Showing posts with label News. Show all posts
Showing posts with label News. Show all posts

Saturday, 25 January 2020

निर्भया केस: दोषी विनय ने बनाई पेंटिंग, लिखी डायरी और शीर्षक रखा 'दरिंदा'


निर्भया केस के चारों दोषियों को 1 फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा। फांसी की सजा टालने के लिए निर्भया के दोषी और उसके वकील एक के बाद एक चाल चल रहे हैं। पटियाला हाउस कोर्ट में आज सुनवाई के दौरान दोषी पक्ष के वकील एपी सिंह ने दावा किया कि जेल में दोषी विनय शर्मा को धीमा जहर दिया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ सरकारी पक्ष के वकील का कहना है कि तिहाड़ जेल प्रशासन ने दोषियों से जुड़े सभी दस्तावेज समय पर सौंप दिए हैं। हालाकि, दोषियों की तरफ से पेश वकील ने कहा कुछ दस्तावेज कल रात 10:30 बजे दिए गए है। लेकिन दोषी विनय की केस डायरी अभी तक नहीं दी गयी है। वकील ने कहा कि केस डायरी 160 पेज की है वो नहीं मिली है। इसके साथ ही उसकी मेडिकल रिपोर्ट भी नहीं दी गयी है और विनय दिल्ली लोक नायक अस्पताल में 10 दिन था वो भी दस्तावेज नहीं मिला है।
वकील ने बताया कि जेल में रहते हुए विनय ने कुछ पेटिंग भी बनाई है। तिहाड़ हाट में उसकी पेंटिंग्स की बिक्री भी हुई। मैंने उनके बारे में जानकारी चाहता हूं कि आखिर उसकी पेंटिंग्स से क्या कमाई हुई। विनय ने 11 पेंटिंग बनाई और 19 पन्नों की 'दरिंदा' डायरी भी लिखी। जेल प्रशासन ने दोषी विनय की पेटिंग और उसकी डायरी दरिंदा को भी कोर्ट में पेश किया। इसके बाद कोर्ट ने तिहाड़ जेल से कहा कि सभी दस्तावेज दोषियों को दे दिए जाएं। इस पर जेल प्रशासन ने कहा कि सभी दस्तावेद सौंप दिए गए हैं और इसके साथ ही इस अर्जी का निपटारा हो गया।
दोषियों के वकील ने कोर्ट में दावा किया कि उनके क्लाइंट विनय को जेल प्रशासन ने स्लो प्वाइजन दिया है। उन्होंने यह भी कहा कि स्लो प्वाइजन देने के कारण विनय की तबीयत बिगड़ी थी और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने कहा कि अभी तक उन्हें मेडिकल रिपोर्ट नहीं मिली है।
दोषियों के वकील पहले भी कई बार कोर्ट सुनवाई में जरूरी दस्तावेज नहीं मिलने को लेकर झूठे आरोप लगाते रहे हैं। आज भी सुनवाई के दौरान उन्होंने देर रात दस्तावेज सौंपे जाने की पुष्टि की।

इस लेडी सिंघम से नहीं लेता कोई पंगा, बीजेपी नेता की बीच सड़क पर करी थी हालत पंचर


बीजेपी नेता की गाड़ी का चालान कर चर्चा में आई यूपी के कानपुर की निवासी पीसीएस श्रेष्ठा अब लेडी सिंघम के नाम से जानी जाती है। बतादे श्रेष्ठा ठाकुर के बुलंदशहर में डीएसपी पद पर रहने के दौरान बीजेपी के विधायक ने ट्रैफिक नियम तोड़ा था जिसके चलते श्रेष्ठा ठाकुर ने उनका चालान कर दिया था।
जिसको लेकर विधायक मुकेश भारद्वाज से सड़क पर श्रेष्ठा ठाकुर की तीखी बहस हुई थी। जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। वीडियो वायरल होने के बाद श्रेष्ठा ठाकुर को बुलंदशहर से ट्रांसफर कर बहराइच भेज दिया गया था।
श्रेष्ठा ठाकुर के साथ भी हो चुकी है छेड़छाड़, पुलिस अफसर बनने के पीछे की वजह बताते हुए कहा कि जब वह ग्रेजुएशन कर रही थी तो उनके साथ भी दो बार मनचलों ने छेड़छाड़ की थी।
जिसके बाद उन्हें लगा कि उस समय जिस तरीके से मनचलों पर कार्रवाई होनी चाहिए थी वह पुलिस ने नहीं की। उसके बाद उन्होंने पुलिस अफसर बनने की ठानी। जहां एक तरफ लेडी सिंघम का टैग लिए सड़कों पर दबंग की तरह घूमती है वही श्रेष्ठा ठाकुर अंदर से बहुत नरम दिल भी हैं।
श्रेष्ठा ठाकुर ने बताया कि कालेज के दिनों में जब वह 9 से 10 साल के एक लड़के को भीख मांगते हुए देखा था तो उस समय उन्होंने अपने टिफिन का सारा खाना उस बच्चे को दे दिया था। उन्होंने बताया तभी से मैं लाचार, जरूरतमंद बच्चों की काफी सहायता करती हूँ।

