Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts
Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts

Sunday, 26 January 2020

डायबिटीज रोगियों के लिए धीमा जहर है ये 4 आहार, शुगर को नियंत्रित कर पाना मुश्किल


आज हम आपको कुछ ऐसे आहार के बारे में बताने जा रहे हैं जो डायबिटीज रोगियों के लिए धीमा जहर का काम करते हैं। तो आइये जानते है उन आहार के बारे में।
आलू

आलू एक ऐसी सब्जी है जिसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पोटेशियम, फाइबर, विटमिन सी, विटमिन बी, कॉपर, ल्यूटिन और मैंगनीज भरपूर मात्रा में उपल्बध होता है। आलू का सेवन त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन इतने गुणों से परिपूर्ण होने के बाद भी डायबिटीज के मरीजों के लिए ये नुकसानदायक होता है। आलू में कार्बोहाइड्रेट की उच्च मात्रा के साथ ग्लाइसेमिक इंडेक्स का लेवल भी ज्यादा होता है जो रक्त में शर्करा की मात्रा बढ़ा देता है।

फैट मिल्क

दूध में पोषक तत्वों की संतुलित मात्रा होती है। इस वजह से सभी व्यक्तियों को अपने आहार में दूध शामिल करने की सलाह दी जाती है। लेकिन डायबिटीज के मरीजों को फैट मिल्क से बचना चाहिए। फैट शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ा सकता है। फुल फैट वाले दूध की जगह आप लो फैट वाले दूध का इस्तेमाल कर सकते हैं।
चीकू

मधुमेह रोगियों को अपने आहार से चीकू को दूर ही रखना चाहिए। यह फल बहुत ही मीठा होता है और इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी बढ़ा हुआ होता है। इसका सेवन करने से शुगर का लेवल बढ़ जाता है।

किशमिश

डायबिटीज के मरीजों को ड्राई फ्रूट्स खाने से भी बचना चाहिए। खासकर किशमिश खाने से परहेज करना चाहिए क्योंकि यह ताजे फलों का कांसन्ट्रेटिड फॉर्म होता है। जहां एक कप अंगूर में महज 27 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है तो वहीं एक कप किशमिश में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बढ़कर 115 ग्राम हो जाती है। इस वजह से डायबिटीज मरीजों को किशमिश का सेवन नहीं करना चाहिए।

सफर के दौरान आती है उल्टियां, तो अपनाए ये तरीका मिलेगी राहत


बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हे सफर करते समय दर्द या उल्टियों की शिकायत रहती है। इसलिए वह सफर से बचते हैं, अगर आपको भी यही दिक्कत है तो आप इन टिप्स को अपनाकर अपने सफर को अच्छे से पूरा कर सकते हैं। अगर कार में सफर करने से परेशानी होती है, तो हल्की और गहरी सांस लेते रहें। ऐसा करने से आपको बैचेनी नहीं होगी। हमेशा कार की आगे वाली सीट पर बैठें। अगल-बगल न देखकर अपना ध्यान सामने की तरफ रखे।
एक आसान उपाए है जो मोशन सिकनेस को कम करता है वो है पिपरमिंट। पिपरमिंट के आयल की कुछ बूंदे रुमाल में डालकर उसे सूंघते रहे। इसके इलावा मिंट की चाय पीने से भी सकून रहेगा। साथ ही अदरक की गोलियां, टॉफी या फिर अदरक की चाय भी कारगर होती है। सफर के दौरान पढ़ने लिखने से बचें। इससे अच्छा होगा कि आप गाने सुने। सिर को सीट से चिपकाकर आराम की मुद्रा में बैठे। खिड़की खोलकर रखे क्युकी हवा लगेगी तो आराम रहेगा।
अगर इन सब बातों से भी आराम न मिले, तो डॉक्टर से मिलकर जानकारी हासिल करें और दवा का सेवन करें।

जब लेडी कांस्टेबल को हुआ हत्यारे कैदी से प्यार, ज़मानत दिलाकर रचाई शादी..


कुछ महीने पहले रियल में अजब प्रेम की गजब कहानी देखने को मिली थी। जिसमे एक महिला कांस्टेबल का दिल गैंगस्टर पर आ गया था। वह उसकी इस कदर दीवानी हुई कि, दोनों ने आपस में शादी रचा ली। गैंगस्टर और पुलिस के बिच हुई इस शादी के चर्चे दूर दूर तक हुए। चलिए आपको बताते हैं कानून के रखवाले और अपराधी के बीच की ये प्रेम कहानी कैसे शुरू हुई।
राहुल नाम का युवक दनकौर कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर है। और कॉन्स्टेबल युवती ग्रेटर नोएडा में ड्यूटी कर रही थी। जेल में होने के दौरान जब राहुल पेशी पर आता तो उसे कोर्ट के बंदी गृह में रखा जाता था। वहीं पर इस महिला पुलिसकर्मी की ड्यूटी लगी हुई थी। वही दोनों की आपस में दोस्ती हो गई, जोकि कुछ समय बाद प्यार में बदल गई। जब राहुल जमानत पर बाहर आया तो दोनों ने शादी रचा ली।
राहुल दुजाना गैंग से जुड़ा हुआ है और वह एक शार्प शूटर है। 2014 में उसने बिजनसमैन मनमोहन गोयल की हत्या हुई थी। बाद में खबरें आई थीं कि वह हत्या जमीन से जुड़े विवाद में अनिल दुजाना ने ही करवाई थी। उस पर किसी वक्त 5 हजार रुपये का इनाम भी रखा गया था।

