Showing posts with label Fashion. Show all posts
Showing posts with label Fashion. Show all posts

Sunday, 17 March 2019

मुठ्ठीभर होली की राख से ये उपाय करने से जीवन से दूर हो जाती है सारी नकारात्मक शक्तियाँ


होली का त्योहार इस साल 20 और 21 मार्च को है। ऐसा माना जाता है कि होली का त्योहार जीवन में खुशियां और शांति लाता है। रंगों वाली होली से एक दिन पहले होलिका दहन होता है जो इस बार 20 मार्च को है और 21 मार्च को रंगों वाली होली है। वैसे तो रंगों का त्योहार होली पूरे विश्व में किसी भी तरह से मनाई जाती है लेकिन होलिका दहन सिर्फ भारत में ही होता है। बुराई पर अच्छाई की जीत के लिए होलिका दहन का माना जाता है।



रंगों वाली होली केएक दिन पहले होलिका दहन मनाई जाती है और यह फाल्गुन मास की पूर्णिमा के दिन मनाई जाती है। होलिका दहन के अगले दिन रंगों से खेलने की परंपरा होती है जिसे हम धुलेंदी भी कहते हैं। वैसे रंगों वाली होली को धुलंडी नाम से भी जाना जाता है।



भस्म सारी नकारात्मक शक्तियां दूर करता है
होली की पूजा होलिका दहन वाले दिन करते हैं और जब होलिका दहन हो जाता है तो वहां से लोग जलती हुई भस्म अपने घर ले जाते हैं और उस भस्म को अपने पूरे घर में घुमाते हैं। होलिका दहन की भस्म को घर की सारी नकारात्मक शक्तियों को दूर करने के लिए घुमाते हैं।



उसके बाद जब यह भस्म ठंडी हो जाती है तो इसे अपने माथे पर लगा लिया जाता है। शास्त्रों में ऐसा कहा गया है कि भस्म को माथे पर लगाने से व्यक्ति की बुद्धि तेज होती है। इस भस्म में शरीर के दूषित द्वव्य सोखने की बहुत क्षमता होती है। इतना ही नहीं इस भस्म को शरीर पर लगाने से कई तरह के चर्म रोग में दूर हो जाते हैं।



इस भस्म को कुछ लोग तो तांबे या चांदी की ताबीज में डालकर काले धागे के अंदर इसे बांधकर अपने गले में पहनते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस भस्म को पहने से व्यक्ति की तरह की नकारात्मक शक्तियों से दूर रहता है और छुटकारा भी पाता है। इसके अलावा अगर यह ताबीज बच्चे अपने गले में पहनते हैं तो उन्हें नजर नहीं लगती है। इसके साथ व्यक्ति पर कई सारी तांत्रिक क्रियाओं का बिल्कुल भी प्रभाव नहीं होता है।

होलिका दहन की पूजा के दौरान इन बातों का जरूर रखें ध्यान-
1. जब आप पूजा कर रहे हैं तो आप पूर्व या उत्तर की तरफ मुंह करके बैठे और होलिका पूजा करने के लिए गोबर से बनी हुई होलिका और प्रह्लाद की प्रतीकात्मक प्रतिमाएं जरूर रखें। इस पूजा में बाकी सामग्री के तौर पर फूलों की माला, मौसमी फल, रोली, गंध, पुष्प, कच्चा सूत, गुड़, साबुत हल्दी, मूंग, बताशे, गुलाल, नारियल, पांच या सात प्रकार के अनाज, नई गेहूं की बालियां और एक लोटा जल यह सब रखें। इसके अलावा जो पकवान आपने होली के लिए बनाए हैं उसे भी पूजा में रखें और उन्हें चढ़ाएं।



2. सारी सामग्री चढ़ाने के बाद आप होलिका केचारों तरफ सात बार परिक्रमा करें फिर जब अग्जि प्रज्जवलित हो जाए तो उसमें जो आप नई गेहूं की बालियां और बाकी फसलों की बालियां लाए हैं उन्हें अर्पित करें फिर जल से अघ्र्य दें।



