Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts
Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts

Friday, 10 July 2020

Paytm Payments Bank ने शुरू की वीडियो KYC, अब आसानी से चलता रहेगा खाता


मोबाइल वॉलेट फिनटेक कंपनी पेटीएम द्वारा संचालित पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने अपने करोड़ों ग्राहकों के लिए वीडियो केवाईसी की सुविधा को शुरू कर दिया है. इससे लोगों को वीडियो कॉल के जरिए अपने खाते की केवाईसी कराने में काफी सहूलियत मिलेगी.
हमारी सहयोगी वेबसाइट के अनुसार पेटीएम ने सुबह 9 बजे से लेकर के रात 8 बजे तक किसी भी दिन केवाईसी कराने का समय रखा है. इससे लोगों को महामारी के बीच घर बैठे ही ये सुविधा मिल जाएगी और उनको बाहर नहीं जाना पड़ेगा. इस अवसर पर पेटीएम पेमेंट बैंक के सीईओ और एमडी सतीश कुमार गुप्ता ने कहा कि तकनीक की मदद से बैंक हमेशा अपने ग्राहकों की सुविधा का ध्यान रखेगी. हम बैकएंड पर अपने इंफ्रास्ट्रक्चर को फिलहाल विकसित कर रहे हैं ताकि रोजना 15 हजार वीडियो केवाईसी को किया जा सके.
गुप्ता ने कहा कि हमने कोरोना काल में डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा देने के क्रम में कैश ऐट होम सेवा शुरू किया था. यह सेवा उन लोगों के लिए शुरू की गई थी, जो बीमारी या फिर बढ़ती उम्र की वजह से एटीएम या फिर बैंक नहीं जा सकते हैं.
कैश ऐट होम सर्विस का उपयोग करने के लिए वरिष्ठ नागरिकों के पास पेटीएम पेमेंट बैंक का बचत खाता होना चाहिए. बैंक के ऐप पर जाकर उनको जितना पैसा चाहिए वो एंटर करना होगा. इसके बाद अपने आवेदन को सबमिट करना होगा. इसके बाद बैंक का एग्जिक्यूटिव उनके रजिस्टर्ड पते पर दो दिन के अंदर कैश डिलीवर कर देगा. इस सेवा से वरिष्ठ नागरिकों कम से कम एक हजार रुपये और अधिकतम पांच हजार रुपये तक प्राप्त कर सकते हैं.
बैंक ने हाल ही में डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर सेवा भी शुरू कर दिया है, जिसमें सरकार की तरह से जारी 400 योजनाओं की सब्सिडी सीधे ग्राहकों के बैंक खातों में ट्रांसफर हो सकती हैं. 

LED लाइट का करें कारोबार, सिर्फ 5000 रुपये का खर्चा और फिर झमाझम पैसे की बरसात


देश में इन दिनों लाइट के नाम पर सिर्फ LED लाइट की ही डिमांड होती है. इसकी वजह ये है कि एक तो ये जल्दी फ्यूज नहीं होते और दूसरा इससे बिजली की खूब बचत होती है. इन दिनों पॉपुलर होने की वजह से ज्यादातर दूकानदार भी सिर्फ यही लाइट रखते हैं. इसीलिए ज्यादातर विशेषज्ञ अब इसके कारोबार से जुड़ने की सलाह देते हैं. हम बता रहे हैं कैसे जुड़े सकते हैं आप इस कारोबार से.
ऐसे में, अगर आप अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो LED बल्ब का बिजनेस शुरू कर सकते हैं. मिनिस्ट्री ऑफ माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (MSME) के तहत कई संस्थान एलईडी बल्ब बनाने की ट्रेनिंग दे रहे हैं.
दिल्ली के पश्चिम विहार स्थित भारती विद्यापीठ डीम्ड यूनिवर्सिटी LED बल्ब बनाने का एक कोर्स करवाती है. करीब 5000 रुपए इस कोर्स की फीस रखी गई है. हमारे सहयोगी के अनुसार यहां आपको एलईडी के बारे में हर बारीक से बारीक जानकारी दी जाएगी और एलईडी बनाने के तरीकों के बारे में बताया जाएगा.
एलईडी बल्ब बनाने की ट्रेनिंग के दौरान आपको बेसिक आफ एलईडी, बेसिक ऑफ पीसीबी, एलईडी ड्राइवर, फिटिंग-टेस्टिंग, मैटेरियल की खरीद, मार्केटिंग, सरकारी सब्सिडी स्कीम आदि के बारे में बताया जाएगा.
अगर आप ट्रेनिंग लेकर एलईडी बल्ब बनाने का खुद का बिजनेस शुरु करना चाहते हैं तो आप 99711-2866, 82175-82663 या 88066-14948 पर कॉल कर सकते हैं.
एलईडी बल्ब CFL की तुलना में कम बिजली खपत करता है. CFL से एक वर्ष में  करीबन 80% की  ऊर्जा लागत होती है. LED बल्ब सीएफएल की तुलना में महंगा होता है. एक LED बल्ब की लाइफ आमतौर पर 50000 घंटे या अधिक होती है जबकि सीएफएल CFL बल्ब की 8000 घंटे तक ही होती है. एलईडी बल्ब टिकाऊ और लंबे समय तक चलता है.