80‍ डिग्री तक मुड़ा हुआ था बच्चे का सिर, फिर इस महिला ने जो किया नहीं होगा विश्वास


अक्सर दुनिया में कई बड़े अजीब मामले देखने को मिलते हैं। जिसे देखकर विश्वास करना मुश्किल होता है। पर वो होता हकीकत है। आज भी एक ऐसी ही घटना के बारे में आपको बताएंगे। मामला मध्‍यप्रदेश के एक गांव के रहने वाले 13 वर्षीय महेन्‍द्र के संबंध में है। जिसका सिर 180‍ डिग्री तक मुड़ा हुआ था,फिर एक महिला दवारा कुछ ऐसा किया गया जिससे उसका मुड़ा हुआ सिर ठीक हो गया। अब दुनिया भर से इस महिला को बधाई दी जा रही है।
13 वर्षीय महेन्‍द्र का बचपन से ही कंजेनिटल मायोपथी नाम की एक बेहद दुर्लभ अवस्था से परेशान था, इस अवस्था से बच्चे की गर्दन और सिर 180 डिग्री पर मुड़े हुए थे, जिस वजह से वह कुछ नहीं कर पाता था। वह हमेशा अपनी मां पर निर्भर रहता था। स्कूल नहीं जा पता था न ही दोस्तों के साथ खेल सकता था। लेकिन जब वह ज़ादा ही परेशान हो गया तो ऊपरवाला ने फरिश्ता बनाकर महेंद्र के जीवन में भी एक फरिश्‍ते भेज दिया। UK से जूली जोंस आई जिन्होंने कुछ ऐसा किया और बच्चा ठीक हो गया।
बताया जा रहा है कि जूली जोंस ने इस लड़के की मदद करने की ठान ली थी और उन्होंने ऑनलाइन एक क्राउड फंडिंग पेज बनाया और 9 लाख रूपये जमा किये। लेकिन उन्हें इस बात से निराशा हुई कि इतनी गंभीर बीमारी से जूझ रहे बच्‍चे लेकिन ईलाज के लिये कोई आगे नही आ पा रहा। रीढ़ की हड्डी के सर्जन डॉक्‍टर राजागोपालन कृष्‍णन महेन्‍द्र का ऑपरेशन दिल्ली में करने वाले थे। अब इस बच्‍चे का पहला ऑपरेशन महिला दवारा हो चुका है पर रीढ़ की हड्डी को ठीक होने में अभी समय लगेगा,इसके पश्‍चात यह भी बच्‍चा आम बच्‍चों की तरह खेल सकता है और पढ़ाई कर पायेगा।

तेज़ प्रेशर लगते ही जैसे टॉयलेट में पेंट खोलकर बैठा, तभी हुई मौत से मुलाकात


टॉयलेट जहां जानकर इंसान काफी हल्का फील करता है। सोचा अगर वहां कुछ ऐसा हो जाये जिससे मौत का मंज़र नज़र आ जाए तो कैसा होगा। सोचकर देखिये आपको बहुत तेज़ टॉयलेट लगी है, और आपको बाथरूम जाकर हल्का होना हो। लेकिन वहां आपका स्वागत एक ज़हरीला सांप करे तो, तो क्या होगा ? ऐसा ही कुछ कुछ हुआ बैंकॉक में रहने वाले एक व्यक्ति के साथ।
यहां आदिसक थानॉसिल नाम के शख्स ने अपने फेसबुक पोस्ट में खुद के साथ हुई घटना की एक तस्वीरें पोस्ट की है। थानॉसिल दवारा तीन तस्वीरें शेयर की गई। उन्होंने पोस्ट में लिखा कि उसे अर्जेन्ट बाथरूम जाना था। इसके लिए वो घर के गेराज के पास बने बाथरूम में चला गया। वहां जैसे ही उसने पेंट उतारे, उसे कुछ अजीब लगा। जब उसने गौर से कमोड के नीचे झांका, तो वहां काले रंग का एक कोबरा छिपकर बैठा था।
आदिसक के बताया, अगर वह सांप को नहीं देख पाते, तो वह वही बैठ जाते। जिससे सांप उनपर अटैक कर देता। आदिसक ने लिखा कि गनीमत रही कि कोई और उस समय टॉयलेट इस्तेमाल नहीं कर रहा था। नहीं तो उसे ये सांप काट लेता। यह सांप काफी ज़हरीला और कोबरा प्रजाति का था, जिसे उन्होंने रस्सी से खेच के बहार निकला था। अगर ये किसी को काट ले तो उसकी जान बचाना काफी मुश्किल है।

