Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts
Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts

Saturday, 19 October 2019

चंडीगढ़ पुलिस ने इस अंदाज में किया ट्रै‍फिक कंट्रोल, वीडियो वायरल


मोटर वीकल एक्ट देश में 1 सितंबर से लागू हो चुका है। इस नियम के बाद कई लोगों के भारी-भरकम चालान कटे हैं जिसके बाद उनके महीने का बजट खराब हो गया है। हालांकि कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इन नए मोटर वीकल एक्ट को बिल्कुल भी ध्यान से नहीं ले रहे हैं। चंडीगढ़ पुलिस ने एक नया तरीका निकाला है इन लोगों को जागरुक करने के लिए और ट्रैफिक को कंट्रोलन लाने के लिए।
चंडीगढ़ पुलिस का एक अनोखा वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में ता रा रा रा की धुन पर टैफिक पुलिस में तैनात एएसआई भूपिन्दर सिंह गाना गाते हुए नजर आ रहे हैं। भूपिन्दर सिंह इस वीडियो में लोगों को नो पार्किंग फॉलो करने के बारे में बता रहे हैं।
बीते गुरुवार को एक वीडियो ट्विटर पर यूजर ने शेयर किया। भूपिन्दर सिंह की आवाज और चंडीगढ़ पुलिस के इस अनोखे स्टाइल के बाद लोगों ने जमकर सराहना कर रहे हैं। चंडीगढ़ का ही यह वीडियो है।
इस वीडियो में चंडीगढ़ पुलिस की वैन भी दिखाई दे रही है जिसमें एक म्यूजिक सिस्टम नजर आ रहा है। वैन के आगे एएसआई भूपिन्दर सिंह माइक लेकर गाना गाते हुए नजर आ रहे हैं।
इससे पहले भी अपने गाने के अंदाज से एएसआई भूपिन्दर सिंह सुर्खियां बटोर चुके हैं। यातायात नियम सितंबर के महीने में लागू हुआ था उस समय उन्होंने इसकी जानकारी देने के लिए पंजाबी में गाना लिखा था और उसे गाया था। उनका वही वीडियो उस समय सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था।
इस गाने के बोल, सड़क ते एक्सिडेंट विच लोकी भोत मरदे सी, जुर्माना घट चालान दा सी, ओ कित्‍थे डरदे सी ओ नवे कानून दे लागू होण दा ऐलान हो गया है, फिर ना कहणा, मंहगा बड़ा चालान हो गया है.... रसोई घर विच राशन द नुकसान हो गया है।
युवकों को 18 साल से पहले गाड़ी ना चलाने की सीख चंडीगढ़ पुलिस इस गाने से दे रही है। गीत में बताया गया है कि उनके माता-पिता इस उल्लंघन से मुश्किल में आ सकते हैं।
भूपिन्दर सिंह के कई ऐसे और भी विडियोज फेसबुक पर हैं। इन सभी विडियोज में वह यातायात नियमों को लेकर युवाओं को जागरुक कर रहे हैं। अंदाज पुराना है लेकिन गाना गाकर समझा रहे हैं। 


इस खतरनाक विडियो को 5 Sec देखना भी है बेहद मुश्किल,अब इसे मिले 10 लाख से अध‍िक व्‍यूज


आपने अक्सर चूजों और पक्षियों को अंडे से बाहर निकलते हुए देखा होगा,लेकिन कभी मकड़ी के बच्चों को अंडों से बाहर आते हुए देखा है क्या? हम यह सवाल आपसे इसलिए पूछ रहे हैं क्योंकि हाल ही में इंटरनेट पर इस तरह का एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक एग केस है जिसमें मकड़ी के अंडे हैं। जब इस केस को खेलकर देखा तब इसमें से खूब सारी नन्हीं मकडिय़ां देखने को मिली। सुनने में भले ही आपको सब कुछ नॉर्मल सा लग रहा हो,मगर हम आपको यह पहले से ही बता रहे हैं कि कमजोर दिल वाले इस वीडियो को कताई न देखें।
बीते हफ्ते 10 अक्टूबर के दिन इस वीडियो को फेसबुक पेज पर ऑस्ट्रेलियाई रेप्टिले  पार्क ने शेयर किया है। उन्होंने इस वीडियो को शेयर करते हुए इसके साथ ही चेतावनी भी दी है कि इस वीडियो को कमजोर दिलवालें नहीं देखें।
वीडियो की शुरूआत काफी नॉर्मल सी लगती है,मगर जैसे ही अंडों का केस खुलता है। वैसे ही मामला थोड़ा गंभीर हो जाता है। क्योंकि इस केस में से ढेर सारी नन्हीं मकडिय़ों का गुछा बाहर निकलता है। बता दें कि चेतावनी देने के बाद भी खबर लिखे जाने तक इस वीडियो को 10 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है। वहीं इस दिल दहला देने वाले वीडियो को 8 हजार से ज्यादा लोग शेयर भी कर चुके हैं। वहीं वीडियो पर 3 हजार से ज्यादा रिएक्शन्स आ चुके हैं। 

16 दिन की बच्ची के सिर में था 4 किलो का ट्यूमर, 5 घंटे की सर्जरी के बाद मिली नई जिंदगी


