Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts
Showing posts with label AJab Gajab. Show all posts

Monday, 9 September 2019

आखिर क्यों मनाया जाता है हनीमून, वजह जानते हैं आप?


हनीमून, यानी वो समय जब शादीशुदा जोड़ा एक-दूसरे को और करीब से जानने की कोशिश करता है। प्यार और रोमांस से भरे इस फेज में कपल और भी नजदीक आ जाते हैं। लेकिन कोई ये नहीं जानता कि इसका असल मतलब क्या है और इसकी शुरुआत कब हुई थी।
हर कपल हनीमून की प्लानिंग शादी से पहले ही कर लेते हैं। जहां कुछ लोग विदेश में हनीमून मनाते हैं, तो कुछ लोग भारत में ही घूम आते हैं। सबसे पहले बात करते हैं कि हनीमून की शुरुआत कब हुई थी? इंटरनेट पर इस सवाल के कई जवाब मौजूद है।
हनीमून की शुरुआत ब्रिटेन से हुई थी। यहां किसी कपल की शादी में जब कोई रिश्तेदार नहीं आ पाता था, तो कपल खुद उनके घर जाकर उनसे मिल आता था। कहा जाता है कि इससे रिश्ते मजबूत होते थे। साथ ही कपल का घूमना-फिरना भी हो जाता था। इस दौरान रिश्तेदार कपल को शहद चटाकर उनके मधुर जिंदगी की कामना करते थे। इसलिए इस परम्परा का नाम हनीमून पड़ा।
एक और वेबसाइट के मुताबिक, इसे हनीमून नहीं बल्कि हनीमोन्स कहते हैं। इसका मतलब वो समय जब कपल कम होते प्यार को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल करते हैं। एक और सोर्स के मुताबिक, फिफ्थ सेंचुरी में सुहागरात से पहले कपल को शहद से बनी ड्रिंक पिलाई जाती थी। इसके बाद कपल चांदनी रात में डांस करते थे। इसलिए इसका नाम हनीमून रखा गया।


39 साल की महिला ने जन्म दिए 10 बच्चे, इस कारण फिर हुई प्रेग्नेंट


39 साल  की एलेक्सिस ब्रेट ब्रिटेन की पहली महिला बन गई है जिसने लगातार 10 लड़कों को जन्म दिया और उसके बाद एक एक लड़की की मां बनी। दो दिन पहले ही बच्ची को  जन्म देने के बाद वह खुशी से भर उठी और कहा कि उसे ऐसा लग रहा है मानो उसके पांव जमीन पर नहीं हों। उसने कहा कि मैं बहुत खुश हूं कि मुझे बेटी हुई है। यह बहुत ही सुखद अनुभव है। उसने कहा कि उसे लग रहा है मानो वह आसमान में उड़ रही है। बेटी का नाम उन्होंने कैमरून रखा है।
एलेक्सिस को लग रहा था कि कहीं उसे फिर लड़का ही न हो जाए, इसलिए उसने प्रेग्नेंसी टेस्ट भी करवाया था। प्रेग्नेंसी टेस्ट में पता चला था कि उसके गर्भ में लड़की ही है। वैसे लड़का भी होता तो उसके सामने उसे जन्म देने के सिवा दूसरा कोई विकल्प नहीं था।
10 लड़कों के बाद लड़की होने से उसकी फैमिली में सभी खुश हैं। एलेक्सिस  के हसबैंड 44 साल के डेविड ट्रेन के ड्राइवर हैं। उन्होंने कहा कि एक बहन के होने से उनके सभी लड़कों पर बहुत ही अच्छा असर पड़ा है। वे बहुत अच्छा फील कर रहे हैं। जब कैमरून सोई रहती है तो वे बहुत शांत रहते हैं, ताकि कहीं वह जाग न जाए। वहीं, वे उसे गोद में लेने और दूध पिलाने में मदद करने के लिए भी तैयार रहते हैं।
इस कपल का सबसे बड़ा लड़का कैम्पबेल 17 साल का है। उसके बाद हैरिसन 16, कोरे 14, लैचलान 11, ब्रोडी 9, ब्राह्न 8, मैक 5, ब्लेक 3 और रोथैगैड 2 साल का है। एलेक्सिस ने हंसते हुए कहा कि अब वे रुकने जा रहे हैं। अब और बच्चे नहीं। अब हमारी फैमिली पूरी हो गई है। एक बच्ची की कमी थी, उसके आने से अब उनके जीवन में खुशियां ही खुशियां हैं। इनके पिता डेविड की जॉब अच्छी है और उसे उम्मीद है कि इन्हें किसी तरह की कोई कमी नहीं होगी।