गांव वालो ने एलियन समझ कर पीटा इस बेजुबान जानवर को, जब सच्चाई पता चली तो दंग रह गए सब


इंडोनेशिया के एक गांव में एलियन जैसा जानवर दिखने से पुरे गांव में दहशत फ़ैल गयी। गांव के लोगो ने जैसे ही इस अजीब जानवर को देखा वैसे ही लाठी-डंडो से मारना शुरू कर दिया।
एक चश्मदीद ने बताया की, “हम डर गए थे। ऐसा हमने पहली बार देखा था इसलिए सभी इसे मारने लगे। लोग तब तक इसे मारते रहे जब तक कि वो बेहोश नहीं हो गया।”
लेकिन जब गांव वालो को इसकी सच्चाई के बारे में पता चला तो उनके होश उड़ गए। दरअसल, गांव वाले जिस जानवर को एलियन समझ बैठे थे। वह एक भालू था जो काफी दिनों से खाना नहीं मिलने पर इस तरह दिख रहा था।
लंबे अरसे से खाना नहीं खाने पर उसके सारे बाल गिर गए थे। इस भालू को ‘सन बीयर’ के नाम से जाना जाता है। गांव वालो ने अनजान में इतना पीट दिया था की भालू बेहोश हो गया था।

महिला ने जन्मे जुड़वा बच्चे, लेकिन दोनों के पिता अलग अलग, मौजूदा पिता सदमे में


अपने अक्सर जुड़वा बच्चे होते तो देखे होंगे, लेकिन ये कभी नहीं सुना होगा कि एक ही महिला से जन्मे जुड़वा बच्चे अलग अलग पिता के होंगे। एक ऐसा ही चौकाने वाला मामला वियतनाम से सामने आया है, जहां एक महिला ने अस्पताल में जुडवा बच्चों को जन्म दिया। लेकिन उन बच्चों के पिता अलग अलग हैं। जिसको लेकर महिला का मौजूदा पति कभी चिंता में हैं।
पिता को शक हुआ तो उसने डीएनए टेस्ट कराया। डीएनए टेस्ट में साबित हो गया कि वह एक ही बच्चे का जैविक पिता है, और दूसरा बच्चा किसी और का है। डॉक्टर दवारा ये संयोग माना जा रहा हैं कि एक ही समय में दो अलग अलग लोगों के साथ शारीरिक संबंध बनाने से दो बच्चे पैदा हुए और दोनों ही अलग अलग लोगों के शुक्राणुओं से बने है।
इस घटना पर वियतनाम जेनेटिक एसोसिएशन के अध्यक्ष लि डिंह लुओंग ने कहा कि, ये केस बिल्कुल अलग है, हमारे जेनेटिक एनॉलिसिस एंड टेक्नोलॉजी लैब सेंटर की जो रिपोर्ट है, वो हैरान करने वाली है।

OMG! ‘एरिया 51’ में बंधक बनाकर रखे गए हैं एलियंस, ये कंपनी करवाएगी आज़ाद


अभी बहुत सी ऐसी जगह है जिससे आप अनजान है तो चलिए एक ऐसी जगह के बारे में आपको बताते हैं जिसके बारे में शायद ही आप सुने होंगे। ‘एरिया 51’ हो सकता है यह नाम आप पहली बार सुने हो तो घबराइए मत हम आपको इस रहस्यमई जगह के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।
अमेरिका के नेवादा में स्थित ‘एरिया 51’ को दुनिया की सबसे रहस्यमई जगह में से एक माना जाता है। वही ‘इमर्सिव एंटरटेनमेंट’ नामक कंपनी द्वारा इस जगह पर छापा मारने के ऐलान के बाद यह जगह चर्चा में आ चुकी है। उनका मानना है कि यहां एलियंस को देखने के सपने पूरे हो सकते हैं साथ ही कंपनी की तरफ से यह भी कहा जा रहा है कि इसका लाइव प्रसारण सोशल मीडिया पर भी किया जाएगा।
कंपनी दावा कर रही है कि एरिया 51 में एलियंस को बंधक बनाकर रखा गया है जिन्हें वह आजादी दिलवाएंगे। मीडिया की खबरों के अनुसार इस एरिया में लोग घुसपैठ करने के लिए इकट्ठा भी होने लगे हैं लोगों का यह भी कहना है कि वह बिना एलियन देखें यहां से नहीं जाएंगे।
इस जगह पर अमेरिका के एयरफोर्स बेस भी है लेकिन इसके अंदर आखिर क्या होता है यह पूरी तरह से गुप्त रखा जाता है। यहां सीसीटीवी कैमरा, सशस्त्र गार्डों द्वारा इस जगह की निगरानी की जाती है।
सुरक्षा के लिहाज से इस जगह के ऊपर से विमानों की उड़ान की पूरी तरह से प्रतिबंधित है। वही एरिया 51 को लेकर कई लोगों का दावा है कि इसके ऊपर या आसपास कई बार उड़न तस्तरी (यूएफओ) को देखा जा चुका है। कुछ लोगों का यह भी कहना है कि एलियन कुछ लोगो को अपने साथ ले गए जहां उन पर कई प्रयोग किए फिर बाद में पृथ्वी पर वापस लाकर छोड़ दिया।