सूरत में सिविल अस्पताल के डॉक्टर्स ने पांच घंटे की जटिल सर्जरी के बाद 16 दिन की नवजात बच्ची को नई जिंदगी दी। दरअसल, बच्ची को जन्म से ही ट्यूमर  था, जो रोजाना बढ़ रहा था। 16 दिन में ट्यूमर का वजन बढ़कर चार किलो का हो गया था। ट्यूमर के साथ बच्ची का दिमाग भी बाहर आ रहा था। बच्ची का जन्म उत्तर प्रदेश में अयोध्या के अस्पताल में हुआ, लेकिन उसे लखनऊ तक में भी इलाज नहीं मिल सका। इस कारण उसे सूरत के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टर्स की टीम ने पांच घंटे की जटिल सर्जरी कर ट्यूमर को निकाल दिया और नवजात को नई जिंदगी दी।
डॉ. जिगर शाह ने बताया कि ऑक्सीपिटन मेनिंगोमायसील ट्यूमर जन्म से ही होता है। करीब एक लाख केस में ऐसा एक मामला सामने आता है। ट्यूमर से ब्रेन स्टेम जुड़ गए थे। इसके अलावा दिमाग के जरूरी पार्ट्स भी इससे जुड़ते जा रहे थे। इससे दिमाग का हिस्सा ट्यूमर के साथ बाहर आता जा रहा था। डॉक्टरों ने कहा, यदि कुछ दिन बाद ऑपरेशन होता तो दिमाग पूरी तरह से ट्यूमर में चला जाता। सर्जरी के दौरान सिर के एक-एक लेयर खोलकर फालतू टिशू काटकर बाहर निकाले। इससे ब्रेन स्टेम का हिस्सा सुरक्षित बच गया और मासूम को नई जिंदगी मिल गई।
डॉक्टरों ने कहा- सर्जरी में बच्ची के बचने की सिर्फ एक फीसदी ही उम्मीद थी। उसे बचाने में हम सफल रहे। बच्ची के पिता राहुल मिश्रा ने बताया कि निजी अस्पताल में इस सर्जरी के पांच लाख रुपए मांग रहे थे। लेकिन यह सर्जरी मामूली खर्च में ही हो गई।

आखिर क्यों यहां चिकन से महंगा बिक रहा है चूहे का मांस, कारण जान रह जाएंगे हैरान


हमारे देश के भोजन में वेज और नॉनवेज दोनों का संगम देखने को मिलता हैं। देश की बड़ी तादाद नॉनवेज का शौक रखती हैं और इसमें सबसे ज्यादा चिकन और मटन पसंद किया जाता हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां चिकन से ज्यादा चूहे का मांस पसंद किया जाता हैं और यह चिकन से भी महंगा बिक रहा हैं। तो आइये जानते हैं इस पूरे मामले के बारे में।
मसालों की ग्रेवी के साथ बनाए जाने वाले इस व्यंजन को रविवार का स्वादिष्ट व्यंजन बताया जाता है। विक्रेताओं ने बताया कि यह व्यंजन उत्तर-पूर्वी इलाकों की कुछ जनजातियों का पारंपरिक व्यंजन है जो ब्रॉइलर चिकन की ही तरह 200 रुपए प्रतिकिलो बेचा जाता है। गुवाहाटी से 90 किलोमीटर दूर भारत-भूटान सीमा से लगे कुमारिकता के रविवार बाजार में लोग काफी संख्या में अपना पसंदीदा चूहे का मांस खरीदने के लिये आते हैं।
प्राप्त जानकारी अनुसार बाजार में चिकन और बकरे के मांस के मुकाबले चूहे का मांस ज्यादा लोकप्रिय है। चूहे बेचने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि पड़ोसी नलबाड़ी और बारपेटा जिले मांस का मुख्य स्रोत हैं।
अब आप सोच रहे होंगे की इतने चूहे आते कहा से है दरअसल स्थानीय किसान फसलों की कटाई के दौरान रात के समय बांस के बने चूहेदान में इन चूहों को कैद कर लेते हैं। एक चूहे का वजन एक किलो से ज्यादा होता है। चूहों को पकड़ने से किसान अपनी फसल को खराब होने से भी बचा लेते हैं। किसानों का दावा है कि चूहे पकड़ने से हाल के दिनों में उनकी फसल को होने वाले नुकसान में कमी आई है।
वही एक अन्य शिकारी की माने तो रात के समय जब वह अपने बिल के पास आते हैं, तब उनका शिकार किया जाता है। इस दौरान वह बिल के नजदीक लगाए गए चूहेदान में फंस जाते हैं। चूहे का मांस बेचने का काम अक्सर आर्थिक रूप से कमजोर समुदायों के लोग करते हैं, उनके लिये चाय बागान में काम करने के अलावा यह आमदनी का एक और जरिया है।

इस कुत्ते के हुनर को जानकर आप रह जाएंगे हैरान, देखें VIDEO


कुत्तों को हमेशा से ही इंसान का सबसे नजदीकी एवं वफादार जानवर माना जाता है। दरअसल, इंटरनेट पर एक कुत्ते का वीडियो काफी वायरल हो रहा है जिसमें वो अपने  सिर पर कई वस्तुओं को काफी सरलता से संतुलित कर लेता है।
उसके इस हुनर को लोग इंटरनेट पर काफी पसंद कर रहे हैं। कुत्ते के मालिक पॉल लावेरी हैं तथा उन्होंने अपने कुत्ते के सिर पर अनेक तरह के टॉय रखे जिसे उसने काफी सरलता से संभाल लिया।
ये कुत्ता सिर्फ खिलौने ही नहीं बल्कि पानी से भरे ग्लास, पिज्जा के टुकड़े, प्लांट पॉट, फल व अनेक वस्तुओं को भी बहुत सरलता से अपने सिर पर रख सकता है।

Friday, 18 October 2019

वैज्ञानिकों ने भी माना ये मॉडल है दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला


महिलाओं की खूबसूरती की बात आती है तो अक्सर मेकअप व कपड़ों की बात की जाती है लेकिन साइंस के अनुसार खूबसूरती यानि की फेस फीचर्स की परफेक्ट प्लेसमेंट से हैं। हाल ही में साइंस द्वारा भी माना गया है कि 23 साल की सुपर मॉडल बेला हदीद दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला हैं। उन्हें यह खिताब उनके चेहरे पर उनकी आंखें, नाक व होठों की परफेक्ट प्लेसमेंट के कारण दी गई है।
बेला हदीद की खूबसूरती  को गोल्डन रेशो ऑफ ब्यूटी फाई  के अनुसार कैलकुलेट किया गया है। ग्रीस के इस प्राचीन तरीके के अनुसार महिला के चेहरे पर आंखे, आईब्रोज, नाक, होंठ, जबड़ा, चिन व कान की जगह को निधारित किया गया है। इसी के अनुसार बेला के 94.35 फीसदी फीचर उसकी परफेक्ट जगह पर है। इतना ही नही उनकी चिन 99.7 फीसदी परफेक्ट प्लेस पर है। इन्हीं रेशों के चलते बेला हदीद के चेहरे को परफेक्ट निकाल कर विजेता घोषित किया गया है।
वहीं दूसरी तरफ लुक्स विभाग द्वारा बेला हदीद की इस जीत में उनकी नैचुरल ब्यूटी हाथ है क्योंकि बेला पर टीनएजर रहते हुए नोज व लिप जॉब करवाने, चेहरे में फिलर्स इंजेक्ट करवाने का आरोप लग चुका है। हालांकि बेला ने हमेशा इस मामलों में चुप्पी साध कर रखी थी।
दुनिया की सबसे खूबसूरत महिलाओं की लिस्ट में दूसरे नंबर पर अमेरिकी सिंगर बियॉन्से, तीसरे नंबर पर एक्ट्रेस व मॉडल हर्ड व चौथे नंबर पर अमेरिकी सिंगर व एक्ट्रेस एरियाना ग्रांडे रही हैं।




मां को लगा जन्म लेते ही हो गई है बच्चे की मौत, 30 साल बाद ऐसे हुई मुलाकात


मामला अमेरिका के कैलीफोर्निया शहर का है। जहां टीना बेजार्नो ने 17 साल की उम्र में एक बच्ची को जन्म दिया था, लेकिन अगले ही दिन टीना पता चला कि उसके बच्चे की जन्म के कुछ मिनट बाद मौत हो गई।
टीना को अपने बच्चे को खोने का बड़ा धक्का लगा लेकिन फिर भी दुखी मां अपनी मृत बच्ची की याद में हर साल उसका जन्मदिन मनाती रही। कुछ समय बाद टीना इरिक गार्डेरे नाम के शख्स को डेट करने लगीं। समय गुजरता गया और 30 साल बाद टीना को एक मेल मिला।
ये मेल टीना को न्यू जर्सी से भेजा गया था। शख्स ने दावा किया किया की टीना उसकी मां हैं। मेल ऑनलाइन में छपी खबर के मुताबिक टीना और क्रिस्टिन ने अपना डीएनए डाटाबेस कंपनी को दिया था। जहां जाकर ये मैच हो गया।
डीएनए टेस्ट की वजह से ये बात तो सबित हो गई की से बचपन में टीना का बच्चा मरा नहीं था,लेकिन वह बच्चा अब ट्रांसजेंडर के रूप में अपनी जिंदगी जी रहा है। दरअसल, टीना की मां उनकी प्रेगनेंसी के समय उनके सपोर्टिव नहीं थी और उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं करती थीं।
बच्चे के पैदा होते ही किसी अनजान ने उसे अडॉप्ट कर लिया और उसका लास वेगास में लालन पोषण हुआ। इस समय 29 साल की है। टीना का कहना है कि उन्हें फर्क नहीं पड़़ता है कि उनका बच्चा पुरुष के रूप में है या महिला के रूप में लेकिन वह बस इतना जानती हैं कि वह उनका बच्चा है।  

पिता ने बेटे के लिए दिखाया प्यार, 14 लाख में बनाकर रख दी लैंबोर्गिनी कार


यह पूरा मामला अमेरिका का है दरअसल अमेरिका के कोलोराडो में रहने वाले स्टर्लिंग बैकस का बेटा एक दिन वीडियो गेम खेल रहा था जिसमें लैंबोर्गिनी एवेंटाडोर कार का मॉडल था. उस गेम को खेलते समय स्टर्लिंग के बेटे ने उनसे सवाल किया कि डैड, क्या हम इसे बना सकते हैं. स्टर्लिंग को अपने बेटे के मासूम सवाल ने बहुत प्रभावित किया लेकिन उन्हें पता था कि वह पांच करोड़ की कीमत वाली लैंबोर्गिनी एवेंटाडोर खरीद नहीं सकते. स्टर्लिंग ने इस बारे में काफी सोचा और तभी उन्हें एक विचार आया कि वे कार खरीद तो नहीं सकते लेकिन बना तो जरूर सकते हैं.
आपकी जानकारी के लिए बता दे कि स्टर्लिंग बैकस, कोलोराडो के केएमलैब्स में चीफ साइंटफिक अफसर हैं. उन्होंने 3डी प्रिंटर का इस्तेमाल कर लैंबोर्गिनी एवेंटाडोर की एक हूबहू नकल तैयार कर ली. इसके लिए कई लोगों ने उनकी काफी तारीफ भी की. कार का 3डी मॉडल तैयार करने के बाद स्टर्लिंग के सामने चुनौती थी इसका ढांचा बनाने की जिसके लिए उन्होंने स्टील का चेसिस तैयार किया. इसमें उन्होंने 300 से भी अधिक हॉर्सपावर की ताकत वाला कॉर्वेट एलएस1 वी8 इंजन फिट किया. स्टर्लिंग के सामने अब सबसे बड़ी चुनौती थी कार की बॉडी बनाने के लिए मेटेरियल का चुनाव करना.
बता दे कि 3डी प्रिंटर के उपयोग से सिर्फ प्लास्टिक से बनी चीजें ही बनाई जा सकती हैं. प्लास्टिक के साथ सबसे बड़ी समस्या है कि सड़क पर गर्मी से इसके पिघलने का खतरा रहता है और स्टील की तरह यह टिकाऊ भी नहीं होता जिससे सुरक्षा पर खतरा भी बढ़ जाता है. इस परेशानी से निपटने के लिए स्टर्लिंग ने हर पार्ट के ऊपर कार्बन-फाइबर की परत चढ़ाई और उसके ऊपर पेंट किया जिससे यह कार हल्की और मजबूत बन सकें.
अगर आपको नही पता तो बता दे कि स्टर्लिंग की कार बनकर तैयार हो चुकी है और कमाल की बात यह है कि 5 करोड़ रुपए की लैंबोर्गिनी एवेंटाडोर बनाने में उनके सिर्फ 20,000 हजार डॉलर यानी लगभग 14.23 लाख रुपए ही खर्च हुए हैं.कार के बारे में बताते हुए स्टर्लिंग कहते हैं कि वह लैंबोर्गिनी एवेंटाडोर जैसी दिखने वाली कार बना रहे हैं और इस कार को बनाने का मकसद यह है कि वह इस कार को स्कूलों में ले जाकर विज्ञान,टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग, आर्ट्स और मौथमेटिक्स के छात्रों को दिखाना चाहते हैं ताकि यह छात्र उस कार से कुछ सीख सकें.