चाय वाले ने गजब अंदाज में बनाई कोल्ड कॉफी, IAS बोला- 'कभी नहीं देखी ऐसे बनते हुए...' - देखें Viral Video


केरल में चाय वाले का एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है, जिसको देखकर आप हैरान रह जाएंगे. चाय वाले ने गजब अंदाज में कोल्ड कॉफी बनाई, जिसको देखकर आप भी सोचेंगे कि शख्स ने कैसे यह कॉफी बनाई. आईएएस ऑफिसर अवनीश शरण ने इस वीडियो को शेयर किया है. यह वीडियो केरल का बताया जा रहा है.
वीडियो में देखा जा सकता है कि शख्स चक्कर के पानी में कॉफी मिलाता है. फिर दूध की थैली को काटता है और दूर से धार मारकर गिलास में दूध डालता है. जिस तरह चाय वाले ने कोल्ड कॉफी बनाई, उसको देखकर आप भी हैरान रह जाएंगे. अवनीश शरण ने वीडियो शेयर करते हुए मजेदार कैप्शन लिखा.
अवनीश शरण ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'केरल के चाय स्टॉल वाले ने गजब का करतब दिखाया. क्या तरीका है कोल्ड कॉफी बनाने का. मैंने कभी इस तरह की कोल्ड कॉफी बनते नहीं देखा है.'इस वीडियो को 9 जुलाई को शेयर किया गया है,

900 साल से इस गांव में नहीं मना रक्षाबंधन, वजह जान रो पड़ेंगे आप


रक्षाबंधन भारतीय संस्कृति के प्रमुख त्यौहारों में से एक है। इस त्यौहार को हर साल बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाईयों की कलाई पर रक्षासूत्र बांधती है और बदले में भाई उन्हें तोहफ़े के साथ ही उनकी रक्षा करने का वचन भी देते हैं। हालांकि इसी बीच आप रक्षाबंधन से जुड़ी एक ख़बर को लेकर सोच में पड़ जाएंगे जो कि हम आगे आपको बताने जा रहे हैं।
रक्षाबंधन का पर्व इस बार 3 अगस्त को देशभर में मनाया जाएगा। लेकिन गाजियाबाद के मुरादनगर में ऐसा नहीं होता है। यहां पर पिछले 900 वर्षों से छाबड़िया गोत्र के भाइयों की कलाइयों पर रक्षा सूत्र नहीं बंधा है। इतना ही नहीं जिसने भी इसे तोड़ने का प्रयास किया, उसके साथ कुछ अनर्थ ही हुआ। लगभग 15 हजार से अधिक आबादी वाले मुरादनगर के गांव सुराना में ज्यादातर छाबड़िया गोत्र के लोग निवास करते हैं।
महंत सीताराम शर्मा बताते हैं कि राजस्थान से आए पृथ्वीराज चौहान के वंशज छतर सिंह राणा द्वारा सुराना में अपना डेरा डाला गया था। छतर सिंह के पुत्र सूरजमल राणा के दो पुत्र विजेश सिंह राणा व सोहरण सिंह राणा थे। बताया जाता है कि साल 1106 में राखी के त्यौहार के दिन ही गांव पर मोहम्मद गोरी द्वारा हमला किया गया था, इस दौरान गोरी ने युवकों, महिला, बच्चों व बुजुगों को हाथी के पैर से कुचलवा कर उन्हें मौत के घाट उतरा दिया था। तबसे यहां पर राखी का त्यौहार नहीं मनाया जाता है। लेकिन यदि इस दिन गांव में किसी महिला को पुत्र या गौमाता को बछड़े की प्राप्ति होती है तो वह परिवार त्यौहार मनाता है। 

रेलवे का एक और बड़ा कारनामा, बिना डीजल-बिजली के पटरी पर सरपट दौड़ी ट्रेन, देखें VIDEO


कोरोना महामारी के संकटकाल में भारतीय रेलवे एक के बाद एक नए कीर्तिमान रच रहा है. अब ट्रेन के इंजन को दौड़ाने के मामले में इंडियन रेलवे ने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है. भारतीय रेल ने बैटरी से चलने वाला इंजन तैयार किया है और इसका सफल परीक्षण भी किया है. यानी कुछ ही दिनों में अब पटरियों पर बैटरी से चलने वाली ट्रेनें दौड़ती हुईं दिखाई दे सकती हैं.
रेलवे के अनुसार, इस इंजन को बिजली और डीजल की खपत बचाने हेतु बनाया गया है. भारतीय रेलवे ने जानकारी देते हुए बताया है कि पश्चिम मध्य रेल के जबलपुर मंडल में बैटरी से चलने वाले ड्यूल मोड शंटिंग लोको 'नवदूत' बनाया गया है, जिसका परीक्षण कामयाब रहा है. बैटरी से चलने वाला यह लोको, डीजल की बचत के साथ साथ पर्यावरण संरक्षण में एक अहम कदम होगा. केन्दीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करते हुए कहा कि, 'बैटरी से संचालित होने वाला यह लोको एक उज्ज्वल भविष्य का संकेत है, जो डीजल के साथ विदेशी मुद्रा की बचत और पर्यावरण संरक्षण में एक अहम कदम साबित होगा.'
आपको बता दें कि हाल ही में रेलवे ने सोलर पावर की बिजली से ट्रेन चलाने की बात कही है. रेलवे ने इसकी तैयारियां भी पूरी कर ली है. मध्य प्रदेश के बीना में रेलवे ने इसके लिए सोलर पावर प्लांट भी स्थापित कर दिया है. इससे 1.7 मेगा वॉट की बिजली पैदा होगी और सीधे ट्रेनों के ओवर हेड तक पहुंचेगी. रेलवे का दावा है कि हिंदुस्तान ऐसा करने वाला विश्व का पहला देश है. इससे पहले रेलवे के इतिहास में कोई भी देश ऐसा नहीं कर पाया है.

