लैंड ने पहली बार आसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता है. ऐसे में उनके देश वालों का खुश होना बनता है और वहां हर कोई जश्न ही मना रहा है. सोशल मीडिया पर इंग्लिश फैन्स जमकर जश्न मना रहे हैं. जिसके वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहे हैं. वहीं इसी बीच एक बुजुर्ग महिला का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो जीत पर जमकर जश्न मना रही हैं. इसका वीडियो इंग्लैंड के वेस्ट ससेक्स की बुजुर्ग महिला टीवी पर वर्ल्ड कप फाइनल देख रही हैं और उनका रिएक्शन वायरल हो रहा है।

इस वीडियो को ग्वेन नाम के ट्विटर यूजर ने शेयर किया. वीडियो शेयर करते हुए उन्होंने कैप्शन में लिखा- 'इंग्लैंड की वर्ल्ड कप जीत पर मेरी दादी का रिएक्शन. प्लीज एन्जॉय करें.' एक यूजर ने लिखा- 'बहुत प्यारी हैं. इंग्लैंड के लिए शानदार दिन. क्या शानदार गेम था. बधाइयां.' वहीं एक यूजर ने लिखा- 'वर्ल्ड कप की जीत पर सबसे शानदार वीडियो. आपकी दादी लीजेंड हैं.

Monday, 15 July 2019

पाकिस्तान में घटी अजीबोगरीब घटना, अचानक गायब हुआ समुद्र में बना द्वीप


दुनिया में कई अजीबोगरीब घटनाएं घटती हैं, जो कभी-कभी लोगों को हैरान कर देती हैं। एक ऐसी ही घटना पाकिस्तान में भी घटी है। दरअसल, यहां ग्वादर के समुद्र के पास बना एक द्वीप रातों-रात अचानक गायब हो गया। इस घटना के बारे में जिसने भी सुना, वो हैरान हुए बिना नहीं रहा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 2013 में पाकिस्तान में आए भयानक भूकंप के बाद यह द्वीप पहली बार सामने आया था, लेकिन छह साल के बाद यह फिर रहस्यमयी तरीके से गायब हो गया।

अंडे के आकार का यह द्वीप करीब 295 फीट लंबा और 130 फीट चौड़ा था, जबकि समुद्र से इसकी ऊंचाई करीब 60 फीट थी। लोगों ने इसका नाम 'जलजला कोह' रखा था, जिसका मतलब होता है 'भूकंप का पहाड़'।

वैज्ञानिकों के मुताबिक, भूकंप के दौरान टेक्टोनिक प्लेट्स के टकराने से इस द्वीप का निर्माण हुआ था। जब लोगों ने बीच समुद्र में इस द्वीप को पहली बार देखा था तो वो समझ नहीं पाए थे कि आखिर अचानक यह द्वीप कहां से आ गया। बाद में जब लोग नाव के सहारे द्वीप पर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि वहां बहुत ही कीचड़, रेत और पत्थर हैं। साथ ही वहां मीथेन गैस भी कहीं-कहीं से निकल रही थी।

अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कुछ तस्वीरें जारी की हैं, जिसमें द्वीप कहीं भी नजर नहीं आ रहा है। यानी कि वो अचानक गायब हो गया है। हालांकि पाकिस्तान में रहने वाले कुछ लोगों का कहना है कि 60-70 साल पहले भी ऐसी ही एक घटना घटी थी, जिसमें एक द्वीप का निर्माण हुआ था और फिर वो अचानक गायब हो गया था।







ये है भारत का सबसे रहस्यमयी कुंड, जहां ताली बजाते ही ऊपर उठने लगता है पानी


दुनिया में ऐसे कई जलकुंड हैं, जिनके रहस्य आज भी अनसुलझे हैं। एक ऐसा ही रहस्यमयी कुंड भारत में भी है। इस कुंड का रहस्य जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे और सोचेंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है। तो चलिए जानते हैं इस रहस्यमयी कुंड के बारे में...

ये रहस्यमयी कुंड झारखंड के बोकारो जिल में स्थित है। इसके बारे में कहा जाता है कि अगर आप कुंड के सामने ताली बजाएंगे तो पानी अपने आप ऊपर उठने लगता है। यह देखने में ऐसा लगता है जैसे किसी बर्तन में पानी उबल रहा है। इस रहस्य का पता आज तक भू-वैज्ञानिक भी नहीं लगा पाए हैं।

इसे दलाही कुंड के नाम से जाना जाता है। यह कंक्रीट की दीवारों से घिरा हुआ है। कहते हैं कि इस कुंड में से गर्मियों में ठंडा और सर्दियों में गर्म पानी निकलता है। यह भी एक रहस्य ही है।

लोगों की मान्यता है कि इस कुंड के पानी में नहाने से चर्म रोग दूर हो जाते हैं। भू-वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर इस कुंड के पानी से नहाने पर चर्म रोग दूर होते हैं तो इसका मतलब ये है कि इसमें गंधक और हीलियम गैस मिला हुआ है।

इस जगह पर हर साल मकर संक्रांति पर मेला लगता है। दूर-दूर से लोग यहां नहाने के लिए आते हैं। इस रहस्यमयी कुंड के पास ही दलाही गोसाईं नामक देवता का स्थान है, जहां हर रविवार को लोग पूजा करने के लिए आते हैं।





शिरडी में फिर हुआ चमत्कार, दीवार पर दिखी बाबा की छवि


शिरडी के साईं बाबा एक बार फिर से सुर्खियों में हैं. एक चमत्कार की खबर वहां से आ रही है. कुछ लोगों का दावा है कि साईं बाबा की तस्वीर मंदिर की दीवार पर उभर आई है. जिसे देखने के बाद कई भक्त भावुक हो गए. इसे देखने के लिए ही वहां भक्तों की भीड़ जमा हो गई और उसे देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी. रिपोर्ट के अनुसार, 11 जुलाई को रात करीब 11 बजकर 30 मिनट पर दर्शन के लिए द्वारकामाई मंदिर में पहुंचे भक्तों और श्रद्धालुओं ने यह दावा किया है. उनके अनुसार उन्हें दीवार पर साईं बाबा की छवि दिखाई दी है.

ये पहली बार नहीं है बल्कि इससे पहले 12 जुलाई को साईं बाबा की छवि दिखने की बात सामने आई थी. बता दें, शिरडी के साईं बाबा को एक चमत्कारी पुरुष और भगवान का स्वरुप माना जाता है. लेकिन आज भी साईं बाबा को लेकर कई सवाल रहस्य बने हुए हैं. लेकिन इतना समय बीत जानें के बाद भी बाबा के प्रति भक्तों में आस्था कम नहीं हुई. महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से 296 किलोमीटर की दूरी पर शिरडी में बाबा का मंदिर है.