मि​लिए दुनिया की सबसे खूबसूरत बच्ची से, मात्र इतने साल है उम्र


हर साल सबसे सुंदर और बुद्धिमान की तलाश में दुनियाभर में प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है. इस प्रतियोगिता के बारे में आपने भी जरूर सुना और देखा होगा. बता दें कि इस प्रतियोगिता के द्वारा किसी एक महिला के सिर पर उस साल का सबसे सुंदर और बुद्धिमान होने का ताज पहनाया जाता है. लेकिन मात्र 6 साल की एक मासूम बच्ची को अभी से ही दुनिया की सबसे सुंदर बच्ची बना दिया गया है. यह बच्ची महज चार साल की उम्र से ही मॉडलिंग कर रही है.
आपकी जानकारी के लिए बता दे कि रुस के मॉस्को से संबंध रखने वाली यलीना कई फैशन कैंपेन का हिस्सा रही हैं. इसके अलावा यलीना ने बच्चों के कपड़ो के मशहूर ब्रांड मोनालिसा किड्स और ग्लोरिया जीन्स के लिए विज्ञापन भी कर चुकी हैं. विज्ञापन में यलीना अपनी मोहक मुस्कान के द्वारा सबका दिल जीत लेती हैं.
यलीना का इंस्टाग्राम अकाउंट खूबसूरत तस्वीरों से भरा हुआ है. उनकी हर तस्वीर को हजारों लाइक्स मिलते हैं. बता दें कि इनकी फैन फॉलोइंग केवल रुस में ही नहीं बल्कि अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी समेत पूरी दुनिया में है. यलीना के फॉलोअर्स सिर्फ उनकी तस्वीरों को लाइक ही नहीं करते हैं बल्कि उस पर प्यार से भरे हुए टिप्पणी भी करते हैं.

सब्जी खरीदने गई थी महिला, इस तरह अचानक बन गई करोड़पति, जानिए कैसे...


अमेरिका के मैरीलैंड की रहने वाली एक औरत का नसीब ऐसे चमका है कि जिसके बारे में जानकर आप चौंक  जाएंगे। दरअसल, वनिस्सा नाम की ये औरत सब्जी लेने फूड स्टोर गई थी।
बाजार से गोभी खरीदने गई महिला को रास्ते में पता नहीं क्या सूझा कि उसने लॉटरी की दुकान से एक लॉटरी की टिकट खरीद डाली। वहां लगी भीड़ को देख उनके मन में लॉटरी का टिकट खरीदने की तमन्ना जागृत हुई।
उन्होंने लाइन में लगकर टिकट खरीदी तथा घर आ गई। तत्पश्चात महिला ने लॉटरी का टिकट स्क्रैच किया तो वो दंग रह गई। उन्हें विश्वास ही नहीं हो रहा था कि उन्होंने लॉटरी के टिकट की सबसे हाई प्राइस मनी जीत में प्राप्त ही है।
उन्होंने लॉटरी के टिकट से 2,25000 डॉलर ,1.5 करोड़ रुपए, की इनामी राशि प्राप्त की। महिला के मुताबिक, वे लॉटरी में जीती धनराशि को सेवानिर्वत हेतु बचाकर रखना चाहती हैं। उनका बचपन से डिजनी वर्ल्ड घूमने का स्वप्न था।



अचानक सफारी गाड़ी सामने आने से भड़का शेर, करने लगा पीछा और फिर...


