Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts
Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts

Sunday, 26 January 2020

डायबिटीज रोगियों के लिए धीमा जहर है ये 4 आहार, शुगर को नियंत्रित कर पाना मुश्किल


आज हम आपको कुछ ऐसे आहार के बारे में बताने जा रहे हैं जो डायबिटीज रोगियों के लिए धीमा जहर का काम करते हैं। तो आइये जानते है उन आहार के बारे में।
आलू

आलू एक ऐसी सब्जी है जिसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पोटेशियम, फाइबर, विटमिन सी, विटमिन बी, कॉपर, ल्यूटिन और मैंगनीज भरपूर मात्रा में उपल्बध होता है। आलू का सेवन त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन इतने गुणों से परिपूर्ण होने के बाद भी डायबिटीज के मरीजों के लिए ये नुकसानदायक होता है। आलू में कार्बोहाइड्रेट की उच्च मात्रा के साथ ग्लाइसेमिक इंडेक्स का लेवल भी ज्यादा होता है जो रक्त में शर्करा की मात्रा बढ़ा देता है।

फैट मिल्क

दूध में पोषक तत्वों की संतुलित मात्रा होती है। इस वजह से सभी व्यक्तियों को अपने आहार में दूध शामिल करने की सलाह दी जाती है। लेकिन डायबिटीज के मरीजों को फैट मिल्क से बचना चाहिए। फैट शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ा सकता है। फुल फैट वाले दूध की जगह आप लो फैट वाले दूध का इस्तेमाल कर सकते हैं।
चीकू

मधुमेह रोगियों को अपने आहार से चीकू को दूर ही रखना चाहिए। यह फल बहुत ही मीठा होता है और इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी बढ़ा हुआ होता है। इसका सेवन करने से शुगर का लेवल बढ़ जाता है।

किशमिश

डायबिटीज के मरीजों को ड्राई फ्रूट्स खाने से भी बचना चाहिए। खासकर किशमिश खाने से परहेज करना चाहिए क्योंकि यह ताजे फलों का कांसन्ट्रेटिड फॉर्म होता है। जहां एक कप अंगूर में महज 27 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है तो वहीं एक कप किशमिश में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बढ़कर 115 ग्राम हो जाती है। इस वजह से डायबिटीज मरीजों को किशमिश का सेवन नहीं करना चाहिए।

सफर के दौरान आती है उल्टियां, तो अपनाए ये तरीका मिलेगी राहत


बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हे सफर करते समय दर्द या उल्टियों की शिकायत रहती है। इसलिए वह सफर से बचते हैं, अगर आपको भी यही दिक्कत है तो आप इन टिप्स को अपनाकर अपने सफर को अच्छे से पूरा कर सकते हैं। अगर कार में सफर करने से परेशानी होती है, तो हल्की और गहरी सांस लेते रहें। ऐसा करने से आपको बैचेनी नहीं होगी। हमेशा कार की आगे वाली सीट पर बैठें। अगल-बगल न देखकर अपना ध्यान सामने की तरफ रखे।
एक आसान उपाए है जो मोशन सिकनेस को कम करता है वो है पिपरमिंट। पिपरमिंट के आयल की कुछ बूंदे रुमाल में डालकर उसे सूंघते रहे। इसके इलावा मिंट की चाय पीने से भी सकून रहेगा। साथ ही अदरक की गोलियां, टॉफी या फिर अदरक की चाय भी कारगर होती है। सफर के दौरान पढ़ने लिखने से बचें। इससे अच्छा होगा कि आप गाने सुने। सिर को सीट से चिपकाकर आराम की मुद्रा में बैठे। खिड़की खोलकर रखे क्युकी हवा लगेगी तो आराम रहेगा।
अगर इन सब बातों से भी आराम न मिले, तो डॉक्टर से मिलकर जानकारी हासिल करें और दवा का सेवन करें।

जब लेडी कांस्टेबल को हुआ हत्यारे कैदी से प्यार, ज़मानत दिलाकर रचाई शादी..


कुछ महीने पहले रियल में अजब प्रेम की गजब कहानी देखने को मिली थी। जिसमे एक महिला कांस्टेबल का दिल गैंगस्टर पर आ गया था। वह उसकी इस कदर दीवानी हुई कि, दोनों ने आपस में शादी रचा ली। गैंगस्टर और पुलिस के बिच हुई इस शादी के चर्चे दूर दूर तक हुए। चलिए आपको बताते हैं कानून के रखवाले और अपराधी के बीच की ये प्रेम कहानी कैसे शुरू हुई।
राहुल नाम का युवक दनकौर कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर है। और कॉन्स्टेबल युवती ग्रेटर नोएडा में ड्यूटी कर रही थी। जेल में होने के दौरान जब राहुल पेशी पर आता तो उसे कोर्ट के बंदी गृह में रखा जाता था। वहीं पर इस महिला पुलिसकर्मी की ड्यूटी लगी हुई थी। वही दोनों की आपस में दोस्ती हो गई, जोकि कुछ समय बाद प्यार में बदल गई। जब राहुल जमानत पर बाहर आया तो दोनों ने शादी रचा ली।
राहुल दुजाना गैंग से जुड़ा हुआ है और वह एक शार्प शूटर है। 2014 में उसने बिजनसमैन मनमोहन गोयल की हत्या हुई थी। बाद में खबरें आई थीं कि वह हत्या जमीन से जुड़े विवाद में अनिल दुजाना ने ही करवाई थी। उस पर किसी वक्त 5 हजार रुपये का इनाम भी रखा गया था।