Friday, 24 January 2020

जाने आखिर कहां से आया कोरोना वायरस, क्या है इसके लक्षण और बचाव


सबसे बड़ा सवाल जो है कि आखिर यह वायरस कहां से फैलना शुरू हुआ? तो आपको बता दे, यह वायरस आमतौर पर जानवरों में पाए जाते हैं। वैज्ञानिकों का मानना है कि कई बार जानवरों से इसका संचार इंसानों में भी हो जाता है। इस वायरस से ग्रसित होने पर श्वास संबंधी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। इसके लिए कोई खास इलाज का इजाद नहीं हो पाया है। कई बार बीमारी के लक्षण खुद-ब-खुद खत्म हो जाते हैं। इस वायरस के मामले सबसे पहले चीन में देखने को मिले।
वहीं, चीनी वैज्ञानिकों के ताजा अध्ययन में वायरस के चमगादड़ों से सांपों में और फिर सांपों से इंसानों में फैलने की संभावना प्रकट हुई है। चीन की राजधानी पेइचिंग में शोधकर्ताओं का अध्ययन जर्नल ऑफ मेडिकल वायरॉलजी में प्रकाशित किया गया है। इसमें कहा गया है कि करॉनाा वायरस सांपों से इंसान तक पहुंचा है। चीन में सांप खाने की परंपरा है। चीन के वुहान में ऐसे जीव-जंतुओं का बाजार है जहां सांप, चमगादड़, मैरमोट्स, पक्षी, खरगोश आदि बिकते हैं। इन जीवों को चीन के लोग खाते हैं। वैज्ञानिकों का मानना है चमगादड़ से फैलने वाला SARS का वायरस सांप के जरिए लोगों में फैला। वैज्ञानिकों का मानना है कि SARS वायरस सांप में गया तो वह कोरोनावायरस में तब्दील हो गया। सांप के शरीर में बने नए कोरोनावायरस का कोई इलाज अभी तक नहीं मिल पाया है। कोरोना वायरस पर अध्ययन करने वाले वैज्ञानिक वी जी ने यह खुलासा किया है कि चमगादड़ से सांप में आने के बाद वायरस ने अपने जीनोम में बदलाव कर लिया। इससे यह बेहद खतरनाक हो गया है। वी जी ने विभिन्न जीव-जंतुओं से कुल मिलाकर 217 वायरस के सैंपल लिए थे। इनमें से पांच सैंपल कोरोना वायरस के थे। जब सभी जीवों में मिलने वाले वायरस की तुलना इस नए वायरस से की गई तो पता चला कि यह वायरस सांपों में मिल रहे वायरस से मिलता है।
वी जी की बात का समर्थन करते हुए पेंसिलवेनिया स्थित पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हाईताओ गुओ ने बताया कि यह खुलासा बेहद हैरान करने वाला है। चमगादड़ और सांप के वायरस ने आपस में मिलकर कोरोना वायरस बनाया है।

भ्रष्ट अधिकरियों पर चला सीएम योगी का डंडा, 13 अफसरों पर गिरी गाज


यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में राज्य सरकार भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति पर लगातार कार्य कर रही है. शुक्रवार को इस दिशा में बड़ी कार्रवाई करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने बदायूं कोषागार में स्टाम्प मैनुअल का अनुपालन न करने एवं कार्य में शिथिलता के इल्जाम में 13 अधिकारियों को निलंबित कर विभागीय जांच के आदेश जारी किए हैं.
सीएम योगी ने बदायूं कोषागार में कार्यरत 3 वरिष्ठ कोषाधिकारियों को 5 करोड़ रुपए के गबन के इल्जाम में निलंबित कर जांच के आदेश दिए गए हैं. उक्त मामले में ही तहसीलदार स्तर के 10 अधिकारियों को भी ससपेंड कर उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं. सीएम योगी ने बीमा कंपनियों द्वारा क्लेम का भुगतान ना किए जाने की शिकायतों को गंभीरता से लिया है.
बाराबंकी में बड़ी तादाद में किसानों को बीमा क्लेम देने में आनाकानी की शिकायतें प्राप्त हो रही थीं. इसे देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने बीमा कंपनी के खिलाफ जांच का आदेश जारी किया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कासगंज जिले के अलीपुर बड़वारा और सहसवान के मध्य गंगा नदी पर ब्रिज के पहुंच मार्ग और सुरक्षात्मक कार्य निर्माण के लिए 174.97 करोड़ रुपए जारी करने के निर्देश जारी किए हैं. 

Thursday, 23 January 2020

मुंबई पुलिस ने सेक्स रैकेट में पकड़ी बॉलीवुड की ये दो हस्तियां, तीन लड़कियों को छुड़वाया


मुंबई में पुलिस इन दिनों लगातार सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ कर रही है। पिछले एक महीने में पुलिस तीन ऐसे सैक्ट रैकेट का खुलासा कर चुकी है जिसका सीधा संबंध बॉलीवुड से है। हाल ही में मुंबई की उपनगरी गोरेगांव के एक पांच-सितारा होटल में चल रहे देह व्यापार रैकेट का पुलिस ने भंडाफोड़ कर एक बॉलीवुड अभिनेत्री और मॉडल को गिरफ्तार किया था। इस मामले को बिते 10 दिन भी नहीं हुए थे कि मंगलवार को एक बार फिर पुलिस ने ऐसे ही एक रैकेट का पर्दाफाश किया जिसमें बॉलीवुड से जुड़े लोग बेनकाब हो गए।
दरअसल, ये नया मामला मुंबई के अंधेरी इलाके स्थित इंपीरियल पैलेस होटल का है। पुलिस ने छापेमारी में एक प्रोडक्शन मैनेजर और कास्टिंग डायरेक्टर को गिरफ्तार किया है। इन दोनों पर दो विदेशी छात्राओं समेत तीन महिलाओं को देह व्यापार में धकेलने का आरोप है। पुलिस की सामाजिक सेवा शाखा की एक महीने में यह चौथी छापेमारी है।
रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने बताया कि मुंबई के अंधेरी इलाके स्थित इंपीरियल पैलेस होटल में छापेमारी कर उन्होंने प्रोडेक्शन मैनेजर नवीद शरीफ अहमद अख्तर और कास्टिंग डायरेक्टर नवीद सादिक सयाद को गिरफ्तार कर तीन महिलाओं को वहां से सुरक्षित निकाला।
मिली जानकारी के मुताबिक इनमें से दो विदेशी छात्राएं तुर्कमेनिस्तान की हैं जो पुणे के एक कॉलेज में पढ़ती हैं। फिल्मों में काम करने की चाहत के चलते ये मुंबई आई थीं और इस बीच इनकी दोस्ती अख्तर और सयाद से हो गई। इन आरोपियों ने छात्राओं पर समझौता करने का दबाव बनाया। इसके बाद इन्हें देह व्यापार में धकेल दिया।
बीते दिनों पुलिस ने अंधेरी इलाके से एक सेक्स रैकेट में फंसी तीन अभिनेत्रियों को बचाया था। इसे चलाने वाली एक महिला को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक रेस्क्यू की गईं लड़कियों में से एक अभिनेत्री सावधान इंडिया में नजर आ चुकी हैं। वहीं दूसरी अभिनेत्री ने वेब सीरीज में काम किया है। इसके साथ ही तीसरी अभिनेत्री मराठी फिल्मों में काम कर चुकी हैं।