अक्सर लोगों की ये इच्छा रहती है कि वो शेर या फिर बाघ को सामने से देखें एवं इसलिए वो जंगल का सफर  करने हेतु जाते हैं, लेकिन आपकी जानकारी हेतु बता दें कि  कर्नाटक के बेल्लारी में मौजूद 'अटल बिहारी वाजपेयी जूलॉजिकल पार्क' में कुछ पर्यटक सफारी हेतु जंगल में गए थे, जहां एक शेर अकस्मात ही उनका पीछा करने लगा।
यह देखकर लोगों की सांसें अटक गई। हालांकि शेर जैसे ही उनके नजदीक पहुंचा, ड्राइवर ने गाड़ी की रफ्तार में वृद्धि कर ली एवं बहुत आगे निकल गए।
पश्चात में ड्राइवर ने गाड़ी धीरे कर ली, क्योंकि उसे लगा कि अब शेर पीछे छूट गया है, किन्तु कुछ ही देर में वो फिर से उनके पीछे आ जाता है। ये देखकर ड्राइवर दोबारा से गाड़ी भगाने लगता है।
बता दें कि इस वारदात का वीडियो इंटरनेट पर काफी वायरल हो रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो, वीडियो को गाड़ी में बैठे एक पर्यटक ने ही तैयार किया है, जिसे अब तक 60 हजार से भी अधिक बार देखा जा चुका है।



कुत्ते की चालाकी से बची उसके दो बच्चों की जान, इंटरनेट पर सेंसेशन बन गया है यह वायरल वीडियो


सोशल मीडिया पर कुत्ते का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वो अपने पिल्लों को खोजती हुई नजर आ रही है। क्योंकि उसके बच्चे एक मकान के मलबे में दब गए थे। मलबे में दबे अपने पिल्लों को बचाने के लिए कुत्ता वहीं खड़ा जमीन खोद रहा होता है लेकिन पत्थर होने की वजह से वह ज्यादा कुछ नहीं पा रहा था। इसी बीच एक शख्स जिसको इस घटना के बारे में पता चलता है वो वहां पहुंचता है और फिर पिल्लों को बाहर निकालने में मदद करता है।
बचाव दल को उस कुत्ते के बारे में पहले से सतर्क किया गया था । जैसे ही बचाव दल का एक व्यक्ति मौके पर पहुंचता है कुत्ता उसे देखकर मदद के लिए दौड़ पड़ता है। वीडियो देखकर आप भी हैरान रह जाएंगे कि किस तरह से वो अपने बच्चे को खोजने में मदद करती है। कुत्ता उस शख्स को बताते हुए नजर आ रहा है कि उसके पिल्ले कहां पर दबे हुए हैं। जैसे-जैसे वो उस जगह पर जमीन को खोदती है बचाव दल का साथी वहां पर पड़े पत्थर को बाहर निकालता है। कुत्ते को उसे पंजे से खोदते, पत्थरों पर काटते और मलबे पर आंसू बहाते देखा जा सकता है। जल्द ही, टीम ने मदद के लिए बच्चों को रोते हुए सुना। अंत में सभी पिल्लों को बचा लिया गया था, पिल्लों को जिंदा देख कुत्ते की घबराहट भी कम हो गई। इसके बाद बचाव दल के सदस्य ने पिल्लों को एक सुरक्षित स्थान पर ले गया और वहीं पर रख दिया। कुत्ते को खाने के लिए बिस्कुट भी दिया।

सुबह ही महिला के बाथरूम में आ बैठता है सांप, पहले दिन पकड़वाया, दूसरे दिन फिर कमोड पर मिला


क्या आपने कभी सोचा है कि सुबह-सुबह उठकर आप बाथरूम जाएं और वहां आपको सांप नजर आ जाए। सोचिए, ऐसा कुछ होता है तो आपका क्या हाल होगा। सुनने में ही ये कितना डरावना लगता है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि एक महिला के साथ कुछ ऐसा ही हुआ है। वो भी एक बार नहीं बल्कि दो दिन में लगातार दो बार। खबर के मुताबिक, इस महिला को अपने बाथरूम में लगातार दो दिन में दो बार सांप मिले, वो भी कोई सामान्य सांप नहीं बल्कि वो अजगर थे। इन अजगर को देखकर महिला की चीख निकल गई, फिर क्या हुआ जानिए।
छपी खबर के मुताबिक, महिला अपने घर पर थी, शुक्रवार का दिन था। इसी दौरान जब वो अपने बाथरूम में गई तो उसकी चीख ही निकल गई। दरअसल बाथरूम में उसे एक बड़ा सा काला अजगर नजर आया। इस अजगर को देखते ही महिला की चीफ ही निकल गई। उसे समझ नहीं आया कि आखिर वो क्या करे। मारे डर के उसने किसी तरह से हिम्मत दिखाया ओर स्नेक रिमूवल्स को कॉल किया। जल्दी ही स्नेक रिमूवल्स की टीम वहां पहुंची और इस अजगर को लेकर गई, इसके अगले दिन इस महिला को फिर से अपने बाथरूम में अजगर दिखाई दिया। इस बार तो महिला बुरी तरह से कांप गई। उन्होंने फिर स्नेक रिमूवल्स की टीम को बुलाया और दूसरे अजगर को भी किसी तरह से अपने बाथरूम से बाहर निकलवाया।
अब चौंकाने वाला वाक्या ऑस्ट्रेलिया का है। जिस महिला की ये आपबीती है उनका नाम निकोल एरे है, जो कि केयर्न्स की रहने वाली हैं। वो शुक्रवार को अपने घर पर रूकी हुई थी। इसी दौरान जब वो बाथरूम में गई तो उन्हें अजगर दिखाई दिया। ये अगर टॉयलट पॉट के अंदर छिपा हुआ था। 'डेली मेल' से बात करते हुए निकोल ने बताया, ''मैं काम से लौटी थी, और मैं बाथरूम में गई। टॉयलेट पॉट खुला हुआ था... मुझे वहां काले रंग का बेहद अजीब सा कुछ नजर आया..."। जब उन्होंने गौर से देखा तो ये अजगर था। निकोल ने तुरंत ही केयर्न्स स्नेक रिमूवल्स को कॉल किया, जिन्होंने इस काले अजगर को बाहर निकाला। यही नहीं निकालने से पहले उन्होंने ये तस्वीरें शेयर कीं, उन्होंने इसे फेसबुक पर भी पोस्ट किया।