Thursday, 9 July 2020

चीन ही नहीं इन 4 एप्स के प्रतिबंध से भारत को भी तगड़ा नुक़सान, जानिए कैसे ?


भारत और चीन के बीच बढ़ते सीमा विवाद के बीच भारत ने चीन को बड़ा झटका देते हुए बीते दिनों भारत में चलने वाले उसके 59 एप बंद कर दिए थे, जिससे कि चीन को बहुत बड़ा झटका लगा है, हालांकि इसके साथ कुछ एप ऐसे भी है जिनका प्रतिबंध केवल चीन ही नहीं बल्कि भारत के लिए भी अब नुकसानदेह साबित हो रहा है। आइए जानें ऐसे ही 4 एप्स के बारे में

1. टिकटॉक

पहले नंबर पर नाम आता है टिकटॉक का। बच्चे, बूढ़े, महिला, युवा सभी का इसने खूब मनोरंजन किया है। भारत में कई युवाओं को तो इस एप ने स्टार बनाने का काम किया है। इसके बैन से चीन की कमाई रूकने के साथ ही भारतीयों की कमाई के जरिए को भी धक्का लगा है।

2. Helo

दूसरे एप की बात की जाए तो इस नंबर पर शामिल है Helo एप। भारत में इस एप का भी काफी बोलबाला रहा है। जानकारी के मुताबिक़, इसके हिंदुस्तान में 5 करोड़ से भी अधिक मासिक उपभोक्ता थे।

3. लाइकी

तीसरे नंबर पर बात करते हैं लाइकी की। इस एप ने भी भारत में खूब शोहरत हासिल की। भारत में लाइकी के कुल 11.5 करोड़ यूजर थे।

4. यूसी ब्राउजर 

इस एप के प्रतिबंध से भी दोनों ही देशों को भारी भरकम नुक़सान झेलना पड़ रहा है। बता दें कि इससे संबंधित एक ख़ास बात यह है कि यूसी ब्राउजर का आधा व्यापार हिंदुस्तान से संबंधित था। आप इस आंकड़ें को जानकार चौंक जाएंगे कि भारत में 50 करोड़ से भी अधिक इसके यूजर्स थे। इसके डोलोड होने संबंधित आंकड़ें पर गौर करें तो ओवरऑल इसे 1.1 अरब लोगों द्वारा डाउनलोड किया गया है। 

बिल्ली के सिर पर चढ़ गई छिपकली, डरकर बनाने लगी ऐसा चेहरा और फिर... देखें Viral Video


सोशल मीडिया पर एक बिल्ली का वीडियो खूब वायरल रहा है, जिसको देखकर आप भी हंस-हंसकर लोट-पोट हो जाएंगे. एक बिल्ली के सिर पर छिपकली चढ़ गई. बिल्ली के एक्सप्रेशन्स लोगों को खूब पसंद आ रहे हैं. यह वीडियो बिल्ली के ऑफीशियल इंस्टाग्राम पेज पर पोस्ट किया गया है. बिल्ली का नाम होर्स्ट है. उनके पेज का नाम होर्स्ट- द हीरो है. यह फनी वीडियो लोगों को खूब पसंद आ रहा है.
वीडियो में देखा जा सकता है कि बिल्ली के सिर पर छिपकली चढ़ जाती है. जैसे ही उसे पता चलता है कि सिर पर छिपकली चढ़ी हुई है तो वो डर के मारे ऊपर की तरफ देखने लगती है. छिपकली भी सिर तक आती है और नीचे उतर जाती है. लेकिन बिल्ली के एक्सप्रेशन्स देखकर आप को भी मजा आ जाएगा.
वीडियो पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा, 'सोमवार की समस्याएं. छिपकली ठीक है और वो निकल चुकी है.'
इस वीडियो को 6 जुलाई को शेयर किया गया है, लोगों को बिल्ली के एक्सप्रेशन्स खूब पसंद आ रहे हैं.
एक यूजर ने लिखा, 'हे भगवान, ये छिपकली कितनी खतरनाक लग रही है.' वहीं दूसरे यूजर ने लिखा, 'बिल्ली के एक्सप्रेशन्स देखने लायक हैं. देखों कैसे ऊपर की तरफ देख रही है.'