सपनों की उड़ान: अनुप्रिया लाकड़ा बनी पहली आदिवासी पायलट


ओडिशा के माओवाद प्रभावित मलकानगिरि जिले की एक आदिवासी लड़की अनुप्रिया लाकड़ा ने अनेक वर्ष पूर्व आकाश में उड़ने का सपना देखा तथा उसे पूरा करने हेतु इंजिनियरिंग की पढ़ाई मध्य में छोड़ दी। अनुप्रिया ने आखिरकार अपने सपने को पूर्ण करके ही दम लिया।
गरीबी एवं अभाव में जीवन व्यापन कर रहे लोगों हेतु अब अनुप्रिया आस की किरण बन चुकी हैं। बता दें कि लड़की के पिता मॉरिनियास लाकड़ा ओडिशा पुलिस में कॉन्स्टेबल हैं। मां जामज यास्मिन लाकड़ा हाउस वाइफ हैं। 
लड़की की दसवीं की पढ़ाई कॉन्वेंट स्कूल एवं 12वीं की पढ़ाई सेमिलिदुगा के एक स्कूल से हुई है। लड़की के पिता का कहना कि साल 2012 में अनुप्रिया ने भुवनेश्वर में पायलट ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में प्रवेश लिया।
वहीं, अन्य तरफ उनकी मां ने कहा कि,‘‘ मैं काफी प्रसन्न हूं। यह मलकानगिरि के लोगों हेतु काफी गर्व की बात है। उसकी कामयाबी अन्य लड़कियों को प्रेरणा देगी।’’



Saturday, 7 September 2019

ये हैं दूसरी दुनिया में ले जाने वाले 5 दरवाजे, जानिए इनके बारे में...



हमारे मन में उठने वाला एक सामान्य, किन्तु रहस्यमयी प्रश्न है कि क्या कोई अन्य दुनिया भी है? वो संसार जो इस धरती की तरह नहीं है, वहां की चीजें अलग है एवं साथ ही ये भी क्या उस दूसरी दुनिया में जाने का रिश्ता इसी धरती पर प्राप्त हो सकता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ऐसे कुछ सबूत उपस्थित हैं जो इस ओर इशारा करते हैं कि दूसरी दुनिया यहां से प्रारम्भ होती हैं।
बोलीविया में एक ऐसा दरवाजा है जिसे सूर्यदेव का दरवाजा माना जाता है। लोग ऐसा मानते है कि इस दरवाजे के उस पार एक ऐसा संसार है जो इस धरती की दुनिया से भिन्न है। लोग यहां आकर पूजा-अर्चना भी करते हैं एवं आस करते हैं कि एक दिन दरवाजा खुलेगा तथा उन्हें उस दूसरी दुनिया को देखने को मिलेगा।
1.स्टिल सेमेट्री- पेंसिल्वेनिया
सेमेट्री मतलब कब्रिस्तान। इस कब्रिस्तान को ही नर्क का दरवाजा मानते हैं। ऐसा बोला जाता है कि यहां पर जब भी ये दरवाजा खुलता है तो भूत-प्रेत रुह यहीं से आते-जातें हैं एवं लोगों को कष्ट पहुंचाते हैं। यहां की कुछ चुड़ैले ऐसी विनती करती हैं कि उनकी पुकार सुन ली जाए तथा दरवाजा पूरी तरह से खुल जाएं व भूत-प्रेत दोबारा से धरती पर आ सकें।
2.सुमेरियन गेट
इस दरवाजे के उस पार भी अन्य दुनिया की कल्पना की जाती है। इराक के लोग ऐसा मानते थे कि उनके पूर्वजों के पास ऐसी ताकतें थी जिससे वो अन्य संसार में आ जा सकते थे। शिलालेख पर की गई कलाकृतियां इसके सम्बन्ध में एक कहानी सी बताती हैं।
3.होया बाचो फॉरेस्ट
रोमानिया का हायो बाचो फॉरेस्ट रात के समय एक रहस्यमयी जंगल बन जाता है। लोग ऐसा मानते है कि रात के समय इस जंगल से गुजरने वाले लोग अदृश्य हो जाते हैं। उस वाक्ये से  इस बात का सबूत प्राप्त होता है जब एक लड़की 5 वर्ष हेतु खो गई थी। जब वो वापस लौटी तो उसकी आयु में जैसे वृद्धि हुई ही नहीं थी। लोगों ने उसे देखा तो उन्हें अपनी आंखों पर यकीन नहीं हुआ। वहीं, लड़की का बताना था कि वह तो गायब ही नहीं  हुई है।
4.चेक रिपब्लिक
यहां पर एक ऐसा गड्ढा है जिसकी गहराई किसी को मालुम  नहीं है। ऐसा माना जाता है कि ये गड्ढा सीधे नर्क की तरफ  जाता है। 13 वीं सदी में एक कैदी के समक्ष ये शर्त रखी गई थी कि उसकी सजा तभी माफ की जाएगी यदि वो गड्ढे के नीचे जाए। जब वो नीचे गया तो उसके चिल्लाने की आवाज आई तथा जब उसे बाहर निकाला गया तो वो वृद्ध हो चुका था। उसने कहा कि नीचे जाते ही उसकी आयु में 30 वर्ष बढ़ गई थी।

