Wednesday, 11 September 2019

यहां मूर्तियां भी देती हैं सवालों का जवाब, वायरल हुआ मजेदार वीडियो


इंडिया में क्रिएटिविटी की कमी नहीं है। यहां तो ऐसे क्रिएटिव लोग भी मौजूद हैं, जो अपने टैलेंट से स्टैचूज को भी बात करने के लिए मजबूर कर देते हैं। इन दिनों इंटरनेट पर ऐसा ही एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसकी क्रिएटिविटी देख आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे।
फेसबुक पर भोपाली क्रिएटिविटी नाम के पेज पर शेयर इस वीडियो को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। वीडियो अंचित शर्मा नाम के शख्स ने बनाया है। लोग वीडियो के कमेंट्स में इस क्रिएटिविटी की तारीफ करते नजर आए।
वीडियो में दो लोग कार ड्राइव करते हुए रास्ते में मिलने वाली मूर्तियों से बातें करते नजर आ रहे हैं। वो हर मूर्ति से एक सवाल करते हैं और फिर उनसे जवाब मिलते ही थैंक्स बोलकर आगे भी निकल जाते हैं। इस वीडियो पर लोगों के अलग-अलग रिएक्शन भी आए हैं। एक यूजर ने लिखा कि अब कोई भी भोपाल में रास्ते नहीं भूलेगा।


इस शख्स ने खोली इमरान खान की पोल, तो ऐसी हरकत करने लगा पाकिस्तान


पाकिस्तान से जान बचाकर इंडिया पहुंचे इमरान खान की पार्टी के नेता पूर्व विधायक बलदेव कुमार खैबर को धमकियां मिल रही हैं। बलदेव कुमार ने जब पाकिस्तान के खतरनाक हालात की पोल मीडिया के सामने खोली, तो पाकिस्तान के मशहूर पंजाबी गायक जस्सी लायलपुरिया ने वॉट्सऐप काल पर उन्हें धमकाया है। लायपुरिया ने मंगलवार को बलदेव को कॉल करके जान से मारने की धमकी दी।
पाकिस्तान के हालात बहुत खराब हैं। स्थितियां यह हैं कि PAK प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी से जुड़े लोग भी दहशत में जी रहे हैं। पाकिस्तान में लंबा टॉर्चर झेलने के बाद तीन महीने के वीजे पर भारत पहुंचे बलदेव खैबर अपने मुल्क लौटना नहीं चाहते। उन्होंने भारत सरकार से राजनीतिक शरण मांगी है। बलदेव खैबर इमरान खान की पार्टी 'पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ' के नेता रहे हैं। वे पख्तून ख्वा प्रांत की बारीकोट से विधायक रहे हैं। लेकिन अब उन्हें अपनी जिंदगी बचाकर भागना पड़ रहा है।
43 साल के बलदेव पिछले महीने लुधियाना जिले के खन्ना पहुंचे हैं। हालांकि उन्होंने अपने परिवार को पहले ही भारत भेज दिया था। यह परिवार पाकिस्तान जाने के नामभार से डर जाता है। बलदेव कहते हैं कि वे पाकिस्तान लौटना नहीं चाहते। वे भारत में शरण लेना चाहते हैं। इसके लिए जल्द भारत सरकार में आवेदन करेंगे। बलदेव राज के मुताबिक, पाकिस्तान में हिंदू और सिख नेताओं को मारा जा रहा है। बलदेव का आरोप है कि उन्हें हत्या के एक झूठे आरोप में 2 साल जेल में रखा गया। वे 2018 में बरी हुए। दरअसल, 2016 में बारीकोट के सिटिंग एमएलए की हत्या कर दी गई थी। बलदेव पर इसका इल्जाम लगा था। पाकिस्तानी कानून के मुताबिक, अगर किसी विधायक की मौत हो जाए, तो दूसरे नंबर पर रहने वाले उम्मीदवार को जीता मान लेते हैं। इस तरह वे 2018 में बरी होने के बाद शपथ लेकर मात्र 36 घंटे के विधायक बन सके। इसके बाद कार्यकाल खत्म हो गया। बलदेव 12 अगस्त को भारत पहुंचे है। दहशत का माहौल देखिए, वे अटारी बॉर्डर से पैदल इंडिया पहुंचे। बलदेव की शादी 2007 में पंजाब के खन्ना की रहने वाली भावना से हुई थी। इनके दो बच्चे हैं- 11 साल की रिया और 10 साल का सैम। बेटी को थैलेसीमिया रोग है।