3. होलिका दहन के लिए सबसे ज्यादा याद रखने वाली बात यह है कि सूर्यास्त के बाद प्रदोष काल में होलिका में अग्नि प्रज्जवलित की जाती है उसके बाद डंडे को बाहर निकाल दिया जाता है। उसके बाद होलिका दहन के दौरान वहां पर मौजूद सारे लोगों काो तिलक लगाएं और फिर प्रसाद दें।





4. उसके बाद होलिका दहन की राख को आप अपने घर ले जाएं और घर के हर दरवाजे पर इसे छिड़कें इससे आपके घर में कभी भी दरिद्रता नहीं आती है और संपन्नता बनी रहती है।

Saturday, 12 January 2019

मांग में कमी आने से सोने और चांदी में बड़ी गिरावट, ये रहा आज का भाव


मांग में गिरावट आने के कारण शनिवार को सोने के भाव में दिल्ली सर्राफा बाजार में बड़ी गिरावट दर्ज की गई. इसी के साथ सोना 33,000 रुपये के स्तर से नीचे चला गया. पीली धातु 155 रुपये कम होकर 32,875 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर पहुंच गया. इसकी अहम कारण यह रहा कि मौजुदा स्तर पर स्थानीय जौहरियों की मांग घटना और वैश्विक संकेतों का कमजोर होना है. औद्योगिक इकाइयों और सिक्का ढलावों का उठाव घटने से चांदी भाव में भी 600 रुपये की गिरावट रही. यह 39,850 रुपये प्रति किलोग्राम रहा.

सर्राफा कारोबारियों के अनुसार कमजोर वैश्विक संकेतों के अलावा हाजिर बाजार में स्थानीय जौहरियों और खुदरा व्यवसायियों की कमजोर मांग से सोना भाव कमजोर हुआ है. दिल्ली सर्राफा बाजार में 99.9 और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने का भाव 155-155 रुपये घटकर क्रमश: 32,875 और 32,725 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा. शुक्रवार को सोना भाव 40 रुपये टूटा था. हालांकि आठ ग्राम वजनी सोना गिन्नी का भाव 25,300 रुपये प्रति इकाई पर बना रहा.

Saturday, 15 December 2018

जरूरी है घर को महकाए रखना, लगाएं गुलाब,मोगरा जैसे फूल ये देंगे ताजगी का एहसास



महक ही वह चीज़ है, जो हमारे भावनाओं और व्यवहार को सबसे ज़्यादा प्रभावित करती है। एक कमरा जो ताज़ी खुशबू से भरा हो वह किसी के भी मूड को तुरंत ताजगी से भर देता है। अच्छी खुशबू घर के काम को सुकून से करने के लिए आपको प्रोत्साहित भी करती है। यह वैज्ञानिक रूप से साबित हो चुका है कि अच्छी खुशबू काम में ध्यान लगाने में हमारी मदद करती है। घर के हर कमरे में अलग-अलग तरह की खुशबू का होना बहुत ज़रूरी है।

लिविंग रूम में ताजगी भरी खुशबू जैसे एक्वा, बेडरूम में गुलाब, मोगरा, लैवेंडर जैसे मूड को उठाने वालू फूलों की खुशबू बेहतरीन काम करेगी। सूखे फूलों और फ्रेगरेंस डिफ्यूजर्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। बेडरूम के माहौल को रूमानी बनाने के लिए गुलाब या मीठे फलोंवाली खुशबू चुनें।
खुशबूदार कैंडल्स से कमरे को महकाएं। स्टडी रूम या गेस्ट रूम में मस्की फ्रेगरेंस माहौल को सुकूनदेह और तरोताजा बनाती है। किचन में ख़ुशबू बनाए रखना सबसे चुनौतीपूर्ण होता है क्योंकि खान-पान की ढेरों चीज़ें वहां मौजूद होती हैं। ये चीजें अलग-अलग तरह की महक फैलाती हैं सो किचन के लिए फूलों वाले एयर परफ्य़ूम्स का इस्तेमाल सबसे बेहतरीन विकल्प है।
बाथरूम में फ्रेगरेंस का पहला काम वहां की बदबू को हटाना होता है। इसके लिए इनका प्रभावी और तीव्र होना बहुत ज़रूरी है। सिट्रस फ्रेगरेंस वॉशरूम और बाथरूम के लिए बिल्कुल सही विकल्प हैं। इसके अलावा चाहें तो सॉल्ट्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।