कोरोना से 'जंग' में काम का साबित हो सकता है ये खास रिक्शा, मिलिंद देवड़ा ने शेयर किया VIDEO


मुंबई में कोरोनावायरस संक्रमितों के लिए एक खास पहल की गई है जिसके अंतर्गत एक खास ऑटोरिक्शा चलाने का प्लान बनाया जा रहा है. इस खास ऑटोरिक्शा में ऑक्सिजन भी रखा गया है ताकि Covid-19 के मरीजों की सहायता के लिए झुगी झोपड़ी तक सुविधा पहुंचाई जाए. इस खास ऑटोरिक्शा का वीडियो और उससे जुड़ी सुविधा को लेकर कांग्रेस नेता व पूर्व दूरसंचार मंत्री मिलिंद देवड़ा ने अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि किस तरह से यह ऑटोरिक्शा काम करेगा.
मिलिंद देवड़ा ने ट्वीट करते हुए लिखा,  COVID-19 ऑक्सीजन रिस्पांस वैन महाराष्ट्र के झुगी- झोपड़ी अस्पतालों में ये वैन मदद करेगी. इस ऑटोरिक्शा को मुंबई नगर निगम और बीएमसी को सौंप दिया जाएगा. मिलिंद देवड़ा ने गोदरेज ग्रुप और अनंत विश्वविद्यालय को शुक्रिया किया मिलिंद देवड़ा फाउंडेशन की सहायता के लिए.
COVID-19 ऑक्सीजन रिस्पांस वैन में मरीजों के लिए स्ट्रेचर और हेल्थ वर्कर के बेंच के साथ- साथ ऑक्सीजन सिलेंडर भी रखे होंगे. इसकी सुरक्षा सुविधाओं में आठ स्वचालित सैनिटाइज़र नोजल हैं, जो कीटाणुनाशक का छिड़काव करेगा.
वैन चलाने वाले ड्राइवर के लिए इन्सुलेशन लेयर के साथ- साथ टार्प की डबल परत से कवर किया जाएगा. आपको बता दें कि इस वैन को गंभीर रूप वाले मरीजों की जरूरतों के हिसाब से डिजाइन किया गया है. जो इमरजेंसी में ऑक्सीजन की पूर्ती करेगा. इस वैन को इस तरीके से डिजाइन किया गया है जिसके कारण ये गली- कूचे से लेकर स्लम एरिया तक आराम से पहुंच सकता है.

पेड़ पर चढ़ी थी जंगली छिपकली, कुत्ते ने जबड़े से पूंछ पकड़कर करना चाहा शिकार... देखें Video


कुत्ते और जंगली छिपकली का वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में दिख रहा है कि एक मॉनिटर छिपकली पेड़ पर चढ़ रही है तभी दो कुत्ते आते हैं और उसमें से एक कुत्ता छिपकली का पूंछ पकड़कर उसे नीचे उतारने की कोशिश करता है. वहीं दूसरी तरफ छिपकली अपना पूरा दम लगाकर पेड़ पर चढ़ने की कोशिश करती है. लेकिन कुत्ता उसे जोड़ से पकड़कर पेड़ के नीचे खींच देता है. और छिपकली पेड़ से सीधा नीचे जमीन पर गिर जाती है.
इस वीडियो को उत्तराखंड के पौड़ी जिले में रिकॉर्ड किया गया है. यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में दो कुत्ते मिलकर जिस तरह से छिपकली को घेरकर परेशान करते हैं वह देखकर आपको भी एक पल के लिए हैरानी होगी कि खतरनाक सी जंगली छिपकली को किस तरह से दोनों तरफ से कुत्ते घेरकर उसका शिकार करने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन अच्छी बात यह है कि छिपकली किसी भी तरह से दोनों कुत्तों के हाथों शिकार होने से बच जाती है.
आपको बता दें कि इस वीडियो को ट्विटर पर शेयर किया गया है जिसके बाद से ही यह सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो को अब तक 13 हजार से अधिक बार देखा जा चुका है. इस वीडियो पर लाइक्स के साथ- साथ कई कमेंट भी आ रहे हैं.

जब लोगों ने बत्तख और उसके बच्चों को पार करवाई सड़क


दुनिया में दौर अब ऐसा चल रहा है की इंसान सिर्फ खुद के बारें में ही सोचता है. इंसान इतना खुदमय हो गया है की उसको खुद के अलावा कुछ दिखता ही नहीं है. आज के दिन में हर कोई अपनी ही सोचता है. लेकिन सिर्फ ऐसा नहीं है. यानी कि सिर्फ सेल्फ केंद्रित लोग ही नहीं हैं. बाकी लोग भी हैं जिन्होंने अपनी आंखों के सामने से बंधी एक पट्टी को हटाकर दुनिया को अलग तरीके से देखा है. जो दूसरों को भी देखते हैं. एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. इसमें कुछ नेक लोग मिलकर बत्तख और उसके बच्चों को सड़क पार करवा रहे हैं.
दरअसल इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि बत्तख अपने मासूम बच्चों के साथ है. वो अचानक से सड़क की ओर भाग जाती है. बच्चे भी उसका पीछा करते रहते हैं. तभी एक महिला और कुछ लोग मिलकर सड़क से जा रही गाड़ियों को रूकवाते हैं ताकि बत्तख आसानी से सड़क को पार कर सके. ये वीडियो न्यूयॉर्क का है. जानकारी के लिए बता दें कि बीते दिनों एक ऐसी घटना हुई थी जहां एक मादा पक्षी के अंडे कुछ शरारती बच्चों ने फोड़ दिए थे. जिसके बाद वो मां भी दुख के वजह से जान चली गयी
आपको बता दें की लोगों को ये वीडियो काफी पसंद आ रहा है. इस पोस्ट पर एक यूजर ने लिखा कि हम एक दूसरे का ध्यान रखते हैं. वहीं दूसरे ने कमेंट किया कि बीते चार महीनों में ये वीडियो उन्हें सबसे अच्छा लगा. 