11वीं की छात्रा ने हॉस्टल में दिया मृत बच्चे को जन्म, बातचीत में किया हैरानीजनक खुलासा


छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है जहां एक 11वीं कक्षा की एक छात्रा ने स्कूल के हॉस्टल में बच्चे को जन्म दिया जिसके बाद पूरे स्कूल प्रशासन में सनसनी मच गई है। जांच अधिकारियों ने पीड़िता से बात की तो उसने बताया कि वह पिछले दो सालों से गांव के ही एक लड़के के साथ रिलेशनशिप में है। डिप्टी कलेक्टर कलेक्‍टर प्रीती दुर्गम ने इस घटना पर बताया कि बच्चा मृत पैदा हुआ था।
प्रीती दुर्गम ने बताया कि हॉस्टल की अधीक्षिका हेमलता नाग सस्पेंड कर दिया गया है। उन्होंने कहा- हेमलता ने बच्ची के प्रसव पीड़ा की बात दबाई थी। अधिकारियों ने स्कूल प्रशासन से बात की तो पता चला कि उन्होंने मृत नवजात को छात्रा के परिजनों के हवाले कर दिया है। वहीं जब मीडिया ने शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेम साय से बात की तो उन्होंने कहा- ऐसी घटना में कोई नई बात नहीं है, सुधार की आवश्यकता है।
मामले की गवाह रही हॉस्टल की महिला चपरसी श्यामबती ने बयान दिया कि यह सब उसकी आंखों के सामने हुआ है। उसने बताया बुधवार सुबह बच्ची के पेट में दर्द हुआ था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। हेमलता ने इसकी जानकारी किसी बड़े अफसरों को नहीं बताई और बच्ची को जिला अस्पताल में भर्ती कराकर गायब हो गई। श्यामबती ने बताया कि यहां आए-दिन ऐसी कई गड़बड़ियां सामने आती रहती हैं। कोई कुछ नहीं कहता है।

12 साल की लड़की के गले से आर-पार हो गया तीर, 40 घंटे फंसे रहने के बाद हुआ कुछ ऐसा...


दो हफ़्ते पहले असम के डिब्रूगढ़ में अभ्यास के दौरान 12 साल की तीरंदाज़ शिवांगिनी के गले में एक तीर फंस गया. शिवांगिनी जानलेवा तरीके से घायल हो गईं. क़रीब 40 घंटे ये तीर उनके गले में तब तक फंसा रहा जब तक कि AIIMS के डॉक्टरों ने उसे निकाल नहीं दिया. 15 दिनों के इलाज से ठीक होकर शिवांगिनी एक ओलिंपियन तीरंदाज़ बनने का सपना लेकर आज दिल्ली से वापस घर लौट गईं.
इसी महीने असम में खेलो इंडिया यूथ गेम्स के शुरू होने से ठीक पहले डिब्रूगढ़ के साई सेंटर में तीरंदाज़ शिवांगिनी के गले में अभ्यास के दौरान एक तीर आर-पार हो गया. 15 सेंटीमीटर लंबा ये तीर उनके गले में क़रीब दो दिनों तक फंसा रहा. शिवांगिनी बताती हैं, "एक साथी खिलाड़ी की ग़लती से तीर पीछे की तरफ़ निकल गया. मैं पीछे बैठी थी तो ये तीर मेरे गले के पार हो गया." वो बताती हैं कि तब उन्हें बड़ा दर्द हुआ और वो ये भी सोचती रहीं कि वो आगे खेल पाएंगी या नहीं. डिब्रूगढ़ के अस्पताल में लंबे तीर को काट दिया गया. लेकिन 15 सेंटीमीटर लंबा तीर फिर भी उनके गले में फंसा रहा.
शिवांगिनी और उसके परिवार को असम सरकार ने डिब्रूगढ़ से दिल्ली भेजने का इंतज़ाम किया. दिल्ली पहुंचते ही शिवांगिनी का इलाज शुरू हो गया. एम्स ट्राउमा सेंटर के न्यूरो सर्जन डॉ. दीपक कुमार गुप्ता और उनकी टीम ने ऑपरेशन से एक दिन पहले एक तीरंदाज़ी कोच से वैसी ही एक दूसरी तीर मंगवाई ताकि ये जाना जा सके कि गले में किस कदर और तीर का कितना हिस्सा फंसा होगा. बारीक़ी से निरीक्षण के बाद अगले दिन क़रीब 4 घंटे के मुश्किल ऑपरेशन के ज़रिये ये तीर शिवांगिनी के गले से निकाल लिया गया.