अचानक दिखा 13 फुट का किंग कोबरा तो मचा हड़कंप, ऐसे किया काबू


सांप का नाम सुनकर अकसर ही लोगों की हालत खराब हो जाती है। ऐसे में अगर किसी के सामने अचानक ही बड़ा सा किंग कोबरा नजर आ जाए तो सोचिए उसका क्या हाल होगा। ऐसा ही मामला सामने आया जिसमें एक सीवर के अंदर करीब 13 फुट लंबा किंग कोबरा दिखाई दिया। जैसे ही लोगों की नजर इतने लंबे किंग कोबरा पर पड़ी, हड़कंप मच गया। तुरंत ही लोगों ने इसे पकड़ने की कवायद शुरू की। मामले की जानकारी सांप पकड़ने वाले रेस्क्यू फाउंडेशन को दी गई। इसके बाद क्या हुआ, कैसे इतने लंबे किंग कोबरा को काबू किया गया, जानिए।
पूरा मामला दक्षिणी थाईलैंड के एक सीवर का है। जानकारी के मुताबिक, स्थानीय लोगों ने सीवर में 4 मीटर यानी करीब 13 फुट लंबा किंग कोबरा देखा तो उन्होंने तुरंत ही इसकी जानकारी सांप पकड़ने वाले रेस्क्यू फाउंडेशन को दी, इसके बाद राहत और बचाव दल ने मंगलवार को करीब एक घंटे की मशक्‍कत के बाद इस किंग कोबरा को नाले से बाहर निकाला। इस दौरान जिस टीम ने ये रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया उनका कहना है कि उन्‍होंने इतना लंबा किंग कोबरा पहली बार देखा है।
पूरे मामले में सामने आए वीडियो को देखें तो कोबरा लगातार नाले में दिखाई दे रहा है, वो एक पाइप के अंदर घुसता दिखाई देता है। हालांकि तुरंत ही राहत और बचाव दल उसे कई बार बाहर निकालने की कोशिश करते हैं। बचाव दल के एक सदस्‍य ने ड्रेनेज पाइप के अंदर घुस रहे दुनिया के सबसे जहरीले सांप किंग कोबरा का पीछा किया। कोबरा बार-बार पानी के अंदर छिप रहा था और फिर पाइप में जाने की कोशिश कर रहा था, लेकिन कई कोशिशों के बाद आखिरकार बचाव दल के सदस्य ने उसे पकड़ने में कामयाबी हासिल कर ली।
बताया जा रहा कि हाउसिंग एस्टेट के एक सिक्युरिटी गार्ड ने सबसे पहले इस कोबरा को देखा और फिर मामले की जानकारी रेस्क्यू ग्रुप को दी गई। इसके बाद रेस्क्यू फाउंडेशन के सात कार्यकर्ता इस कोबरा को पकड़ने के लिए मौके पर पहुंचे। रेस्क्यू टीम के सदस्यों के मुताबिक, जिस कोबरा को उन्होंने पकड़ा वो करीब 4 मीटर लंबा था। इसका करीब 15 किलो था। माना जा रहा कि ये तीसरा सबसे लंबा कोबरा था। सीवर से इसे निकालने के बाद जंगल में ले जाकर छोड़ दिया गया।










Thursday, 17 October 2019

दिल्‍ली के चिड़‍ियाघर में शेर के बाड़े में घुस गया शख्‍स, सहलाने लगा जंगल के राजा के बाल, देखें वीडियो


दिल्ली के चिड़ियाघर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक शख्स शेर के बाड़े में घुस गया और उसके सामने बैठ गया. इस दौरान शेर ने उसकी ओर झपटने की भी कोशिश की लेकिन शख्स को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. मिली जानकारी के मुताबिक शख्स को कोई चोट नहीं लगी है और उससे निज़ामुद्दीन थाने में पूछताछ की जा रही है. पुलिस का कहना है कि शख्स की मानसिक हालत ठीक नहीं है. इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर भी लोगों की प्रतिक्रियाएं सामने आने लगी हैं. कुछ लोग इसे शख्स की हिम्मत बता रहे हैं, वहीं कुछ लोगों ने इसे पागलपन करार दिया.
इसी महीने की शुरुआत में अमेरिका के न्यूयॉर्क के ब्रॉन्स जू में भी ऐसी ही घटना हुई थी. एक महिला मस्ती-मस्ती में शेर के बाड़े में कूद गई थी, जब शेर सामने आया तो वो उसे चिढ़ाने लगी. लेकिन कुछ देर बाद लड़की सही सलामत वापस आ गई.
सोशल मीडिया पर ये वीडियो बहुत वायरल हुआ था. लोग लड़की की खूब आलोचना कर रहे थे. शेर को सबसे खतरनाक जानवर माना जाता है. उसके बावजूद ये लड़की मस्ती करने के लिए शेर के बाड़े में कूद गई थी.

Wednesday, 16 October 2019

खुद को साईबोर्ग बना चुका हैं ये शख्स, जानिए इनके बारे में...