Sunday, 28 October 2018

बिना हेयर डाई और मेहंदी लगाये सर और दाढ़ी मूछ के बालोंं को करेंं काला


आज के समय हर किसी के बाल सफ़ेद नजर आ रहे हैं| सफ़ेद बालो की समस्या से बच्चे और बूढ़े सभी से जूझ रहे हैं| ऐसे में हम बालो को काला करने के लिए हेयर डाई या फिर मेहँदी का इस्तेमाल करते हैं ताकि हमारे सफ़ेद बाल छिप जाए, लेकिन ये हेयर डाई स्थायी उपाय नहीं होते हैं बल्कि कुछ समय बाद ये छुट जाते हैं, ऐसे में हम अपने सफ़ेद बालों को कैसे काला करे

आइए आज हम आपको एक घरेलू नुस्खा बताते हैं जिसके इस्तेमाल से आप अपने बाल काले कर सकते है| इस नुस्खे से सिर्फ बाल ही नहीं बल्कि आप अपने दाढ़ी और मूंछ भी काला कर सकते हैं| इस घरेलू नुस्खे को बनाने के लिए सामान आपके घर मे ही उपलब्ध हैं आइए जानते हैं इस घरेलू नुस्खे के बारे में जो आपके बालो को काला कर सकता हैं

दरअसल वो घरेलू नुस्खा हम आलू के छिलके से बनाने वाले हैं क्योंकि आलू का छिलका हेयर डाई के रूप में इस्तेमाल किया जाता हैं, आलू के छिलके को आलू के ऊपर से उतार ले क्योंकि हेयर डाई बनाने के लिए आलू के छिलके की जरूरत हैं, अब एक पतीले में पानी गरम करे और इसमें आलू के छिलके को डालकर उबाल लीजिये| अब इसे 1 घंटे के लिए ठंडा होने दीजिये, अब इस पानी को छान लीजिये| अब इस पानी का इस्तेमाल कैसे करेगे| इसके लिए आप अपने बालों को अच्छे से धूल लीजिये|

अब इस इस पानी से अपने बालो को धूल लीजिये| बस एक बात का ध्यान रखे की इस पानी से बालों को धुलने के बाद सादे पानी से ना धुले| आप इसे हफ्ते में दो या तीन बार इस्तेमाल करे, आप देखेंगे की कुछ ही दिनों बाद आपके बाल काले होने लगेंगे ,इस पानी का इस्तेमाल पुरुष अपने दाढ़ी और मुछों पर भी कर सकते हैं| इसके लिए आप एक स्प्रे में इस पानी को भर लीजिये और इस स्प्रे की सहायता से अपने दाढ़ी और मुछों पर स्प्रे कर लीजिये



Monday, 22 October 2018

गर्दन, बगल, कोहनी के कालेपन को हमेशा के लिए साफ कर देंगे ये सबसे आसान नुस्खे


अपने चेहरे की खूबसूरती के लिए तो व्यक्ति कई सारे ब्यूटी प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं जिससे की उनका चेहरा खूबसूरत और गोरा बन सके लेकिन सिर्फ चेहरा गोरा हो और गर्दन, बगल और त्वचा काली हो तो खूबसूरती ख़राब हो जाती है, इसीलिए हमेशा चेहरे के साथ साथ त्वचा को भी खूबसूरत और साफ़ रखना काफी जरूरी होता है. आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू तरीके के बारे में बताने जा रहे है जिसका इस्तेमाल करके आप अपनी त्वचा को साफ़ और गोरा कर सकते है.