इस महिला ने साँप को बनाया अपना बेटा, अपनी जान से भी ज्यादा रखती है साप का ख्याल


दुनिया की सभी माँ अपने बेटे से बेइंतेहा मोहब्बत करती है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे माँ से मिलाने जा रहे है जो अपने बेटे साप को अपनी जान से भी ज्यादा ख्याल करती है।
भोपाल की रहने वाली उमा भारती शर्मा नाम की एक महिला जो एक साप को अपना बेटा मानती है। और उसकी देख-रेख में कोई कसर नहीं छोड़ती है।
इस बारे में उमा भारती शर्मा का कहना है की यह साप उनको 25 दिन पहले पार्क में मिला था। उन्होंने आगे बताया की पहले तो वह साप को देखते ही डर गई थी। लेकिन जब उन्हें ज्ञात हुआ की वह बीमार है तो उन्होंने उसकी देखभाल करनी शुरू कर दी।
उमा भारती ने उसके लिए पार्क के किनारे एक घोंसला बनाया है जिसमे साप की परवरिश कर रही है। यहाँ तक की उस साप को किसी डाक्टर से भी दिखाने की बात कर रही थी। जिससे की वो जल्द से जल्द ठीक हो सके।

दोनों लड़किया है पति-पत्नी, लेकिन रात में एक लड़की बन जाती है मर्द, और करने लगती है….


एक जैसी दिखने वाली दोनों लड़किया असल में जुड़वा पति-पत्नी हैं। सुनकर चौक गए ना आप भी। बता दें कि इस जुड़वा पति-पत्नी की जोड़ी पूरी दुनिया में फेमस है। मिली जानकारी ने अनुसार पति का नाम अलीना है जबकि पत्नी का नाम अलीसा है। अलीना और अलीसा दोनों रूस के रहने वाले है।
अलीना और अलीसा कई बार घर से निकलने पर लोग दोनों को पहचानने में धोखा खा जाते है। अलीना को अलिसा समझ बैठते है यहाँ तक की कभी-कभी तो घर वाले भी गलती कर बैठते है। आपको बतादे की अलीना एक पुरुष जबकि दिखने में बिल्कुल एक लड़की जैसी ही नज़र आती है।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दोनों ने लव मैरिज शादी की थी यही वजह है की दोनों एक जैसे कपड़े भी पहनते है। इसलिए लोग पहचानने में धोखा खा जाते है। यह जोड़ी सबसे पहले 2016 में कुछ फोटो की वजह से फेमस हुई थी।

11 महीने से महिला बच्चा समझकर गर्भ में पाल रही थी ये भयंकर चीज


इस महिला को देखकर यही अंदाजा लगाया जा सकता है कि इसके पेट में कम से कम 10 बच्चे तो पल ही रहे होंगे। लेकिन जब इसके बारे में सच्चाई जानेंगे तो हैरान रह जाएंगे।
बता दें कि मेक्सिको की रहने वाली 24 साल की इस महिला के पेट में 31 किलो का सिस्ट मौजूद था। इतना वजनी और भारी-भरकम सिस्ट होने की वजह से महिला को चलने फिरने में काफी परेशानी हो रही थी।
जनरल हॉस्पिटल में डॉक्टर एरिक हैनसन ने इस महिला की सर्जरी कर पेट में मौजूद 31 किलो के सिस्ट को निकाल दिया है। सबसे हैरानी की बात यह है कि डॉ एरिक ने सिस्ट को बिना टुकड़े किए महिला के पेट से सीधे बाहर निकाल लिया। वहीं महिला अन्य लोगों की तरह बेहतर जिंदगी जी रही है।

‘तस्वीरें देखकर उड़ जाएंगे होश, चीन ने बंदर-सूअर को मिलाकर बना दी नई प्रजाति, दुनिया हैरान’