अजीब है ये रेलवे स्टेशन ! टिकट कटती है महाराष्ट्र से और ट्रेन पकड़ना पड़ती है गुजरात से....


सोचिए यदि आप ट्रेन की टिकट एक राज्य से खरीदें और ट्रेन पकड़ने के लिए आपको दूसरे राज्य जाना पड़े तो कैसा लगेगा। लेकिन ऐसा ही हर दिन होता है एक अनोखे स्टेशन में जहां ट्रेन का इंजन किसी एक सूबे में होता है और गार्ड का डिब्बा किसी दूसरे राज्य में स्थित होता है। इस अनोखे स्टेशन का नाम है नवापुर।
केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने स्वयं ट्वीटर पर इसकी जानकारी सांझा की है। रेल मंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि क्या आप जानते हैं कि देश में एक रेलवे स्टेशन ऐसा भी है जो दो प्रदेशों में स्थित है? सूरत-भुसावल लाइन पर नवापुर एक ऐसा स्टेशन है, जहां स्टेशन के बीचो-बीच दो राज्यों की बॉर्डर लगती हैं। इसलिये इस स्टेशन का आधा हिस्सा गुजरात में, तो बाकी आधा महाराष्ट्र में आता है। यह अकेला रेलवे स्टेशन है जोकि गुजरात और महाराष्ट्र दोनों ही प्रदेशों के अंतर्गत आता है। यहां रेलवे स्टेशन के एक छोर पर गुजरात राज्य का बोर्ड लगा है और दूसरी तरफ महाराष्ट्र का बोर्ड लगा है। सबसे अनोखी बात तो यह है कि यहां टिकट काउंटर महाराष्ट्र में पड़ती है, जबकि स्टेशन मास्टर गुजरात की सीमा में बैठते हैं। ट्रेन में चढ़ने के लिए गुजरात वाले हिस्से में जाना पड़ता है।
स्टेशन पर एक बेंच ऐसी भी है, जिसका आधा हिस्सा महाराष्ट्र में तो आधा हिस्सा गुजरात राज्य के अंतर्गत आता है। जिसके कारण इस स्टेशन की बेंच पर बैठने वालों को यह ध्यान देना होता है कि वह किस सूबे में बैठे हैं। यही नहीं, इस स्टेशन पर चार अलग-अलग भाषाओं हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती और मराठी में अनाउंसमेंट होता है, ताकि महाराष्ट्र और गुजरात दोनों राज्यों से आने वाले मुसाफिरों को समझने में आसानी हो।

बच्चों के इस वीडियो ने पहुंचाया गांव की गलियों में, लोगों को याद आए पुराने दिन


देशभर में फिहाल मानसून का सीजन शुरू हो चुका है. लेकिन इस सीजन से पहले गर्मी बेहद थी. वहीं गांव में रहने वाले लोग अपने पास की नहर के कोने-कोने से वाकिफ हो लेते थे इस दोपहर की गर्मी में. हालांकि बचपन में जो नहर पर नहीं नहाया, ऐसा नहीं है कि उसने कुछ खो दिया है लेकिन उसने कुछ पाया भी नहीं है .नहर में नहाने का जो माजा आता है वो आज के बाथरूम के टब में नहीं आएगा . वो नहर में नहाना, वहीं खेतों से तोड़कर ककड़ी खा जाना, कई ऐसे सर्द किस्से होते हैं जो आज भी याद करते मन से गर्मी का अहसास भुला देते है. आज हम आपको दिखाते हैं उसी बचपन का एक वीडियो, जिसमें कुछ बच्चे नहर पर नहा रहे हैं. हो सकता है कि ये वीडियो आपके मंडे वाले दिन को संडे जैसा कूल बना दे.
इस वीडियो को मुकेश कुमार नाम के ट्विटर यूजर ने पोस्ट किया है. इस पोस्ट में वो लिखते हैं, ‘खुशी ये होती है. ये तजुर्बा सिर्फ गांव ही दे सकता है. ’ इस वीडियो में आप साफ देख सकते हैं कि बच्चे नहर किनारे मिट्टी की एक ढलान से फिसलकर सीधे नहर में जा गिरते है. ये एक तरह से गांव का वॉटर पार्क ही है. इस वीडियो को अब तक 2800 से ज्यादा व्यूज मिल चुके थे.
आपको बता दें कि खुशी और बचपन से सरोबार ये वीडियो लोगों को खूबसूरत तो लगना ही था. वैसे आपने किया है कभी ऐसे? नहीं किया तो करके देखना बड़ा सुकून मिलता है. 