खोज निकाली गई 2200 पुरानी वो जगह, जहां दुबारा जी उठे थे यीशु मसीह


बाइबिल में यीशु मसीह की जिंदगी से जुड़ी हर बात लिखी है। ईसाई धर्म के लोग इसकी एक-एक बता पर यकीन करते हैं। बाइबिल के मुताबिक, जब यीशु को क्रूस पर चढ़ा दिया गया था, उसके बाद वो जिंदा हो गए थे और अपने दो फॉलोवर्स के साथ इम्मौस शहर में गए थे। अब इजराइल के पुरातत्वविदों ने इम्मौस शहर को ढूंढने का दावा किया है।
येरूसलेम के पास अबू घोष गांव में एक किले के रूप में स्थित इस जगह का पता पुरातत्वविदों ने लगाया है। इस किले के अगल-बगल बड़ी-बड़ी दीवारें हैं। जिन लोगों ने इसे ढूंढा है उनमें टेल अवीव यूनिवर्सिटीयू के प्रोफेसर इस्रएल फिंकेल्स्टीन शामिल हैं। उनके साथ कॉलेज दी फ्रांस के प्रोफेसर्स थॉमस रोमेर और क्रिस्टोफे निकोल शामिल हैं। इनके मुताबिक, किले के आसपास का पूरा गांव ही इम्मौस शहर था।
बाइबिल के मुताबिक, इम्मौस में ही क्रूस पर चढ़ाए जाने के बाद दुबारा जिंदा होकर यीशु मसीह पहुंचे थे। बाइबिल में लिखा है कि वो जगह येरूसलेम से 7 मील दूर थी और वहां किला था। इस हिसाब से जिस जगह की खोज पुरातत्वविदों ने की है, वही इम्मौस है।
हालांकि, इस दावे के बाद कुछ और लोग भी सामने आए, जिन्होंने इससे सहमति नहीं जताई। कुछ का मानना है कि इसी लोकेशन से कुछ दुरी पर दो ऐसी जगहें हैं, जो इम्मौस हो सकता है। हालांकि, इन प्रोफेसर्स की ये स्टडी जल्द ही एक जर्नल के रूप में प्रकाशित होने वाली है। इस जर्नल का नाम न्यू स्टडीज इन द आर्कियोलॉजी ऑफ़ येरूसलेम एंड इतस रीजन के नाम से प्रकाशित होगी।


चलती कार में सिर झुककर सो गया ड्राइवर और फिर...


क्या हो जब आप गाड़ी चलाते  हुए ही सो जाये या फिर 2 सेकंड के लिए झपकी लग जाये, ऐसे में एक्सीडेंट हो सकता है. इसलिए आपको गाड़ी भी ध्यान से चलाना पड़ता है, लेकिन अभी एक मामला ऐसा आया है जिसमें शख्स गाड़ी चलाते हुए सो गया. मैसाचुसेट्स के शख्स ने सोशल मीडिया पर ऑनलाइन वीडियो शेयर किया, जिसको देखकर सभी हैरान हैं. टेस्ला कार चला रहे ड्राइवर को अचानक नींद लग गई. उसके बाद जो हुआ उसके बारे में आप भी जानना चाहेंगे.
दरअसल, मैसाचुसेट्स का ये मामला है जिसमें कार चलाते शख्स की नींद लग गयी. उस वक्त उनकी कार तेज रफ्तार में थी. इस वीडियो को देखकर ट्विटर पर यूजर्स भी हैरान हैं. बता दें, टेस्ला ऑटो पायलेट फंक्शन कार हैं. लेकिन कंपनी ने कहा है कि कोई बड़ा हादसा न हो. इसके लिए ड्राइवर को अलर्ट रहना जरूरी है. वहीं डाकोटा रैनडाल ने इस वीडियो को रविवार को रिकॉर्ड किय जिसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया है. जिस वक्त वो सड़क से गुजर रहे थे तो पास में ही टेस्ला कार चल रही थी. जब उन्होंने अंदर की तरफ देखा तो वो हैरान रह गए.
उन्होंने देखा कि ड्राइवर सिर नीचे रखकर सो रहा था और दूसरी तरफ महिला भी सो रही थी. दोनों को गाड़ी की बिलकुल टेंशन नहीं थी. रैनडाल ने बताया कि गाड़ी 55 से 60 मीटर प्रति घंटे के हिसाब से चल रही थी. वो हॉर्न मारकर ड्राइवर को उठाने की कोशिश कर रहा था. उन्होंने पुलिस को कॉल नहीं किया. राज्य की पुलिस ने कहा कि उन्हें इस वीडियो के बारे में पता था. ये वीडियो न्यूटन के मैसाचुसेट्स टर्नपाइक पर रिकॉर्ड किया गया था.
वहीं टेस्ला के स्पोकपर्सन ने कहा कि कार में ड्राइवर मॉनिट्रिंग सिस्टम ड्राइवर को बार-बार रिमाइंड कराता है. जिसके बाद ये सिस्टम चेतावनी को नजरअंदाज किए जाने पर ऑटोपायलट के उपयोग को प्रतिबंधित करता है. लेकिन उसके बाद भी ये शख्स नहीं उठा.