Friday, 6 September 2019

घर या ऑफिस में रखें फेंगसुई का नेवला, हर काम में मिलेगी सफलता


फेंगशुई के सिद्धांत पॉजिटिव और नेगेटिव एनर्जी पर काम करते हैं। यदि आपके घर में नेगेटिव एनर्जी है तो हर काम में आपको परेशानियों का सामना करना पड़ेगा, वहीं यदि आपके घर में पॉजिटिव एनर्जी है तो हर काम में आपको आसानी से सफलता मिलेगी। फेंगशुई में ऐसी अनेक चीजों का जिक्र है, जिन्हें घर में रखने से बहुत सी परेशानियों से छुटकारा मिल जाता है। फेंगसुई का नेवला भी इन्हीं चीजों में से एक है। इस नेवले को घर या ऑफिस में रखने से पॉजिटिव एनर्जी मिलती है और सभी काम आसानी से हो जाते हैं।
 फेंगशुई में नेवले को सोने के सिक्के पर बैठा दिखाया जाता है, जो चल धन-संपत्ति का प्रतीक है। अगर आपका बिजनेस नहीं चल रहा तो आप इसे अपनी दुकान या ऑफिस में भी रख सकते हैं। इससे आपका बैड लक दूर होगा और बिजनेस में तरक्की होगी।

मिलते हैं कई फायदे
1. फेंगशुई के नेवले को घर के मुख्य हॉल में रखें। इससे घर में धन-संपत्ति आएगी।
2. फेंगशुई में नेवले के ऊपर और आस-पास छोटे नेवले भी दिखाई देते हैं जो वंश वृद्धि का प्रतीक है। यानी इसे घर में रखने से वंश की वृद्धि भी संभव है।
3. ऑफिस में कुछ समस्या हो तो नेवले को अपनी टेबल पर रखें। इससे ऑफिस के माहौल में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहेगी और नेगेटिव एनर्जी कम होगी।
4. अगर नेवले को दुकान पर रखना हो तो दक्षिण दिशा में इस तरह रखें कि वो सभी को नजर आए, इससे आपको फायदा होगा और दुकान खूब चलेगी।


समुद्र में मछुआरे ने फेंका जाल, मछली की जगह फंसा 'एलियन'


सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। ये वीडियो अलास्का का है, जहां समुद्र में मछली पकड़ने गए मछुआरे की जाल में एक अजीबोगरीब जीव फंस गया। इसकी तस्वीरें भी इंटरनेट पर वायरल हो रही है। अलास्का में रहने वाले सराह वास्सेर अल्फोर्ड समुद्र में मछली पकड़ने गए थे। उन्होंने पानी में जाल फेंका। थोड़ी देर बाद उनकी जाल में मछलियां फंस गई। उन्होंने जाल को नाव पर खींचा। लेकिन तभी मछलियों के बीच उन्हें एक अजीबोगरीब जीव नजर आया।
ये जीव ऑरेंज कलर का है। जिसकी बॉडी में लंबी-लंबी धारियां है। इसे देख कई लोग डर गए। ये जीव वाकई दिखने में काफी डरावना है।
अलास्का के प्रिंस ऑफ वेल्स आइलैंड में ऐसे कई जीव रहते हैं। कुछ लोगों ने इसे हॉलीवुड मूवी एलियन के जीव से कंपेयर कर दिया।
बाद में इस जीव की पहचान हो गई। इसे बास्केट स्टार के नाम से जाना जाता है। इसकी बॉडी डिस्क शेप की होती है। साथ ही इसके पांच फ्लेक्सिबल आर्म्स भी होते हैं।
इसकी तस्वीर वायरल होने के बाद लोगों ने कई तरह के कमेंट्स किये। कुछ लोगों ने कहा कि उसे वापस पानी में डाल देना चाहिए। एक यूजर ने लिखा कि बेचारा सांस नहीं ले पा रहा होगा।
इसके बाद अल्फोर्ड ने बताया कि उनलोगों ने वापस उसे समुद्र में डाल दिया था।