अपनी शादी के मंडप पर दुल्हन ने खोला लैपटॉप, दूल्हे का आया ऐसा रिएक्शन


कोरोना के इस दौर में सबके जीवन में काफी बदलाव आ गए है और वो जरुरी भी है. हालांकि इस दौर में तो शांत ही हो जाओ. शादी होती भी है तो कम मेहमानों में ही करना पड़ेगी. हालांकि सोशल मीडिया पर एक पुराना वीडियो लोगों को इस दौर में काफी पसंद आ रहा है. हुआ ये कि इसमें दुल्हन मंडप पर लेकर बैठी हैं लैपटॉप. जी हां, लैपटॉप भला कोई दुल्हन अपनी शादी में क्यों लेकर बैठेगी. 
जी हां, वो ही लैपटॉप जिससे आप-हम ऑफिस का काम करते हैं, अपने टारगेट पूरे करते हैं. अब इस वीडियो को देख जनता ने गजब के रिएक्शन दिए हैं. दिनेश जोशी नाम के ट्विटर यूजर ने यह वीडियो शेयर किया है. इस पोस्ट में वो लिखते हैं, ‘अगर आपको लगता है कि आप अंडर प्रेशर हो तो ये देखो. ’
आपको बता दें की ये वीडियो लोगों को इतना पसंद आ रहा है कि उसे 38 हजार से ज्यादा तो व्यूज मिल चुके हैं. इस वीडियो में आप साफ देख सकते हैं कि दुल्हन मंडप पर बैठी हुई नजर आ रही हैं. उनके हाथ में लैपटॉप है. पति साहब आकर बगल में बैठ जाते हैं, वो उनकी तरफ देखती तक नहीं है. हालांकि ये नहीं पता चला कि वीडियो कब का है, कहां का है. लेकिन ये वीडियो को लोगों को काफी पसंद आ रहा है.

Monday, 6 July 2020

मजदूर ने किया ऐसा डांस कि लोग बोले MJ भी फेल


वैसे तो डांस के कई प्रकार होते है. लेकिन कभी ऐसा डांस देखा है जिसे देखने के बाद जहां बैठे हो वहीं के वहीं रह जाए. जिसने देखने के बाद ऐसा लगे कि ये क्या हो गया है ये कैसे हो गया है. हाल ही में एक ऐसा ही मामला सामने आया है. एक ऐसा ही डांस वीडियो वायरल हो रहा है. एक मजदूर लड़का है, उसने किया ही ऐसा है.
बता दें की बिल्बर्टलेस नाम के ट्विटर यूजर ने यह वीडियो शेयर किया है. इस पोस्ट के कैप्शन में वो लिखते हैं, ‘हुबेई की एक कंस्ट्रक्शन साइट में माइकल जैक्सन फिर से पैदा हो गया. ’ इस वीडियो को अब तक 20 लाख से ज्यादा व्यूज मिल चुके थे. आप साफ देख सकते हैं कि इस वीडियो में बाकी मजदूर भी बैठे हैं. वो तालियां बजा रहे हैं. लोगों को इस मजदूर का डांस वीडियो काफी पसंद आ रहा है. यहां तक कि कई लोगों ने तो इसे माइकल जैक्सन से भी बेस्ट डांसर बता दिया है.
जी हां, बता दें कि अभी तक इस बात का कोई पुख्ता प्रमाण नहीं है कि ये लड़का मजदूर है या फिर कोई डांसर्स है. लेकिन ये वीडियो लोगों को काफी पसंद आया है. 

दुनिया की वो एकलौती बस, जो भारत से जाती थी लंदन


आज की आधुनिक दुनिया में हम किसी न किसी चीज पर आश्रित हो गए है. वहीं एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए हम गाड़ी या बस का सहारा लेते है. हालांकि एक समय ऐसा भी था, जब हमारे देश से लंदन के लिए बस चल रही थी .जी हां एक वक्त ऐसा था जब विदेश के लिए बस चला करती थी. ऐसा हो सकता है कि आप इस बात पर यकीन न करें लेकिन 70 के दशक में लंदन के लिए कोलकाता से बस चलती थी. कई लोग तो इस बात को मानने पर तैयार ही नहीं हो सकते हैं कि इतनी लंबी बस यात्रा भी होती है. लेकिन यह बिल्कुल सच बात है. इस बस सेवा को सिडनी की एक टूर एंड ट्रेवल्स कंपनी द्वारा संचालित  की जाती थी.
दरअसल यह बस सेवा उस वक्त में दुनिया की सबसे लंबी बस यात्रा हुआ करती थी. जब काफी लंबा रास्ता होने के वजह से गंतव्य तक पहुंचने में करीब 45 दिन का वक्त लग जाता था. इस बस सेवा को सिडनी की एक कंपनी अल्बर्ट टूर एंड ट्रेवल्स ने 1950 में शुरू की थी, जो 1973 तक जारी रही. इस बस के जाने का रूट भी बहुत दिलचस्प होता था.
बता दें की इस बस का जाने का दिन और लंदन पहुंचने का दिन पहले से ही तय रहता था. रास्ते में अगर कहीं घूमने की जगह होती थी, तो वहां ये बस रुकती भी थी और यात्रियों को टूर संचालित करने वाली कंपनी होटल में ठहराती थी. लंदन के लिए जाने वाले इस बस में बड़े पैमाने पर यात्री सफर करते थे. कोलकाता से इस बस की शुरुआत होती थी और इसके बाद यह नई दिल्ली, काबुल, तेहरान, इस्तांबुल होते हुए लंदन तक पहुंचती थी. फिर इसी रूट से यह बस वापस लोटती भी थी. इस बस यात्रा के दौरान यह भी ध्यान में रखा जाता था कि लोगों की यात्रा काफी आरामदायक और यादगार रहे.