अजीब तरह के अविष्कारों से कई तरह की जानकरी जुटाने में चीन ने कई विकसित देशों को पीछे छोड़ दिया है। इससे पहले भी चीन ने नकली सूरज बना कर दुनिया को चौका दिया था। एक बार फिर चीन के वैज्ञानिकों ने अपनी एक नई तकनीक से दुनिया के लोगों को हैरान कर दिया है। इस बार चीन ने बंदर और सूअर के जीन से एक नई प्रजाति का जानवर पैदा करवाया है। जिसको ‘बंदर-सूअर प्रजाति’ का नाम दिया गया है।
रिपोर्ट के अनुसार सूअर के दो बच्चों के दिल, जिगर और त्वचा में बंदर के ‘टिश्यू’ मौजूद हैं। सूअर के ये दोनों बच्चे स्टेट सेल और प्रजनन जीव विज्ञान की स्टेट प्रयोगशाला में पैदा हुए थे, लेकिन एक हफ्ते के भीतर ही दोनों की मौत हो गई। रिपोर्ट अनुसार, बीजिंग की स्टेट सेल की प्रमुख प्रयोगशाला और प्रजनन जीव विज्ञान के वैज्ञानिकों की मानें तो यह पूरी तरह से बंदर-सूअर की पहली रिपोर्ट है। वैज्ञानिकों ने अनुसार बताया गया है कि, पांच दिनों के पिगलेट भ्रूण में बंदर की स्टेम कोशिकाएं थीं। इस तरह के शोध से पता चला है कि कोशिकाएं कहां समाप्त हुई हैं।
लेकिन अभी इस बात का खुलासा नहीं हुआ है कि दोनों बंदर-सुअर की मौत क्यों हुई। वैज्ञानिकों के अनुसार इनकी मौत IVF प्रक्रिया में किसी तरह की प्रॉब्लम की वजह से हुई है। यह प्रयोग स्पैनिश वैज्ञानिक युआन कार्लोस इजिपिसुआ बेलमोंटे के दो साल पहले किए गए प्रयास को देखते हुए किया है।
रिपोर्ट में बताया गया कि तांग हाई और और उनकी टीम ने जुआन कार्लोस की सोच को ही आगे बढ़ाया और आनुवंशिक रूप से संशोधित बंदर कोशिकाओं को 4,000 से अधिक सूअर भ्रूणों के अंदर डाला गया। जिसके बाद पैदा हुए सूअर के बच्चों में से केचल दो हाइब्रिड थे। इनके दिल, जिगर, फेफड़े और त्वचा के ऊतक आंशिक रूप से बंदर कोशिकाओं से मिलकर बने हैं। आपको बता दें कि इससे पहले जनवरी 2017 में सैन डिएगो के सल्क इंस्टीट्यूट में भी एक मानव-सूअर भ्रूण भी बनाया गया था, लेकिन 28 दिन बाद उसकी मृत्यु हो गई थी।

पहली ही रात में दुल्हन ने दूल्हे को पहुंचाया अस्पताल, दूल्हा बोला ‘बड़ी शातिर निकली’



हमारे समाज में शादी को खास महत्व दिया जाता है लेकिन क्या दूल्हे के साथ जिंदगी के सात फेरे लेने वाली दुल्हन ही धोखा दे जाये तो लोगों का विश्वास ही टूट जाता है। जी हाँ पिछले दिनों ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश में देखने को मिला। जहाँ दुल्हन घर का सारा सामान लेकर फरार हो गयी।
मिली जानकारी के अनुसार, यूपी के शिकोहाबाद थाना के अंतर्गत आने वाले आरोंज के रहने वाले धर्मेंद्र की शादी बड़े ही धूमधाम से हुई। लेकिन पहली ही रात को दुल्हन ने दूल्हे सहित सबको हॉस्पिटल पहुंचा दिया।
असल में धर्मेंद्र के घर वालो को अच्छा रिश्ता मिल गया जिसकी वजह से उसकी ज्यादा जाँच पड़ताल नहीं की और जल्दी से शादी कर दी। शादी के बाद जब दुल्हन घर आयी तब लोगो ने उसका स्वागत किया। लेकिन उनको क्या पता था की ये हमको लूट कर भागने वाली है।
दरअसल शादी में मिली जितनी भी मिठाइयां मिली थी सब में नशीली दवा को अच्छी तरह मिलाया गया था। दुल्हन ने सबको अपने हाथो से मिठाई खिलाई और सबके बेहोश होने का इंतज़ार किया। सबको बेहोश करने के बाद दुल्हन घर से सारे जेवरात लेकर फुर्र हो गयी।
अगले दिन सुबह जब किसी की आवाज नहीं सुनाई दी तो पड़ोसियों ने जाकर दरवाजा खटखटाया तो पता चला कि घर के सभी लोग बेहोश है। जल्दी से सबको हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। मामला की सुचना पुलिस को दे दी गयी है अब पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है।

अगर यह 3 लक्षण शरीर में दिखे तो समझ जाइये आपको कैंसर होने की संभावना, ये है बचने के उपाए