गर्दन, बगल, कोहनी का कालापन दूर करने के लिए सबसे पहले आपको गर्दन, बगल, कोहनी की अच्छे से सफाई करनी होगी. गर्दन, बगल, कोहनी की अच्छी तरह सफाई न होने की वजह से ही त्वचा काली हो जाती है इसीलिए गर्दन, बगल, कोहनी को साफ़ रखने की कोशिश करे. गर्दन, बगल, कोहनी की अच्छे से सफाई करने के लिए आप गर्म पानी का इस्तेमाल कर सकते है.

एलोवेरा

गर्दन, बगल, कोहनी के कालेपन दूर करने के लिए एलोवेरा बहुत फायदेमंद है. ऐलोवेरा त्वचा को मुलायम और हाइड्रेड करता है जिससे त्वचा साफ़ होती है.ऐलोवेरा से कालापन दूर करने के लिए एक कप गर्म पानी में एक चम्मच ऐलोवेरा जेल मिलाये और दोनों को अच्छे से मिलाने के बाद इसे रुई की मदद से गर्दन, बगल, कोहनी पर लगाएं और 20 मिनट तक लगा रहने दे. 20 मिनट बाद में गर्म पानी से धो लें.

टमाटर

टमाटर सिर्फ खाने के लिए अच्छा नहीं है बल्कि टमाटर त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होता है.टमाटर में एसिड, टैनिग और एंटटीऑक्साइड जैसे गुण होते है जो त्वचा की गंदगी साफ़ करने के लिए और गर्दन, बगल, कोहनी के कालेपन को दूर करने के लिए बहुत फायदेमंद होता है. टमाटर को अच्छे से मिक्सर में पीस ले और गर्दन, बगल, कोहनी के कालेपन पर लगाए और 20 मिनट तक लगा रहने दे. 20 मिनट बाद अपने गर्दन, बगल, कोहनी को धोले. इस नुस्खे को हफ्ते में ३ बार इस्तेमाल करने से गर्दन, बगल, कोहनी के कालेपन दूर हो जाएंगे.

हल्दी

हल्दी व्यक्ति के त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होती है. हल्दी के इस्तेमाल से त्वचा पर मौजूद धाग धब्बे आसानी से दूर सकते है. हल्दी से आप अपने गर्दन, बगल, कोहनी का कालापन दूर सकते है बस एक कप में हल्दी और दूध मिलाये और पेस्ट बना ले. इस पेस्ट को अपने गर्दन, बगल, कोहनी पर लगाए और 15 मिनट बाद जब पेस्ट सुख जाये तब इसे धोले. इस नुस्खे से आपके गर्दन, बगल, कोहनी का कालापन आसानी से दूर कर सकते है.

अगर आप गर्दन, बगल, कोहनी के बारे में या अपनी समस्या के बारे में कुछ पूछना चाहते है तो नीचे दिए गए फॉलो बटन पर क्लिक करके अपनी समस्या के बारे में हमसे पूछ सकते है, हम आपकी समस्या का जवाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेंगे और हमे उम्मीद है की हमारी बताई हुई खबर से आपको ज़रूर फ़ायदा होगा.

अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो हमे फॉलो जरूर करे और अगर आपको इस खबर में कुछ पसंद नहीं आया हो तो उसके लिए हम आपसे माफी चाहते है लेकिन हम कोशिश करेंगे की हमारी अगली खबर आपको ज्यादा से ज्यादा पसंद आये और आप हमारी खबरों के जरिये अपने आप को स्वस्थ बना सके.