शुक्र पर्वत बताता है कितना कामुक है व्यक्ति, जानिए कैसे


दुनियाभर में लोग हस्तरेखा देखकर बहुत कुछ जान सकते हैं. ऐसे में ज्योतिष शास्त्र में हथेलियों पर बनने वाले निशानों और लकीरों से व्यक्ति का भाग्य और स्वभाव पता चल जाता है. वहीं हथेली में अंगूठे के नीचे वाले भाग को शुक्र पर्वत कहा जाता है. वहीँ हस्तरेखा ज्योतिष की माने तो इस पर्वत से व्यक्ति की भावनाएं, प्रेम, जीवनसाथी और सुख-सुविधा के बारे में जानकारी मिलती है. तो आइए आज हम आपको बताते हैं हथेली में शुक्र पर्वत का मतलब.
कहा जाता है अगर किसी व्यक्ति की हथेली पर शुक्र पर्वत उभार लिए हुए हो तो यह अच्छा नहीं बहुत अच्छा होता है.
 कहते हैं अगर किसी व्यक्ति का शुक्र पर्वत ज्यादा उभार लिए हुए हो तो व्यक्ति कामुक के साथ रोमांटिक होता है.
 कहते हैं दबा हुआ शुक्र पर्वत है तो व्यक्ति के शरीर में कई शारीरिक समस्याएं होती है और ऐसे व्यक्तियों में सुख-सुविधाओं का अभाव हो जाता है।
 कहा जाता है अगर शुक्र पर्वत पर कई लकीरे बनी हुई होती हैं तो उस व्यक्ति का मन कमजोर होता है.
 कहते हैं शुक्र पर्वत पर जाल बनना अच्छा नहीं होता है.
 ज्योतिष के अनुसार हथेली के शुक्र पर्वत पर तिल बना होता है तो जीवनसाथी से विवाद हमेशा रहता है और धनहानि होती है.
कहते हैं अगर शुक्र पर्वत पर क्रॉस या वर्ग का निशाना बना हुआ हो तो व्यक्ति जेल जाता है.
कहा जाता है अगर मणिबंध की ओर शुक्र पर्वत का ज्यादा उभार हो तो व्यक्ति यात्रा में आगे रहता है.