आज हम आपको इस बीमारी के तीन ऐसे लक्षण के बारे में बताने जा रहे है जिससे आपको कैंसर बीमारी होने पर पता चल सकता है। अगर आपको आपका शरीर तीन ऐसे संकेतो का इशारा करता है तो तुरंत आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

1- अगर आपको ज्यादा दिनों तक खांसी आए साथ ही मुँह के रास्ते बलगम निकले और बलगम के साथ खून भी आता हो तो आपको समझ जाना चाहिए की आपको लंग फेफड़े का कैंसर होने वाला है। उस समय आपको बिना देरी के डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। फेफड़े का कैंसर ज्यादा धूम्रपान करने या तंबाकू का सेवन करने से होता। है
2- अगर आपके शरीर पर जगह-जगह पर छोटे-छोटे लाल निशान में घाव होने लगे और उसमे से पस निकलने लगे और ठीक होने में ज्यादा समय लगने लगे। तो आपको समझ जाना चाहिए की आपको स्किन कैंसर होने वाला है। तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। स्किन कैंसर हो जाने पर आपकी स्किन सड़ कर घाव में तब्दील होने लगती है।
3- प्रोस्टेट कैंसर होने जाने पर शरीर में ये संकेत दिखाई देने लगते है। अगर पेशाब करते समय आपको खून आता है तो समझ जाइये आपको प्रोस्टेट कैंसर होने वाला है जिसे लेकर आप सतर्क हो जाइये। तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर से अपना इलाज कराये। प्रोस्टेट कैंसर बहुत ही जटिल होता है लेकिन समय रहते इसका इलाज संभव है।
कैंसर का इलाज संभव है इसके हो जाने पर हतासा में न जिये। समय पर इलाज होने पर कैंसर को रोका जा सकता है। अपने खान-पान में बदलाव करके फिर से एक स्वस्थ जीवन जिया जा सकता है।


हो जाइये सावधान ! अभी तक आप खरीद रहे थे नकली सामान, जानिए असली और नकली में फर्क


 टेक्नोलॉजी के ज़माने में आज हम पूरी तरह से गैजेट पर आश्रित है। बाजार में कोई भी सामना खरीदने जाइये तो पता ही नहीं चलता है ये असली है या नकली। हम अक्सर बाजार से नकली सामान ही खरीद लाते है। और लाये भी क्यों ना क्यूंकि हमें असली और नकली में फर्क ही नहीं पता।
तो चलिए आज हम आपको बतादे है की क्या असली है और क्या नकली, तो चलिए आज बात करते है सैमसंग एक्सेसरीज की, जो आज के समय में माना जाना नाम है। जिसका सामान किसी भी बाजार में आसानी से मिल जाता है।
लेकिन आज कल सैमसंग एक्सेसरीज का बिल्कुल कॉपी बाजार में उपलब्ध है लेकिन हम असली और नकली के बीच के फर्क को नहीं पहचान पाते है। लेकिन नकली सामानो में बहुत ही ऐसी छिपी गलतिया होती है की बारीकी से देखने पर पता चलती है।
आपके लिए कुछ ऐसी तस्वीर लेकर आये है जिससे आप असली और नकली में फर्क समझ सकते है। और अपने घर असली सामान को बाजार से खरीद सकते है।

नई दुल्हन को ससुराल जाते ही धोने को मिले 365 जोड़ी गंदे और बदबूदार मोजे


नई नवेली दुल्हन जब अपने ससुराल में जाती है तो उसका गर्मजोशी के साथ स्वागत करते है और परिवार के सदस्य, रिश्तेदार और अन्य दोस्त गिफ्ट देते है। लेकिन आज कल एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जिसमे लड़की बता रही है की उसे ससुराल में 365 जोड़ी गंदे और बदबूदार मोजे गिफ्ट में मिले।
दरअसल, लड़की जिस लड़के से प्यार करती थी उसके जन्मदिन के मौके पर उसे 365 जोड़ी मोजे गिफ्ट में दिए थे। इसी साल दोनों की शादी हो गई। जब लड़की ससुराल पहुंची तो उसे वही 365 जोड़ी गंदे और बदबूदार मोजे गिफ्ट में दिए गए।
जिसके बाद लड़की ने यह बात सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर कर बताया। उसने कहा की मेरे पति ने दिए हुए मोज़े धोया नहीं बल्कि पहनने के बाद उसे रखता गया। बाद में उसे ही सारे मोज़े धुलने पड़े। उसने बताया की दो दिनों में लगभग 300 जोड़ी मोजे धुल दिए है लेकिन अभी भी 50 जोड़ी मोज़े धुलने बाकि है।
सोशल मीडिया पर यह वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है। तरफ तो लोग लड़की की हिम्मत की तारीफ कर रहे है तो उसके पति की इस हरकत पर गुस्सा दिखा रहे हैं।