80‍ डिग्री तक मुड़ा हुआ था बच्चे का सिर, फिर इस महिला ने जो किया नहीं होगा विश्वास


अक्सर दुनिया में कई बड़े अजीब मामले देखने को मिलते हैं। जिसे देखकर विश्वास करना मुश्किल होता है। पर वो होता हकीकत है। आज भी एक ऐसी ही घटना के बारे में आपको बताएंगे। मामला मध्‍यप्रदेश के एक गांव के रहने वाले 13 वर्षीय महेन्‍द्र के संबंध में है। जिसका सिर 180‍ डिग्री तक मुड़ा हुआ था,फिर एक महिला दवारा कुछ ऐसा किया गया जिससे उसका मुड़ा हुआ सिर ठीक हो गया। अब दुनिया भर से इस महिला को बधाई दी जा रही है।
13 वर्षीय महेन्‍द्र का बचपन से ही कंजेनिटल मायोपथी नाम की एक बेहद दुर्लभ अवस्था से परेशान था, इस अवस्था से बच्चे की गर्दन और सिर 180 डिग्री पर मुड़े हुए थे, जिस वजह से वह कुछ नहीं कर पाता था। वह हमेशा अपनी मां पर निर्भर रहता था। स्कूल नहीं जा पता था न ही दोस्तों के साथ खेल सकता था। लेकिन जब वह ज़ादा ही परेशान हो गया तो ऊपरवाला ने फरिश्ता बनाकर महेंद्र के जीवन में भी एक फरिश्‍ते भेज दिया। UK से जूली जोंस आई जिन्होंने कुछ ऐसा किया और बच्चा ठीक हो गया।
बताया जा रहा है कि जूली जोंस ने इस लड़के की मदद करने की ठान ली थी और उन्होंने ऑनलाइन एक क्राउड फंडिंग पेज बनाया और 9 लाख रूपये जमा किये। लेकिन उन्हें इस बात से निराशा हुई कि इतनी गंभीर बीमारी से जूझ रहे बच्‍चे लेकिन ईलाज के लिये कोई आगे नही आ पा रहा। रीढ़ की हड्डी के सर्जन डॉक्‍टर राजागोपालन कृष्‍णन महेन्‍द्र का ऑपरेशन दिल्ली में करने वाले थे। अब इस बच्‍चे का पहला ऑपरेशन महिला दवारा हो चुका है पर रीढ़ की हड्डी को ठीक होने में अभी समय लगेगा,इसके पश्‍चात यह भी बच्‍चा आम बच्‍चों की तरह खेल सकता है और पढ़ाई कर पायेगा।

तेज़ प्रेशर लगते ही जैसे टॉयलेट में पेंट खोलकर बैठा, तभी हुई मौत से मुलाकात


टॉयलेट जहां जानकर इंसान काफी हल्का फील करता है। सोचा अगर वहां कुछ ऐसा हो जाये जिससे मौत का मंज़र नज़र आ जाए तो कैसा होगा। सोचकर देखिये आपको बहुत तेज़ टॉयलेट लगी है, और आपको बाथरूम जाकर हल्का होना हो। लेकिन वहां आपका स्वागत एक ज़हरीला सांप करे तो, तो क्या होगा ? ऐसा ही कुछ कुछ हुआ बैंकॉक में रहने वाले एक व्यक्ति के साथ।
यहां आदिसक थानॉसिल नाम के शख्स ने अपने फेसबुक पोस्ट में खुद के साथ हुई घटना की एक तस्वीरें पोस्ट की है। थानॉसिल दवारा तीन तस्वीरें शेयर की गई। उन्होंने पोस्ट में लिखा कि उसे अर्जेन्ट बाथरूम जाना था। इसके लिए वो घर के गेराज के पास बने बाथरूम में चला गया। वहां जैसे ही उसने पेंट उतारे, उसे कुछ अजीब लगा। जब उसने गौर से कमोड के नीचे झांका, तो वहां काले रंग का एक कोबरा छिपकर बैठा था।
आदिसक के बताया, अगर वह सांप को नहीं देख पाते, तो वह वही बैठ जाते। जिससे सांप उनपर अटैक कर देता। आदिसक ने लिखा कि गनीमत रही कि कोई और उस समय टॉयलेट इस्तेमाल नहीं कर रहा था। नहीं तो उसे ये सांप काट लेता। यह सांप काफी ज़हरीला और कोबरा प्रजाति का था, जिसे उन्होंने रस्सी से खेच के बहार निकला था। अगर ये किसी को काट ले तो उसकी जान बचाना काफी मुश्किल है।