इन लड़कों को लड़कियों के साथ मजाक करना पड़ा महंगा, वीडियो देख आपको आएगा मजा


अक्सर लड़के और लड़कियों के बीच नोक झोक चलती रहती है. किसी न किसी बात पर एक दूसरे से पंगे ले लिए जाते है. इस पंगे में कभी लड़कियां लड़कों को परेशान करती हैं, तो कभी लड़के लड़कियों को परेशान करते हैं. लेकिन कभी-कभार ये पंगे महंगे भी पड़ जाते है, जब दूसरा पक्ष बुरा मान जाता है तब ऐसा ही लगता है. बता दें की कुछ ऐसा ही नजारा इस वीडियो में देखने को मिल रहा है. जब एक लड़के ने ऐसी लड़की से पंगा ले लिया, जिसने उसकी अच्छी क्लास लगा दी.
दरअसल इस वीडियो में साफ़ नजर आ रहा है कि तीन लड़के किसी रेस्त्रां में खाने के लिए गए हुए हैं. तीनों अपने ऑर्डर का इंतजार कर रहे हैं. इस दौरान उन तीनों लड़कों के अपॉजिट कुछ लड़कियां बैठीं हुई नजर आ रही हैं, जो लंच के लिए ग्रुप में आई हुई हैं. सभी लोग लंच ले रहे हैं. तभी एक लड़के के मन में शरारत आ सूझती है और वह अपने दोनों साथियों को भी परेशान करने की पूरी तरकीब बताता है.
बता दें की तभी तीनों एक साथ मिलकर लड़कियों के चोटी को खींचने के लिए तैयार हो जाते हैं. इसके बाद पहले लड़के विपरीत दिशा में बैठी लड़की के बाल जोर से खींचता नजर आ रहा है. फिर दूसरे दोस्त ने और अंत में तीसरे दोस्त बालों को खींचता है. तभी तीसरी लड़की को गुस्सा आ जाता है, जो कि बहुत हेल्दी वाला होता है. वह उठकर तीसरे लड़के को रेस्त्रां में सबके सामने एक जोरदार पंच मार देती है, जिससे वह लड़का वहीं कुर्सी पर गिर पड़ता है. यह देख लड़कों के पसीने छूट जाते हैं. 

जब पुलिस और जिम ट्रेनर के बीच हुआ पुश-अप चैलेंज, तो लोगों का आया ऐसा रिएक्शन


सोशल मीडिया पर अक्सर ऐसे वीडियो देखने को मिलते है जिसे देखकर दिन बन जाता है और पूरा दिन जोश से भरा गुजरता है. हाल ही में ट्विटर पर एक वीडियो कई अलग-अलग यूजर्स ने शेयर किया हुआ है. इस वीडियो में एक पुलिसकर्मी और एक जिम ट्रेनर के बीच पुश-अप चैलेंज होता नजर आ रहा है.
हालांकि इस ट्वीट के अनुसार, ऐसा कहा जा रहा है कि ये चैलेंज मेक्सिको सिटी का है. यहा जिम ट्रेनर प्रोटेस्ट कर रहे थे. वो जिम खोलने की अनुमति मिल जाने के लिए प्रोटेस्ट कर रहे थे. आपको बता दें कि कोरोना के वजह से वहां जिम बंद हो गए हैं. ऐसे में लोगों के बिजनेस पर काफी असर पड़ रहा है.
जानकारी के लिए बता दें की इस चैलेंज में जीत हुई पुलिसकर्मी की और तो और बंदे ने एक पैर पर पुश-अप मारे. लोगों को जिम ट्रेनर की भी अदा काफी पसंद आया है, वो हार गया लेकिन फिर भी पुलिसकर्मी के लिए ही तालियां बजाता रहा. ये वीडियो लोगों को काफी पसंद आ रहा है. 