सर मेरे बैंक खाते में गलती से 37 लाख रुपये जमा हुए हैं, यह रकम मेरी नहीं है, यह सरकार का पैसा है


एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकर आपको सच मुच् हैरानी होगी। एक व्यक्ति की ईमानदारी जान कर आपके होश उड़ जाएंगे। सेवानिवृत्त दरोगा चंद्रपाल सिंह एसएसपी ऑफिस जाकर कहते हैं कि सर मेरे बैंक खाते में 37 लाख रुपये जमा हुए हैं, लेकिन यह रकम मेरी नहीं है। विभाग या बैंक की गलती से यह रकम मेरे खाते में आ गई। यह पैसा सरकार का है और सरकार के पास ही जाना चाहिए। एसएसपी ने पुलिस के वरिष्ठ लिपिक और बैंक शाखा के मैनेजर को जांच करने के निर्देश दिए हैं।
बागपत बिनौली के रहने वाले चंद्रपाल सिंह मेरठ में दरोगा के पद पर कार्यरत थे। बीते 31 दिसंबर को वे सेवानिवृत्त हुए। उन्होंने कहा कि उनका बैंक खाता SBI में है। अपने फंड ला पैसा उन्होंने निकाल लिया था, लेकिन उनके खाते में 37 लाख रुपये ज्यादा आ गए। उन्होंने बताया कि या तो विभाग या फिर बैंक की त्रुटि से यह गलती हुई है। एसपी क्राइम राम अर्ज को मामले की जानकारी देकर पैसा लौटाने की बात कही। चंद्रपाल सिंह ने कहा कि मेरठ, सहारनपुर के अलावा प्रदेश के कई जिलों में उनकी तैनाती रही है। और चार दशक की नौकरी में उन्होंने हमेशा इमानदारी से काम किया है। चंद्रपाल सिंह को उनकी ईमानदारी को लेकर पुलिस पेंशनर्स में सम्मानित किया जाएगा।

पेड़ में बदल रहा है इस मुस्लिम लड़की का शरीर, लगी है ऐसी भयंकर बीमारी


जैसे कहा जाता है कुदरत की हर दी हुई चीज़ नायब होती है। वैसे ही कुछ उसके दवारा दी गई बीमारियां भी बेहद खतरनाक होती है। आज हम आपको ऐसी एक खतरनाक बीमारी के बारे में बताएंगे। जिसे जानकर आप भी हैरान रह जायेंगे। घटना बांग्लादेश की जहाँ मजदूरी कर के ज़िन्दगी गुजरने वाले मोहम्मद शाहजहाँ की बेटी को एक अजीबो गरीब बीमारी है जिसे देखर हर कोई हैरान रह जाता है। लड़की का नाम सुहाना खातून है वह एक ऐसी बीमारी की चपेट में आ गई है जिसके कारण उसका शरीर पेड़ में परिवर्तित होता जा रहा है। इस युवती के चेहरे और शरीर पर कई ऐसे मस्से उभर गए जिसमे आपको पेड़ों की जड़े और शाखाएँ दिखाई पड़ेंगी। इस बीमारीं का नाम मेन सिंड्रोम अथवा एपिडर्मोडिस्प्लासिया वेरुसिफोर्मिस है।
इस बीमारी शिकार हुई अकेली सुहाना खातून नहीं बल्कि दुनिया में 6 या 7 लोग और भी बताये जा रहे हैं। बांग्लादेशी सुहाना खातून की माँ नहीं है, सुहाना की माता जी की मौत तभी हो गयी थी जब सुहाना 6 वर्ष की थी। सुहाना को यह बीमारी 4 महीने पहले से हुई जब उसके चेहरे पर मस्से आना शुरू हुए। तभी पिता ने अपनी हैसियत के हिसाब से अपनी बेटी का ग्रामीण उपचार कराया। लेकिन उस उपचार का असर नहीं दिखा।
एक साल बिता और बीमारी तेजी से बढ़ना शुरू हो गई। और धीरे धीरे पूरे शरीर तक फ़ैल गया। इस बीमारी के चलते सभी गांव वालो ने मुहम्मद शाहजहाँ और उसकी बेटी से किनार कर लिया। लोगो ने तरह तरह के तने कहना भी शुरू कर दिए। तंगी हालत से परेशान लाचार बेटी के पिता नें बहुत जद्दो जहद करने के बाद उसके इलाज के लिए कुछ पैसे जमा किये और ढाका (बांग्लादेश की राजधानी) ले जाकर इलाज शुरू कराया। आगे की खबर आते ही हम आप तक पोचाएंगे।

स्कूटर मैकेनिक पवन से अमेरिकन लड़की को हुआ प्यार, सबकुछ छोड़कर आई पंजाब और की शादी