ईश्वर के साथ और डॉक्टर के विश्वास ने बचाई बच्चे की जान, 24 घंटे में 25 बार आया था हार्ट अटैक


पूरी दुनिया में बहुत से चमत्कार हुए है जिसने इंसान का ईश्वरी शक्ति मे विश्वास बढ़ाया है. बता दे कि ब्रिटेन में भी ऐसा ही एक चमत्कार हुआ है जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। नौ महीने के एक बच्चे थियो फ्राई को 24 घंटे में 25 बार हार्टअटैक आए. लेकिन वह पूरी तरह स्वस्थ है. ब्रिटेन के डॉक्टर भी थियो फ्राई नाम के इस बच्चे को 'मिरेकल बेबी' कह रहे हैं. यह दुनिया में पहली बार हुआ है जब किसी बच्चे को 25 बार हार्टअटैक आया हो और वह पूरी तरह सामान्य जिंदगी जी रहा हो. थियो फ्राई अब एक साल सात महीने का हो चुका है. थियो फ्राई को मई 2017 में पैदा होने के 8 दिन बाद पहली बार अस्पताल में भर्ती कराया गया जब वह ब्लड पॉइजनिंग का शिकार हो गया था. डॉक्टरों को उसके बचने की कोई आशा नहीं थी. ब्लड पॉइजनिंग के कारण थियो के दिल में दो छेद हो गए थे. जिसकी वजह से खून शरीर में ठीक से पंप नहीं हो पा रहा था. जिस वजह से यह घटनाक्रम घटित हुआ है.
ओपन हार्ट सर्जरी की मंजूरी डॉक्टरों की सलाह पर थियो की मां फॉव सायर्स और पिता स्टीवन फ्राई ने दे दी थी. वही ऑपरेशन के दौरान थियो को दो बार हार्टअटैक भी आया. लेकिन उसकी हालत स्थिर रही. जुलाई में उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। 21 दिसंबर को थियो के दिल की धड़कनें फिर बढ़ गईं. उसे दोबारा अस्पताल में दाखिल कराया गया। उसकी तबीयत लगातार बिगड़ने लगी. 31 जनवरी को उसे 25 हार्टअटैक आए. थियो की मां फॉव ने बताया कि रातभर वे अस्पताल में खतरे की घंटी सुनती रहीं.
आपकी जानकारी के​ लिए बता दे कि आखिरकार इलाज करने वाली टीम का नेतृत्व करने वाले डॉ. रमन धन्नापुनेनी ने थियो को आने वाले हार्टअटैक की वजह खोज ली. ​बता दे कि थियो के दिल का बायां हिस्सा टिश्यू से ढंका हुआ था. डॉक्टर रमन धन्नापुनेनी का कहना है कि यह घटना किसी चमत्कार से कम नहीं. 24 घंटे के भीतर 25 अटैक के बाद थियो का दिल जिस हालत में था, वह बहुत रिस्की था. कुछ भी हो सकता था. लेकिन इसे हम चमत्कार के अलावा कुछ नहीं कह सकते. चिकित्सकीय इतिहास में इस बच्चे को 'मिरेकल बेबी' ही कहा जाएगा. ईश्वर का साथ और डॉक्टर के विश्वास ने इस बच्चे को नया जीवन दिया.


कार के नीचे आया बिल्ली का बच्चा, शख्स ने ऐसे बचाई जान


सोशल मीडिया पर एक दिल छू लेने वाला वीडियो वायरल हो रहा है. वैसे सोशल मीडिया की बात करें तो इस एकै वीडियो आते रहते हैं जो वायरल हो जाते हैं. ऐसे ही वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कार के नीचे एक बिल्ली आ गई थी. लेकिन एक शख्स ने उसकी जान बचा ली. एक शख्स ने भागकर उसको बचाया. गाड़ी पार्किंग में खड़ी थी. एक बिल्ली आई और गाड़ी के नीचे जाकर बैठ गई.
कार के नीचे बैठा बिल्ली का बच्चा टायर के नीचे ही बैठा जिसके बाद इस बात से अनजान चालक ने कार इंजन स्टार्ट किया. पीछे कार में बैठे शख्स ने देख लिया और हॉर्न मारकर ड्राइवर को अलर्ट किया. लेकिन उन्होंने सुना नहीं. शख्स भागते हुए गया और बिल्ली को निकाल लिया. तुरंत ही गाड़ी आगे बढ़ गई. कार में लगे डैशकैम में ये घटना रिकॉर्ड हो गई. इसी का वीडियो सामने आया है जिसे आप भी देख सकते हैं जो काफी भावुक है.
आगे जाकर चालक ने कार रोकी तो शख्स ने उसे बिल्ली के बच्चे की तरफ इशारा किया. शख्स ने बिल्ली के बच्चे को पास में छोड़ दिया. जिसके बाद वो भाग निकली. यूट्यूब के मुताबिक, ये घटना रूस के सरगटकोए में हुई जिसका वीडियो काफी वायरल किया जा रहा है.