इंग्लैंड के वैज्ञानिक डॉ. पीटर बी. स्कॉट मॉर्गन स्वयं को साईबोर्ग बना चुके हैं। उन्होंने ये निर्णय तब लिया जब दो वर्ष पूर्व उन्हें पता चला कि वे मोटर न्यूरॉन रोग से पीड़ित हैं। ये मांसपेशियों का गंभीर रोग है जिसमें मांसपेशियां धीरे-धीरे काम करना बंद कर डालती है।
बता दें कि 61 साल के स्कॉट मॉर्गन ने मौत के सामने घुटने टेकने के बजाय सोचा कि क्यों न विज्ञान की सभी सीमाओं को पार किया जाए। उन्होंने स्वयं को पूरी तरह से रोबोट बनाने हेतु विज्ञान को सौंप दिया है। उनकी ये तमन्ना हैं कि जब वे पूरी तरह से साईबोर्ग बन जाएं तो लोग उन्हें पीटर 2.0 बोलकर बुलाएं।
जानकारी के मुताबिक, मॉर्गन स्कॉट दुनिया के पहले ऐसे शख्स हैं जिनके शरीर के तीन भाग मैकेनिकल हो चुके हैं। इसके लिए जून 2018 में अनेक ऑपरेशन हुए।
पहला- गैस्ट्रोटोमी - मतलब खाने की एक ट्यूब सीधे उनके पेट से जोड़ दी गई है, जिससे भोजन सीधे उनके पेट में जाए। दूसरा - सिस्टोटोमी - ब्लैडर से कैथेटर जोड़ दिया गया है, जिससे उनके पेशाब साफ हो पाए। तीसरा - कोलोस्टोमी - एक वैक्यूम क्लीनर जैसा वेस्ट बैग उनके कोलोन से जोड़ दिया गया है, जिससे उनके मल की सफाई हो पाए। चौथा - फेफड़ों में सांस लेने हेतु सीधी नली लगी है। साथ ही, कुछ और ऑपरेशन करने हेतु सबसे बेहतरीन रोबो साइंटिस्ट्स ने जुटे. पीटर के चेहरे को आकार देने वाली सर्जरी भी की गई।
मॉर्गन स्कॉट ने अपनी वेबसाइट पर लिखा है कि मैं पीटर 2.0 बनने जा रहा हूं। 13.8 बिलियन सालों में पूर्व बार कोई इंसान इतना एडवांस रोबोट बन रहा है। मेरे शरीर में हार्डवेयर, वेटवेयर, डिजिटल एवं एनालॉग हो जाएगा। मुझे मालुम है कि बतौर मानव मैं मर चुका होउंगा, परन्तु एक साईबोर्ग जैसे जीवित रहूंगा।



महिला ने एक साथ दिया 3 बच्चों को जन्म, पूरी कहानी जानकर रह जाएंगे दंग


आज हम आपको एक ऐसे मामले के संबंध में बताएंगे जिसे जानकर आप चौंक जाएंगे। दरअसल, ये मामला ब्राजील के साओ पाउलो का है, जहां पिछले साल डॉक्टर रॉड्रिगो फिल्हो ऑपरेशन से एक महिला की डिलीवरी करा रहे थे।
इसी वक्त महिला ने एक साथ 3 बच्चों को जन्म दिया। खबरों के मुताबिक, 3 बच्चों में से पहले बच्चे ने तो साधारण तरीके से जन्म लिया था परन्तु बाकी के 2 बच्चे एक पर्दे के साथ जन्मे, जिसे एम्नियॉटिक सैक कहते है।
डॉक्टर के मुताबिक, पहला पुत्र एम्नियॉटिक सैक के साथ पेट से बाहर आया, परन्तु बाहर आते ही उसका ये सैक फट गया तथा वो आजाद हो गया। परन्तु जब बारी तीसरे बच्चे की आई तो वो अभी भी एम्नियॉटिक सैक से कवर था।
पेट से बाहर आने के बाद ही वो बहुत गहरी नींद में थी। डॉक्टर के मुताबिक, हम ऐसे सैक काटकर उसकी नींद खराब नहीं करना चाहते थे। हम उसे प्यार से सहलाते रहे व उसके जगने का इंतजार करते रहे।
फिर करीबन 7 मिनट के बाद जब बच्ची नींद से जागी तो उसका एम्नियॉटिक सैक काटा गया तथा उसे अपनी माता व शेष दोनों भाइयों ले साथ लिटाया गया।


इस बंदर ने लोगों को दी पानी बचाने की खास सीख, लीक पाइप को ऐसे फिक्स करता दिखा, देखें वीडियो


दुनिया में जल को बचाने के लिए जल संरक्षण, पानी बचाओ, रेन वॉटर हार्वेस्टिंग ये बातें हर तरफ की जा रही हैं। आज के समय में सबसे बड़ी परेशानी जल संकट बन गई है। बता दें कि इस समस्या को खत्म करने के लिए कुछ देशों में जलशक्ति मंत्रालय बनाए गए हैं। इन सबके बाद भी कई ऐसे मूर्ख लोग दुनिया में हैं जो पानी की इस समस्या को गंभीर रूप से नहीं ले रहे हैं।
इसी बीच एक बंदर का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में बंदर लीक हो रही पाइप में पानी को रोकने की हर संभव कोशिश करता हुआ दिखाई दे रहा है। इस वीडियो को ट्विटर पर निहारिका सिंह पंजेता नाम की एक यूजर ने शेयर किया है और यह वीडियो 14 सेकेंड का है।
वीडियो में दिखाई दे रहे इस बंदर ने हम सबको प्रेरित किया है। जिस तरह से इस बंदर को पानी की अहमियत समझ में आ गई काश हम इंसानों को भी यह समझ में आ जाए कि पानी जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है। सोशल मीडिया पर इस बंदर का यह वीडियो देखने के बाद यूजर्स ने इसे असली हीरो बता दिया है। हर किसी के मन में एक ही सवाल इस वीडियो को देखकर आया है कि जानवरों की तरह हम इंसान संवेदनशील कब बनेंगे।
ट्विटर पर निहारिका सिंह पंजेता नाम की यूजर ने इस वायरल वीडियो को पोस्ट किया है। इस वीडियो के साथ निहारिका ने कैप्‍शन में लिखा है कि, जानवर कितना कुछ कर रहे हैं। लेकिन पता नहीं हम इंसानों को क्या हुआ है, जो वह अब भी नहीं समझ रहें।
बता दें कि बॉलीवुड अभिनेता रणदीप हुड्डा ने भी कुछ समय पहले ऐसे ही एक बंदर का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। उन्होंने वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा था कि, जब ये भाई कर सकता है, तो हम क्यों नहीं। पानी बचाओ।
इस वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कैसे बंदर टूटे हुए पाइप से पानी को रोकने की कोशिश कर रहा है। टूटे पाइप को फिक्स करने के लिए बंदर सूखे पत्तों को पाइप पर लगाता हुआ नजर आ रहा है ताकि पानी आना बंद हो जाए। अब तक 3000 से ज्यादा व्यूज इस वीडियो को मिल गए हैं साथ ही 500 से ज्यादा लोगों ने इसे पसंद किया है। 