बेहद जहरीला है यहां का गार्डन, पलक झपकते ही ले सकता है जान


दुनिया काफी अजीब चीजों से भरी पड़ी हैं. अगर आपने नहीं जानते हैं तो आपको बता देते हैं आज ऐसे ही एक पौधे के बारे में जो आपकी जान भी ले सकते हैं. दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न चीजें देखने को मिलती हैं. ऐसा ही कुछ है इन पेड़ों के साथ. आपने जहरीले जानवर के बारे में तो सुना ही होगा, लेकिन हम बात करने जा रहे हैं जहरीले पेड़-पौधों की. पेड़ पौधे भी जहरीले हो सकते हैं इसकी जानकारी नहीं होगी. पेड़-पौधों की कई प्रजातियां ऐसी हैं, जो जहरीली हैं.
जहरीले पेड़ पौधों से लोग दूर रहने में ही अपनी भलाई समझते हैं लेकिन एक जगह ऐसी भी है, जहां इन जहरीले पेड़-पौधों का गार्डन बना हुआ है. आज हम आपको नेचर के उन खतरनाक और जानलेवा पेड़-पौधों से भरे बगीचे के बारे में बता रहे हैं, जो पलक झपकते आपकी जान ले सकते हैं. ये पेड़ पौधे इंग्लैंड के एक गार्डन में. इतना ही नहीं, इस गार्डेन में रहने वाले कीड़े-मकौड़े भी जहरीले हैं. जहरीले पेड़ पौधों से भरे इस गार्डन का नाम ‘Alnwick Poison Garden’ है और ये इंग्लैंड के नॉथमबेरलैंड में मौजूद है.
दरअसल, नॉथमबेरलैंड की रानी ने इसे साल 1750 में बनवाया था. वो इस गार्डन को यादगार और सबसे अलग बनाना चाहती थीं इसलिए उन्होंने इसे जहरीला गार्डन बनाने का फैसला किया. ऐसा करने के पीछे रानी का एक ही मकसद था कि लोगों को इस बात की भी जानकारी होनी चाहिए कि अगर पेड़-पौधों को औषधि के रूप में प्रयोग कर सकते हैं, तो वहीं किसी की जान लेने में भी पेड़-पौधों का इस्तेमाल किया जा सकता है. ये जान ले भी सकते है.



कैमरा देख गुस्सायी भेड़, किया कैमरामैन पर हमला और वायरल हुआ वीडियो


वाइल्डलाइफ फोटोग्राफी करते समय कई बार ऐसा होता है कि कोई जानवर कैमरामैन के पास आ जाता है. ऐसा ही बीबीसी कैमरामैन के साथ जंगल में कुछ ऐसा हुआ, जिसको वो कभी नहीं भूल पाएंगे. ये अनुभव बेहतरीन भी होता है और थोड़ा डरा देने वाला भी. इसी का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर चर्चा में बना हुआ है. इसे देखकर लोग अलग-अलग तरह के कमेंट्स भी कर रहे हैं.
 दरसल, एक बकरी ने कैमरामैन को सींघ मारकर अटैक किया. आपको बता दें, ये घटना तब हुई जब बीबीसी का क्रू 'एनिमल पार्क- एक सीरीज' नाम के शो की शूटिंग कर रहा था. विल्टशायर के सफारी पार्क में शूटिंग के दौरान बकरी ने उन पर हमला कर दिया. बीबीसी ने ही सोमवार को ये वीडियो पोस्ट किया है. इसके अलावा खबर के अनुसार, एक पार्क कर्मचारी ने उनको अफ्रीका की कैमरून शीप से मिलवाया. कैमरून भेड़ दुनिया की सबसे दुर्लभ नस्लों में से एक है. बता दें, शख्स अभी भी घायल हैं, अप्रत्याशित हमले के बाद उनको इतना दर्द हुआ कि वो जमीन पर गिर गए थे.
हमले के बाद पार्क की कर्मचारी जोर-जोर से हंसने लगीं और कहा- 'ये ऐसा कभी नहीं करती. मुझे माफ करना.' यूट्यूब पर ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है. इस वीडियो को अब तक 8 लाख व्यूज मिल चुके हैं और कई लोग कमेंट कर चुके हैं.