फरसा लिए BJP नेता से बोले हरियाणा के सीएम मनोहरलाल, तेरी गर्दन काट दूंगा


हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का एक ऐसा वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी के साथ वायरल हो रहा है, जिसमें वे हाथ में फरसा लिए खड़े हुए हैं. इस वीडियो में फरसा लिए खट्टर जनता से कह रहे हैं कि फरसा दुश्मनों का नाश करने के लिए है और इस बीच पीछे खड़े भाजपा के एक नेता द्वारा उन्हें पारंपरिक टोपी पहनाने की कोशिश की जाती है. हालांकि सीएम को यह पसंद नहीं आया. बीजेपी नेता द्वारा जैसे ही मनोहर लाल खट्टर को टोपी पहनाई गई, सीएम द्वारा गुस्से में बीजेपी नेता को गर्दन काटने की धमकी दे दी गई. इसके बाद मनोहर विपक्षियों के भी निशाने पर आ गए.
इस हालिया वायरल वीडियो में सीएम मनोहरलाल खट्टर कह रहे हैं कि ये क्या कर रहे हो? गर्दन काट दूंगा तेरी. हटो एक तरफ. इस पर भाजपा नेता सीएम से माफी मांगते हैं. बता दें कि ट्विटर पर वीडियो वरिष्ठ कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला द्वारा साझा किया गया है.
वरिष्ठ कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने वीडियो को साझा करते हुए लिखा है कि, ग़ुस्सा और अहंकार सेहत के लिए हानिकारक हैं. खट्टर साहेब को ग़ुस्सा क्यों आता है? फरसा लेकर अपने ही नेता को कहते हैं  "गर्दन काट दूंगा तेरी". फिर जनता के साथ क्या करेंगे? बता दें कि आए दिन मनोहर इस तरह के विवादों में फंसते रहते हैं.


इस कारण घर में गुडलक के लिए रखा जाता है लाफिंग बुद्धा, जानें खास बातें


आपने अक्सर दुकानों या घरों में लाफिंग बुद्धा की कई तरह की मूर्तियां देखी होगी और गिफ्ट भी की होगी. कहा जाता है लाफिंग बुद्धा को गुडलक के तौर पर देखा जाता हैं और इसी कारण लोग इसे घर में भी रखते हैं. इसके अलावा इसे लोग सुख-समृद्धि का प्रतीक भी मानते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर लाफिंग बुद्धा कौन थे और इनकी हंसने का राज क्या हैं.आज हम आपको बताने जा रहे हैं इसी के बारे में. जानते हैं इसके बारे में खास बातें.
दरअसल, होतई जापान के रहने वाले थे और महात्मा बुद्ध के एक शिष्य हुआ करते थे. मान्यताओं के अनुसार जब होतेई को ज्ञान की प्राप्ति हुई, तब वह जोर-जोर से हंसने लगे. तभी से उन्होंने लोगों को हंसाना और खुश देखना अपने जीवन का एकमात्र उद्देश्य बना लिया. होतेई जहां भी जाते वहां लोगों को अपना बड़ा पेट दिखाकर हंसाते रहते. इसी वजह से जापान और चीन में लोग उन्हें हंसता हुआ बुद्धा बुलाने लगे, जिसको अंग्रेजी में लाफिंग बुद्धा कहते हैं.
चीन में तो होतई यानी लाफिंग बुद्धा के अनुयायियों ने उनका इस कदर प्रचार किया कि वहां के लोग उन्हें भगवान मानने लगे. उनका मानना है कि उनके कारण ही घर में ख़ुशी बनी हुई है. इसी के कारण वहां लोग इनकी मूर्ति को गुड लक के तौर पर घरों में रखने लगे. हालांकि चीन में लाफिंग बुद्धा को पुताइ के नाम से जाना जाता है. होतई की तरह ही उनके अनुयायियों ने भी उनके एकमात्र उद्देश्य यानी लोगों को हंसाना और खुशी देना, को देश-दुनिया में फैलाया.