लगातार इंडियन में विदेशी बहु आ रही हैं, यह कोई पहला मामला नहीं इससे पहले भी कई मामले सामने आ चुके हैं। ये ताज़ा मामला अमृतसर के मजीठा रोड से सटे इलाके तुंगबाला के एक स्कूटर ड्राइवर पवन कुमार का है जिन्हे फेसबुक पर अमेरिका की रहने वाली लड़की एमिली से प्यार हो गया। इनकी मुलाकात सात महीने पहले हुई थी। जिसके बाद दोनों दिन रात चैटिंग पर एक दूसरे से बात करने लगे। फेसबुक पर हुई इस दोस्ती ने प्यार का रुख ले लिया। जिसके बाद अब दोनों ने शादी करने का फैसला लिया है। एमिली ने अमृतसर आकर पवन से शादी करली।
फ़िलहाल तो एमिली को पंजाबी बोलना और समझना बिकुल नहीं आता है, साथ ही पवन के परिवार वालों को अंग्रेजी नहीं आती। फ़िलहाल ससुराल वाले अपनी विदेशी बहु की बात इशारे समझ लेते हैं। पवन एक स्कूटर मैकेनिक हैं, पवन को इतनी इंग्लिश आती है जिससे वह अपनी वाइफ से आसानी से बात कर लेता है। अपनी शादी को लेकर पवन ने बताया कि एमिली ने उससे अमेरिका आकर शादी करने के लिए कहा था, ज्सिकी हामी भी उन्होंने भर दी थी। लेकिन पैसों की कमी के चलते वह अमेरिका नहीं जा सका, लेकिन एमिली खुद इंडिया आ गयी। और पवन से शादी की…
पवन की माँ शकुंतला और पिता शेर चांद का कहना है कि उन्हें अपनी बहू की भाषा नहीं समझ आती हैं लेकिन उनका बेटा उसके साथ बहुत खुश हैं। माँ ने कहा कि वह किस्मत वालीं हैं कि उनकी बहु अमेरिका से आयी है।

Saturday, 25 January 2020

निर्भया केस: दोषी विनय ने बनाई पेंटिंग, लिखी डायरी और शीर्षक रखा 'दरिंदा'


निर्भया केस के चारों दोषियों को 1 फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा। फांसी की सजा टालने के लिए निर्भया के दोषी और उसके वकील एक के बाद एक चाल चल रहे हैं। पटियाला हाउस कोर्ट में आज सुनवाई के दौरान दोषी पक्ष के वकील एपी सिंह ने दावा किया कि जेल में दोषी विनय शर्मा को धीमा जहर दिया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ सरकारी पक्ष के वकील का कहना है कि तिहाड़ जेल प्रशासन ने दोषियों से जुड़े सभी दस्तावेज समय पर सौंप दिए हैं। हालाकि, दोषियों की तरफ से पेश वकील ने कहा कुछ दस्तावेज कल रात 10:30 बजे दिए गए है। लेकिन दोषी विनय की केस डायरी अभी तक नहीं दी गयी है। वकील ने कहा कि केस डायरी 160 पेज की है वो नहीं मिली है। इसके साथ ही उसकी मेडिकल रिपोर्ट भी नहीं दी गयी है और विनय दिल्ली लोक नायक अस्पताल में 10 दिन था वो भी दस्तावेज नहीं मिला है।
वकील ने बताया कि जेल में रहते हुए विनय ने कुछ पेटिंग भी बनाई है। तिहाड़ हाट में उसकी पेंटिंग्स की बिक्री भी हुई। मैंने उनके बारे में जानकारी चाहता हूं कि आखिर उसकी पेंटिंग्स से क्या कमाई हुई। विनय ने 11 पेंटिंग बनाई और 19 पन्नों की 'दरिंदा' डायरी भी लिखी। जेल प्रशासन ने दोषी विनय की पेटिंग और उसकी डायरी दरिंदा को भी कोर्ट में पेश किया। इसके बाद कोर्ट ने तिहाड़ जेल से कहा कि सभी दस्तावेज दोषियों को दे दिए जाएं। इस पर जेल प्रशासन ने कहा कि सभी दस्तावेद सौंप दिए गए हैं और इसके साथ ही इस अर्जी का निपटारा हो गया।
दोषियों के वकील ने कोर्ट में दावा किया कि उनके क्लाइंट विनय को जेल प्रशासन ने स्लो प्वाइजन दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि स्लो प्वाइजन देने के कारण विनय की तबीयत बिगड़ी थी और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने कहा कि अभी तक उन्हें मेडिकल रिपोर्ट नहीं मिली है।
दोषियों के वकील पहले भी कई बार कोर्ट सुनवाई में जरूरी दस्तावेज नहीं मिलने को लेकर झूठे आरोप लगाते रहे हैं। आज भी सुनवाई के दौरान उन्होंने देर रात दस्तावेज सौंपे जाने की पुष्टि की।