इस क्यूट डॉगी के वीडियो ने लोगों को किया भावुक, पेश की अनोखी मिसाल


सोशल मीडिया पर पिछेल कई दिनों से एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसे देखकर आपका मन भी भर उठेगा. यह वीडियो वाकई में दिल को छू जाने वाला है. इस वीडियो में साफ़ नजर आ रहा हैं कि एक महिला अपने पेट्स डॉग के साथ सड़क पर चलती नजर आ रही है. इसी राह से एक दिव्यांग व्यक्ति लाठी के सहारे चला आ रहे है. शायद उस व्यक्ति को दिखाई नहीं देता है. जबकि रास्ते में एक बड़ा सा लकड़ी का टुकड़ा पड़ा हुआ है.
दरअसल जब डॉगी और महिला दिव्यांग व्यक्ति के पास गुजरते हैं, तो इसके बाद महिला हाथ हिलाकर अभिनंदन करती है. जबकि डॉगी एक पल के लिए सहम उठता है कि जिस रास्ते से वह आया है. उस रास्ते में लकड़ी का बड़ा टुकड़ा है. अगर उसे हटाया नहीं गया तो  दिव्यांग व्यक्ति को चोट लाक सकती है.   इसके बाद भी महिला को कोई फर्क नहीं पड़ा और वह आगे जाकर रूक कर देखने लगती है. डॉगी आगे न जाकर पीछे की ओर मुड़ता है. इसके बाद वह अपने मुंह के सहारे से वह लड़की के टुकड़े को सड़क से किनारे रख आता है, ताकि दिव्यांग व्यक्ति को सड़क पर चलने में कोई परेशानी न हो. जबकि महिला अपनी धुन में आगे बढ़ती गई. सोशल मीडिया पर लगातार ऐसे वीडियो शेयर किए जाते रहते हैं, जिनमें डॉगी को अपने कर्तव्यों का निर्वाह करते देखा जा रहा है.
बता दें की इस वीडियो को वन अधिकारी सुधा रमन ने शेयर किया है. उन्होंने डॉगी के इस काम की जमकर तारीफ की है. जबकि महिला को सीख लेने की सलाह भी दी गई है.

सांप का बच्चा अंडे से निकलकर हाथ पर लगा चढ़ने और फिर... देखें Video


सांप का एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में सांप के अंडे से बच्चे निकलते हुए दिखाई दे रहे हैं. सिर्फ इतना ही नहीं यह सांप के बच्चे अंडे से निकलकर एक शख्स के हाथ पर चढ़ जाते हैं और रेंगने लगते हैं. सांप के बच्चे का यह वीडियो बेहद क्यूट है. आपको बता दें कि वीडियो में दिख रहे शख्स का नाम जे ब्रीरुअर है. और जे बीरुअर के पास सांप को रखने का स्टोर है. जिसमें वह तरह- तरह का सांप रखते हैं. इस वीडियो में दिख रहे सांप का नाम है 'अलबिनो कोर्न स्नैक'.
इस वीडियो को जे प्रीहिस्टोरिक पेट्स इंस्टाग्राम पेज से शेयर किया गया है. आप इस वीडियो में देख सकते हैं कि किस तरह से सांप के बच्चे अंडे से निकल रहे हैं. इस वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा गया, सांप के बच्चे जन्म लेते वक्त बहुत प्यारे लगते हैं, अपनी जीवन की शुरुआत करते वक्त उन्हें यह बिल्कुल नहीं पता कुछ दिन के बाद वह कितनी भयानक दुनिया में प्रवेश करने वाले हैं.
वीडियो शेयर करने के एक दिन के अंदर ही यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा

प्यासी बिल्ली ने शख्स को हाथ मारकर पानी पिलाने का किया इशारा.... Video देख छलक जाएंगे आंसू


एक बिल्ली की वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में एक बिल्ली दिख रही है जो प्यासी है और वह अपने पास खड़े शख्स को हाथ से मारकर पानी पिलाने के लिए कह रही है. बार- बार शख्स को हाथ मारने के बाद शख्स पानी की बोतल खोलकर और हाथ में पानी लेकर बिल्ली को पानी पिलाने लगता है. इस वीडियो इंडियन फॉरेस्ट ऑफिसर सुशांता नंदा ने अपने ट्विटर हैंडल से वीडियो शेयर किया है.साथ ही इस वीडियो को शेयर करते हुए सुशांता ने लिखा, प्यासी बिल्ली ने शख्स को हाथ मारकर पानी पिलाने का किया इशारा. यह वीडियो किसी को भी इमोशनल कर सकती है.
आपको बता दें कि सुशांता नंदा आए दिन अपने ट्विटर हैंडल से वीडियो शेयर करते रहते हैं. यह पहली बार नहीं है जब किसी प्यासे जानवर का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इससे पहले भी एक प्यासे बंदर का वीडियो काफी तेजी वायरल हुआ था जिसमें एक शख्स बंदर को पानी पाीलाता हुआ नजर आ रहा है. आपको बता दें कि यह वीडियो बेहद इमोशनल करने वाला है.
सुशांता नंदा के द्वारा शेयर किये गए वीडियो को सोशल मीडिया पर काफी पसंद किया जाता है.इस वीडियो पर कई कमेंट भी आए हैं.
इस वीडियो पर एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा, बिल्ली शख्स को पानी पिलाने के लिए इशारा कर रही है. वहीं एक यूजर ने लिखा बेहद खूबसूरत है ये वीडियो.