आपको बता दें, जिस तरह भारत में भगवान कुबेर को धन का देवता माना जाता है, ठीक उसी प्रकार चीन में लाफिंग बुद्धा को ही सब कुछ माना जाता है. माना जाता है कि इनको घर में लाने से सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है.

BJP में शामिल हुए कल्याण सिंह का बयान, मैं चाहता हूँ राम मंदिर बने, लेकिन...'


उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राजस्थान के पूर्व राज्यपाल रहे कल्याण सिंह द्वारा सीबीआई के शिकंजे के बाद राम मंदिर को लेकर अपनी राय रखी गए है और उन्होंने कहा है कि मेरा यह मानना है कि अयोध्या भारत वर्ष के करोड़ो लोगों की आस्था का केंद्र है.
कल्याण ने मंदिर निर्माण पर अपनी राय देते हुए कहा है कि राम देश के करोड़ों लोगों की श्रद्धा के केंद्र हैं. उन्होंने कहा है कि मंदिर के लिए देश के करोड़ों लोगों ने संकल्प लिया है. पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह द्वारा आगे कहा गया कि मेरी भी आस्था है. मैं चाहता हूं कि राम मंदिर बनें. इस मुद्दे पर सभी पार्टियों को अपना निर्णय स्पष्ट रखना चाहिए और सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद ही मंदिर का निर्माण हो.
एक साक्षात्कार में कल्याण सिंह ने कहा है कि 6 दिसंबर 1992 की घटना कोई साजिश नहीं थी, जो हुआ वह अप्रत्याशित और अभूतपूर्व था. जो ढांचा ढह गया, वो सदियों से दबाए गए करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं के विस्फोट का परिणाम था. आपको बता दें कि इससे पूर्व कल्याण सिंह द्वारा यह कहा गया था कि सीबीआई पूछताछ के लिए जिस तारीख को बुलाएगी वह हाजिर हो जाएंगे. जो लोग कह रहे हैं कि साजिश है, ऐसा नहीं है, नहीं बचा पाए इसलिए केस जारी है.


पिता को सताया चालान कटने का डर, तो नाबालिग बेटे का किया यह भयावह हश्र


आगरा के थाना एत्माद्दौला क्षेत्र में एक पिता द्वारा मोटरसाइकिल चालान के डर से अपने नाबालिग बेटे को कमरे में बंद कर दिया गया. जसवंतनगर इलाके में रहने वाले धर्म सिंह द्वारा इकलौते बेटे मुकेश की जिद पर करीब 2 साल पहले नई बाइक खरीदी गई थी. वहीं घर में बाइक आई तो धर्म सिंह के नाबालिग बेटे मुकेश द्वारा बाइक की सवारी की गई.
बताया जा रहा है कि धर्म सिंह काम पर चले जाते और उनका नाबालिग बेटा मुकेश बाइक लेकर गलियों के चक्कर लगाता, सड़क पर घूमता रहता. बता दें कि नए मोटर व्हीकल एक्ट के चलते अचानक यातायात नियमों के उल्लंघन पर चालान की राशि बढ़ा दी गई है. निम्न मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाले धर्म सिंह द्वारा चालान के डर से नाबालिग बेटे मुकेश के बाइक चलाने पर पाबंदी लगा दी गई है और बेटे पर निगरानी भी रखनी शुरू कर दी है.
बताया जा रहा है कि इतने में भी बता नहीं माना तो उसके पिता ने परेशान होकर उसे कमरे में बंद कर दिया और बाइक की चाबी साथ लेकर वह फैक्ट्री चला गया. मुकेश कई घंटे कमरे में बंद रहा तो उसने परिचित के फोन के माध्यम से पुलिस को सूचना दी और फिर पुलिस मौके पर पहुंची. बाद में मुकेश को कमरे से बाहर निकाला गया. इस घटना के बाद पिता और पुत्र को थाने ले गई.