जंगल में मिला 2 मुंह वाला सांप वायरल हो रही तस्वीरें


कई बार अपने दो मुंह वाले सांप के बारे में सुना होगा. लेकिन कहा जाता है कि ऐसा कोई सांप नहीं होता. अभी फिर से ये खबर सामने आई है कि एक बार फिर से दो मुंह वाला सांप दिखाई दिया है जिसे देखकर हर कोई हैरान हैं. बता दें, अमेरिका के न्यूजर्सी में पर्यावरण सलाहकारको दो मुंह वाला सांप मिला. जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई  है.
दरअसल, खबर के मुताबिक, इस सांप को दो लोगों ने पकड़ा था, जो बर्लिंगटन काउंटी में हर्पेटोलॉजिकल एसोसिएट्स के लिए काम करते हैं. इतना ही नहीं इस सांप का नाम भी रख दिया गया है. इसका नाम डेव रखा गया है. डेव नाम के शख्स ने इस सांप को पकड़ा था, इसलिए इस सांप का नाम डबल डेव रखा है. आप देख सकते हैं ये दिखने में बड़ा ही अजीबोगरीब है. इस सांप के दो सिर, चार आंख और दो जुबना है. लेकिन बॉडी एक है.
सांप को ढूंढने वालों में से एक पर्यावरण सलाहकार डेव शेंडलर ने कहा- 'सांप के लिए जंगल में जीना काफी मुश्किल है.' इस बारे में डेव शेंडलर ने बताया कि दो सिर होने के कारण सांप काफी धीरे चलते हैं. जानवर उनको आसानी से शिकार बना सकते हैं. ये 8 से 10 इंच लंबा सांप है. इस सांप को रखने के लिए स्पेशल परमिशन लगेगी. जिसके बाद ही इस पर स्टडी हो पाएगी. फ़िलहाल इस सांप के बारे में कोई और जानकारी नहीं है.


...तो इस वजह से शादी के बाद फूलने लगता है लड़कियों का शरीर


विवाह किसी भी लड़की के जीवन में एक बड़ा परिवर्तन लेकर आता है। विवाह से ही जुड़ी एक और चीज है जो है विवाह के पश्चात लड़कियों का लगातार वजन बढ़ना। अक्सर आपने सुना होगा कि विवाह के पश्चात लड़कियों के वजन में वृद्धि होने लगती है और लगातार बढ़ते वजन के चलते उन्हें बहुत सी परेशानियों से गुजरना पड़ता है।
जब लड़की वैवाहिक जिंदगी में प्रवेश करती है तो उसमें अनेक तरह के इमोशनल और हार्मोनल बदलाव भी आते है। शारीरिक बदलाव भी शरीर में होने लगते है और विवाह को खुशहाल बनाने हेतु सेक्सुयल लाइफ में सक्रिय होना भी वजन बढ़ाने में जिम्मेदार होता है।
विवाह के पश्चात लड़की की जिम्‍मेदारी बढ़ जाती है एवं स्वयं को फिट रखने हेतु वो समय नहीं निकाल पाती है जिसके कारण उनका वजन बढ़ता है।
विवाह के पश्चात जब वो अपने पार्टनर संग यौन संबंध बनाती हैं तो उन्हें हर प्रकार के टेंशन से आजादी प्राप्त होने लगती हैं
तथा इसलिए भी उनके शरीर में काफी परिवर्तन देखने को मिलते हैं |
विवाह के कुछ वक्त के पश्चात ही कपल्स फैमिली प्लानिंग के सम्बन्ध में सोच लेते है और गर्भावस्था के पश्चात लड़कियों का वजन बढ़ जाता है और बाद में वो अपने शरीर का अच्छी तरह से ध्यान नहीं दे पाती व नतीजा मोटापे में वृद्धि होने लगती है |
विवाह के पश्चात पति संग रहकर हम बाहर का खाना सर्वाधिक पसंद करते है जिसमें हम मसालों का इस्तेमाल अधिक ही करते है यही हमारे मोटापे की वजह बनता है।




नवजात बच्ची का अंतिम संस्‍कार करने ले गया बाप, तभी देखा कुछ ऐसा कि उड़ गए उसके होश!


आज हम आपको एक ऐसी खबर के बारे में बताएंगे जिसे जानकर आपके होश उड़ जाएंगे। दरअसल, हम जिस खबर की बात कर रहे हैं, वो हरियाणा के यमुना नगर में घटी है।
जहां डिलीवरी के पश्चात ही डॉक्टरों ने बच्ची को मरा हुआ घोषित कर डाला। तब अपने दिल पर पत्‍थर रखकर बाप हिंदु धर्म की परम्परा के मुताबिक अंतिम संस्कार हेतु ले जाने लगा।
तत्पश्चात उस बाप से रहा नहीं गया तो वो अपनी बच्‍ची का अंतिम बार चेहरा देखने हेतु पॉलीथिन हटाया तो उसने जो देखा वो देखकर उसके होश ही उड़ गए एवं उसकी आंखें फटी की फटी रह गई। सभी ये देखकर दंग रह गए कि उस बच्ची की आंखें खुली है और वह हाथ हिला रही है।
ऐसा देखने के पश्चात बच्ची के बाप की प्रसन्नता का कोई ठिकाना नहीं रहा। तत्पश्चात वह बच्ची को दिखाने हेतु फिर से डॉक्टर के पास ले गया। चिकित्सक ने उसको पूरी तरह से स्वस्थ बताया। सभी का ऐसा मानना है कि इस बच्ची को ईश्वर ने दूसरा जन्म प्रदान किया है।



साही को निगलना अजगर को पड़ा बड़ा भारी, हुआ ऐसा हाल...