Wednesday, 22 January 2020

SBI ने आपकी बचत पर चलाई कैंची, करोड़ों ग्राहकों को लगेगा झटका


देश के सबसे बड़े पब्लिक सेक्टर बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने आपकी बचत पर एक बार फिर कैंची चला दी है। एसबीआई ने फिक्स्ड डिपोजिट पर ब्याज दरें घटा दी है। ये नई दरें 10 जनवरी से लागू हो चुकी है। बैंक ने एक से 10 साल की एफडी पर दरें 15 बेसिस प्वाइंट तक घटाई है। वहीं, 7 दिन से लेकर एक साल तक एफडी पर इंटरेस्ट में कोई बदलाव नहीं किया है।

इससे पहले बैंक ने एक साल से अधिक और दो साल से कम वाली एफडी पर ब्याज दरों में 15 बेसिस प्वाइंट की कटौती की थी। अब ये हैं एफडी पर नई दरें..

1 7 से 45 दिन की एफडी पर ब्याज दर - 4.50 फीसदी
2 46 दिन से 179 दिन की एफडी पर ब्याज दर - 5.50 फीसदी
3 180 दिने से 210 दिन और 211 दिन और 1 साल से कम की एफडी पर ब्याज दर – 5.80 फीसदी
4 एक साल से 10 साल के एफडी पर ब्याज दर 6.25 फीसदी से घटाकर 6.10 फीसदी कर दिया है। एसबीआई बैंक ने इस एफडी पर ब्याज दरें घटाई है।
5 एक साल से 2 साल से कम, 2 साल और 3 साल से कम, 3 साल और 5 साल से कम, 5 से 10 साल की एफडी पर ब्याज दर 6.10 फीसदी है। 

आधार कार्ड बनवाना है तो ये जानकारी आपके ही काम की है


आधार कार्ड अब हम सब की ऐसी जरूरत बनता जा रहा है जिसके बिना हमारे कई सारे काम संभव नहीं हो पाते हैं. आजकल कई सेवाओं के लिए आधार कार्ड अनिवार्य हो चुका है. इसे जारी करने वाली संस्था यूआईडीएआई की तरफ से दी गई मान्यता के आधार पर इसे पहचान पत्र के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा रहा है. हालांकि कई लोग ऐसे भी हैं जो अभी भी आधार कार्ड नहीं बनवा पाए हैं. कई बार ये सवाल पूछा जाता है कि आधार कार्ड बनवाने के लिए किन दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है तो हम आपको यहां बताने जा रहे हैं कि आधार कार्ड बवनाने के लिए आपके पास कौन से डॉक्यूमेंट होने चाहिए और अगर इनमें से कोई दस्तावेज आपके पास नहीं है तो भी आप कैसे आधार कार्ड बनवा सकते हैं.
यूआईडीएआई ने हाल ही में एक ट्वीट के जरिए ये जानकारी साझा की है कि आधार कार्ड बनवाने के लिए लोग पहचान पत्र के तौर पर 32 डॉक्यूमेंट की लिस्ट में से कोई एक दस्तावेज दे सकते हैं. इन डॉक्यूमेंट में नाम और फोटो होना जरूरी हैं. यहां आप इन डॉक्यूमेंट का नाम जान सकते हैं.
इनके अलावा कुछ और ऐसे डॉक्यूमेंट हैं जिनसे आप अपनी पहचान साबित कर सकते हैं जैसे कि फ्रीडम फाइटर कार्ड, किसान फोटो पासबुक या पेंशनर फोटो कार्ड के जरिए अपनी पहचान साबित कर सकते हैं.
अगर आपके पास इनमें से कोई भी डॉक्यूमेंट नहीं है तो भी आपको घबराने की जरूरत नहीं है. यूआईडीएआई ने अपने ट्वीट में लिखा है कि आप एक तय फॉर्मेट में ऑथराइज्ड ऑफिसर्स की ओर से जारी सर्टिफिकेट के जरिए भी आधार के लिए रजिस्टर करा सकते हैं.
हालांकि अगर आपके पास बैंक स्टेटमेंट या पासबुक है, बिजली के बिल, पानी के बिल, टेलीफोन के लैंडलाइन बिल जैसे डॉक्यूमेंट्स हैं तो इनके जरिए अपने पते को सत्यापित कर सकते हैं. डेट ऑफ बर्थ के लिए बर्थ सर्टिफिकेट से लेकर सरकारी बोर्ड या यूनिवर्सिटी की तरफ से जारी मार्कशीट के जैसे दस्तावेज दिखा सकते हैं.

Tuesday, 21 January 2020

कमलनाथ के मंत्री ने शिकायत लेकर पहुंचे कांग्रेस के ही किसान नेता को दुत्कारा, फिर टांगकर निकाल दिया गया बाहर


मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार अपनों की ही नाराजगी झेल रही है. ताजा मामला राज्य किसान कांग्रेस के महासचिव शैलेंद्र वर्मा की है. वह हरदा में किसी बात की शिकायत लेकर राज्य सरकार में मंत्री पीसी  शर्मा के पास गए थे. आप वीडियो में देख सकते हैं कि उन्होंने कुछ कागज दिखाए और उसके थोड़ी ही देर बाद मंत्री जी ने तेज से दुत्कार दिया. इस पर शैलेंद्र ने कहा, आप ऐसे नहीं चिल्ला सकते हैं'. लेकिन मंत्री जी  का रुख का देखते ही वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी उनको धक्का देकर बाहर ले जाने लगे. इस बीच शैलेंद्र वर्मा चिल्लाते रहे...मेरे साथ अन्याय हो रहा...'मुझे मार क्यों रहे हो...पीसी शर्मा हाय-हाय...'  लेकिन उनकी पूरी बात वहां मौजूद किसी ने भी नहीं सुनी. बाद में शैलेश वर्मा ने आरोपी लगाया,  मंत्री जी ने मुझे डांटा और जेल में बंद करने को कहा. आप सरकार का हिस्सा हैं. आप से उम्मीद है कि हमारे मुद्दे सुनें. मैं किसान कांग्रेस का महासचिव हूं और वह मेरे साथ कैसे व्यवहार कर रहे हैं'.  यह पूरी घटना हरदा के कलेक्ट्रेट ऑफिस में हुई है. न्यूज एजेंसी में छपी खबर के मुताबिक शैलेश वर्मा पर मंत्री जी से तेज आवाज में बात की थी.
वहीं इस पूरे मामले की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है कि कांग्रेस सरकार में ही पार्टी के पदाधिकारी के साथ यह कैसा व्यवहार किया गया है. गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही पार्टी के विधायक मुन्नालाल गोयल ने सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाकर विधानसभा के सामने धरने पर बैठ गए. उनका कहना है कि वह सरकार को चुनावी घोषणपत्र में किए गए वादों की याद दिलाना चाहते हैं. उन्होंने कहा, 'मैंने मुख्यमंत्री को भी लिखा था लेकिन कुछ नहीं हुआ. इसलिए हम यहां बैठे हुए हैं'.
यह पहला मौका नहीं है कि जब मध्य प्रदेश में कांग्रेस के विधायक और नेता अपनी पार्टी के लिए मुसीबत बन रहे हैं. नागरिकता कानून का जमकर विरोध कर रही है पार्टी की उस समय भी फजीहत हुई जब दो विधायक इसके समर्थन में आ गए. मंदसौर जिले के सुवासरा से विधायक हरदीप सिंह डंग ने कहा, "पाकिस्तान, बांग्लादेश आदि देशों के दुखी लोगों को भारत में सुविधा मिलती है तो उसमें बुराई क्या है." उन्होंने सीएए और एनआरसी को अलग-अलग देखने की बात कही है.


पत्नी ने घर का दरवाजा खोलने में करी देरी तो नाराज DSP ने चला दी गोली, केस दर्ज


पंजाब पुलिस में 'सिंघम' के नाम से चर्चित डीएसपी अतुल सोनी पर पत्नी की हत्या के प्रयास और ऑर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। अतुल सोनी पर आरोप लगा है कि उन्होंने पत्नी पर गोली चलाई है। दरअसल, ये घटना शनिवार की है जब देर रात को पार्टी से अतुल सोनी घर लौटे थे। इस दौरन पत्नी ने घर का दरवाजा देरी से खोला। इस बात से नाराज डीएसपी सोनी ने गुस्से में अपनी पत्नी पर गोली चला दी। हालाकि, पत्नी की किस्मत अच्छी थी कि गोली उनको नहीं लगी। हमले के बाद पत्नी ने डीएसपी के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई।पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इस घटना के बाद से अतुल सोनी फिलहाल फरार हैं। चौकाने वाली बात इस घटना में यह भी है कि अतुल सोनी ने जिस रिवॉल्वर से गोली चलाई वह उनकी सर्विस रिवॉल्वर नहीं बल्कि अवैध रिवॉल्वर थी। अतुल सोनी की पत्नी ने पंजाब पुलिस को घटना में इस्तेमाल हथियार और कारतूस का खोल बरामद करवा दिया है।
50 साल के डीएसपी अतुल सोनी चंडीगढ़ से ताल्लुक रखते है और 1992 में सब इंस्पेक्टर के रूप में पंजाब पुल‍िस में भर्ती हुए थे। अतुल सोनी ने तीन बार इंटरनेशनल हैंडबॉल टूर्नामेंट में भारत का प्रत‍िन‍िध‍ित्व क‍िया था। 2018 में उन्हें डीएसपी बना दिया गया था। अतुल सोनी पंजाब पुल‍िस के उन 8 पुल‍िस ऑफ‍िसर्स में भी शाम‍िल थे जो संयुक्त राष्ट्र संघ के शांत‍ि म‍िशन के ल‍िए 2006 में कोसोवो में गए थे।इन पर पंजाबी में एक फ‍िल्म 'बेखौफ जुर्म' बनी है। डीएसपी अतुल सोनी पर पहले भी क‍िडनैप‍िंग और एक्टॉर्शन का आरोप लगाया गया है।

घर के अंदर घूमता रहा तेंदुआ, देख पड़ोस‍ियों के उड़े होश


गुजरात के कच्छ के नखत्राणा तहसील के मोटी गोधीयार गांव के एक घर में सोमवार सुबह उस समय हंगामा मच गया अब घर के अंदर तेंदुआ घुस गया। आसपास के लोगों ने डर के मारे बाहर से इस घर को ही बंद कर द‍िया। इस मामले में गनीमत यह रही क‍ि ज‍िस समय घर में तेंदुआ घुसा था, उस समय घर के सभी सदस्य बाहर गए हुए थे। आसपास के लोगों को जब इस बारे में जानकारी हुई तो वह डर गए। सभी लोगों ने म‍िलकर घर के बाहर का दरवाजा बंद कर द‍िया, ज‍िससे तेंदुआ घर से बाहर नहीं आ सके।
तेंदुआ जब घर में बंद हो गया तो वह इधर-उधर चक्कर लगाने लगा। कभी वह खट‍िया पर बैठता तो कभी दीवार पर दांत मारता। आखिरकार जब वन व‍िभाग की टीम वहां पहुंची, तब जाकर तेंदुए को पकड़ा गया। वन व‍िभाग की टीम को तेंदुए पकड़ने में तकरीबन 6 घंटे लग गए।