सोशल मीडिया पर बत्तखों का ये झूला झूलते हुए वीडियो हुआ वायरल, लोग हुए दीवाने


सोशल मीडिया पर आए दिन कुछ न कुछ वायरल होता ही रहता है। खासतौर ट्विटर पर लोग किसी भी तरह के वीडियो शेयर कर देते हैं जिनके बाद वह कुछ ही मिनटों में वायरल हो जाते हैं। ऐसा ही एक वीडियो कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर अपलोड किया गया था। उस वीडियो में कुत्ते से बचने के लिए एक बत्तख मरने की एक्टिंग कर रहा था।
सोशल मीडिया यूजर्स को यह वीडियो खूब पसंद आया था और जमकर वायरल हो गया। इस वीडियो को देखने के बाद बत्तख को कुछ लोगों ने ऑस्कर अवॉर्ड देने की बात भी बोल दी थी। इसी बीच सोशल मीडिया पर बत्तखों का एक और वीडियो आया है।
इस वीडियो में बत्तख स्लाइडिंग वाला झूला झूलती हुई नजर आ रहीं हैं। यह वीडियो ट्विटर पर अपलोड किया गया है और 21 सेकेंड का यह वीडियो जमकर वायरल हो गया है। इस वीडियो में बत्तख बिल्कुल छोटे बच्चों जैसी हरकत कर रहें हैं जो बहुत ही खूबसूरत लग रहा है। बत्तखों के इस वीडियो के सोशल मीडिया यूजर्स दीवाने हो गए हैं।
ट्विटर पर इस वीडियो को वायरल वीडियोज नाम के एक यूजर ने पोस्ट किया है। अब तक साढ़े चार लाख से ज्यादा लोगों ने इस वीडियो को देख लिया है साथ इसे 24 हजार से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है। इस वीडियो को रीट्वीट लगभग सात हजार लोगों ने कर दिया है। 
इस वीडियो में एक झूला दिखाई दे रहा है और उसमें पानी बहता नजर आ रहा है। इस वीडियो में नजर आ रहा है कि कैसे झूले पर छोटी-छोटी बत्तखें ऊपर जा रही हैं फिर फिसलते हुए झूले से नीचे आ रही हैं। एक व्यक्ति भी वीडियो में दिखाई दे रहा है जो उन बत्तखों को झूला रहा है।


अमेरिका के एयरपोर्ट पर एक शर्मनाक घटना का शिकार हुई महिला, जांच के दौरान उतार ली गई पैंट व अंडरवियर


हाल में अमेरिका के एयरपोर्ट पर जांच के दौरान ज़ैनब की पैंट और अंडरवियर तक उतार ली गई, क्योंकि उन्होंने सैनिटरी पैड्स पहने हुए थे। अमेरिकी मुस्लिम नागरिक जैनब मर्चैंट को जांच अधिकारियों ने वह पैड भी दिखाने के लिए कहा जो वह इस्तेमाल कर रही थीं।
27 वर्षीय जैनब ने जांच अधिकारियों को बताया कि वह पीरियड्स में है और उन्होंने पैड पहना हुआ है तो उन्हें यह साबित करने के लिए कहा गया जिसके बाद उनकी एडिशनल स्क्रीनिंग हुई, जिसमें जैनब को कथित तौर पर अपनी पैंट और अंडरवियर उतारकर पैड दिखाने के लिए कहा गया।
हार्वर्ड से ग्रैजुएट 27 वर्षीय जैनब मर्चैंट ZR स्टूडियोज की CEO हैं जोकि राजनीति और संस्कृति से जुड़ी एक मल्टीमीडिया साइट है। 3 बच्चों की मां जैनब पर कुछ अनजान कारणों की वजह से हर वक्त नजर रखी जाती है या फिर ऐसा भी कह सकते हैं कि फैडरल वॉच लिस्ट में उनका नाम शामिल है।
27 वर्षीय जैनब ने जांच अधिकारियों को बताया कि वह पीरियड्स में है और उन्होंने पैड पहना हुआ है तो उन्हें यह साबित करने के लिए कहा गया जिसके बाद उनकी एडिशनल स्क्रीनिंग हुई, जिसमें जैनब को कथित तौर पर अपनी पैंट और अंडरवियर उतारकर पैड दिखाने के लिए कहा गया।
हार्वर्ड से ग्रैजुएट 27 वर्षीय जैनब मर्चैंट ZR स्टूडियोज की CEO हैं जोकि राजनीति और संस्कृति से जुड़ी एक मल्टीमीडिया साइट है। 3 बच्चों की मां जैनब पर कुछ अनजान कारणों की वजह से हर वक्त नजर रखी जाती है या फिर ऐसा भी कह सकते हैं कि फैडरल वॉच लिस्ट में उनका नाम शामिल है।