जब भी हम भोजन का सेवन करते है तो उसे अच्छे से जांच परख कर खाते है कि वो हमारे लिए सही भी है या नही। लेकिन जानवरो में ऐसा नही नही होता है। वो कभी- कभी ऐसी कोई वस्तु का सेवन कर लेते है जो उनके लिए नुकसानदेह होता है।
ऐसी ही एक घटना एक अजगर संग हुई। असल में अजगर के सामने एक साही आ गया जिसका शिकार अजगर ने बड़ी ही सरलता से करके उसे सीधे निगल लिया जो की अजगर को काफी महंगा पड़ा।
साही जो की एक ऐसा जानवर हैं, जिसके शरीर के ऊपर पूरे कांटे ही कांटे मौजूद होते हैं। साही के कांटे जो सर्वाधिक जहरीले होते है। साही के कांटे यदि किसी को चुभ भी जाये तो उसका बचना असम्भव होता हैं।
बता दें कि अजगर ने साही को निगल तो लिया किन्तु अजगर को उन कांटों की वजह से मृत्यु सामना करना पड़ा। साही के ऊपर जो कांटे थे उसका जहर अजगर के शरीर में फैल गया एवं अजगर मौत के घाट उतर गया।



इस अनोखी इमारत में रहते हैं 200 परिवार, मिलती है ये खास सुविधाएं


आज हम आपको एक ऐसे कस्बे के सम्बन्ध में जानकारी देने जा रहे हैं जहां केवल एक ही इमारत है एवं उसमें 200 परिवार रहते हैं। दरअसल, अमेरिका के उत्तरी राज्य अलास्का का छोटा सा कस्बा व्हिटियर है।
ये कस्बा अपनी बसावट तथा व्यवस्था हेतु प्रसिद्ध है। इस पूरे कस्बे में सिर्फ एक 14 मंजिला इमारत ‘बेगिच टॉवर’ है। यही वजह है कि इसे वर्टीकल टाउन भी बोलते हैं। आपकी जानकारी हेतु बता दें कि इस इमारत में करीबन 200 परिवार रहते हैं। कस्बे में इन्हीं लोगों की जनसंख्या है।
जानकारी के मुताबिक, शीतयुद्ध के दौर में यह इमारत सेना का बैरक होती थी, जहां की अनेक रहस्यमयी बातें आज तक उजागर नहीं हो सकी हैं। इस इमारत में सिर्फ लोग ही नहीं रहते, बल्कि उनकी आवश्यकता तथा जरूरत की प्रत्येक सामग्री हेतु यहां व्यवस्था है।
इमारत में पुलिस स्टेशन, स्वास्थ्य सेवा केंद्र, प्रोविजन स्टोर, लॉन्ड्री व तल मंजिल पर चर्च है। इनमें कार्य करने वाले कर्मचारी तथा मालिक भी इसी इमारत में निवास करते हैं।  इसके चलते यह रहने हेतु अन्य की तुलना में अधिक सुविधाजनक इमारत बन गई है।




न था पीने का साफ पानी न ही बिजली, झुग्गी में रहने वाला बच्चा कैसे बन गया राष्ट्रीय खिलाड़ी


राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी देवेंद्र वाल्मीकि का एक फेसबुक पोस्ट वायरल हो रहा है। पोस्ट को 'ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे' ने शेयर किया है, जिसमें उनके संघर्षों और हॉकी खिलाड़ी बनने की कहानी बताई गई है। पोस्ट में देवेंद्र वाल्मीकि अपने बचपन के बारे में बताया है, जब वह अपने परिवार के साथ मुंबई में एक झुग्गी में रहते थे। उन्होंने बताया, "मेरे माता-पिता अच्छी जिंदगी के लिए गांव से मुंबई आ गए। हमने स्लम में एक 10 बाई 10 का घर किराए पर लिया।"
उन्होंने लिखा, न ही हमारे पास पीने के लिए साफ पानी था और न ही बिजली। पढ़ने के लिए स्ट्रीट लाइट का इस्तेमाल किया और कभी-कभी भी बिना खाए सो जाते थे। मेरा परिवार 40 साल तक बिना बिजली के रहा।
उन्होंने बताया कि इस खेल ने उनके जीवन को कैसे बदल दिया। "जब मैं 9 वीं कक्षा में था, मेरे भाई ने स्कूल में हॉकी खेलना शुरू कर दिया था। मुझे इस खेल के बारे में कुछ पता नहीं था। एक बार मैंने हॉकी खेलने का फैसला किया। अपने भाई (युवराज वाल्मीकि, अब एक राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी है) को देखते हुए मैंने सीखा।
मैं हर दिन प्रैक्टिस करता था। जब मैं मैदान पर था तो इस बात की चिंता नहीं होती थी कि कौन हूं, कहां से आया हूं और मेरी परिस्थितियाँ क्या है।" कड़ी मेहनत का फल तब मिला, जब मुझे अंडर 18 की नेशनल टीम में चुना गया।
मैंने अपने दिल और आत्मा को खेल में लगा दिया। मैंने पैसा कमाने के लिए क्लबों में खेला। कई मैच टीवी पर भी आए, लेकिन घर में टीवी नहीं होने की वजह से मां-पिता को पड़ोसियों के घर जाना पड़ता था।" इसलिए मैंने फैसला किया कि अगर मैं कभी भी ओलंपिक में देश के लिए खेलता हूं, तो मुझे अपने माता-पिता को बिजली का कनेक्शन और एक बड़ा टीवी मिलेगा। ताकि वे अपने बेटे को गर्व से खेलते हुए देख सकें।
देवेन्द्र का सपना तब पूरा हुआ जब उन्हें रियो ओलंपिक 2016 में खेलने के लिए चुना गया। हालांकि उस वक्त मुझे कंधे में चोट लगी थी। मैंने अपनी बचत से माता-पिता को एक टी वी खरीदा।


पाकिस्तान में इस लड़की ने रचा इतिहास, बनीं सिंध की पहली हिंदू महिला पुलिस ऑफिसर


पाकिस्तान के सिंध में पहली बार एक हिंदू महिला पुलिस में एएसआई बनी है। जियो न्यूज के मुताबिक पुष्पा कोहली को सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) के रूप में नियुक्त किया गया है। मानवाधिकार कार्यकर्ता कपिल देव ने मंगलवार को अपने ट्विटर हैंडल पर इस खबर को शेयर किया। पोस्ट पर ट्विटर यूजर्स ने लिखा कि भगवान इन्हें और अधिक ताकत दें।
कपिल देव ने ट्विटर पर लिखा, "पुष्पा कोहली हिंदू समुदाय की पहली लड़की बन गई हैं जिसने सिंध लोक सेवा आयोग के माध्यम से परीक्षा पास की और सिंध पुलिस में सहायक उप निरीक्षक (एएसआई) बन गई हैं। उसे और अधिक शक्ति मिले।"
ऐसे ही जनवरी में हिंदू समुदाय की पाकिस्तानी सुमन पवन बोदानी को न्यायाधीश नियुक्त किया गया था। वे मेरिट लिस्ट में 54 वें स्थान पर थीं।
बीबीसी उर्दू से बात करते हुए बोदानी ने कहा था कि वह सिंध के एक गांव की रहने वाली हैं जहां उन्होंने गरीबी देखी है और संघर्ष किया है। उन्होंने कहा कि उनके पिता और भाई-बहनों सहित पूरे परिवार ने उनका पूरा समर्थन किया था। इससे उन्हें जज बनने में मदद मिली।
पाकिस्तान में हिंदू सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय है। आधिकारिक अनुमानों के अनुसार, पाकिस्तान में 75 लाख हिंदू रहते हैं। हालांकि, समुदाय के अनुसार, देश में 90 लाख से अधिक हिंदू रह रहे हैं। पाकिस्तान की अधिकांश हिंदू आबादी सिंध प्रांत में बसी हुई है।


बत्तख की जबरदस्त एक्टिंग देख जनता बोली ये तो ऑस्कर की हक़दार

 एक मासूम सी बत्तख ने अपने प्यारे से इस अनोखे अंदाज की वजह से दुनिया को चौंका दिया है। जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस वीडियो में एक बत्तख है जो जमीन पर ऐसे धराशाही पड़ी हुई कि उसके पास खड़ा एक डॉगी क्या उसे ये वीडियो देखने वाले लोग भी बत्तख को मृत समझ लेते हैं। लेकिन जैसे ही वह डॉगी वहां से चला जाता है तो बाद में अचानक से बत्तख भी चुपचाप वहां से नौ दो ग्यारह हो जाती है।
पब्लिक को ये वायरल वीडियो इस कदर पसंद आ रही हैं कि अब तक इस वीडियो को करीब 42 लाख से ज्यादा बार देखा जा चुका है। जबकि वीडियो पर 57.9 हजार री-ट्वीट और करीब 3 लाख लाइक्स भी मिल चुके हैं।