टाइगर पटौदी की बहन का निधन, सैफ अली खान से चल रही थी लड़ाई


नवाब मंसूर अली खान पटौदी की बड़ी बहन सालेहा सुल्तान का हैदराबाद में इंतकाल हो गया। वे 80 साल की थीं। उन्हें भोपाल से इतना मोह था कि सालेहा सुल्तान ने अपनी वसीयत में लिख दिया था कि मुझे भोपाल में मेरे नाना नवाब हमीदुल्ला खान के पहलू में दफन करना।
अंतिम इच्छा के मुताबिक सालेहा सुल्तान की पार्थिक देह को हैदराबाद से भोपाल लाया जा रहा है। अहमदाबाद पैलेस स्थित सूफिया मस्जिद में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा। यहां उनकी मां साजिदा सुल्तान भी दफन हुई थीं। कोहेफिजा में नवाब हमीदुल्ला खां की ओर से तामीर कराई गई सूफिया मस्जिद में नमाज इशा डिंपो बिया को दफन किया जाएगा। पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक रविवार सुबह तबीयत बिगड़ने पर उन्हें हैदराबाद के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डाक्टरों के मुताबिक उन्हें ब्रेन हेमरेज हुआ था और कुछ ही घंटों बाद उन्होंने अंतिम सांस ली।
यहां सूफिया मस्जिद परिसर में नवाब हमीदुल्ला खां की कब्र के पास ही दफन किए जाने की इच्छा डिंपो बिया ने जताई थी। जिसे पूरा करने के लिए हैदराबाद के निजाम के फरजंद इनके चारों बेटे अपनी वालिदा की मिट्टी लेकर भोपाल पहुंच गए हैं। सालेहा सुल्तान के शव को लेकर उनके बेटे साद जंग, आमिर जंग, उमर जंग और फैज जंग हैदराबाद से सड़क मार्ग से पहुंच गए हैं। पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक इशा की नमाज के बाद सूफिया ग्राउंड में ही उन्हें नवाब हमीदुल्ला खां के बगल में दफनाया जाएगा।
सालेहा सुल्तान को नाना नवाब हमीदुल्ला खां बेहद प्यार करते थे। वे प्यार से अपनी नातिन को डिंपो कहते थे। सालेहा जब भी भोपाल नाना से मिलने आती थीं तो अपने नाना की खास मेहमान होती थीं। नाना उनकी हर ख्वाहिश पूरी करते थे। नाना के साथ ही नानी मेमूना सुल्तान की भी वो बहुत लाड़ली थीं।

Monday, 20 January 2020

वायरल वीडियो : जानिए कौन है ये महिला अफसर, जिसने CAA प्रदर्शनकारी को जड़ दिए सबके सामने चांटे


आये दिन सोशल मीडिया पर कोई न कोई वीडियो वायरल होता रहता है और हाल ही में एक वीडियो जबरदस्त सुर्ख़ियों में है।  इस वीडियो के साथ ही #प्रियावर्मा भी ट्विटर पर खूब ट्रेंड कर रहा है। इस वीडियो में एक महिला प्रदर्शनकारियों के साथ उलझती दिखाई दे रही है।
ये वीडियो मध्य प्रदेश के बरोरा कसबे का है और इसमें एक महिला प्रदर्शन क्र रहे एक व्यक्ति को पकड़ कर थप्पड़ लगाती हुई नजर आ रही है। इस महिला का नाम प्रिया वर्मा है और ये मध्य प्रदेश के राजगढ़ की डिप्टी कलेक्टर है। यह विडियो न्यूज एजेंसी ‘एएनआई’ ने जारी किया है।
वीडियो में देखा जा सकता है प्रिया वर्मा पुलिस बल के साथ मौजूद थी।  इसी बीच पुलिस बल और प्रदर्शनकारियों  के बीच झड़प हो जाती है। इस झड़प में प्रिया वर्मा के भी बाल खींचे गए और धक्का मुक्की हुई।  इसके बाद प्रिया वर्मा ने एक शख्स को पकड़ कर चांटे जड़ दिए।
बता दें , मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले में धारा 144 लागू है पर इसके बावजूद भाजपा कार्यकर्ताओं ने नागरिकता कानून के समर्थन में रैली निकाली , जिसमे उनकी पुलिस के साथ झड़प हो गयी। सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने प्रिया वर्मा का समर्थन किया है वहीं कुछ लोगों ने उन्हें कानून के दायरे में रहने की नसीहत दी है।
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी एक वीडियो शेयर किया है जिसमे राजगढ़ की कलेक्टर निधि निवेदिता भी प्रदर्शनकरियों से भिड़ती हुई दिखाई दे रही है।  शिवराज सिंह चौहान ने इस घटना की निंदा करते हुए, महिला अफसर पर जमकर निशाना साधा है।
ये कि कानून की कौन सी किताब आपने पढ़ी है जिसमें शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे नागरिकों को पीटने और घसीटने का अधिकार आपको मिला है?
सरकार कान खोलकर सुने ले, मैं किसी भी कीमत पर मेरे प्रदेशवासियों के साथ इस प्रकार की हिटलरशाही बर्दाश्त नहीं करूंगा!
शिवराज सिंह ने वीडियो के साथ ट्वीट करते हुए लिखा , ' कलेक्टर मैडम, आप यह बताइये कि कानून की कौन सी किताब आपने पढ़ी है जिसमें शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे नागरिकों को पीटने और घसीटने का अधिकार आपको मिला है?सरकार कान खोलकर सुने ले, मैं किसी भी कीमत पर मेरे प्रदेशवासियों के साथ इस प्रकार की हिटलरशाही बर्दाश्त नहीं करूंगा!
वहीं राजगढ़ की डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा की बात की जाए तो वो इंदौर के पास के गांव मांगलिया की रहने वाली है और उन्होंने महज 21 साल की उम्र में डीएसपी बनकर सभी का सिर गर्व से ऊंचा किया था। 

CAA के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे बीजेपी नेता को महिला कलेक्टर ने जड़ा थप्पड़, लाठी चार्ज में दो घायल; देखें VIDEO


मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में रविवार को संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में तिरंगा यात्रा निकाल रहे बीजेपी के कार्यकर्ताओं और प्रशासन के बीच टकराव हुआ. राजगढ़ की कलेक्टर निधि निवेदिता ने धारा 144 लागू होने के कारण बीजेपी कार्यकर्ताओं को प्रदर्शन करने से रोका लेकिन वे नहीं माने. इस दौरान कलेक्टर की कार्यकर्ताओं से तीखी बहस हुई और उन्होंने एक नेता को थप्पड़ जड़ दिया. इस बीच विवाद बढ़ता गया और पुलिस के साथ-साथ कलेक्टर भी बीजेपी कार्यकर्ताओं को नियंत्रित करने के लिए काफी संघर्ष करती हुईं नजर आईं. हालात बिगड़ने पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया जिसमें दो कार्यकर्ता घायल हो गए.   
राजगढ़ जिला मुख्यालय पर संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में बीजेपी के कार्यक्रम को धारा 144 लागू होने के कारण अनुमति नहीं दी गई. इसके बावजूद  कानून की परवाह न करते हुए भाजपाई एकत्रित हो गए. राजगढ़ की कलेक्टर निधि निवेदिता और पुलिस अधीक्षक ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को रोकने का भरसक प्रयास किया लेकिन भीड़ नहीं मानी. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने रैली निकालने का प्रयास किया. इस दौरान दो बार पुलिस प्रशासन और भाजपाइयों के बीच धक्कामुक्की हुई.
इसी बीच महिला अधिकारियों से अभद्रता और उनके कपड़े पकड़ने की भी घटना हुई. इस दौरान एसडीएम प्रिया वर्मा ने भी भीड़ को नियंत्रित करने की कोशिश की. उन्होंने कुछ प्रदर्शनकारियों को ज़मीन पर बैठने को कहा. वे वीडियो में एक प्रदर्शनकारी को थप्पड़ मारते हुए भी दिखीं. इसके बाद एसडीएम प्रिया वर्मा को बीजेपी कार्यकर्ताओं ने घेर लिया और उनके बाल भी खींचे. हालात अधिक तनावपूर्ण होने पर लाठी चार्ज किया गया जिस में दो लोगों  को मामूली चोटें लगी हैं.


क्या आपको पता है की प्लेटफॉर्म टिकट पर ट्रेन से यात्रा की जा सकती है


प्लेटफॉर्म टिकट पर ट्रेन से यात्रा की जा सकती हैदोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस चैनल पर दोस्तों आज हम आपको बताने जा रहे है की आप पलेटफॉर्म टिकट पर भी यात्रा कर सकते है यह जानने के लिए आपको हमारा पूरा पोस्ट पढना होगा.
रेलवे के नियम के मुताबिक प्लेटफॉर्म टिकट पर ट्रेन से यात्रा की जा सकती है.
रेलवे की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, अगर आपके पास प्लेटफॉर्म टिकट है तो TTE आपको यात्रा से नहीं रोक सकता है. साथ ही आपसे विदाउट टिकट का जुर्माना भी नहीं वसूला जाएगा. इसके लिए आपको ट्रेन में सवार होते ही सबसे पहले TTE से संपर्क करना है. जिस स्टेशन से प्लेटफॉर्म टिकट लिया गया है उसे बोर्डिंग स्टेशन माना जाएगा. आप जहां तक जाना चाहते हैं वहां तक का किराया और 250 रुपये एक्स्ट्रा (जो कि पेनाल्टी के रूप में होता है) जोड़कर TTE टिकट बना देता है. आप जिस क्लास में सफर कर रहे हैं, किराया उसी क्लास का होगा.

Sunday, 19 January 2020

पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि


शहीदों और निर्भीक पत्रकारों के परिवार की परंपरा के चमकते सितारे अश्विनी कुमार अमर शहीद लाला जगत नारायण के पौत्र और शहीद रमेश चंद्र के पुत्र थे। अश्विनी कुमार को अपने निर्भीक विचारों उनकी स्वतंत्र लेखनी के लिये जाना जाता रहा है। उन्होंने पत्रकारिता में उच्चतम मानक स्थापित किये और देश के शीर्ष हिंदी दैनिक समाचार पत्र पंजाब केसरी में उनके विशेष संपादकीय के करोड़ों लोग दीवाने हैं।
अश्विनी कुुमार अपने कॉलम के जरिये गरीबों और मजलूमों को आवाज उठाते रहे और उनकी बेखौफ कलम के सामने सत्ताएं हिल जाती थी। अपनी कलम के जरिये उन्होंने लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनकी कलम जब भी चली उन्होंने लाखों लोगों की समस्याओं को सरकारों और प्रशासन के सामने रखा और भारतीय लोकतंत्र में लोगों की आस्था को और मजबूत बनाने में योगदान दिया।
अश्विनी कुमार के पितामह लाला जगत नारायण नौ सितंबर 1981 को और पिता रमेशचंद्र 12 मई 1984 को देश की एकता और अखंडता के लिये आतंकियों के हाथों शहीद हो गया थेे। लालाजी और रमेश चंद्र जी ने केवल पत्रकारिता के जरिये ही देश की सेवा नहीं की बल्कि उन्होंने देश की स्वतंत्रता के लिये भी संघर्ष किया और कई बार उन्हें जेल में रहना पड़ा। ऐसी महान विभूतियों के परिवार से आने वाले अश्विनी कुमार में देश और देशवासियों के लिये कुछ खास करने का जज्बा कूट-कूट कर भरा था।
11 जून 1956 को जन्में अश्विनी कुमार ने गुरू नानक देव विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि हासिल की और 21 साल की उम्र में ही उन्होंने पंजाब यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता में पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री हासिल की। इसके बाद वह अमेरिका के कैलिफोर्निया चले गये और पत्रकारिता में सर्टिफिकेट कोर्स करने के बाद वह भारत लौटे और अपने दादाजी और पिताजी के मागदर्शन में पंजाब केसरी समूह के प्रकाशन और प्रसारण कार्यों को देखने लगे। अश्विनी कुमार ने अपनी योग्यता, दूरदर्शिता और पत्रकारिता की समझ को साबित किया और ग्रुप को आगे ले जाने में बड़ी भूमिका निभाई।
अश्विनी कुमार एक शानदार क्रिकेटर भी थे और रणजी ट्रॉफी में पंजाब का प्रतिनिधित्व किया और क्रिकेट के विकास में विभिन्न स्तरों पर काम किया।

BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस क्रिकेटर संग जमकर लगाएं ठुमके, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल


बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने टीम इंडिया के अनुभवी स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह के साथ जमकर डांस किया, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर बड़ी ही तेजी से वायरल हो रहा है. वहीं वीडियो में 'दादा' भज्जी का खूब साथ दे रहे हैं.
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस वीडियो में गांगुली और हरभजन के अलावा, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग और मोहम्मद कैफ नजर आ रहे हैं. वही आप देख सकते है कि यह वीडियो एक टेलिविजन शो का है, जिसमें गायिका ऊषा उत्थुप 'सेनोरिटा' गाना गा रही हैं. ऊषा उत्थुप के इस गाने पर भज्जी भज्जी थिरकने लगे और दादा को भी डांस करने पर मजबूर कर दिया.
आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि गांगुली के इस डांस को देखकर सब हैरान नजर आए. जंहा सब लोगों ने जमकर तालियां बजा रहे है. खबर लिखे जाने तक इस वीडियो को लोग दो हजार से ज्यादा बार देख चुके हैं और इसे खूब शेयर कर रहे हैं.

ट्रक से टकराई शबाना आजमी की कार, गंभीर हालत में हॉस्पिटल में किया एडमिट


 एक्ट्रेस शबाना आज़मी की कार सोलापुर के पास मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर एक ट्रक से टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई है। जानकारी मिली है कि हादसे में शबाना गंभीर रूप से घायल हैं। दुर्घटना के बाद उन्हें पनवेल के एमजीएम अस्पताल ले जाया गया था। एक्ट्रेस अपनी कार में थी और उन्होंने पीछे से एक ट्रक को टक्कर मारी। उनके साथ उनके पति और मशहूर गीतकार जावेद अख्तर भी थे, हालांकि वह सुरक्षित थे। उनकी शुरूआती हैल्थ रिपोर्ट मिलने के बाद, उन्हें मुंबई के अंबानी अस्पताल में रैफर किया जाएगा।
हादसे के तुरंत बाद शबाना को कलांबोली के महात्मा गांधी अस्पताल (एमजीएम) में भर्ती कराया गया था। शबाना अपने पति और गीतकार जावेद अख्तर के साथ कार में बैठीं थीं।
रिपोर्ट्स के मुताबिक एक्ट्रेस को सिर में चोट लगी है और उनकी हालत स्थिर है। एमजीएम अस्पताल के डॉक्टर अगले कुछ घंटों में उसे डिस्चार्ज कर देंगे। हॉस्पिटल के अधिकारी ने बताया कि, "उनको गर्दन पर चोट है। हम उनको सीटी स्कैन और यूएसजी (अल्ट्रासोनोग्राफी) के लिए लेकर जा रहे हैं। हम इससे पहले कुछ भी नहीं कह सकते। उनके जरुरी पैरामीटर ठीक हैं। वह बहुत बात कर रही है और अपने होश में है।"
आपको बता दें शबाना आज़मी मशहूर गीतकार जावेद अख्तर की दूसरी बीवी हैं। जिस कार से शबाना आज़मी का एक्सीडेंट हुआ, वह कार खुद शबाना के नाम से रजिस्टर थी।
एक दिन पहले यानी 17 जनवरी को उनके पति जावेद अख्तर का 75वां बर्थडे था। इस मौके पर शबाना आजमी ने अपने घर पर एक भव्य पार्टी दी थी, जिसमें बॉलीवुड से जुड़े कई सेलेब्रिटी पहुंचे थे।

Saturday, 18 January 2020

रजिस्ट्रार ऑफिस की छत पर विधवा युवती को ले गया युवक और मनाने लगा रंगरेलियां


हाल ही में जो अपराध का मामला सामने आया है वह जबलपुर के संजीवनी नगर का है. इस मामले में यहाँ के थाना क्षेत्र में रहने वाली एक 22 साल की विधवा महिला से शादी करने का प्रलोभन देकर दुराचार किए जाने की रिपोर्ट पर मामला दायर किया जा चुका है. इस मामले में आरोपी महिला को शादी करने के लिए रजिस्ट्री ऑफिस लेकर गया था और छत पर ले जाकर जबरन उसका दैहिक शोषण किया था और महिला की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी है.
मिली खबर के मुताबिक संजीवनी नगर क्षेत्र में रहने वाली महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि, ''उसके पति का देहांत हो चुका है. पिछले 8-9 सालों से वह लवकेश को जानती है. अपने पति की मौत के बाद से लवकेश से उसकी करीबी बढ़ गयी थी और करीब दस महीने पहले लवकेश ने महिला से कहा कि वह उससे प्रेम करता है और शादी करना चाहता है. करीब 5 महीने पहले लवकेश उससे शादी करने का झाँसा देकर धनवंतरी नगर स्थित रजिस्ट्रार ऑफिस ले गया और ऑफिस के ऊपर छत पर ले जाकर जबरन उसके साथ गलत काम किया. अब शादी करने से इनकार कर रहा है.''
इस मामले में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी पर धारा 376, के तहत मामला दर्ज कर लिया है. इस मामले में उसकी तलाश की जा रही है और जल्द उसे पकड़ने के लिए भी कोशिशें जारी है.