पति गुरमीत चौधरी को कुछ यूं उठा कर वर्कआउट करती दिखीं 'रामायण' की फेम एक्ट्रेस देबिना बनर्जी


टेलीविजन इंडस्ट्री के मशहूर कपल गुरमीत चौधरी और देबिना बनर्जी अक्सर अपनी तस्वीरों के चलते सुर्खियों में रहते है। इसी बीच इस टीवी कपल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब देखा जा रहा है। वीडियो में ये कपल अपनी फिटनेस के जवले दिखाते हुए नजर आ रहे हैं। इतना ही नहीं गुरमीत चौधरी अपनी वाइफ को उठाकर वर्क आउट करते हुए दिख रहे हैं।
वीडियो में आप देख सकते हैं कि ये कपल एक जिम में वर्कआउट कर रहा है। ये दोनों ब्लैक आउट फिट में दिख रहे हैं। इंटरेस्टिंग बात यह है कि आप देख सकते हैं कि कैसे गुरमीत चौधरी ने देबिना बनर्जी को उठा कर पुशअप किया फिर देबिना बनर्जी ने गुरमीत चौधरी को उठा कर पुशअप किया है। इन दोनों की वीडियो को देखकर फैंस क्रेजी हो उठे हैं और इस कपल की जमकर ताऱीफ भी कर रहे हैं।
ये वीडियो सोशल मीडिया  पर काफी वायरल हो रहा है। साथ ही ये वीडियो फैंस काफी पसंद आ रहा है। वीडियो में हाजरों लाइक्स और कमेंट आ गए हैं। अपको बता दें कि गुरमीत चौधरी और देबीना बनर्जी की जोड़ी टीवी की मशहूर जोड़ियों में से एक है। आपको बता दें कि गुरमीत-  देबिना बनर्जी टीवी शो रामायण में दोनों में साथ किया था। इस दौरान उन्होंने राम और सीता का रोल निभाया था। इसी दौरान दोनों एक-दूसरे को दिल दे बैठे। कुछ समय तक रिलेशनशिप में रहने के बाद दोनों ने शादी कर ली। हाल ही में गुरमीत चौधरी ने पलटन, वजह तुम हो, हेट स्टोरी 4, खामोशिया जैसी फिल्मों में काम किया है।


ISRO ने निकाली भर्ती….10-12वीं पास हैं तो आज ही कर दीजिए आवेदन


सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) में टेक्नीशियन और अन्य पदों पर भर्तियां निकली हैं। ISRO कुल 86 पदों पर भर्तियां करेगा। इन पदों पर आवेदन की प्रक्रिया चल रही है।
आवेदन करने की आखिरी तारीख 13 सितंबर, 2019 है। इच्छुक लोग इसरो की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। वैकेंसी के संबंध में और अधिक जानकारी नीचे दी गई है।
पद का नाम और संख्या :  फिटर- 20 पद।इलेक्ट्रीशियन मैकेनिक- 15 पद। प्लंबर- 2 पद। वेल्डर- 01 पद। मैकैनिस्ट- 01 पद। ड्रॉउटमैन बी- 12 पद। टेक्नीकल असिस्टेंट- 35। योग्यता : टेक्निशियन/ ड्राफ्टमैन के पदों पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवार 10वीं या 12वीं पास होना चाहिए। साथ ही संबंधित ट्रेड में आईटीआई/एमटीसी/एमएसी सर्टिफिकेट होना चाहिए। वहीं, टेक्नीकल असिस्टेंट के लिए उम्मीदवार के पास इंजीनियरिंग में डिप्लोमा होना चाहिए। योग्यता के संबंध में अधिक जानकारी के लिए ऑफिशियल नोटिफिकेशन देखें।
उम्र सीमा : उम्मीदवार की न्यूनतम उम्र 18 साल और अधिकतम उम्र 35 होनी चाहिए। उम्र की गणना 13 सितंबर 2019 के हिसाब से की जाएगी। इस आधार पर होगा चयन : उम्मीदवारों का चयन लिखित परीक्षा और स्किल टेस्ट के माध्यम से किया जाएगा।
सैलरी : टेक्निशियन/ ड्राफ्टमैन- 21,700/-। टेक्नीकल असिस्टेंट- 44,900/-। ऐसे करें आवेदन : इच्छुक लोग इसरो की वेबसाइट www.isro.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।