Thursday, 5 September 2019

फ्लाइट में घोड़े के साथ दिखी महिला, वायरल हुआ वीडियो


कई लोगों को जानवर पालने का शौक होता है, ऐसे में लोग बड़े बड़े जानवर भी पाल लेते हैं. लोगों को अपने पालतू जानवरों से अटैचमेंट भी हो जाता है. यही वजह है कि पालतू जानवरों को इंसान का सबसे अच्छा दोस्त भी माना जाता है. कई लोग अपने पालतू जानवरों से बेहद प्यार करते हैं, इसलिए वो जहां भी जाते हैं अपने पालतू जानवर को साथ ले जाते हैं. ऐसा ही एक नज़ारा अभी हाल ही में देखने को मिला जहां पर एक शख्स फ्लाइट में घोडा लेकर चल दिया.
दरअसल, एक महिला को अपने पालतू घोड़े के साथ विमान में यात्रा करते हुए देखा गया, जिसका वीडियो सोशल मीडिया वायरल हो गया है. जानकारी के अनुसार, वह शिकागो के इलिनोइस से ओमाहा जानेवाली अमेरिकन एयरलाइंस की फ्लाइट में थी. इसी में वो अपने पालतू घोड़े के साथ यात्रा करती नजर आई, महिला को घोड़े के साथ सफर करते देख विमान में सवार अन्य यात्री हैरान रह गए.
इसकी तस्वीर और वीडियो दोनों वायरल हो रहे हैं जिसे देखकर यूज़र्स काफी हैरान हो रहे हैं. दूसरी तस्वीर फ्लाइट के भीतर की है, जिसमें घोड़ा सोता हुआ दिखाई दे रहा है, जबकि उसकी मालकिन सीट पर बैठी हुई दिखाई दे रही है. बताया जाता है कि एंग्जायटी और डिप्रेशन जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित लोग अक्सर इमोशनल सपोर्ट के लिए अपने जानवरों के साथ यात्रा करते हैं.
यहां कुछ समय से जानवर मनुष्यों के साथ हवाई यात्रा कर रहे हैं, जिसके मद्देनजर सरकार द्वारा जारी नए दिशा निर्देश के अनुसार, अमेरिकी नागरिक जल्द ही अधिक जानवरों के साथ यात्रा कर सकेंगे. लोग इसलिए ऐसा करते हैं क्योंकि ये लोग उन्हें अपना इमोशनल सपोर्ट मानते हैं.



लेडीज टॉयलेट में घुसा भालू, लड़कियां पहुंची तो हो गया हंगामा


कई बार घटनाएं ऐसी हो जाती है जिससे आप डर जाते हैं, लेकिन बाद में उसके बारे में सोचते हैं तो आपको हंसी आ जाती है. अभी हाल ही में एक ऐसी ही घटना सामने आई है जिसके बारे में आपको बताने जा रहे हैं. अमेरिका के मोंटाना शहर के एक होटल में ऐसी घटना हुई जिसने हर किसी को हैरान कर दिया. एक भालू होटल में पहुंचा और सोने के लिए लड़कियों के टॉयलेट में चला गया. इसी का वीडियो व्ही सामने आया है.
एक रिपोर्ट के अनुसार, नेशनल फॉरेस्ट के पास बने होटल में कई वाइल्डलाइफ अधिकारी यहां आते रहते हैं. लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है कि भालू होटल में दाखिल हुआ हो. इस बारे में होटल के मैनेजर और मालिक डेविड ओ' कोनर ने बताया कि भालू होटल के टॉयलेट में फंस गया था. जहां उसे नींद आ गई थी. बता दें, कुछ लड़कियां वॉशरूम में पहुंची तो उनकी चीखें निकल गईं. भालू को टॉयलेट में सोता हुआ देख लड़कियां चिल्लाने लगी.
सोमवार को ये वीडियो शेयर किया गया, जिसमें भालू वॉशरूम के काउंटर में सो रहा था. उसने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया. लेकिन वहां पहुंची लड़कियां घबरा गई थीं. होटल मैनेजर ने कहा- 'एक काला भालू होटल के गलियारे में आ गया था. वो लड़कियों के टॉयलेट में खिड़की की तरफ सो गया था. शहर के पुलिसकर्मी और मोंटाना के वाइल्डलाइफ अधिकारियों का शुक्रिया जिन्होंने हमारे महमानों को सुरक्षा दी.'ओ' कोनर ने कहा- 'भालू ने बाहर निकलने की कोशिश की, लेकिन खिड़की काफी ऊपर थी. वो काउंटर पर जाकर सो गया, क्योंकि वहां काफी ठंडक थी. उसे काफी नींद आ रही थी. वो किसी को नुकसान पहुंचाने के मकसद से नहीं आया था.