Tuesday, 10 September 2019

बुधवार, 11 सितंबर :जानिए आज के पेट्रोल-डीजल के भाव


आज यानि 11 सितम्बर को दिल्ली में पेट्रोल का दाम आज 73 रुपये प्रति लीटर है। डीजल 66 रुपये में बिक रहा है।सभी तेल कंपनियों के पेट्रोल पंपों पर कीमतें समान हैं।

पेट्रोल।

जयपुर में एक लीटर पेट्रोल 76 रुपये प्रति लीटर।

मुंबई में एक लीटर पेट्रोल 78 रुपये प्रति लीटर।

कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल 75 रुपये प्रति लीटर।

चेन्नई में एक लीटर पेट्रोल 75 रुपये प्रति लीटर।

डीजल।

जयपुर में एक लीटर डीजल 70 रुपये प्रति लीटर।

मुंबई में एक लीटर डीजल 69 रुपये प्रति लीटर।

कोलकाता में एक लीटर डीजल 68 रुपये प्रति लीटर।

चेन्नई में एक लीटर डीजल 69 रुपये प्रति लीटर है।

ट्रैफिक पुलिस ने कार पर डंडा मारकर युवक को रोका तो आ गया हार्ट अटैक और...


इन दिनों वाहन चेकिंग को लेकर लगातार खबरें आ रहीं हैं. ऐसे में हाल ही में पुलिस से नोकझोंक में युवक की हार्ट अटैक से मौत हो गई और यह आरोप है कि सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत गौरव अपने माता-पिता के साथ सेक्टर-62 से लौट रहे थे. वहीं जांच के लिए पुलिसकर्मियों ने उनकी कार पर डंडा मारते हुए रुकवाया और इस पर उनकी पुलिस से नोकझोंक हो गई. बस इस दौरान गौरव को दिल का दौरा पड़ गया. इस मामले में मिली जानकारी के मुताबिक नोएडा सेक्टर-52 के शताब्दी विहार में मूलचंद शर्मा परिवार के साथ रहते हैं और उनके 34 वर्षीय पुत्र गौरव गुरुग्राम की सॉफ्टवेयर कंपनी के मार्केटिंग विभाग में काम करते थे.
वहीं गौरव के रिश्ते के भाई अंकुर शर्मा का कहना है कि ''बीते रविवार को गौरव अपने माता-पिता के साथ कार से एनएच-24 से सेक्टर 62 की ओर आ रहे थे.'' इस मामले में यह आरोप है कि ''नोएडा की तरफ मुड़ते ही रास्ते में कुछ पुलिसकर्मी खड़े थे, जिन्होंने चलती गाड़ी पर जोर से डंडा मारकर रोका और गौरव और उसके पिता ने इसका विरोध किया. इस बात पर नोकझोंक इतनी बढ़ गई कि वहां मौजूद पुलिसकर्मी अभद्रता पर उतर आए. गहमागहमी के बीच अचानक गौरव बेसुध होकर गिर पड़े और उनकी सांसें थम गईं. गौरव की हालत देखकर माता-पिता सकते में आ गए.'' इस मामले में परिजनों का कहना है कि ''पुलिसकर्मी मदद करने के बजाय वहां से चुपचाप चले गए. आसपास के लोग मदद के लिए पहुंचे और गौरव को पहले फोर्टिस और फिर कैलाश अस्पताल पहुंचाया गया.''
वहीं आगे परिजनों ने कहा कि ''डॉक्टरों ने दिल के दौरे से गौरव की मौत की जानकारी दी तो माता-पिता के पैरों तले जमीन खिसक गई.'' वहीं इस मामले में कैलाश अस्पताल प्रबंधन का कहना था कि ''गौरव को जब अस्पताल में लाया गया, तब उसकी मौत हो चुकी थी.'' वैसे अब तक उनकी ओर से इस मामले में मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोई शिकायत थाने में नहीं दी गई थी लेकिन गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण का कहना है कि ''सेक्टर-58 थाना पुलिस की चेकिंग के दौरान ऐसी कोई घटना होने की जानकारी नहीं मिली है. यदि परिजनों की कोई शिकायत है तो वह बताएं, कार्रवाई की जाएगी.''